News

उदयपुर स्मार्ट सिटी को मिला अन्तर्राष्ट्रीय गौरव अन्तर्राष्ट्रीय ‘सस्टेनेबल सिटीज़ एण्ड ह्यूमन सेटलमेंट अवार्ड‘ से सम्मानित

News

लेकसिटी को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए किए जा रहे सार्थक प्रयासों को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर सराहा जा रहा है। उदयपुर को स्मार्ट सिटी विकास के सार्वभौमिक मॉडल के रूप में विकसित करने के लिए भेजे गए प्रस्तावों पर उदयपुर स्मार्ट सिटी को अन्तर्राष्ट्रीय गौरव प्राप्त हुआ है और इसे अन्तर्राष्ट्रीय ‘सस्टेनेबल सिटीज़ एण्ड ह्यूमन सेटलमेंट अवार्ड‘ से सम्मानित किया गया है।
 उदयपुर स्मार्ट सिटी सीईओ कमर चौधरी ने बताया कि इस संबंध में गत दिनों न्यूयॉर्क के ग्लोबल फॉरम फॉर ह्यूमन सेटलमेंट को उदयपुर स्मार्ट सिटी विकास का मॉडल प्रस्ताव भेजा गया था जिस पर संस्था द्वारा मेयर चंद्रसिंह कोठारी को पत्र भेजकर इस अवार्ड से सम्मानित किए जाने की जानकारी दी गई थी। गत 5-6 सितंबर को यूएन कांफ्रेंस सेंटर, इथोपिया में आयोजित समारोह में उदयपुर के प्रतिनिधि ने यह सम्मान प्राप्त किया।
चौधरी ने बताया कि इस अवार्ड के माध्यम से जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी के निर्देशन में लेकसिटी को स्मार्ट सिटी बनाने के उद्देश्य से तैयार किए गए महत्त्वकांक्षी प्रोजेक्ट को मूर्त रूप देने के समर्पित व सार्थक प्रयासों को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त हुई है। उन्होंने बताया कि इस अवार्ड के लिए उदयपुर को हकदार बनाने के पीछे स्मार्ट बिल्डींग ऑपरेशन के लिए तैयार किए गए कमांड और कंट्रोल सेंटर, कचरा निस्तारण, डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण, व्हीकल ट्रेकिंग सिस्टम, शुद्ध पेयजल आपूर्ति के लिए तैयार किए जा रहे सिस्टम, वेस्ट वाटर ट्रीटमेंट प्लान के साथ जलसंग्रहण के लिए किए जा रहे प्रयास हैं।
इधर, उदयपुर को मिले अन्तर्राष्ट्रीय गौरव के लिए तमाम प्रशासनिक व विभागीय अधिकारियों के खुशी जताते हुए स्मार्ट सिटी सीईओ चौधरी को बधाई दी हैं।

जिला स्तरीय यातायात प्रबंधन समिति की बैठक में हुए कई महत्त्वपूर्ण निर्णय सड़कों को दुरस्त कराने व अवैध पार्किंग पर कार्यवाही के दिए निर्देश

News

उदयपुर, 12 सितम्बर/जिला स्तरीय यातायात प्रबंधन समिति की त्रैमासिक बैठक जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी की अध्यक्षता में गुरुवार को कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई। बैठक में जिले में यातायात व्यवस्था सुचारू बनाने व लोगों को राहत देने की दृष्टि से कई महत्त्वपूर्ण निर्णय लिए गए व संबंधित विभागीय अधिकारियों को इस संबंध में कार्यवाही के लिए पाबंद किया गया।
इस अवसर पर उदयपुर ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा व मावली विधायक धर्मनारायण जोशी अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) संजय कुमार, यूआईटी सचिव बालमुकुंद असावा, नगर निगम उपायुक्त अनिल शर्मा, अतिरिक्त प्रादेशिक परिवहन अधिकारी प्रभुलाल बामनिया, जिला परिवहन अधिकारी डॉ. कल्पना शर्मा व नानजी गुलसर, डीवाईएसपी परबत सिंह सहित समस्त समिति सदस्य एवं विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।
बरसात दौरान गड्डों को भरें, एक माह में डामर हो:
बैठक में उदयपुर ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा व मावली विधायक धर्मनारायण जोशी द्वारा शहर में सड़कों के गड्डों से हो रही परेशानी के बारे में बताया तो कलक्टर ने यूआईटी को निर्देश दिए कि बरसात दौरान हो रहे गड्डों को तत्काल ही अस्थायी रूप से भरें और बारिश रुकने के तत्काल बाद पन्द्रह दिनों के भीतर सड़कों को दुरस्त करते हुए एक माह के भीतर इस पर डामरीकरण करवाना सुनिश्चित करें। उन्होंने संबंधित विभागों को पाबंद किया कि क्षतिग्रस्त समस्त सड़कों की सूची तैयार करते हुए इसके सुधार के लिए अपेक्षित टेण्डर प्रक्रिया अभी से पूर्ण करवा लें ताकि बरसात रूकते ही कार्य करवाया जा सके। उन्होंने इस कार्य में गुणवत्ता सुनिश्चित करने तथा किसी भी प्रकार की कोताही नहीं बरतने के लिए भी चेतावनी दी।
पार्किंग विहीन कॉम्पलेक्सों पर एक सप्ताह में हो कार्यवाही:
बैठक में कलक्टर ने विभिन्न शॉपिंग कॉम्पलेक्सों में पार्किंग स्थल पर अन्य गतिविधियां संचालित होने पर कार्यवाही के लिए पूर्व में दिए गए निर्देशों की अनुपालना नहीं होने पर नाराजगी जताई और  यूआईटी एवं नगर निगम को निर्देश दिये कि जिन व्यावसायिक भवनों में पार्किंग स्थल पर अन्य गतिविधियां चल रही है, उन्हें एक सप्ताह के भीतर बंद करवाकर पार्किंग सुविधा उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें अन्यथा बिल्डिंग को सीज करने की कार्रवाई करें। कलक्टर ने भवन निर्माण अनुमति के समय प्रस्तुत नक्शे के अनुसार पार्किंग स्थल उपलब्ध नहीं हो तो नियमानुसार कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने ऐसा नहीं होने पर सख्त अनुशासनात्मक कार्यवाही के लिए भी अधिकारियों को चेताया।  
ट्रेफिक पुलिस को एक सप्ताह में 5 क्रेन उपलब्ध कराओः
कलक्टर ने लोगों को निर्धारित पार्किंग स्थल पर वाहन खड़े करने को प्रेरित करने की आवश्यकता पर भी बल दिया। इस हेतु परिवहन विभाग व यातायात पुलिस मिलकर जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करें। उन्होंने अवैध पार्किंग पर कार्यवाही करने की दृष्टि से परिवहन विभाग को निर्देश दिए कि ट्रेफिक पुलिस को एक सप्ताह के भीतर पांच क्रेन उपलब्ध करावें ताकि अवैध पार्क किए गए वाहनों को जब्त करने की कार्यवाही की जा सके।
बजट घोषणा पर डीपीआर तैयार करने बनेगी समिति:
बैठक में कलक्टर ने राज्य सरकार द्वारा शहर में टेªफिक समस्या के समाधान के लिए की गई 50 करोड़ रुपयों की बजट घोषणा को क्रियान्वित करने की दृष्टि से समग्र डीपीआर बनाने के लिए एक समिति बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि समिति में यूआईटी, नगर निगम, परिवहन विभाग, यातायात पुलिस के साथ जनप्रतिनिधियों और सक्रिय गैर सरकारी संस्थाओं के प्रतिनिधियों को भी सम्मिलित किया जाएगा। उन्होंने समिति के गठन के बाद पूरे शहर का सर्वे करने व ट्रेफिक मास्टर प्लान के अनुरूप डीपीआर तैयार करने की भी बात कही।
ऑटो स्टेण्ड स्थापित करने की मांग:
बैठक दौरान ऑटो ऐसोसियेशन के भगवतीलाल साहू ने शहर में धानमण्डी सहित अन्य स्थानों पर ऑटो स्टेण्ड स्थापित करने की मांग रखी। कलक्टर ने इसके लिए परिवहन विभाग, नगर निगम व ट्रेफिक पुलिस को ऑटो स्टेण्ड के साथ ही सिटी बसों के लिए स्थान चिह्नित करने के लिए सर्वे करते हुए रिपोर्ट करने के निर्देश दिए।  
इन विषयों पर भी हुई चर्चा
बैठक में शहर में विभिन्न मार्गों पर अतिक्रमण हटाने, एकतरफा यातायात करने, ट्रेफिक लाइट्स व्यवस्थित चालू रखने, अत्यधिक यातायात दबाव वाले चौराहों पर ट्रेफिक लाईट लगवाने, मार्ग में अवरोध बन रही झाडि़यों को हटाने, डिवाइडर्स के अनावश्यक कट बंद करने एवं नये डिवाइडर बनाने, सड़कों पर लाइनिंग करने सहित कई अन्य बिन्दुओं पर बैठक में चर्चा की गई एवं आवश्यक निर्देश दिए गए। इस दौरान विधायक जोशी ने फतहसागर में डिजल नावें बंद करवाने, रोप-वे पर अनधिकृत दुकानों को हटवाने, विधायक मीणा ने सीसारमा से नांदेश्वर सड़क के गड्डों को भरवाने, नाई से कूंजडा मार्ग पर सिटी बसें प्रारंभ करवाने सहित कई विषयों पर सुझाव दिए जिस पर कलक्टर ने आवश्यक कार्यवाही को आश्वस्त किया। इस दौरान कलक्टर ने परिवहन विभाग को वार्षिक कैलेण्डर बनाकर विभिन्न विभागों के साथ समन्वय करते हुए जागरूकता कार्यक्रम आयोजित करने के निर्देश दिए।

जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग को मिला स्कॉच अवार्ड

News

जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग उदयपुर को उल्लेखनीय कार्य हेतु राष्ट्रीय स्तर का अवार्ड प्रदान किया गया है I

संभागीय आयुक्त ने किया चेस प्रतियोगिता का शुभारंभ

News

उदयपुर, 13 सितम्बर/चेस इन लेकसिटी की मेजबानी में बुद्धिबल सेवा संस्थान, ऑल राजपुताना शतरंज संघ, अखिल भारतीय शतरंज महासंघ, विश्व शतरंज महासंघ के तत्वावधान में प्रथम लेकसिटी इन्टरनेशनल ओपन ग्रेंडमास्टर शतरंज प्रतियोगिता ऑरबिट रेसोर्ट, न्यू भोपालपुरा, उदयपुर में शुक्रवार को आरम्भ हुई।
उद्घाटन समारोह के मुख्य अतिथि सभागीय आयुक्त विकास सीतारामजी भाले व विशिष्ट अतिथि ऑल इण्डिया चेस फेडरेशन के उपाध्यक्ष शेखर साहु थे। मुख्य अतिथि भाले ने उदयपुर मे पहली बार हो रही ग्रेंडमास्टर प्रतियोगिता के लिए शुभकामनाएॅं देते हुए विभिन्न देशों से आए हुए खिलाडि़यों को बुके देकर सम्मानित किया। उन्होंने चेस मे उदयपुर मे विश्वस्तरीय सुविधाएॅ उपलब्ध कराने हुए हरसंभव सहयोग हेतु आश्वस्त किया और कहा कि भविष्य में उदयपुर चेस की वजह से भी विश्व मे अपनी विशिष्ट पहचान बनाएगा। इस अवसर पर चेस इन लेकसिटी के अध्यक्ष राजीव भारद्वाज, ऑल राजपुताना शतंरज संघ जोइन्ट सेकेटरी राजेन्द्र तेली, चेस इन लेकसिटी उपाध्यक्ष डॉ. ओम साहु, हिम्मत सिकलीगर, देवेन्द्र साहु, तुशार मेहता, विकास जोशी, प्रमोद सामर, दिलीपसिंह चौहान आदि उपस्थित थे।
आयोजन सचिव विकास साहु ने बताया कि राजस्थान के इतिहास में पहली बार आयोजित हो रही इस प्रतियोगिता मे भारत सहित आर्मीनिया, बांग्लादेश, चिली, इजिप्ट, ईरान, नेपाल, रूस, सिंगापुर, श्रीलंका, स्लोवाकिया, अमेरिका, मालदीव कुल 11 देश प्रतियोगिता में भाग ले रहे है। इस प्रतियोगिता को 3 वर्गों में खेला जाएगा जिसके प्रथम वर्ग में कुल 12 लाख रूपये, ब्लिट्ज व रेपिड़ वर्ग में 4-4 लाख की ईनामी राशि होगी। आठ दिवसीय प्रतियोगिता मे भारत सहित 11 देश से कुल 219 खिलाडि़यों ने हिस्सा लिया जिसमें 13 ग्रेंडमास्टर, 2 वुमेन ग्रेंडमास्टर, 9 इन्टरनेशनल मास्टर, 6 फीड़े मास्टर खलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं।
साहु ने बताया कि राजस्थान के इतिहास मे पहली बार हो रही इस प्रतियोगिता में पहले दिन हुए प्रथम चक्र के पश्चात् लेकसिटी के 4 सहित 15 खिलाडि़यों ने दमदार प्रदर्शन करते हुए उलटफेर किए।

मादड़ी में कलक्टर की चौपाल 50 से अधिक परिवेदनाओं पर कलक्टर ने दिए निर्देश

News

उदयपुर, 13 सितम्बर/जनसमस्याओं के मौके पर ही त्वरित निस्तारण के उद्देश्य से जिले में आयोजित हो रही जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी की चौपालों की श्रृंखला में शुक्रवार को झाड़ोल उपखण्ड क्षेत्र की माद़ड़ी ग्राम पंचायत में चौपाल का आयोजन किया गया। चौपाल में झाड़ौल उपखण्ड अधिकारी पर्बतसिंह चुण्डावत, जिला परिषद के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी मेघराज मीणा, तहसीलदार, विकास अधिकारी सहित समस्त संबंधित विभागों के जिलाधिकारियों की मौजूदगी में 50 से अधिक परिवेदनाओं पर कलक्टर ने संबंधित विभागीय अधिकारियों से जानकारी लेकर समाधान के निर्देश दिए।  
चौपाल में आई बिजली, पेयजल संबंधित समस्याएं:  
चौपाल में कलक्टर ने ग्रामीणों से संवाद किया और उनको मिली सरकारी योजनाओं व कार्यक्रमों में मिले लाभ की पुष्टि की। जनसंवाद दौरान ग्रामीणों ने कलक्टर को क्षेत्र में बिजली की अनियमित आपूर्ति, सोलर लाईट प्राप्त नहीं होने, बिजली कनेक्शन में ठेकेदार द्वारा राशि लिए जाने तथा बिजली के पोल स्वयं उपभोक्ताओं के स्तर पर लाने की शिकायत की। कलक्टर ने इस स्थिति पर नाराजगी जताई और विभागीय अभियंताओं से जानकारी लेकर संबंधित के विरूद्ध कार्यवाही के निर्देश दिए। कलक्टर ने ग्रामीणों से आह्वान किया कि किसी भी स्थिति में ठेकेदार या उनके व्यक्तियों को बिजली कनेक्शन के लिए किसी प्रकार की राशि नहीं दें और यदि किसी प्रकार की मांग करें तो इसकी शिकायत करें। चौपाल में ग्रामीणों ने पेयजलापूर्ति के अभाव को बताया तो विभागीय अधिकारियों से जानकारी लेने पर इस संबंध में जनता जल योजना में प्रस्ताव भिजवाएं जाने के बारे में बताया। ग्रामीणों ने भीमसागर डेम के लीकेज होने की जानकारी देते हुए इसकी मरम्मत और एक नया डेम बनाने की मांग रखी, जिस पर कलक्टर ने विभागीय अधिकारियों को कार्यवाही के निर्देश दिए। क्षेत्र में क्षतिग्रस्त सड़कों की मरम्मत और नवीन सड़क निर्माण की मांग पर कलक्टर ने मिसिंग लिंक योजना में प्रस्ताव तैयार कर भेजने के निर्देश दिए। ग्रामीणों ने खाद्य सुरक्षा योजना के तहत नवीन राशन कार्डों के निर्माण तथा पालड़ी बड़ोदिया को नवीन राजस्व ग्राम बनाने की मांग की जिस पर कलक्टर ने संबंधित विभागीय अधिकारियों को कार्यवाही करने को कहा। कलक्टर ने विभागीय योजनाओं के लाभार्थियों से संवाद भी किया। कुछेक प्रकरणों में जहां लाभार्थियों ने योजना के तहत लाभ नहीं मिलने की जानकारी दी तो कलक्टर ने संबंधित विभागीय अधिकारियों को तलब किया तथा तथ्यात्मक जानकारी लेते हुए लाभांवित करने के निर्देश दिए।  
विभागीय योजनाओं की समीक्षा:
चौपाल में कलक्टर ने एवीवीएनएल, लोक निर्माण विभाग, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी, रसद, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, ग्रामीण विकास व पंचायती राज, राजस्व, महिला एवं बाल विकास, पशुपालन तथा अन्य समस्त संबंधित विभागीय अधिकारियों से ग्राम पंचायत क्षेत्र में संचालित विभागीय योजनाओं के क्रियान्वयन के बारे में प्रगति की जानकारी ली। उन्होंने विभागीय अधिकारियों के माध्यम से ग्रामीणों को योजनाओं के प्रावधानों के बारे में भी बताया तथा इन योजनाओं का लाभ उठाने का आह्वान किया।  

स्वच्छता का संदेश देने एनसीसी की पेन इंडिया साईकिल रैली पहुंची उदयपुर कलक्टर ने झण्डा दिखाकर किया रवाना

News

उदयपुर, 13 सितम्बर/स्वच्छता पखवाड़े को लेकर देशभर में स्वच्छता का संदेश देने 8 अगस्त को केरल से रवाना हुई एनसीसी की पेन इंडिया रैली शुक्रवार सुबह उदयपुर जिला मुख्यालय पर पहुंची। इस अवसर पर जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी ने रैली में मौजूद कैडेट्स को बधाई देते हुए रैली को झण्डी दिखाकर राजसमंद के लिए रवाना किया। उन्होंने एनसीसी द्वारा चलाई गई इस रैली को देशभर में स्वच्छता के प्रति जागरूकता पैदा करने का अनोखा प्रयास बताया और इसमें जुड़ने के लिए जिले की बालिका केडेट्स की सराहना की। कलक्टर से इस दौरान केडेट्स प्राची खिरिया ने संवाद किया तथा भारतीय प्रशासनिक सेवाओं में जाने के जज़्बे पर चर्चा की।
कलक्टर ने इस अवसर पर कर्नल विनोद बांगवा से बात कर यातायात जागरूकता के लिए एनसीसी को सहयोग करने का सुझाव दिया। इस दौरान जिला परिवहन अधिकारी डॉ. कल्पना शर्मा ने बताया कि विभाग द्वारा रैली में सम्मिलित केडेट्स को केप व टीशर्ट दिए जा रहे हैं। स्वयं कलक्टर ने केडेट्स को यह सामग्री वितरित की। इस मौके पर कर्नल प्रवीण देव, मेजर आदित्य सिंह, केप्टन रेखा पालीवाल व अनिता राठौड, डीटीओ डॉ. कल्पना शर्मा, आधार फाउण्डेशन के नारायण चौधरी सहित अन्य अधिकारी एवं एनसीसी के पदाधिकारी मौजूद थे। उल्लेखनीय है कि इस रैली में जिले की 31 बालिका कैडेट्स शामिल है जिनका नेतृत्व कर्नल प्रवीण देव कर रहे है। रैली 29 सितंबर को दिल्ली पहुंचेगी।

महिला एवं बाल विकास मंत्री ने ली विभागीय समीक्षा बैठक सरकार ने पहली बार महिला अधिकारिता विभाग को दिया 1 हजार करोड़ का बजट: राज्यमंत्री

News

उदयपुर, 13 सितम्बर/प्रदेश की महिला एवं बाल विकास (स्वतंत्र प्रभार), जन अभियोग निराकरण, अल्पसंख्यक मामलात व वक्फ विभाग की राज्यमंत्री श्रीमती ममता भूपेश ने कहा है कि राज्य के इतिहास में पहली बार मुख्यमंत्री ने प्रदेश की महिलाओं के कौशल विकास, पुनर्वास व सशक्तिकरण के उद्देश्य से महिला अधिकारिता विभाग को एक हजार करोड़ रुपये का बजट स्वीकृत किया है। यह राज्य की महिलाओं के लिए ऐतिहासिक सौगात है।  
राज्यमंत्री श्रीमती भूपेश शुक्रवार को यहां जिला परिषद सभाागार में विभागीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए संबोधित कर रही थी।  
राज्यमंत्री श्रीमती ममता भूपेश ने कहा कि राज्य सरकार महिलाओं एवं बालकों के सर्वांगीण विकास के लिए सदैव प्रयासरत है और विभिन्न योजनाओं के माध्यम से महिलाओं एवं बच्चों के स्वास्थ्य को लेकर प्रभावी प्रयास किए जा रहे है, ऐसे में हम सभी का दायित्व है कि इन योजनाओं एवं कार्यक्रमों को अधिकाधिक लोगों तक पहुंचाते हुए लाभान्वित करें।
बैठक में जिला प्रमुख शांतिलाल मेघवाल, जिला परिषद सीईओ कमर चौधरी, नगर निगम आयुक्त अंकित कुमार, अतिरिक्त जिला कलक्टर नरेश बुनकर, महिला एवं बाल विकास विभाग के उपनिदेशक महावीर खराड़ी, जिला रसद अधिकारी ज्योति ककवानी सहित संबंधित विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।
समीक्षा बैठक में राज्यमंत्री ने गर्भवती महिलाओं, नवजात शिशुओं के पोषण व स्वास्थ्य को लेकर विभागीय स्तर पर विशेष प्रयास करने एवं विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से उनके सर्वांगीण विकास के लिए कार्य करने की बात कही। उन्होंने नियमित टीकाकरण, फोलोअप, जागरूकता कार्यक्रम, पोषण युक्त सामग्री समय पर उपलब्ध कराना, विभिन्न योजनाओं में पात्र महिलाओं को समय पर सहायता राशि या अन्य सुविधाएं उपलब्ध कराने आदि के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने इन सबके लिए आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं आशा सहयोगिनियों की भूमिका को अहम बताया। वहीं जिले में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता व आशाओं के रिक्त पदों को भरने की कार्यवाही के लिए भी प्रशासन को निर्देश दिए।
बैठक में दौरान अल्पसंख्यक विभाग की समीक्षा करते हुए उन्होंने अल्पसंख्यक हितार्थ चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं के समयबद्ध क्रियान्वयन के साथ हरजरूरतमंद को इनका पूरा लाभ प्रदान करने पर जोर दिया। उन्होंने अल्पसंख्यकों के लिए चलाई जा रही विभिन्न छात्रवृत्ति योजनाओं के बारे में भी समीक्षा की और प्रत्येक पात्र छात्र को इसका शत-प्रतिशत लाभ मिले, इसके लिए विभागीय अधिकारियों को चिशेष प्रयास करने को कहा। उन्होंने जनअभाव अभियोग निराकरण के संबंध में जिले की स्थिति को संतोषप्रद बताया। बैठक में जिला रसद अधिकारी ज्योति ककवानी ने जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी की पहल पर चलाए जा रहे चुप्पी तोड़ों, खुलकर बोलो अभियान की प्रगति के बारे में जानकारी दी।  
इन विषयों पर निर्देश दिए:
विभागीय समीक्षा के दौरान राज्यमंत्री श्रीमती भूपेश ने अमृता हाट के दौरान बांसवाड़ा-डूंगरपुर की समितियों को बुलाने तथा आंगनवाड़ी केन्द्रों के भवन निर्माण के लिए भूमि आवंटन संबंधित प्रकरणों को निस्तारित करने के लिए निर्देश दिए।  
सब मिलकर कुपोषण के खिलाफ लड़ाई लड़ें:
राज्यमंत्री श्रीमती भूपेश ने कहा कि दक्षिण राजस्थान में कुपोषण की स्थितियां हैं और इसी वजह से उन्होंने जागरूकता के महिने पोषण माह के दौरान इस क्षेत्र का दौरा किया है। उन्होंने सुरक्षित और स्वस्थ प्रदेश के निर्माण के लिए समन्वित प्रयास करने व मिलकर कुपोषण के खिलाफ लड़ाई लड़ने का आह्वान किया।
दिलाई शपथ:
इस अवसर पर राज्यमंत्री ने सदन में मौजूद लोगों को कुपोषण मुक्त राजस्थान निर्माण व बाल विवाह की रोकथाम में अपनी पूर्ण भागीदारी निभाने एवं बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना के तहत बालिका जन्म पर खुशी व उत्सव मनाने, बेटियांे पर गर्व करने, लडके-लड़की के बीच समानता को बढ़ावा देने की शपथ दिलाई।

स्वस्थ, सशक्त व शिक्षित राजस्थान बनाने सरकार संकल्पबद्ध - राज्यमंत्री ममता भूपेश महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री ने उदयपुर में किया वन स्टॉप सेंटर का शुभारंभ

News

उदयपुर, 14 सितम्बर/राज्य के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की मंशा के अनुरूप स्वस्थ, सशक्त व शिक्षित राजस्थान के लिए हम सभी संकल्पबद्ध हैं और इसके लिए सबसे पहले आवश्यक है कि प्रदेश की महिलाएं स्वस्थ, सशक्त व शिक्षित हो।
यह बात महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री श्रीमती ममता भूपेश ने शनिवार को जिला प्रशासन, महिला एवं बाल विकास विभाग व महिला अधिकारिता विभाग के तत्वावधान में उदयपुर के भुवाणा स्थित शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में स्थापित वन स्टॉप सेंटर (सखी) के शुभारंभ अवसर पर कही।
उन्होंने कहा कि महिलाओं, शिशु एवं किशोरियों के सर्वांगीण विकास को लेकर सरकार विभिन्न विभागों के माध्यम से प्रयास कर रही है जिसमें विविध कल्याणकारी योजनाओं से महिलाओं व किशोरियों के स्वास्थ्य, शिक्षा व रोजगार उपलब्ध कराते हुए उन्हें आत्मनिर्भर बनाया जा रहा है।  
राज्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं के सम्मान, सहायता, सुरक्षा व सशक्तिकरण के लिए स्थापित यह वन स्टॉप सेंटर हिंसा से प्रभावित महिलाओं को संबल प्रदान करने का कार्य करेगा। उन्होंने कहा कि इस सेंटर की स्थापना के लिए सरकार द्वारा 48 लाख रुपये बजट आवंटित किया गया है। उन्होंने सेंटर के सुरक्षित वातावरण एवं भूमि की आवश्यकता के लिए अतिरिक्त जिला कलक्टर नरेश बुनकर व महिला एवं बाल विकास उपनिदेशक महावीर खराडी को यूआईटी से सम्पर्क कर जमीन उपलब्ध कराने की बात कही।
इस अवसर पर पूर्व विधायक सज्जन कटारा, अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) नरेश बुनकर, महिला एवं बाल विकास उपनिदेशक महावीर खराड़ी, महिला अधिकारिता के उपनिदेशक संजय जोशी सहित क्षेत्रीय जनप्रतिनिधिगण, आईसीडीएस की महिला पर्यवेक्षक, महिला अधिकारिता विभाग की प्रचेताएं एवं साथिन, वन स्टॉप सेंटर के गोपाल सिंह गहलोत, किरण पटेल, शालिनी द्विवेदी, प्रियंका व्यास, केतन दोषी, जितेन्द्र शुक्ला, प्रदीप आमेटा, विकास शर्मा, हेमंत चोरडि़या सहित आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, आशा सहयोगिनी व सेंटर के अन्य प्रतिनिधि मौजूद रहे।
किया लोकार्पण, दिए निर्देश:
प्रारंभ में राज्य मंत्री ने विधिवत पूजा अर्चना कर एवं फीता काटकर सेंटर का लोकार्पण किया तथा सेंटर का निरीक्षण कर इसमें दी जाने वाली सेवाओं के बारे में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने सेंटर की प्रबंधक किरण पटेल, सलाहकार शालिनी द्विवेदी व प्रियंका व्यास से बात की तथा इसको साफ-सुथरा रखने के साथ ही इसके प्रभावी संचालन व महिलाओं को सुरक्षित वातावरण प्रदान करने के निर्देश दिए। इस अवसर पर राज्यमंत्री श्रीमती ममता भूपेश सहित मंच पर मौजूद अतिथियों ने वन स्टॉप सेंटर (सखी) की गतिविधियों एवं कार्ययोजना पर आधारित फोल्डर का भी विमोचन किया।
महिलाओं का मददगार बनेगा वन स्टॉप सेंटर ‘सखी‘:  
उपनिदेशक महावीर खराड़ी ने बताया कि यह सेंटर विभिन्न प्रकार की हिंसाओं से पीडि़त महिलाओं को सुरक्षित वातावरण के साथ सलाह, समझाईश व मार्गदर्शन प्रदान कराते हुए मददगार की भूमिका निभाएगा। इसी प्रकार यहां महिलाओं को सम्मान देने के साथ सहायता, सुरक्षा एवं सशक्तिकरण के लिए कार्य किए जाएंगे। केन्द्र पर दोनों पक्षों में बातचीत की मध्यस्थता, कानूनी सहायता, आश्रय गृह में रहने हेतु सहायता, पुलिस व न्यायिक कार्यवाही में सहयोग, महिलाओं को सामाजिक व कल्याणकारी योजनाओं से जोड़ने संबंधी आदि कार्य किए जाएंगे।

कलक्टर ने विभागीय समीक्षा बैठक में कहा- निरीक्षण में मिली कमियों पर फोकस करो सिस्टम में ‘बीमारी’ खोज कर बता दी, अब ‘इलाज’ आपका दायित्व -कलक्टर

News

उदयपुर, 16 सितंबर/जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी ने जिले में अन्य विभागीय अधिकारियों से निरीक्षण की व्यवस्था में मिली कमियों पर जिलाधिकारियों को फोकस करने को निर्देशित किया है और कहा है कि निरीक्षण के माध्यम से हजारों की संख्या में से सर्वाधिक बीमार संस्थाओं के बारे में जिला प्रशासन ने बता दिया है, अब इसका इलाज तो विभाग के जिलाधिकारी का दायित्व है।
कलक्टर ने यह बात सोमवार को विभागीय योजनाओं एवं कार्यक्रमों के प्रभावी क्रियान्वयन एवं जनसमस्याओं के त्वरित निस्तारण को लेकर विभागीय समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए दिए।
कलक्टर ने मौजूद अधिकारियों को निर्देश दिए कि जनकल्याण के कार्यों को प्राथमिकता एवं समयबद्धता से पूरा करें। उन्होंने कहा कि रात्रि चौपाल, निरीक्षण, दौरे आदि के दौरान प्राप्त हो रही परिवेदनाओं का संबंधित विभाग त्वरित निस्तारण कर लोगों को राहत प्रदान करें एवं इसकी रिपोर्ट प्रस्तुत करें।
कलक्टर ने जनजाति छात्रावासों एवं आवासीय विद्यालयों में मिल रही अव्यवस्थाओं पर नाराजगी जाहिर करते हुए इनके शीघ्र सुधार पर जोर दिया। छात्रावासों में बिजली, पंखे आदि रिपेयर करवाने, सॉलर वॉटर हीटर दुरस्त कराने, शुद्ध पेयजल व ताजा भोजन उपलब्ध कराने, मेडिकल किट की सुविधा, कम्प्यूटर-मशीनरी आदि रिपेयर कराने सहित विभिन्न व्यवस्थाओं को सुधारने के निर्देश दिए। उन्होंने छात्रावास संचालन में लापरवाही बरतने वाले वार्डन अथवा अन्य संबंधित कार्मिक के विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही करने की बात कही।
उन्होंने जिले भर में चिकित्सा व्यवस्था सुदृढ़ बनाने पर विशेष जोर दिया। इसके लिए चिकित्सा संस्थानों पर स्टाफ की पर्याप्त उपलब्धता, दवाईयों के स्टॉक सहित विभिन्न आवश्यक चिकित्सा सुविधा की उपलब्धता राजश्री योजना के लम्बित भुगतान को शीघ्र करने को भी कहा। आंगनबाड़ी केन्द्रों में आयरन फॉलिक एसिड की टेबलेट सप्लाई करने एवं एएनएम यदि सबसेंटर पर मौजूद नहीं है तो लिखकर जाने हेतु पाबंद करने के निर्देश दिए।
कलक्टर ने जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग से सोलर पनघट टेंडर की जानकारी ली एवं इसकी प्रक्रिया को शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिए। रामा पंचायत में पेयजल टंकी लीकेज मरम्मत करवाने च साकरोदा में पानी की टंकी बनने के बाद कनेक्शन नहीं होने पर शीघ्र कार्यवाही करने को कहा।
कलक्टर ने बिजली संबंधी शिकायतों में ऋषभदेव में पोल लगने के बाद भी कनेक्शन नहीं होने, मानपुर-झल्लारा में बिजली कनेक्शन संबंधित समस्या मिलने, बिजली दुघर्टनाओं पर मुआवजे की त्वरित कार्यवाही करने, स्कूल एवं सार्वजनिक स्थलों के समीप से गुजर रही हाइटेशन लाइन को अन्यत्र स्थापित करने, लापरवाही बरतने वाले अभियंता, कार्मिक व ठेकेदार के विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही करने के निर्देश  दिए।
पासबुक्स नहीं किताबों से हो पढ़ाई:
कलक्टर ने कहा कि स्कूल-छात्रावास में बच्चे पासबुक का उपयोग न करें और अपनी पढ़ाई किताबों से करें। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि निरीक्षण के दौरान विद्यार्थी पासबुक पढ़ते नजर आए तो संबंधित बीईईओ को जिम्मेदार मानकर नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी।
बहानेबाजी पर होगी कार्यवाही
कलक्टर ने निर्देश दिए कि निरीक्षण में प्राप्त तथ्यों पर  अधीनस्थ को पाबंद कर कार्यवाही करावे ताकि पीडितों को राहत मिलें। जिला अधिकारी यह न समझे कि कार्यवाही न होने पर उनकी जिम्मेदारी नहीं है। यदि बार-बार कहने पर संबंधित प्रकरण में राहत नहीं मिलती है तो जिला अधिकारी के विरूद्ध कार्यवाही की जाएगी।
इस मौके पर जिला परिषद के सीईओ कमर चौधरी ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि ग्रामोत्थान शिविर के तहत विभिन्न विभागीय योजनाओं से ग्रामीणों को लाभान्वित किया जाएगा। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर संजय कुमार सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

श्रमिक शिक्षा दिवस मनाया

News

उदयपुर, 16 सितम्बर/श्रम एवं रोजगार मंत्रालय, भारत सरकार के अधीन दत्तोपंत ठेंगड़ी राष्ट्रीय श्रमिक शिक्षा एवं विकास बोर्ड का स्थापना दिवस ‘‘श्रमिक शिक्षा दिवस’’ के रूप में सोमवार को जलदाय विभाग सभागार में मनाया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि पुलिस महानिरीक्षक विनिता ठाकुर, ने कहा कि राष्ट्रीय निर्माण में दक्षता बढाना, कार्य में कर्मठता लाना एवं आंखो में सपने पूरे करने की दक्षता जरूरी है। उन्होंने इस अवसर पर श्रमिक शिक्षा से जुडे सभी हितधारकों को प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया।
कार्यक्रम के गेस्ट ऑफ ऑनर गुरू गोविंद जनजातीय विश्वविद्यालय बांसवाड़ा के कुलपति डॉ. कैलाश सोडाणी ने कहा कि श्रमिकों को एवं उद्योगपतियों को ईमानदारी राष्ट्र निर्माण में हिस्सेदारी निभानी चाहिये एवं सभी प्रशिक्षण कार्यक्रमों में स्वास्थ्य शिक्षा पर भी बल देना चाहिये। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि ऋषभदेव आरएसडब्ल्यूएम के सीओओ के. बी खटौड ने कहा कि अर्थव्यवस्था में श्रमिकों का योगदान होना आवश्यक है, तभी उद्योग में भागीदार बनेगें, तभी उन्हें पहचान मिलेगी।    
कार्यक्रम के अध्यक्ष क्षेत्रीय सलाहकार समिति के अध्यक्ष अमर सिंह सांखला ने श्रमिक शिक्षा की प्रशंसा करते हुये कहा कि इसके अधिकारियों द्वारा प्रशिक्षण कार्यक्रमों का कोई विकल्प नही है व इस योजना का विस्तार होना चाहिये व इस योजना की चुनौतियों के त्वरित समाधान हेतु राष्ट्रीय स्तर पर प्रयास करेंगे। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि के. एस. मोगरा व डॉ. राज भान्ति थे।
क्षेत्रीय निदेशक के.एस.यादव ने श्रमिक शिक्षा के 61 साल के गौरवपूर्ण किये गये कार्यो का ब्यौरा दिया व श्रमिक शिक्षा योजना के समक्ष नई चुनौतियों के समाधान निकालने का आव्हान किया। संचालन वरिष्ठ शिक्षा अधिकारी पुनीत गौतम ने किया एवं आभार शिक्षा अधिकारी जे.जे.पटेल ने जताया।

पर्यावरण व ओजोन परत के संरक्षण की दी जानकारी

News

उदयपुर, 16 सितम्बर/ विश्व ओजोन संरक्षण दिवस पर आमजन में पर्यावरण व ओजोन परत के संरक्षण के प्रति जागरूकता लाने के उद्देश्य से जिला पर्यावरण समिति उदयपुर की ओर से जिला मुख्यालय पर जागरूकता रैली व कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस मौके पर जागरूकता मोबाईल वेन से जिले के अन्य पंचायत समिति मुख्यालय व गाँवों में जागरूकता लाने का कार्यक्रम भी आयोजित किया गया। जागरूकता रैली व जागरूकता मोबाईल वेन को अतिरिक्त प्रधान मुख्य वन संरक्षक (सिल्वीकल्चर) एम.एल. मीणा व जिला कलक्टर श्रीमती आनन्दी ने हरी झंडी दिखाकर गुलाबबाग के मुख्य द्वार से रवाना किया। गया। रैली के प्रारम्भ होने से पूर्व सभी को पर्यावरण व ओजोन परत संरक्षण की शपथ भी दिलवाई गई।
जागरूकता रैली
उप वन संरक्षक (उत्तर) ओमप्रकाश शर्मा ने बताया कि जागरूकता रैली में बोहरा यूथ पब्लिक स्कूल, विजन ऐकेडमी, रोशन लाल पब्लिक स्कूल, साहू पब्लिक स्कूल के लगभग विद्यार्थियों, विभाग के अधिकारी-कर्मचारी व पर्यावरण प्रेमीयों ने भाग लिया। रैली गुलाब बाग के मुख्य द्वार से प्रारम्भ होकर उदियापोल आर.एम.वी. स्कूल होकर पुनः गुलाबबाग में समाप्त हुई जहाँ प्रदर्शनी के माध्यम से ओजोन संरक्षण के महत्व के बारे में बताया गया।  
जागरूकता मोबाईल वेन भ्रमण कार्यक्रम
डीएफओ ने शर्मा ने बताया कि मोबाइल वेन भ्रमण कार्यक्रम के तहत 16 से 20 सितम्बर तक पर्यावरण जागरूकता व प्रचार-प्रसार हेतु मोबाईल वेन द्वारा ओजोन व पर्यावरण संरक्षण की अपील फास्टर भारतीय पर्यावरण सोसायटी ईन्टाली द्वारा करवाई जाएगी। इसमें 16 को उदयपुर शहर, गिर्वा व बडगांव पंचायत समिति में जागरूकता कार्यक्रम आयोजित हुआ। इसी क्रम में 17 को सलुम्बर व कुराबड़ 18 को मावली, फतहनगर, 19 को वल्लभनगर, मावली व 20 को भीण्डर, मेनार व  ईन्टाली में प्रचार-प्रसार व जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। कार्यक्रम में मुख्य वन संरक्षक आर.के. खैरवा, उप वन संरक्षक अजय चितौड़ा सहित वन विशेषज्ञ वी.एस.राणा, राजेन्द्र सिंह चौहान, महेश शर्मा, डी.के.तिवारी, सुशील सैनी, उमेश बंसल एवं स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

निकाय चुनाव लॉटरी का समय परिवर्तित

उदयपुर, 16 सितम्बर/जिले में नगर निगम उदयपुर एवं नगर पालिका कानोड़ के आमचुनाव के लिए वार्डों के वर्गवार आरक्षण व महिला आरक्षण की लॉटरी प्रक्रिया 18 सितम्बर को मध्याह्न 12 बजे के स्थान पर अब अपराह्न 2 बजे कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित होगी। यह जानकारी उप जिला निर्वाचन अधिकारी (अतिरिक्त कलक्टर) ने दी।

विधानसभा की पर्यावरण संबंधी समिति आज उदयपुर में

उदयपुर, 16 सितम्बर/राजस्थान विधानसभा की पर्यावरण संबंधी समिति 17 सितम्बर की रात्रि 10 बजे उदयपुर पहुंचेगी तथा रात्रि विश्राम राजकीय विश्राम गृह में करेगी।

जिला कलक्टर श्रीमती आनन्दी ने बताया कि यह समिति 18 सितम्बर को संबंधित विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक कर पर्यावरण के संबंध में विचार विमर्श करंेंगी तथा उदयपुर जिले में संचालित औद्योगिक इकाइयों का निरीक्षण करेगी। समिति सदस्य इसी दिन सायं 6 बजे राजकीय वाहन से माउण्ट आबू प्रस्थान कर जाएंगे।

विधानसभा की पिछड़े वर्ग के कल्याण संबंधी समिति 18 को उदयपुर में

उदयपुर, 16 सितम्बर/राजस्थान विधानसभा की पिछड़े वर्ग के कल्याण संबंधी समिति 18 सितम्बर की अपराह्न 3 बजे उदयपुर पहुंचेगी।
जिला कलक्टर श्रीमती आनन्दी ने बताया कि यह समिति गुरुवार, 19 सितम्बर को सुबह 11 बजे सर्किट हाउस में उदयपुर जिले में सरकार द्वारा वर्तमान में पिछड़े वर्ग के हितार्थ किए जा रहे विकास कार्यो, कल्याणकारी योजनाओं एवं आरक्षण के संबंध में संबंधित अधिकारियों से विचार विमर्श करंेंगी तथा ऐतिहासिक स्थलों का भ्रमण करेगी। 18 व 19 सितम्बर को समिति सदस्यों का रात्रि विश्राम सर्किट हाउस में रहेगा। यह समिति 20 सितंबर को सुबह 9 बजे जयपुर के लिए प्रस्थान कर जाएगी।

सिसोदिया ने युवा समन्वयक का कार्यभार संभाला

उदयपुर, 16 सितंबर/नेहरू युवा केन्द्र उदयपुर के जिला युवा समन्वयक के पद पर महेन्द्र सिंह सिसोदिया ने कार्यभार ग्रहण किया। साथ ही इन्होंने सचिव युवा आवास एवं जिला युवा बोर्ड का कार्यभार भी संभाल लिया है। सिसोदिया ने बताया कि आगामी दिनों में संभाग स्तरीय राष्ट्रीय युवा स्वयंसेवकों का प्रशिक्षण आयोजित किया जाएगा।

डामोर 18 को उदयपुर आएंगे

उदयपुर, 16 सितम्बर/राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग के सदस्य हरिकृष्ण डामोर 18 सितम्बर की सुबह 7.20 बजे रेल से उदयपुर पहुंचेंगे। वे 18 व 19 को बेदला स्थित आस्था प्रशिक्षण केन्द्र पर जनजाति विकास को लेकर आयोजित कार्यशाला में भाग लेंगे। वे 20 को उदयपुर जिले के जनजाति क्षेत्रों का भ्रमण करेंगे तथा 22 को सायं 6.15 बजे रेल से दिल्ली प्रस्थान कर जाएंगे।

निकाय चुनाव लॉटरी का आज

उदयपुर, 17 सितम्बर/जिले में नगर निगम उदयपुर एवं नगर पालिका कानोड़ के आमचुनाव के लिए वार्डों के वर्गवार आरक्षण व महिला आरक्षण की लॉटरी प्रक्रिया बुधवार, 18 सितम्बर को अपराह्न 2 बजे कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित होगी। यह जानकारी उप जिला निर्वाचन अधिकारी (अतिरिक्त कलक्टर) नरेश बुनकर ने दी।

विधानसभा की पर्यावरण संबंधी समिति आज लेगी बैठक

उदयपुर, 17 सितम्बर/राजस्थान विधानसभा की पर्यावरण संबंधी समिति बुधवार को सुबह 11 बजे कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्तरीय अधिकारियों के साथ बैठक कर पर्यावरण के संबंध में विचार विमर्श करंेंगी।
अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) संजय कुमार ने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देश दिये है कि वे बैठक में निर्धारित एजेण्डा के अनुसार समुचित सूचना के साथ उपस्थित होना सुनिश्चित करें।
यह रहेगा एजेण्डा
एडीएम सिटी ने बताया कि बैठक में नदियों में लिक्विड वेस्ट प्रदूषण रोकने, स्टोन से निकलने वाली स्लरी वेस्ट का सुरक्षित निस्तारण, बायो मेडिकल वेस्ट का निस्तारण, शहरों के आस-पास मिट्टी क्रेशर से होने वाले प्रदूषण, ईट-भट्टे से होने वाले प्रदूषण, औद्योगिक इकाइयों द्वारा व खनन क्षेत्र में होने वाले प्रदूषण के संबंध में चर्चा व टर्म्स एण्ड कंडिशन के अनुसार पौधारोपण, वृक्षारोपण, जिले के शहरों व ग्रामीण क्षेत्रों में राशन वितरण व्यवस्था व बायोमैट्रिक मशीन का प्रयोग, जलग्रहण व जल स्वावलंबन के संबंध में, शिक्षण संस्थाओं में पौधारोपण, राष्ट्रीय राजमार्ग पर टर्म्स एण्ड कंडिशन के आधार पर पौधारोपण, जिले में स्थापित उद्योगो द्वारा सीएसआर की शर्तों के अनुरूप स्थानीय स्तर पर किये जाने वाले जनकल्याणकारी कार्यों सहित पर्यावरण से जुड़े अन्य महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर चर्चा की जाएगी।

महात्मा गांधी ग्रामोत्थान शिविर जारी
आज 20 पंचायतों में लगेंगे शिविर

उदयपुर, 17 सितम्बर/जिले के विभिन्न ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर महात्मा गांधी ग्रामोत्थान शिविर आयोजित किये जा रहे है, जिनमें ग्राम पंचायत के अतिरिक्त अन्य विभागीय योजनाओं के कार्य भी सम्पादित किए जा रहे है। इसी क्रम में बुधवार को जिले की 20 पंचायतों में इन शिविरों का आयोजन किया जाएगा।
निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 18 सितम्बर को गिर्वा के डाकन कोटड़ा, कुराबड़ के वली, बड़गांव के अंबेरी, मावली के सिंधु व महुड़ा, भीण्डर के लूणदा व कुण्डई, गोगुन्दा के पडावली कला, सायरा के सायरा, कोटड़ा के मेडी व उमरिया़, झाड़ोल के गोगला, फलासिया के आमलिया, खेरवाड़ा के कनबई, ऋषभदेव के पीपली-ब, सराड़ा के झाड़ोल, सेमारी के सदकड़ी, सलुम्बर के गुडेल, झल्लारा के बनोड़ा व लसाडि़या के ढिकिया में ग्रामोत्थान शिविर का आयोजन होगा।

अनुजा निगम की ओर से ऋण आवेदन आमंत्रित

उदयपुर, 17 सितम्बर/राजस्थान अनुसूचित जनजाति वित्त विकास निगम जयपुर के निर्देशानुसार जिले के अनुसूचित जनजाति वित्त विकास निगम योजना में आदिवासी महिला सशक्तिकरण, लघु व्यवसाय ग्रामीण, लघु व्यवसाय शहरी, डेयरी, शिक्षा ऋण, ई रिक्शा, ऑटो रिक्शा, ट्रेक्टर मय ट्रोली, जीप टेक्सी एवं कृषि आधारित लघु व्यवसाय हेतु रियायती ब्याज दर पर इच्छुक प्रार्थियो से ऋण आवेदन ऑनलाईन आंमत्रित किये गये है। अनुजा निगम के परियोजना प्रबंधक प्रफुल्ल चन्द्र चौबीसा ने बताया कि ऑनलाइन आवेदन भरने की अंतिम तिथि 31 अक्टूबर है व आवेदनों की संख्या 322 है।

पात्रता
चौबीसा ने बताया कि आवेदक उदयपुर जिले का मूल निवासी हो, जाति प्रमाण पत्र हो, उम्र 18 से 60 वर्ष तक के मध्य हो, आय प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा। आवेदक किसी ऋणदात्री संस्था का ऋणी नही होना चाहियें। आवेदक द्वारा ऋण आवेदन पत्र के साथ जाति प्रमाण पत्र, आवेदक के आधार कार्ड की प्रति (भामाशाह फार्म से सत्यापन), स्वघोषित/सत्यापित वार्षिक आय प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा। अनुसूचित जनजाति हेतु शहरी क्षेत्र मे 1.20 लाख व ग्रामीण क्षेत्र के लिये 0.98 लाख वार्षिक आय तय है।

जिला कृषि विकास समिति की समीक्षा बैठक 18 को

उदयपुर, 17 सितंबर/जिला कृषि विकास कार्यक्रमों के प्रभावी, गुणवत्तापूर्ण, उद्देश्यपरक एवं समयबद्ध क्रियान्वयन हेतु गठित जिला कृषि विकास समिति एवं विभिन्न योजनाओं की समीक्षा बैठक जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी की अध्यक्षता में 18 सितंबर को सायं 5.30 बजे कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित होगी। यह जानकारी कृषि उप निदेशक (विस्तार) डॉ. के.एन.सिंह ने दी।

धुम्रपान के दुष्प्रभाव बताते हुए इससे दूर रहने का दिया संदेश

उदयपुर, 17 सितम्बर/मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ विभाग की ओर से महाविद्यालय आमुखीकरण कार्यशाला राजदेव शिक्षक प्रशिक्षण महाविद्यालय रामपुरा में हुई। कार्यक्रम के मुख्य वक्ता जिला पीपीएम आईईसी समन्वयक महिपाल सिंह ने सितंबर माह को पोषण माह के रूप में मनाने के साथ ही तम्बाकू एवं टीबी के प्रति आमजन को जागरूक करने के लिए किए जा रहे प्रचार प्रसार और टीबी रोगियों के निक्षय पोषण अभियान के बारे में बताया। उन्होंने धुम्रपान के दुष्प्रभाव बताते हुए इससे होने वाले रोगों के बारे में बताया एवं धूम्रपान नहीं करने एवं इसे रोकने के लिए प्रभावी प्रयास करने की बात कही।
डॉ.पी.सी.जैन ने धूम्रपान एवं नशा से जीवन पर पड़ने वाले प्रभावों को नाटक मंचन के माध्यम से प्रस्तुत कर जागरूक किया। साइकोलॉजिस्ट सोनिया ने बताया कि तंबाकू सेवन से शारीरिक, मानसिक, पारिवारिक, और आर्थिक स्थिति पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में बताया और कहा कि काउंसलिंग एवं दवाइयों के द्वारा धूम्रपान की आदत को छोड़ा जा सकता है। कार्यक्रम को प्रधानाचार्य निहारिका भारती, डायरेक्टर गिरीश भारती ने भी संबोधित किया।

अंतरजिला खेलकूद प्रतियोगिताओं के लिए जिला स्तरीय टीम का चयन 22 को

उदयपुर, 17 सितम्बर/कार्मिक विभाग राजस्थान जयपुर के तत्वावधान में होने वाली अंतरजिला खेलकूद प्रतियोगिताओं 2019-20 के लिए जिला स्तरीय टीम का चयन 22 सितंबर को दोपहर 12 बजे खेलगांव व गांधी ग्राउण्ड में होगा।
अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) संजय कुमार ने बताया कि आगामी 27 से 29 सितंबर को अजमेर में आयोजित होने वाली द्वितीय राजस्थान राज्य अन्तरजिला सिविल सेवा टेनिस प्रतियोगिता एवं तृतीय राजस्थान राज्य अंतरजिला सिविल सेवा बैडमिंटन प्रतियोगिता के लिए जिला स्तरीय टीम का चयन प्रक्रिया खेलगांव में होगी। वहीं आगामी 10 से 12 नवंबर तक जैसलमेर में होने वाली राजस्थान राज्य अन्तरजिला सिविल सेवा बास्केटबॉल प्रतियोगिता व आगामी 23 से 25 नवंबर तक डूंगरपुर में होने वाली राजस्थान राज्य अन्तरजिला सिविल सेवा वॉलीबॉल प्रतियोगिता के लिए जिला स्तरीय टीम का चयन गांधी ग्राउण्ड में होगा।

नगर निगम उदयपुर के 70 वार्डाें के चुनाव के लिए लॉटरी प्रक्रिया सम्पन्न जिला निर्वाचन अधिकारी ने निकाली लॉटरी

News

उदयपुर, 18 सितम्बर/आसन्न नगर निगम आमचुनाव के तहत उदयपुर नगर निगम व कानोड नगर पालिका के लिए वार्डों के वर्गवार आरक्षण व महिला आरक्षण की लॉटरी प्रक्रिया बुधवार को जिला निर्वाचन अधिकारी (कलक्टर) श्रीमती आनन्दी की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि निगम के 70 वार्डों में से 44 पद पर सामान्य वर्ग, 15 पर अन्य पिछड़ा वर्ग, 4 पर अनुसूचित जाति व 7 पदों पर अनुसूचित जनजाति के प्रत्याशी चुनाव लड़ सकंेंगे। इस अवसर पर उदयपुर ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा, नगर निगम महापौर चन्द्रसिंह कोठारी, पूर्व विधायक त्रिलोक पूर्बिया, समाजसेवी पंकज कुमार शर्मा, विवेक कटारा, कुंतीलाल जैन, उप जिला निर्वाचन अधिकारी (एडीएम प्रशासन) नरेश बुनकर, नगर निगम उपायुक्त अनिल शर्मा, निर्वाचन अनुभाग के महामाया प्रसाद चौबीसा, मोहन सोनी सहित विभिन्न राजनैतिक दलों के प्रतिनिधि, मीडिया प्रतिनिधि एवं निर्वाचन से जुड़े अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।
37 पुरूष एवं 23 महिला प्रत्याशी लडेंगे चुनाव
नगर निगम के सभी 70 वार्डों की आयोजित वर्गवार लॉटरी प्रक्रिया के तहत उदयपुर निगम क्षेत्र के 37 वार्डों में पुरूष प्रत्याशी अपना भाग्य आजमाएंगे जबकि 23 वार्डों में महिला प्रत्याशी चुनाव लडेगी।
वर्गवार आंकडों के अनुसार निगम क्षेत्र में वार्ड 23 व 34 से अनुसूचित जाति, वार्ड 9 से अनुसूचित जनजाति, वार्ड 5, 63, 52, 31 व 66 से ओबीसी तथा वार्ड 67, 20, 27, 21, 15, 60, 54, 35, 62, 49, 48, 56, 24, 68 व 58 से सामान्य वर्ग की महिला प्रत्याशी चुनाव लडे़ंगी।
वहीं वार्ड संख्या 6, 16, 33, 42 व 43 से अनुसूचित जाति, वार्ड संख्या 1, 11 व 70 से अनुसूचित जनजाति, वार्ड संख्या 4, 7, 8, 10, 13, 19, 26, 40, 46 व 61 से ओबीसी व वार्ड संख्या 2, 3, 12, 14, 17, 18, 22, 25, 28, 29, 30, 32, 36, 37, 38, 39, 41, 44, 45, 47, 50, 51, 53, 55, 57, 59, 64, 65 व 69 के लिए पुरूष प्रत्याशी चुनाव लडेंगे।
नगर पालिका कानोड की लॉटरी
इसी क्रम में नगर पालिका कानोड के वार्ड आरक्षण की लॉटरी प्रक्रिया के तहत 20 वार्डों के लिए लॉटरी निकाली गई। इसमें वार्ड 1 के लिए सामान्य पुरूष, वार्ड 2 सामान्य महिला, वार्ड 3 अजा पुरूष, वार्ड 4 अजजा महिला, वार्ड 5 व 6 अजजा पुरूष, वार्ड 7 सामान्य महिला, वार्ड 8 व 9 सामान्य पुरूष, वार्ड 10 अन्य पिछड़ा वर्ग पुरूष, वार्ड 11 के लिए सामान्य महिला, वार्ड 12 अजा महिला, वार्ड 13 व 14 ओबीसी पुरूष, वार्ड 15 अजा पुरूष, वार्ड 16 व 17 सामान्य पुरूष, वार्ड 18 ओबीसी महिला तथा वार्ड 19 व 20 के लिए सामान्य पुरूष चुनाव लड़ेंगे।

विधानसभा की पर्यावरण संबंधी समिति ने ली जिलाधिकारियों की बैठक प्रदूषण के मामले में भावी पीढ़ी के लिए अभी से सोचने की जरूरत है - अध्यक्ष

News

उदयपुर, 18 सितम्बर/राजस्थान विधानसभा की पर्यावरण संबंधी समिति के अध्यक्ष अर्जुनलाल जीनगर ने कहा है कि बढ़ते औद्योगिकीकरण के कारण वर्तमान में जल, हवा, मिट्टी सब प्रदूषित हो रहे और यह हमारी भावी पीढ़ी के लिए चिन्ता का विषय है, इसके लिए अभी से सोचने की जरूरत है।
वे बुधवार को यहां जिला परिषद सभागार में जिला स्तरीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए संबोधित कर रहे थे।
बैठक में समिति अध्यक्ष के साथ सदस्य किसनाराम विश्नोई, हमीरसिंह भायल, खुशवीरसिंह,  महेन्द्रसिंह विश्नोई, उदयपुर ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा, मावली विधायक धर्मनारायण जोशी, झाड़ौल विधायक बाबूलाल खराड़ी, जिला प्रमुख शांतिलाल मेघवाल, नगर निगम आयुक्त अंकित कुमार सिंह, अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) संजय कुमार व समस्त संबंधित विभागीय अधिकारी मौजूद थे।
उन्होंने पर्यावरण के क्षेत्र के कार्यरत विभागों एवं संस्थाओं को समन्वय से कार्य करने को कहा तथा औद्योगिक क्षेत्रों से निकलने वाले जल एवं धुएं के प्रभावी निस्तारण पर जोर दिया। उन्होंने उद्योगों को विकास की दृष्टि जरूरी बताया पर इसमें भी प्रदूषण फैलाने वाली इकाइयों को आबादी से दूर स्थापित करने की बात कही। उन्होंने कहा हम चाहते है कि सुरक्षित जीवन के साथ हम आने वाली पीढ़ी को सुरक्षित व संतुलित वातावरण व परिवेश प्रदान करें तो इसके लिए जागरूक होकर विशेष ध्यान देने की आवश्यकता जताई। उन्होंने मानव जीवन के साथ पशुओं के लिए भी शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने की बात कही तथा कहा कि संबंधित औद्योगिक संस्था द्वारा 1 वर्ष से पानी से प्रभावित गांवों में एटीएम लगवा दिये जाए जिससे पेयजल की सुलभता हो सके।
बैठक दौरान प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी बी.आर. पंवार ने जिले में औद्योगिक संस्थाओं की स्थिति और प्रदूषण फैलाने पर की जाने वाली कार्यवाही के बारे में बताया। उन्होंने प्रदूषण रोकने के लिए किए जा रहे ऐहतियातन उपायों और इसकी मॉनिटरिंग के लिए की गई व्यवस्था के बारे में बताया।
गंभीरता से जांच करने के निर्देश:
बैठक में समिति सदस्यों ने जिले में विविध उद्योगों के प्रदूषण से प्रभावित क्षेत्रों की समीक्षा की और उदयपुर ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा, मावली विधायक धर्मनारायण जोशी व अन्य स्थानीय जनप्रतिनिधियों द्वारा शिकायत किए जाने पर समिति अध्यक्ष जीनगर ने हिन्दुस्तान जिंक लिमिटेड की डाउनस्ट्रीम में प्रभावित भूजल वाले सभी गांवों के निजी कुओं, हेण्डपंप, ट्यूबवेल आदि की विस्तृत सर्वे व जांच करने के लिए पीएचईडी, भूजल विभाग, कृषि, चिकित्सा व पशुपालन विभाग को निर्देश दिए तथा कहा कि यह पता लगावें कि यहां का पेयजल मनुष्यों के साथ पशुओं के लिए अनुकूल है या नहीं तथा इनके प्रदूषण से फसलें प्रभावित तो नहीं हो रही हैं।  उन्होंने रिपोर्ट एक माह में भेजने को भी कहा। इस दौरान उदयपुर ग्रामीण विधायक मीणा ने सेरिंग डेम क्षेत्र में प्रदूषण से गायों की मौत से उत्पन्न स्थितियों व मावली विधायक जोशी ने 2016 के बाद पेयजल की जांच नहीं किए जाने के तथ्य को उद्घाटित किया तो समिति अध्यक्ष ने दोनों ही प्रकरणों मंे संबंधित विभागीय अधिकारियों से जानकारी लेकर कार्यवाही के निर्देश दिए।
सीएसआर मद इसी क्षेत्र में हो व्यय:
बैठक में समिति द्वारा जिले में विभिन्न उद्योगों द्वारा सीएसआर मद से किए जाने वाले व्यय की समीक्षा की और अन्य क्षेत्रों में इस मद के उपयोग पर नाराजगी जताते हुए कहा कि जिस क्षेत्र में उद्योग स्थापित है उसी क्षेत्र में इस मद से व्यय किया जावें ताकि प्रभावित लोगों को इसका पूरा-पूरा लाभ प्राप्त हो।
आयड़ को सुंदर बनाओ:
बैठक में समिति अध्यक्ष जीनगर ने आयड़ नदी की स्थिति की समीक्षा और इसे सुंदर बनाने के लिए की जा रही कार्यवाही के बारे में पूछा। इस पर नगर निगम आयुक्त अंकित कुमार सिंह ने बताया कि इसमें जो नाले गिर रहे हैं उसके लिए दो ट्रंक लाईन डाली जा रही है वहीं इसमें सफाई का कार्य नगरनिगम और यूआईटी द्वारा लगातार किया जा रहा है। उन्होंने स्मार्ट सिटी के तहत इसे सुंदर बनाने का प्रोजेक्ट लिए जाने व इसकी टेण्डर प्रक्रिया जारी होने की बात भी कही।    
एनएच निर्माण में काटे पेड़ों के स्थान पर लगाओ पेड़:
बैठक में समिति सदस्य महेन्द्र सिंह विश्नोई ने नेशनल हाईवे निर्माण के लिए बड़ी संख्या में पेड़ काटने के लिए प्राप्त की गई अनुमति के बारे में विभागीय अधिकारियों से जानकारी ली तथा उन्हें प्रावधानों के अनुसार स्थानीय प्रजातियों के पेड़ लगाने को कहा। उन्होंने नेशनल हाईवे के निर्माण में प्रयुक्त बजरी के मामले में भी खनि अभियंता को जांच करने के निर्देश दिए।
ये निर्देश भी दिए गए:
समीक्षा बैठक में अध्यक्ष व सदस्यों ने नवीन उद्योग स्थापना पर 33 प्रतिशत क्षेत्र में पेड़ लगाने, ओगणा क्षेत्र में माईंस से हो रही बीमारी पर जांच करने, बायोमेडिकल वेस्ट के प्रावधानों के अनुसार निस्तारण करने, हेवी ब्लास्टिंग नहीं करने, सड़क किनारे ईट भट्टों को स्थापित नहीं करवाने, मिठाई के उपर लगे वर्क में प्रयुक्त सामग्री की जांच करने के भी निर्देश दिए।  
इस पर भी हुई चर्चा:
बैठक में नदियों में लिक्विड वेस्ट प्रदूषण रोकने, स्टोन से निकलने वाली स्लरी वेस्ट का सुरक्षित निस्तारण, बायो मेडिकल वेस्ट का निस्तारण, शहरों के आस-पास मिट्टी क्रेशर से होने वाले प्रदूषण, ईट-भट्टे से होने वाले प्रदूषण, औद्योगिक इकाइयों द्वारा व खनन क्षेत्र में होने वाले प्रदूषण के संबंध में चर्चा व टर्म्स एण्ड कंडिशन के अनुसार पौधारोपण, वृक्षारोपण, जिले के शहरों व ग्रामीण क्षेत्रों में राशन वितरण व्यवस्था व बायोमैट्रिक मशीन का प्रयोग, जलग्रहण व जल स्वावलंबन के संबंध में, शिक्षण संस्थाओं में पौधारोपण, राष्ट्रीय राजमार्ग पर टर्म्स एण्ड कंडिशन के आधार पर पौधारोपण सहित पर्यावरण से जुड़े अन्य महत्वपूर्ण बिन्दुओं पर चर्चा की गई।
दिलाई शपथ
बैठक के दौरान अध्यक्ष ने समस्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों को पर्यावरण सुरक्षित रखने एवं भावी पीढ़ी को सुख भविष्य प्रदान करने की शपथ दिलाई।

महात्मा गांधी ग्रामोत्थान शिविर जारी
आज  पंचायतों में लगेंगे शिविर

उदयपुर, 18 सितम्बर/जिले के विभिन्न ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर महात्मा गांधी ग्रामोत्थान शिविर आयोजित किये जा रहे है, जिनमें ग्राम पंचायत के अतिरिक्त अन्य विभागीय योजनाओं के कार्य भी सम्पादित किए जा रहे है। इसी क्रम में बुधवार को जिले की 16 पंचायतों में इन शिविरों का आयोजन किया जाएगा।
निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 19 सितम्बर को गिर्वा के लकड़वास, बड़गांव के कदमाल, मावली के पलानाखुर्द व पलानाकला, भीण्डर के महाराज की खेड़ी व मोतीदा, कोटड़ा के बुढिया व मण्डवाल, झाड़ोल के बदराणा, फलासिया के आमीवाड़ा, खेरवाड़ा के मालीफला, ऋषभदेव के रजोल, सराड़ा के थाणा, सेमारी के उपलाफला सदकड़ी, सलुम्बर के ईसरवास व झल्लारा के अमलोदा में ग्रामोत्थान शिविर का आयोजन होगा।

वालीबॉल प्रतियोगिता में राउमावि बड़गांव ने जिला स्तर पर बाजी मारी

उदयपुर, 18 सितम्बर/सेन्ट टेरेसा उच्च माध्यमिक विद्यालय द्वारा सपन्न जिला स्तरीय विधिक खेलकूद प्रतियोगिता के तहत वालीबॉल प्रतियोगिता में राउमावि बड़गाँव ने राउमावि सेन्ट ऐन्थनी बलीचा को हराकर खिताब जीता।
       प्रधानवार्या डॉ. सीमा आमेटा ने विजेता खिलाडियों को बधाई देते हुए बताया कि राउमावि बड़गाँव की वालीबॉल टीम विद्यालय शिक्षा विभाग द्वारा आयोजित 64 वीं जिला स्तरीय खेल-कूद प्रतियोगिता में भी जिला स्तर पर प्रथम रहीं है। साथ ही राउमावि बड़गाँव की तीन छात्राओं का सुश्री आंचल तिवारी, गौरी रंगास्वामी, सुदिपा माना राज्य स्तर पर चयन हुआ।
टीम प्रभारी श्रीमती किरण कुमावत ने बताया की स्थानीय विद्यालय की वालीबॉल छात्रा टीम का विधिक प्रतियोगिता एवं जिला स्तरीय में विद्यालयी खेलकूद प्रतियोगिता में सराहनीय प्रदर्शन रहा तथा टीम कोंच गजेन्द्र मोहन चौबीसा ने आगे भी इस अभ्यास को जारी रखने एवं बेहतर प्रदर्शन करने को कहा है।

प्रभारी मंत्री आज लेंगे समीक्षा बैठक

उदयपुर, 18 सितम्बर/जिला प्रभारी मंत्री व सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री मा. भंवरलाल मेघवाल गुरुवार 19 सितंबर को अपराह्न 3.30 जिला परिषद सभागार में विभागीय अधिकारियों की समीक्षात्मक बैठक लेंगे। अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) संजय कुमार ने समस्त अधिकारियों को विभागीय प्रगति रिपोर्ट के साथ बैठक में उपस्थित रहने के निर्देश दिए है।
आज से 3 दिवसीय उदयपुर प्रवास पर
जिला प्रभारी मंत्री श्री मेघवाल गुरुवार से जिले के तीन दिवसीय दौरे पर रहेंगे। जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी ने बताया कि वे सुबह 10 बजे वायुयान से उदयपुर एयरपोर्ट पहुंचेंगे तथा वहां से सर्किट हाउस आएंगे। वे दोपहर 12 बजे शहर में आयोजित एक बैठक में भाग लेंगे तथा अपराह्न  3.30 बजे जिला परिषद सभागार में जिले के विभागीय अधिकारियों की बैठक लेंगे।
उन्होंने बताया कि प्रभारी मंत्री 20 सितंबर को सुबह 11 बजे आरके पुरम सेक्टर 9 अंडरपास एवं अन्य शिलान्यास व लोकार्पण करेंगे तथा नागरिकता प्रमाण पत्र का वितरण करेंगे। दोपहर 12.10 बजे बरकत नगर गिर्वा में जलदाय विभाग द्वारा निर्मित पेयजल टंकी का लोकार्पण करेंगे।  प्रभारी मंत्री इसी दिन दोपहर 12.45 पर गिर्वा उपखंड क्षेत्र के लकड़वास गांव में आयोजित ग्रामोत्थान शिविर में पहुंच निरीक्षण करेंगे। वे इसके साथ ही गिर्वा तहसील क्षेत्र में जनसुनवाई भी करेंगे।
श्री मेघवाल 21 सितंबर को सुबह 10 बजे से वल्लभनगर विधानसभा क्षेत्र में जनसुनवाई करेंगे तथा इसी दिन दोपहर 1 बजे वायुयान से जयपुर प्रस्थान कर जाएंगे। तीन दिवसीय उदयपुर प्रवास के दौरान इनका रात्रि विश्राम सर्किट हाउस में रहेगा।

विधानसभा की पिछड़े वर्ग के कल्याण संबंधी समिति का उदयपुर दौरा समीक्षा कर दिए महत्वपूर्ण निर्देश

News

उदयपुर, 19 सितंबर/विधानसभा की पिछड़े वर्ग के कल्याण संबंधी समिति ने गुरुवार को अपने उदयपुर प्रवास के दौरान सर्किट हाउस में विभिन्न विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक कर पिछड़े वर्ग के हितार्थ किए जा रहे विकास कार्यो की समीक्षा की।
समिति के अध्यक्ष पूर्व मंत्री व खेतड़ी विधायक डॉ. जितेन्द्र सिंह सहित समिति सदस्यों ने पिछडे वर्ग के लिए संचालित विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं एवं आरक्षण के संबंध में संबंधित अधिकारियों से विचार विमर्श कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।समिति में अध्यक्ष पूर्व मंत्री व खेतड़ी विधायक डॉ. जितेन्द्र सिंह सहित सदस्य आसीन्द विधायक जब्बर सिंह, भीम विधायक सुदर्शन सिंह व ब्यावर विधायक शंकरसिंह रावत के साथ समिति के महेन्द्र तिवाड़ी व दीपक शर्मा शामिल थे।
मिलेगा बजट
बैठक दौरान समिति अध्यक्ष सिंह ने ओबीसी छात्रवृत्ति के लिए प्राप्त बजट और वितरण की समीक्षा की तथा छात्रवृत्ति में  केन्द्र सरकार के बजट को बढ़ाने के लिए हाथों-हाथ विभाग के केंद्रीय मंत्री से बात की।
संभाग मुख्यालयों पर बनेंगे ओबीसी बालिका छात्रावास
अध्यक्ष जितेंद्र सिंह ने बताया कि पूरे राजस्थान में मात्र दो ओबीसी बालिका छात्रावास है, अब राज्य सरकार को सभी सम्भाग मुख्यालयों पर 400 छात्राओं के लिए 2-2 छात्रावास स्थापित करने के लिए प्रस्ताव भेजा गया है।
बैठक में जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी ने बताया कि राज्य में ओबीसी छात्रवृत्ति के मामले में स्वीकृत के अलावा शेष आवेदकों को 31 मार्च के बाद छात्रवृत्ति नहीं मिल पाती है। इस पर अध्यक्ष ने इस संबंध में राज्य सरकार को अवगत कराने की बात कही। बैठक में समिति अध्यक्ष और सदस्यों ने जिले में पालनहार योजना के तहत सभी पात्र जनों को लाभान्वित करने और जीरो पेंडेंसी की स्थिति पर जिला कलेक्टर द्वारा किये गए प्रयासों की तारीफ की। बैठक में रावणा राजपूतों को ओबीसी प्रमाण पत्र जारी करने, बेरोजगारों को भत्ते देने, विद्यार्थियों को छात्रवृत्ति वितरण, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की नियुक्ति आदि मामलों पर विभागीय अधिकारियों से चर्चा की गई।
बैठक में अनुजा निगम के परियोजना प्रबंधक प्रफुल्ल चौबीसा ने बैठक एजेंडा प्रस्तुत किया जबकि आभार एडीएम प्रशासन नरेश बुनकर ने जताया।
बैठक में महिला एवं बाल विकास उपनिदेशक महावीर खराड़ी, सुरेन्द्र गजराज, डालचंद, एडीईओ कपिला कंठालिया सहित अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

सहेलियों की बाड़ी प्रांगण में रमी गवरी

News

उदयपुर, 19 सितम्बर/जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग तथा माणिक्य लाल वर्मा आदिम जाति शोध एवं प्रशिक्षण संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित गवरी नृत्य कार्यक्रम के तहत गुरुवार को सहेलियों की बाड़ी में गोगुन्दा तहसील के मलारिया कला गांव के जनजाति कलाकारों ने गवरी नृत्य नाटिका का मंचन किया। इस अवसर पर  देशी एवं विदेशी पर्यटकों ने इस पारम्परिक नृत्य नाटिका का लुत्फ उठाते हुए गवरी कलाकारों के साथ फोटोग्राफ्स खिचवाएं।
टीआरआई निदेशक दिनेश चन्द्र जैन ने बताया कि जनजातीय पारम्परिक कला एवं संस्कृति का संरक्षण एवं प्रोत्साहन देने तथा देशी -विदेशी पर्यटकों से रूबरू कराने के उद्देश्य से मेवाड़ की प्रसिद्ध जनजाति लोक नृत्य नाटिका ‘‘गवरी’’ का मंचन शहर के प्रमुख पर्यटन स्थलों पर किया जा रहा है।
जैन ने बताया कि इसी क्रम में शुक्रवार 20 सितंबर को सहेलियोें की बाड़ी प्रांगण में बूझड़ा गांव के जनजाति कलाकरों द्वारा गवरी नृत्य नाटिका का मंचन किया जाएगा।

उदयपुर के प्रभारी मंत्री ने समीक्षा बैठक में कहा जनता की समस्याएं सुनो और समाधान करो - प्रभारी मंत्री

News

उदयपुर, 19 सितंबर/राज्य सरकार हर तबके के विकास को लेकर सतत प्रयासरत है और मुख्यमंत्री का हर छोटे-बड़े अधिकारी को एक ही संदेश है कि सरकार द्वारा किया जा रहा कार्य दिखे। लोगों को राहत मिले, ऐसे में सभी अधिकारियों का काम है कि जनता की समस्या सुना और उसका समाधान करो।
यह बात जिला प्रभारी और सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल ने गुरुवार को जिला परिषद सभागार में आयोजित जिला स्तरीय अधिकारियों की समीक्षात्मक बैठक में कही।
उन्होंने कहा कि उदयपुर जिले का प्रभारी मंत्री होने के नाते यहां के सर्वांगीण विकास की जिम्मेदारी मेरी है और इसके लिए यहां के प्रशासनिक सिस्टम को जिले से लेकर ब्लॉक स्तर तक क्रियाशील रहना होगा। श्री मेघवाल ने कहा कि विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी अपने ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों से समन्वय बनाते हुए नियमित प्रगतिरत कार्यों का फोलोअप लेते रहे एवं विभागीय योजनाओं व कार्यों की प्रभावी क्रियान्वयन पर विशेष जोर दे।
उन्होंने कहा कि आम जनता बिजली, पानी, सड़क, राशन जैसी छोटी-मोटी समस्याओं को लेकर जिला और राज्य स्तर पर जनसुनवाई में पहुंचती है, यह अच्छी बात नहीं है। अधिकारी निचले स्तर पर ही ऐसी समस्याओं को निबटावें ताकि जनता को उदयपुर और जयपुर जाने की नौबत ही नहीं आवें। उन्होंने जिले में 15 अक्टूबर तक गिरदावरी करवाने और आपदा राहत के लिए हरसंभव राशि उपलब्ध कराने की भी बात कही।
बैठक में जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी ने प्रभारी मंत्री को जिले में विभागीय योजनाओं, सरकारी कार्यक्रमों और विभिन्न अभियानों में आई प्रगति की जानकारी दी और आश्वस्त किया कि बैठक में दिए गए निर्देशों की अनुपालना सुनिश्चित की जाएगी।
एसडीओ से किया संवाद, लिया फिडबैक:
बैठक के आारंभ में प्रभारी मंत्री ने सभी उपखण्ड अधिकारियों से चर्चा की व फीडबेक लिया। उन्होंने उपखण्ड अधिकारियों को अपने क्षेत्र की विभिन्न राजकीय संस्थाओ-कार्यालयों का समय समय पर निरीक्षण करने एवं संबंधित अधिकारी-कार्मिक की नियमित उपस्थिति सुनिश्चित करने, विभिन्न योजनाओं की प्रगति की समीक्षा करने, विभागीय कार्यों की मॉनिटरिंग करने, क्षेत्र में पानी, बिजली, शिक्षा, स्वास्थ्य आदि सुविधाओं पर ध्यान देने, नियमित जनसुनवाई करने, जनसमस्याआंें के त्वरित निस्तारण के लिए प्रभावी प्रयास करने के निर्देश दिए। उन्होंने एसडीओ को आंगनवाड़ी केन्द्रों व सबसेंटर पर विशेष फोकस करने व मौसमी बीमारियों पर सतर्क रहने को कहा।
अप-टू-डेट रहे अधिकारी:
प्रभारी मंत्री ने अधिकारियों को कहा कि वे अपने विभाग की जानकारी के साथ  अप-टू-डेट रहे ताकि जनसुनवाई में परिवादियों को मौके पर ही राहत दी जा सके। उन्होंने कहा कि हम जनता के बीच जावें और अधिकारी को संबंधित समस्याओं के बारे में जानकारी ही न हो, ऐसा नहीं चलेगा। उन्होंने अधीनस्थों के माध्यम से क्षेत्रीय समस्याओं और उनके निराकरण के बारे में पुख्ता जानकारी रखने के लिए अधिकारियों का पाबंद किया।
इन विषयों पर विस्तार से समीक्षा:
बैठक में जिला परिषद व स्मार्ट सिटी सीईओ कमर चौधरी ने ग्रामीण विकास, स्वच्छ भारत मिशन, पीएमआवास, मनरेगा व स्मार्ट सिटी के तहत चल रहे कार्यों की जानकारी दी वहीं नगरनिगम आयुक्त अंकित कुमार सिंह ने अमृत व अन्नपूर्णा योजना के साथ निगम द्वारा किए जा रहे कार्यों के बारे में विस्तार से बताया। इस दौरान यूआईटी के कार्यों, निःशुल्क दवा व जांच योजना, समग्र शिक्षा अभियान, मिड-डे-मिल, कृषि ऋण माफी, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, कृषि सिंचाई योजना, समाज कल्याण की पेंशन योजना, महिला एवं बाल विकास विभागीय योजनाओं, खाद्य सुरक्षा योजना, राष्ट्रीय उद्यान मिशन, मुख्यमंत्री युवा संबल योजना सहित एवीवीएनएल, पीएचईडी, जल संसाधन, रसद और अन्य विभागीय योजनाओं की प्रगति की जानकारी लेते हुए इनके प्रभावी क्रियान्वयन के निर्देश दिए गए।  
इस अवसर पर सीईओ कमर चौधरी, नगरनिगम आयुक्त अंकित कुमार सिंह, अतिरिक्त जिला कलक्टर नरेश बुनकर व संजय कुमार, प्रभारी मंत्री के विशिष्ट सहायक बी.के.चंडोलिया सहित समस्त उपखण्ड अधिकारी व विभागीय अधिकारी मौजूद थे।
आज शिलान्यास, लोकार्पण के साथ शिविर निरीक्षण:
प्रभारी मंत्री 20 सितंबर को सुबह 11 बजे आरके पुरम सेक्टर 9 अंडरपास एवं अन्य शिलान्यास व लोकार्पण करेंगे तथा नागरिकता प्रमाण पत्र का वितरण करेंगे। दोपहर 12.10 बजे बरकत नगर गिर्वा में जलदाय विभाग द्वारा निर्मित पेयजल टंकी का लोकार्पण करेंगे। प्रभारी मंत्री दोपहर 12.45 पर गिर्वा उपखंड क्षेत्र के लकड़वास गांव में आयोजित ग्रामोत्थान शिविर में पहुंच निरीक्षण करेंगे। वे इसके साथ ही गिर्वा तहसील क्षेत्र में जनसुनवाई भी करेंगे। मेघवाल 21 सितंबर को सुबह 10 बजे से वल्लभनगर विधानसभा क्षेत्र में जनसुनवाई करेंगे।

स्वच्छता ही सेवा अभियान की अनूठी शुरूआत सरकारी बैठक में दिखी कुल्हड़ में चाय, पत्तल में नाश्ता और स्टील बोतल में पानी

News

उदयपुर, 19 सितंबर/जिले में स्वच्छ भारत मिशन के तहत गुरुवार को स्वच्छता ही सेवा अभियान की अनूठी शुरूआत की गई। बैठक में जहां मौजूद अधिकारियों तथा कर्मचारियों ने प्लास्टिक अपशिष्ट की मुक्ति के लिए प्रभारी मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल की मौजूदगी में शपथ ली वहीं जिला परिषद सभागार को किसी भी बैठक में प्लास्टिक की बोतल के उपयोग से हाथों-हाथ मुक्त किया।
बैठक में दिखा बदला-बदला सा नजारा
स्वच्छ भारत मिशन के तहत जिले के प्रभारी मंत्री और सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के मंत्री मा. भंवरलाल मेघवाल की अध्यक्षता में आयोजित समीक्षा बैठक और स्वच्छता ही सेवा अभियान के जिला स्तरीय कार्यक्रम में बदला-बदला सा नजारा नजर आया। एकलबारिय उपयोग योग्य प्लास्टिक अपशिष्ट की मुक्ति के लिये चलाये जा रहे इस अभियान के तहत कार्यवाही की शुरुआत जिला प्रशासन ने बैठक से ही कर दी। जिला परिषद सीईओ व अभियान प्रभारी कमर चौधरी ने बताया कि बैठक में प्लास्टिक की बोतलों के स्थान पर स्टाइल की बोतल में पानी, डिस्पोजल ग्लास के स्थान पर मिट्टी के कुल्हड़ में चाय के साथ पत्तों से बनी प्लेट में नाश्ता दिया गया। बैठक में शपथ लेने के बाद सभी अधिकारियों ने प्लास्टिक की बोतलों को डस्टबिन में रखते हुए इस अनूठे अभियान के तहत प्रतिबद्धता व्यक्त की। चौधरी ने इस दौरान कहा कि भविष्य में जिला परिषद सभागार में कभी भी प्लास्टिक की बोतल का उपयोग नहीं किया जाएगा।
प्रभारी मंत्री ने दिलाई शपथ:
बैठक में प्रभारी मंत्री मेघवाल ने सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को अभियान की शुरूआत को सराहनीय कार्य बताया और स्वयं को जन आन्दोलन के रूप में परिवार, मोहल्ले, गांव व कार्य स्थल से प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने की शुरूआत करने की शपथ दिलाई।
1 अक्टूबर तक चलेगा अभियान:
अभियान की शुरूआत दौरान प्रभारी कमर चौधरी ने बताया कि जिले में 20 सितंबर से 1 अक्टूबर तक प्लास्टिक मुक्त करने के लिए अभियान रूप में गतिविधियां आयोजित होंगी। उन्होंने 2 अक्टूबर को श्रमदान करते हुए जिलेभर से प्लास्टिक हटाने और इसके फोटो पोर्टल पर अपलोड करने के लिए आह्वान किया। इस मौके पर जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी और समस्त विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

लेकसिटी वासियों के लिए राहतभरी खबर
क्षतिग्रस्त सड़कों पर पेचवर्क शुरू, धुल और गड्ढों से जल्द मिलेगी निजात

उदयपुर, 19 सितंबर/मानसून की तेज बारिश से टूटी सड़कों से आमजन को निजात दिलाने के लिए प्रशासनिक पहल पर अमल प्रारंभ हो गया है। जिला कलक्टर एवं यूआईटी चैयरमेन श्रीमती आनंदी के निर्देशों पर नगर विकास प्रन्यास ने शहर की क्षतिग्रस्त सड़कों को दुरस्त करने की कार्यवाही गुरुवार से शुरू कर दी है।
यूआईटी सचिव बालमुकुन्द असावा ने बताया कि यूआईटी क्षेत्र में वर्षा से क्षतिग्रस्त सड़कों को जल्द से जल्द दुरस्त किया जाएगा और आमजन को धूल व गड्ढों से निजात दिलाई जा रही है। इसके लिए यूआईटी द्वारा शहर में एक साथ 16 टीमें लगाकर अभियान रूप में सड़कों का पेचवर्क किया रहा है। उन्होंने बताया कि गड्डों को भरकर इसपर पानी का छिड़काव भी किया जा रहा है ताकि इससे धूल न उड़े। उन्होंने बताया कि गुरुवार को मुख्य रूप से प्रतापनगर से भुवाणा रोड़, कृषि उपज मण्डी क्षेत्र, फूटा तालाब रोड़, एकलिंगपुरा,सेक्टर 14 आदि इलाकों में पेचवर्क किया जा रहा है और वे स्वयं इसकी मॉनिटरिंग कर रहे हैं।

महात्मा गांधी ग्रामोत्थान शिविर कार्यक्रम

उदयपुर, 19 सितम्बर/जिले के विभिन्न ग्राम पंचायत मुख्यालयों पर आयोजित महात्मा गांधी ग्रामोत्थान शिविर के तहत शुक्रावार को जिले की विभिन्न पंचायतों में इन शिविरों का आयोजन किया जाएगा।
निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 20 सितम्बर को गिर्वा के तितरड़ी, कुराबड़ के सोमाखेड़ा, बड़गांव के बेदला, मावली के साकरिया खेडी व बडियार, भीण्डर के पीथलपुरा, मजावड़ा व पाणुन्द, गोगुन्दा के पडावली खुर्द, सायरा के तिरोल, कोटड़ा के गुरा व सड़ा, झाड़ोल के देवास, फलासिया के कवेल, खेरवाड़ा के जायरा, ऋषभदेव के भूधर, सराड़ा के सराड़ा, सलुम्बर के ईण्टालीखेड़ा, झल्लारा के भबराणा व लसाडिया के देवलिया में ग्रामोत्थान शिविर का आयोजन होगा।

सार्जेन्ट हिमांशी राजपुरोहित का थल सैनिक कैम्प में चयन

उदयपुर, 19 सितम्बर/ भूपाल नोबल्स विश्वविद्यालय के बीएन गर्ल्स पीजी कॉलेज की 5 राज गर्ल्स बी एन एनसीसी की कैडेट सार्जेन्ट हिमांशी राजपुरोहित का नई दिल्ली में आयोजित थल सैनिक कैम्प में चयन हुआ है। यह कैम्प बारह दिनों तक आयोजित होगा। महाविद्यालय अधिष्ठाता डॉ. प्रेमसिंह रावलोत ने हिमांशी को बधाई दी और कहा कि यह विश्वविद्यालय और शहर के लिए गौरव का विषय है। महाविद्यालय की एनसीसी कैडेट राष्ट्रीय स्तर पर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा रही हैं।

प्रभारी मंत्री ने किए करोड़ों के विकास कार्यों का शिलान्यास व लोकार्पण अगले दो साल में राजस्थान नहीं अपितु हिन्दुस्तान में चमकेगी स्मार्टसिटी - प्रभारी मंत्री

News

उदयपुर, 20 सितंबर/जिले के प्रभारी और सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल ने कहा है कि राज्य सरकार हर क्षेत्र के विकास के लिए प्रतिबद्ध है और स्मार्ट सिटी उदयपुर में नगरविकास प्रन्यास के माध्यम से जिस रफ्तार से कार्य चल रहे हैं उनको देखते हुए अगले दो साल में यह स्मार्टसिटी राजस्थान में ही नहीं अपितु पूरे हिन्दुस्तान में चमकेगी।
प्रभारी मंत्री मेघवाल शुक्रवार को नगर विकास प्रन्यास उदयपुर के माध्यम से शहर के पेरिफेरी पंचायत में 763.30 के 11 कार्यों के शिलान्यास व 21.82 लाख की लागत के दो नवनिर्मित कक्षा-कक्षों के लोकार्पण समारोह में बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे।
समारोह में जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी, पूर्व सांसद रघुवीर मीणा, उदयपुर ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा, पूर्व विधायक सज्जन कटारा व त्रिलोक पूर्बिया, विवेक कटारा, समाजसेवी डॉ. शंकर यादव, गोपालसिंह, मोरसिंह आदि मंचासीन थे।
उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की मंशा है कि शहर के साथ-साथ पेरिफेरी पंचायतों में भी नगर विकास प्रन्यास के माध्यम से हो रहे विकास कार्यों का लाभ मिले इसके लिए इन विकास कार्यों को स्वीकृति दी गई है। उन्होंने जिला कलक्टर को कहा कि शहर के साथ-साथ इन क्षेत्रों में भी अच्छा मास्टर प्लान बनाया जावें ताकि चरणबद्ध और सुव्यवस्थित विकास किया जा सके। समारोह का संचालन नगर विकास प्रन्यास के सचिव बालमुकुन्द असावा ने किया जबकि आभार प्रदर्शन की रस्म ओनारसिंह सिसोदिया ने अदा की।  
गुणवत्ता का ध्यान रखें:
प्रभारी मंत्री ने इन विकास कार्यों में लगे हुए अधिकारियों और कर्मचारियों को निर्देशित किया कि सभी कार्यों में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जावें। उन्होंने इन कार्यों की लगातार मॉनिटरिंग करने और तय समयसीमा में विकास कार्य संपन्न करने के लिए भी अधिकारियों को पाबंद किया।
मिलकर कार्य करें:  
प्रभारी मंत्री मेघवाल ने सभी अधिकारियों-कर्मचारियों और जनप्रतिनिधियों को मिलकर कार्य करने की नसीहत दी और कहा कि इससे विकास प्रक्रिया को गति प्राप्त होती है। उन्होंने उदयपुर को स्वच्छ रखने और पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए विभागों को समन्वय स्थापित करते हुए कार्य करने का आह्वान किया।
‘प्लास्टिक मुक्त’ करने का आह्वान:
प्रभारी मंत्री मेघवाल ने इस मौके पर लोगों को आगामी 2 अक्टूबर से प्लास्टिक मुक्त राजस्थान के निर्माण के लिए चलाए जा रहे अभियान की जानकारी दी और लोगों को अपने-अपने क्षेत्र में प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने की अपील की। उन्होंने हर व्यक्ति को एक पेड़ लगाने का भी आह्वान किया।  
763.30 लाख के कार्यों का शिलान्यास
इस मौके पर प्रभारी मंत्री श्री मेघवाल ने नगर विकास प्रन्यास की ओर से शहर के समीपस्थ विभिन्न क्षेत्रों होने वाले 763.30 लाख की लागत के 11 विकास कार्यों का शिलान्यास पट्टिका का अनावरण किया। इसमें 227.25 लाख की लागत से आरके पुरम सेक्टर 9 पर अंडरपास का निर्माण कार्य, 90.30 लाख की लागत से कृष्णा विला कॉलोनी से संभवनाथ कॉम्पलेक्स तक मुख्य नाले का निर्माण, 73.88 लाख की लागत से बसंत वाटिका से सवीना मठ तक मुख्य नाले का निर्माण, 73.33 लाख की लागत से आरके पुरम सेक्टर 9 सर्विस रोड का निर्माण, 50 लाख की लागत से उदयपुर के गुलाबबाग सरस्वती पुस्तकालय में वाचनालय का निर्माण, 49.73 लाख की लागत से ट्रांसपोर्ट नगर में नाला निर्माण कार्य, 49 लाख की लागत से तिरूपति कॉम्पलेक्स से नैला ग्राम सेक्टर 14 में सड़क सुदृढ़ीकरण का कार्य, 45.29 लाख की लागत से सेक्टर 14 एच व आई ब्लॉक में राष्ट्रभारती स्कूल तक 100 फीट सड़क का निर्माण, 36.04 लाख की लागत से श्रीजी विहार सेक्टर 4 मनवाखेड़ा में 60 फीट सड़क का निर्माण, 34.79 लाख की लागत से गोल्ड लीफ कॉलोनी में अनंत स्नेह अपार्टमेंट के पीछे की ओर 80 फीट व 60 फीट चौड़ी सड़क का सुदृढ़ीकरण व 33.09 लाख की लागत से राजस्व ग्राम देवाली में खसरा संख्या 930/1154 में सड़क व नाली निर्माण का कार्य शामिल है।
दो कक्षा-कक्षों का लोकार्पण
वहीं पर प्रभारी मंत्री श्री मेघवाल ने बलीचा स्थित आदर्श सीनियर सैकेण्डरी स्कूल में नगर विकास प्रन्यास द्वारा निर्मित करवाए दो कमरों की लोकापर्ण पट्टिका का भी अनावरण किया। इन कमरों की लागत 21.82 लाख रुपये है।
9 को मिली भारतीय नागरिकता
कार्यक्रम के दौरान प्रभारी मंत्री ने राज्य सरकार की ओर से उदयपुर जिले में निवासरत पाक विस्थापितों में 9 लोगों को भारतीय नागरिकता के दस्तावेज प्रदान किए एवं जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी द्वारा इस दिशा में किए गए प्रयासों की तारीफ की।
 इनमें श्रीमती सुनीता देवी पत्नी चांदीराम, रामचन्द्र पुत्र पहलाजराय, श्रीमती नैना कुमारी पत्नी मोहनलाल, शंकरलाल पुत्र मनोहरलाल, संदीप कुमार पुत्र गोपीचंद, श्रीमती संगीता बाई पत्नी राजू, पवन कुमार पुत्र स्व.श्री खानचंद, श्रीमती संगीता बाई पत्नी रामचन्द्र व श्रीमती ज्ञानीबाई पत्नी गोपीचंद को भारतीय नागरिकता अधिनियम 1़955 की धारा 5(1)ए व धारा 5(1) सी के तहत भारतीय नागरिकता प्रदान की गई।

प्रभारी मंत्री का वल्लभनगर दौरा लोगों की समस्याओं को सुना, दिये त्वरित निस्तारण के निर्देश यह जनकल्याणकारी सरकार है, विकास से कोई भी वंचित नहीं रहे-मेघवाल

News

उदयपुर, 21 सितंबर/जिले के प्रभारी और सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल ने कहा है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली यह जनकल्याणकारी सरकार है और सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता यह है कि विकास से काई भी व्यक्ति वंचित न रहे। लोगों को विकास की मुख्य धारा से जोड़ने एवं जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ अंतिम तबके तक पहुंचाने का दायित्व है अधिकारियों का। यह बात जिला प्रभारी मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल ने शनिवार को वल्लभनगर विधानसभा की भीण्डर पंचायत समिति में आयोजित जनसुनवाई कार्यक्रम के दौरान कही।
उन्होंने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री ने प्रत्येक जिले में प्रभारी मंत्री नियुक्त कर वहां के लोगों की समस्याओं का समाधान कर राहत प्रदान करने एवं आमजन को विकास की मुख्य धारा से जोड़ने का दायित्व सौंपा है।
हर परिवेदना को मैं देखूंगा
मंत्री ने जनसुनवाई में बड़ी संख्या में पहुंचे लोगों की परिवेदनाएं प्राप्त की और कहा कि प्रत्येक परिवेदना को मैं स्वयं देखूंगा और शीघ्र कार्यवाही करते हुए आमजन को राहत प्रदान की जाएगी। उन्होंने कहा कि आम जनता की बिजली, पानी, सड़क, राशन जैसी छोटी-मोटी समस्याओं को उपखण्ड या ब्लॉक स्तर पर निस्तारित करने के प्रभावी प्रयास हो। उन्होंने विभागीय अधिकारियों और कर्मचारियों को जनकल्याण के कार्यों के क्रियान्वयन एवं उनकी समस्याओं के समाधान में किसी की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने कहा कि आगामी जनसुनवाई में मै स्वयं पूरे समय आप सब लोगों के बीच मौजूद रहूंगा।
प्रभारी मंत्री ने ग्रामीणों से कहा कि उनकी हर एक समस्या का समाधान होगा और यदि इस स्तर पर नहीं होगा तो वे इसका प्रदेश व केन्द्र स्तर से भी करवाएंगे। गांव में पेयजल, नालियो और विद्युत आपूर्ति जैसी समस्याओं के निराकरण के लिए उन्होंने संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।
आपदा से हुए नुकसान की रिपोर्ट 15 अक्टूबर तक भिजवाएं
प्रभारी मंत्री ने संबंधित एसडीम व विकास अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे तहसीलदार व पटवारी के स्तर पर गिरदावरी करा क्षेत्र में प्राकृतिक आपदा से हुए नुकसान की रिपोर्ट 15 अक्टूबर तक प्रस्तुत करें। उन्होंने कहा कि आपदा प्रबंधन विभाग का दायित्व भी मेरे पास है और इस स्थिति में हर पीडितक को सरकार की ओर से मुआवजा दिया जाएगा। उन्होंने वर्षा के कारण क्षेत्र में क्षतिग्रस्त हुई सड़कों के शीध्र दुरस्तीकरण के लिए निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया।
मंत्री के हाथों मिली राहत
शिविर के दौरान प्रभारी मंत्री द्वारा सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग से 5 ट्राई साइकिल, 2 व्हील चेयर और 1 श्रवण यंत्र, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग से 3 पट्टे, पेंशन के 5 पीपीओ, प्रधानमंत्री आवास योजना की 6 स्वीकृति दी गई। साथ ही श्रम विभाग से दो लाभार्थियों व आजीविका से 2 समूहों को भी लाभ प्रदान किया।
इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक गजेन्द्रसिंह शक्तावत, समाजसेवी सुनील कुकड़ा, सुरजमल मेनारिया, करणसिंह कोठारी, अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) नरेश बुनकर, जिला परिषद के एसीईओ मेघराज मीणा, वल्लभनगर एसडीएम गोपाल परिहार, विकास अधिकारी जितेन्द्र सिंह राजावत सहित अन्य क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि, जिला एवं ब्लॉक स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

प्रभारी मंत्री ने विभिन्न विकास कार्यों का किया लोकार्पण

उदयपुर, 21 सितंबर/ जिले के प्रभारी और सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल ने शनिवार को वल्लभनगर विधानसभा दौरे के दौरान भीण्डर पंचायत समिति क्षेत्र में विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण किया।
प्रारंभ में उन्होंने खेरोदा में 9.80 लाख की लागत से बने किसान सेवा केन्द्र एवं भू-अभिलेख केन्द्र के नवनिर्मित भवन का लोकार्पण किया। इसके पश्चात गुलाबनगर क्षेत्र में आरआईडीएफ ट्रेंच 19 योजना के तहत 17.63 लाख की लागत से निर्मित पशु चिकित्सालय के भवन का लोकार्पण किया एवं वहां पास ही स्थित पूर्व मंत्री एवं क्षेत्र के उद्धारक दिवंगत श्री गुलाबसिंह शक्तावत की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर उनके नमन किया। भीण्डर पहुंचने पर प्रभारी मंत्री ने वहां 253 लाख की लागत से नवनिर्मित तहसील कार्यालय का भी लोकार्पण किया। तीनों स्थलों पर प्रभारी मंत्री ने विधिवत लोकार्पण पट्टिका का अनावरण कर क्षेत्रवासियों को नवीन सौगात दी।
लोकार्पण अवसर पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए प्रभारी मंत्री ने क्षेत्र के विकास के लिए सरकार के स्तर पर हरसंभव सहयोग प्रदान करने का आश्वासन किया। इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक गजेन्द्रसिंह शक्तावत, समाजसेवी सुनील कुकड़ा, दिनेश जणवा, अतिरिक्त जिला कलक्टर नरेश बुनकर, प्रभारी मंत्री के विशिष्ट सहायक बी.के.चंडोलिया, एसडीएम गोपाल परिहार, विकास अधिकारी जितेन्द्र सिंह राणावत सहित क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि एवं विभिन्न विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

मुहिम ‘समर्पण‘ की सूचना पुस्तिका व पोस्टर विमोचन आज

उदयपुर, 21 सितंबर/शहवासियों की प्रेरणा से जिलेभर में रक्तदान के लिए जागरूकता बढ़ाने व एक लाख स्वैच्छिक रक्तदाताओं की एक विवरणिका बनाने उदयपुरवासियो द्वारा चलाई जा रही मुहिम :समर्पण‘ की सूचना पुस्तिका एवं पोस्टर विमोचन कार्यक्रम रविवार 22 सितंबर को अपराह्न 2.30 बजे मोहनलाल सुखाडिया विश्वविद्यायल के सीटीएई कॉलेज में आयोजित होगा। समारोह के मुख्य अतिथि विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष व उदयपुर शहर विधायक गुलाबचंद कटारिया होंगे जबकि अध्यक्षता उदयपुर सांसद अर्जुनलाल मीणा करेंगे। इस कार्यक्रम में जिले के सभी विधायकों को भी आमंत्रित किया गया है।

रेलवे स्टेशन पर लावारिस मिला, चाइल्ड लाइन ने दिलाया आश्रय

उदयपुर, 21 सितंबर/शहर के सिटी रेल्वे स्टेशन के स्टेशन पर शनिवार को प्लेटफॉर्म नंबर दो पर लगभग 12 वर्षीय बालक लावारिस हालत में मिलने की सूचना स्टेशन मास्टर शंकरलाल नेदचाइल्ड लाइन को दी। बालक चल फिर नहीं सकता तथा मानसिक रूप से भी कमज़ोर प्रतीत हो रहा है।
चाइल्ड लाइन समन्वयक विमला चौहान ने बताया कि सूचना मिलने पर टीम सदस्य वीरेन्द्र सिंह सिटी रेल्वे स्टेशन पहुॅंचे। बालक से बातचीत करने का प्रयास किया, परन्तु वह कुछ बोल नहीं पा रहा था। बालक की रोजनामचा रिपोर्ट आरपीएफ में दर्ज करवायी गयी तथा बाल कल्याण समिति के आदेश से नारायण सेवा संस्थान के विमदिंति गृह में आश्रय दिलवाया गया। बालक के क्रीम रंग का टीशर्ट एवं स्लेटी रंग का बरमूडा पहन रखा है।
यदि किसी भी सज्जन को इस बालक के सन्दर्भ में किसी भी प्रकार की कोई जानकारी प्राप्त हो तो कृपया निःशुल्क फोन सेवा 1098 अथवा चाइल्ड लाइन के कार्यालय नं. 0294-2453447 तथा मोबाईल नं. 8905671098 पर सूचित कर सकते है।

उदयपुर में गांधी जयंती पर होगा विशाल रक्तदान शिविर चिकित्सामंत्री डॉ. शर्मा ने विडियोकांफ्रेंसिंग में दिए महत्त्वपूर्ण निर्देश

News

उदयपुर, 24 सितंबर/राज्य सरकार के निर्देशानुसार राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर 2 अक्टूबर को प्रदेश भर में आयोजित होने वाले विशाल रक्तदान शिविर की तैयारियों को लेकर मंगलवार को चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मां की अध्यक्षता में विडियो कांफ्रेंस आयोजित हुई, जिसमें प्रशासनिक व विभागीय अधिकारियों को इस आयोजन को सफल बनाने के लिए महत्त्वपूर्ण दिशा-निर्देश प्रदान किए गए।
विडियो कांफ्रेंस में चिकित्सा मंत्री डॉ. शर्मा ने सभी जिलों के प्रशासनिक व विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए गए कि इस आयोजन को सफल बनाने के लिए वे अधीनस्थ अधिकारियों के साथ अहम बैठक लेकर कार्यंयोजना बनावें तथा अधिकाधिक रक्तदान व पंजीकरण का कार्य करवायें।
उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, उच्च शिक्षा, तकनीकी शिक्षा, स्कूली शिक्षा, एनसीसी, एनएसएस, स्काउट-गाईड के साथ संबंधित विभागीय अधिकारियों को इस आयोजन को सफल बनाने के लिए सक्रिय सहभागिता निभाने का आह्वान किया।
डॉ. शर्मा ने कहा कि रक्तदान कार्यक्रम के लिए निर्देशित कार्य व व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने में किसी प्रकार की लापरवाही नहीं करें। उन्होंने निर्देश दिए कि संबंधित विभाग आपसी समन्वय के साथ आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करेंगे। साथ ही जिला स्तरीय कमेटी का गठन कर जिम्मेदारियां तय की जावें।
इस मौके पर उच्च शिक्षा मंत्री श्री भंवरसिंह भाटी, तकनीकी व संस्कृत शिक्षा मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग तथा सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के आयुक्त डॉ. नीरज के. पवन ने भी संबंधित विभागीय अधिकारियों से तैयारियां करने के निर्देश दिए। सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग के माध्यम से आयोजित विडियो कांफ्रेंस में परिषद के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी मेघराज मीणा, संभागीय उपनिदेशक डॉ. संजीव टांक, पशुपालन संयुक्त निदेशक डॉ. ललित जोशी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. दिनेश खराड़ी, शिक्षा विभाग के संयुक्त निदेशक शिवजी गौड़, आयुर्वेद उपनिदेशक डॉ. पुष्करलाल चौबीसा, डॉ. राघवेंद्र राय, डॉ. बाबूलाल जैन सहित समस्त संबंधित विभागीय अधिकारी मौजूद थे।
संकल्प पत्र भरवाएं व पंजीकरण करें:
विडियो कांफ्रेंस में चिकित्सा मंत्री डॉ. शर्मा ने जिले की क्षमताओं के अनुरूप रक्तसंग्रहण का कार्य करने तथा शिविरों में आने वाले युवाओं से शपथ पत्र भरवाने के भी निर्देश दिए ताकि जरूरत पडने पर उनके द्वारा रक्तदान करवाया जा सके।
उदयपुर में 4 हजार यूनिट रक्तदान का लक्ष्य:
रक्तदान कार्यक्रम के संबंध में उदयपुर जिले की तैयारियों की समीक्षा किए जाने पर जिला परिषद के अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी मेघराज मीणा ने बताया कि रक्तदान शिविर के लिए कार्ययोजना तैयार की गई है, महाराणा भूपाल चिकित्सालय के पास ब्लड संग्रहण केन्द्र के क्षमता 5000 यूनिट है, जिसमें 1600 यूनिट ब्लड संग्रहित है, शिविर के लिए वर्तमान में 4000 यूनिट ब्लड संग्रहण का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने मेडिकल कॉलेज में 6 ब्लड बैंक सहित जिले में कुल 8 ब्लड बैंक होने की जानकारी दी और कहा कि रक्तदान शिविर में मांग व आवश्यकतानुसार पर्याप्त टीमें लगाई जाकर अधिक से अधिक लोंगों को रक्तदान के लिए प्रेरित किया जाएगा।
बैठक आज
महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के मौके पर 2 अक्टूबर को जिले में 10 से 14 स्थानों पर स्वैच्छिक रक्तदान शिविर आयोजित करने की रूपरेखा व तैयारियों को लेकर एक बैठक 25 सितंबर को सायं 5 बजे जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी की अध्यक्षता में आयोजित होगी। जिला कलक्टर ने संबंधित अधिकारियों, ब्लड बैक के प्रभारियों व स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों को आवश्यक तैयारी के साथ बैठक में उपस्थित रहने के निर्देश दिए है।

प्लास्टिक मुक्त उदयपुर“ को लेकर कार्यशाला सम्पन्न

News

उदयपुर, 24 सिंतबर/स्वच्छता ही सेवा अभियान 2019 के अन्तर्गत एकलबारीय उपयोग योग्य प्लास्टिक अपशिष्ट की मुक्ति विषयक एक दिवसीय कार्यशाला मंगलवार को जिला परिषद सभागार में सीईओ कमर चौधरी की अध्यक्षता में आयोजित हुई। उन्होंने बताया कि उदयपुर दुग्ध संघ द्वारा प्लास्टिक की थैलियां जिसमें सरस ब्रांड दुग्ध उपभोक्ताओं द्वारा क्रय कर, खाली थैलियांे को वापस उदयपुर डेयरी द्वारा एकत्रित करने की मुहिम चलाई है, इसके अन्तर्गत सभी सरस आउटलेट पर कचरा पात्र रखवा दिये गए है और सभी उपभोक्ताओं से दुध, छाछ व लस्सी की खाली थैलियों का दुध विक्रय केन्द्र पर रखे कचरा पात्र में एकत्रित कर उदयपुर शहर के पर्यावरण को स्वच्छ रखने की अपील की है।
चौधरी ने उदयपुर स्मार्ट सिटी एवं गांव को स्वच्छता से जोड़ने, कचरा निस्तारण के तरीके, एवं स्मार्ट सिटी की स्वच्छता की जानकारी दी। फिनिश सोसाइटी ने कचरा निस्तारण के तरीके बताए। कार्यशाला में जिले के प्राइवेट हॉस्पीटल के चिकित्स, निजी उपक्रम तथा स्वंयसेवी संस्थाओं ने भाग लिया। एलआईस., आस्था, पर्यावरण, नेहरू युआ केन्द्र, अम्बुजा सीमेंट के प्रतिनिधियों ने सोच में बदलाव, प्लास्टिक पाउच छोटे वाले के उत्पादन पर रोक लगाना, बच्चों को प्रोत्साहन करने हेतु ईनामी, कूपन ड्रा की योजना, एक किलो से कम वनज के प्लास्टिक के उपयोग में कमी करने एवं उसके स्थान पर जूट/कपडे की थैलीयों, वानस्पतिक सामग्री के उपयोग हेतु प्रचार-प्रसार आदि सुझाव दिये। अंत में सभी को प्लास्टिक मुक्त करने का वातावरण निर्माण की शपथ दिलाई गई ।

राज्यपाल श्री मिश्र उदयपुर पहुंचे, एयरपोर्ट पर हुई अगवानी

News

उदयपुर, 27 सितंबर/राजस्थान के राज्यपाल श्री कलराज मिश्र शुक्रवार शाम को जिले के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे। विशेष विमान से उदयपुर के डबोक स्थित एयरपोर्ट पहुंचे श्री मिश्र की स्थानीय जनप्रतिनिधियों एवं प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा अगवानी की गई।
एयरपोर्ट पर राज्यपाल का संभागीय आयुक्त विकास सीतारामजी भाले, पुलिस महानिरीक्षक श्रीमती बिनिता ठाकुर,, जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी, जिला पुलिस अधीक्षक कैलाश चन्द्र विश्नोई ने पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया। इसके बाद विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष व उदयपुर शहर विधायक गुलाबचंद कटारिया, महापौर चन्द्रसिंह कोठारी, पूर्व महापौर रजनी डांगी, समाजसेवी प्रमोद सामर, कुंतीलाल जैन सहित क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों ने राज्यपाल का स्वागत किया। इस मौके पर प्रोटोकॉल अधिकारी महावीर खराड़ी, अतिरिक्त जिला कलक्टर नरेश बुनकर, कविता पाठक व अन्य अधिकारी मौजूद थे।  
आज माउंट आबू जाएंगे:
जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी ने बताया कि राज्यपाल श्री मिश्र 28 सिंतबर की सुबह 8.25 बजे उदयपुर एयरपोर्ट पहुंचेंगे तथा 8.35 बजे उप राष्ट्रपति श्री वैंकेया नायडू की अगवानी करेंगे। इसके पश्चात वे 8.45 बजे विशेष हेलीकॉप्टर से उप राष्ट्रपति के साथ माउण्ट आबू जाएंगे। वे पुनः मध्याह्न 12.05 बजे डबोक एयरपोर्ट पहुंचकर 12.15 बजे उप राष्ट्रपति की विदाई के समय मौजूद रहेंगे। तत्पश्चात राज्यपाल 12.25 बजे राजकीय वायुयान से जयपुर के लिए प्रस्थान कर जाएंगे।

उपराष्ट्रपति श्री नायडू उदयपुर पहुंचे, एयरपोर्ट पर हुई अगवानी

News

उदयपुर, 28 सितंबर/उपराष्ट्रपति श्री वैंकेया नायडू शनिवार सुबह उदयपुर पहुंचे। भारतीय वायुसेना के विमान से डबोक स्थित एयरपोर्ट पहुंचे श्री नायडू की राज्यपाल श्री कलराज मिश्र सहित स्थानीय जनप्रतिनिधियों एवं प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा अगवानी की गई।
एयरपोर्ट पर सर्वप्रथम श्री नायडू का राज्यपाल श्री मिश्र ने स्वागत किया। इस दौरान पूर्व मंत्री व उदयपुर विधायक गुलाबचंद कटारिया, जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग के राज्यमंत्री अर्जुन बामनिया, संभागीय आयुक्त विकास सीतारामजी भाले, पुलिस महानिरीक्षक श्रीमती बिनिता ठाकुर,, जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी, जिला पुलिस अधीक्षक कैलाश चन्द्र विश्नोई ने नायडू का स्वागत किया। इस मौके पर जिला प्रमुख शांतिलाल मेघवाल, उदयपुर महापौर चन्द्रसिंह कोठारी, प्रोटोकाॅल अधिकारी महावीर खराड़ी व अन्य अधिकारी मौजूद थे।  
उप राष्ट्रपति यहां से राज्यपाल श्री मिश्र के साथ वायुसेना के हेलिकाॅप्टर से आबूरोड प्रस्थान कर गए।  

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती वर्ष के उपलक्ष में2 अक्टूबर को जिले में 12 स्थानों पर लगेंगे रक्तदान शिविर

उदयपुर, 29 सितंबर/राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती वर्ष के उपलक्ष में आगामी 2 अक्टूबर को प्रदेश भर में रक्तदान शिविर का आयोजन किया जा रहा है। इसी क्रम में उदयपुर जिले में 12 स्थानों पर रक्तदान शिविर लगाए जाएंगे।
मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी डॉ दिनेश खराड़ी ने बताया कि महाराणा भूपाल राजकीय चिकित्सालय उदयपुर के ब्लड बैंक के तत्वावधान में स्थानीय चिकित्सालय व मेवाड़ भील कोर खेरवाड़ा, गीतांजलि मेडिकल कॉलेज एण्ड हॉस्पीटल के ब्लड बैंक की ओर से स्थानीय चिकित्सालय व पुलिस लाइन उदयपुर, पेसिफिक इन्स्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइन्सेज उमरड़ा के ब्लड बैंक की ओर से स्थानीय संस्थान एवं सेटेलाइट हॉस्पीटल हिरणमगरी में, पेसिफिक मेडिकल कॉलेज एण्ड हॉस्पीटल भीलो की बेदला ब्लड बैंक की ओर स्थानीय चिकित्सालय एवं मधुवन स्थित पीएमसीएच सिटी सेंटर में, अमेरिकन इन्स्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइन्सेज बेडवास स्थित ब्लड बैंक की ओर से स्थानीय संस्थान, लोक मित्र ब्लड बैंक की ओर से एमजी कॉलेज व कलाश्रम गोगुन्दा में तथा सरल ब्लड बैंक की ओर से एमपीयमएटी केम्पस स्थित कॉलेज ऑफ डेयरी एण्ड फूड टेक्नोलॉजी में रक्तदान शिविर का आयोजन होगा। प्रत्येक शिविर स्थल के लिए एक-एक नोडल अधिकारी भी नियुक्त किया गया है।
37 संस्थाएं लेंगी भाग, 3 हजार यूनिट से अधिक रक्तदान का लक्ष्य
डॉ. खराड़ी ने बताया कि इस वृहदस्तरीय आयोजन में जिले भर से 37 संस्थाएं माग लेंगी तथा इन संस्थानों द्वारा 3 हजार यूनिट से अधिक रक्तदान का लक्ष्य निर्धारित रखा गया है इनमें प्रवीण रतलिया ग्रुप की ओर से 1500 यूनिट, डेयरी साइंस कॉलेज की ओर से 200, पुलिस लाइन व पेसिफिक यूनिवर्सिटी की ओर से 100-100, एसएस इंजीनियरिंग कॉलेज की ओर से 60 यूनिट, आधार फाउंडेशन ट्रस्ट एवं नेहरू युवा केंद्र, गुरु नानक गर्ल्स कॉलेज व भूपाल नोबल यूनिवर्सिटी की ओर से 51-51 यूनिट रक्तदान का लक्ष्य रखा गया है।
इसी प्रकार जे.एस.जे. ब्लड डोनेशन हेल्पलाइन, आईआईएम उदयपुर, बजरंग सेना, मीरा गर्ल्स कॉलेज, अनुष्का कॉलेज, ब्लड हेल्थ सोसाइटी, ब्लड हेल्प सोसाइटी, प्रजापति समाज, मां गायत्री नर्सिंग कॉलेज, उदयपुर नर्सिंग कॉलेज, सनराइज ग्रुप व वेंकटेश्वर कॉलेज ऑफ नर्सिंग की ओर से 50-50 यूनिट, रक्तदाता युवा वाहिनी, मेवाड़ नर्सिंग कॉलेज, संजीवनी नर्सिंग कॉलेज व कल्पतरु नर्सिंग कॉलेज की ओर से 30-30, मेवाड़ नाथ, लोक सहायता सोसायटी, श्रीनाथ नर्सिंग कॉलेज, अरिहंत नर्सिंग कॉलेज व राजकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज बलीचा की ओर से 25-25 यूनिट, वसीटा समाज व स्वामी विवेकानंद संस्था की ओर से 21-21, मातेश्वरी व सिनर्जी नर्सिंग कॉलेज की ओर से 20-20, अर्थ संस्थान 11 मददगार हिंदुस्तान 10, तथा मर्सी लिग व संत निरंकारी मंडल की तरफ से 5-5 यूनिट रक्तदान का लक्ष्य रखा गया है।

उदयपुर में ‘गांधी सप्ताह’ का भव्य शुभारंभ सर्वधर्म प्रार्थना, प्रभात फेरी, प्रदर्शनी में प्रतिध्वनित हुए गांधी के आदर्श

News

उदयपुर, 2 अक्टूबर/राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती वर्ष के अवसर पर जिला प्रशासन की ओर से गांधी सप्ताह के आयोजन बुधवार से शुरू हुए। इस दौरान सर्वधर्म प्रार्थना सभा, प्रभात फेरी, प्रदर्शनी, शांति समिति की बैठक के साथ ही वृहद रक्तदान कार्यक्रम का आयोजन आकर्षण का केन्द्र रहा।
सर्वधर्म प्रार्थना सभा से सप्ताह की शुरूआत:
जिला प्रशासन, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के तत्वावधान में आज सुबह गुलाबबाग में सर्वधर्म प्रार्थना सभा का आयोजन किया गया। इस मौके पर जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी, अतिरिक्त जिला कलक्टर संजय कुमार, समाजसेवी पंकज शर्मा सहित विभिन्न विभागीय अधिकारियों ने राष्ट्रपिता की प्रतिमा का माल्यार्पण किया। यहां गांधी प्रतिमा के समक्ष स्काउट व गाईड प्रतिनिधियों ने बापू के भजनों के साथ सर्वधर्म प्रार्थना प्रस्तुत की। इसके बाद जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी ने प्रभात फेरी को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। यह प्रभात फेरी शहर के प्रमुख मार्गों से होती हुई नगर निगम पहुंची।
कलक्टर ने किया गांधी चित्र प्रदर्शनी का उद्घाटन:
गांधी जयंती के उपलक्ष में गुलाबबाग स्थित सरस्वती पुस्तकालय में गांधी चित्र प्रदर्शनी का उद्घाटन जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी ने किया। इस दौरान उन्होंने प्रदर्शनी का अवलोकन किया। समाजसेवी पंकज शर्मा ने कलक्टर को प्रदर्शनी का अवलोकन कराते हुए इसमें प्रदर्शित विषयवस्तु की जानकारी दी। इस मौके पर एडीएम संजय कुमार व बड़ी संख्या में प्रबुद्धजन मौजूद रहे।
कलेक्ट्रेट परिसर में शुरू हुआ ‘खादी उत्सव’
जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी ने बुधवार सुबह कलेक्ट्रेट परिसर में खादी उत्सव के तहत प्रदर्शनी का शुभारंभ किया। यह खादी उत्सव, प्रदर्शनी जिला प्रशासन जिला उद्योग केंद्र व नव निर्माण संघ के तत्वावधान में आयोजित हो रही है, जो सप्ताह पर्यंत चलेगी। इस खादी प्रदर्शनी में चरखे का सीधा प्रसारण व खादी उत्पादों का लाइन डेमोंस्ट्रेशन किया जा रहा है। इस अवसर पर अतिरिक्त जिला कलक्टर नरेश बुनकर, लोकसेवा सहायक निदेशक दीपक मेहता, खादी उपनिदेशक प्रकाश चंद्र गौड़, आदि उपस्थित रहे।
खादी वस्त्रों पर मिलेगी 50 प्रतिशत छूट
खादी उपनिदेशक गौड़ ने बताया कि गांधी जयंती के अवसर पर 2 अक्टूबर से आगामी 28 फरवरी तक खादी वस्त्रों पर 50 प्रतिशत की छूट दी जाएगी। इसमें 35 प्रतिशत राज्य सरकार की ओर से, 5 प्रतिशत केन्द्र सरकार व 10 प्रतिशत खादी संस्थानों की तरफ से छूट का प्रावधान रखा गया है।
पीवीआर में ‘गांधी’ फिल्म देखने पहुंचे बच्चे बोले: ‘इत्ती बड़ी टीवी, पहली बार देखी’:
जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी की पहल पर गांधी जयंती के मौके पर निराश्रित 250 बच्चों को मल्टीप्लेक्स में ‘गांधी’ फिल्म दिखाई गई। फिल्म देखने पहुंचे 90 प्रतिशत बच्चों के लिए इतनी बड़ी स्क्रीन पर फिल्म देखना कौतहूल एवं प्रसन्नता का विषय रहा। एडीएम सिटी, संजय कुमार जब बच्चों को फिल्म दिखाने के लिए थियेटर पहुंचे तो बच्चों ने बड़ी स्क्रीन देखकर आश्चर्य व्यक्त कर कहा, ‘इत्ती बड़ी टीवी तो पहली बार देखी’ । इस कार्यक्रम के तहत शहर के विभिन्न छात्रावासों व निराश्रित एवं किशोर गृहों में रहने वाले चुनिंदा 250 विद्यार्थियों को पीवीआर सिनेमा हॉल में 1982 में बनी “गांधी“ फिल्म दिखाई गई। इनमें राजकीय सावित्री बाई फूले छात्रावास मधुवन, नीमज माता एवं भुवाणा छात्रावास, राजकीय अंबेडकर छात्रावास प्रतापनगर, निराश्रित बाल सेवा गृह जीवन ज्योति सुखेर, अनुदानित आदिवासी छात्रावास सुखेर व राजकीय किशोर गृह चित्रकूट नगर के विद्यार्थी शामिल थे।

राष्ट्रपिता की जयंती पर रक्तदान का अपूर्व उत्साह कलक्टर, एसपी, सीईओ सहित कई अधिकारियों ने किया रक्तदान

News

उदयपुर, 2 अक्टूबर/गांधी जयंती के अवसर पर जिले में 12 स्थानों पर आयोजित हुए वृहद रक्तदान शिविर के प्रति युवा रक्तदाताओं में अपूर्व उत्साह दिखाई दिया। सुबह से ही अलग-अलग 12 स्थानों पर 35 अलग-अलग संस्थाओं के सहयोग से आयोजित हुए शिविरों में युवा व प्रबुद्धजन पूरे जज्बे के साथ पहुंचे और रक्तदान कर राष्ट्रपिता के प्रति अपनी श्रद्धाओं को अभिव्यक्त किया।
कलक्टर ने मां के साथ किया रक्तदान:
रक्तदान शिविर को सफल बनाने के लिए प्रतिबद्धता व्यक्त करते हुए जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी ने अपनी 57 वर्षीय मां श्रीमती अन्नापूर्णी देवी के साथ एमबी चिकित्सालय के ब्लड बैंक पहुंची और यहां रक्तदान किया। कलक्टर को अपनी मां के साथ रक्तदान करते देख मौजूद अधिकारी-कर्मचारी भी उत्साहित दिखे। कलक्टर ने कहा कि पीडि़त मानवता की सेवा के लिए यह छोटी सी शुरूआत है और इससे अन्य लोग प्रोत्साहित होंगे। कलक्टर के रक्तदान करने के बाद महाराणा भूपाल चिकित्सालय के ब्लड बैंक में जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी आईएएस कमर चौधरी एवं एमबी चिकित्सालय अधीक्षक डॉ. लाखन पोसवाल ने भी रक्तदान कर मौजूद युवाओं, स्टाफ सदस्यों एवं अन्य को समय-समय पर रक्तदान करने का आह्वान किया। इस मौके पर एडीएस सिटी संजय कुमार, प्रभारी चिकित्साधिकारी डॉ. संजय प्रकाश, नर्सिंग ऐसोसियेशन के रमेश मीणा, मारवाड़ी युवा मंच लेकसिटी व परमार्थ मेमोरियल ट्रस्ट की राजश्री वर्मा व बड़ी संख्या में नर्सिंगकर्मी मौजूद थे।
एसपी व पुलिस अधिकारियों ने भी किया रक्तदान
शहर के पुलिस लाईन में आयोजित रक्तदान शिविर में पुलिस अधिकारियों एवं जवानों ने भी बढ़-चढ़कर भाग लिया। इस अवसर पर जिला पुलिस अधीक्षक कैलाश चन्द्र विश्नोई, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गोपाल स्वरूप मेवाड़ा, अनन्त कुमार सहित अन्य पुलिस अधिकारियों एवं पुलिस के जवानों ने 150 यूनिट से अधिक रक्तदान किया।

स्वच्छता अभियान में किया श्रमदान

News

भारतीय स्टेट बैंक की ओर से गांधी जयंती के अवसर पर शहर के हाथीपोल पुलिस स्टेशन से चेतक सर्कल चौराहा तक स्वच्छता अभियान के तहत श्रमदान किया गया।
बैंक के सहायक महाप्रबन्धक शान्तिलाल मारू ने बताया कि इस दौरान जनमानस व दुकानदारों को प्लास्टिक मुक्त भारत एवं स्वच्छता की महत्ता के बारे में जागरूक किया गया। चेतक सर्कल चौराहे पर आमजन से प्लास्टिक मुक्त भारत बनाने में सहयोग करने की अपील की गई। इस अवसर पर सहायक महाप्रबन्धक संजीव गुप्ता, रीजनल सेक्रेट्ररी राजेश जैन, मार्गदर्शी बैंक रवीन्द्र सुराणा के साथ लगभग 30 स्टाफ सदस्यो ने श्रमदान किया।
ग्राहक मेले में ‘आधार’ कार्ड सुधार का कार्य भी होगा:
लीड बैंक के मुख्य प्रबन्धक बालेन्द्र प्रसाद ने बताया कि भारत सरकार के वित मंत्रालय के वितीय सेवाएं विभाग के दिशा निर्देशानुसार पंचायत समिति गिर्वा परिसर में दो दिवसीय ग्राहक मेले का आयोजन 3 व 4 अक्टूबर को होगा। इस मेले में एक अलग से स्टॉल लगाकर आधार सम्बन्धी सुधार कार्य किया जायेगा। मेले में अधिक से अधिक लोगों को भाग लेंकर बैंकिग सुविधा एवं सेवाओं का लाभ उठाने एवं आधार कार्ड में अशुद्धियों का सुधार कराने का आह्वान किया है।

शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाले शिक्षकों का सम्मान

News

उदयपुर, 02 अक्टूबर/राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की 150वीं जयन्ती पर शहर के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय बड़गाँव में ब्लॉक स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह एवं उजियारी पंचायत सम्मान समारोह 2019 का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि समाजसेवी व पूर्व उप जिला प्रमुख श्यामलाल चौधरी, अध्यक्ष अतिरिक्त मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी विनोद सनाढ्य व विशिष्ट अतिथि समाजसेवी टीटु सुथार व भुवनेश व्यास थे।
सम्मान समारोह में ब्लॉक स्तर पर राउप्रावि रेबारियों की ढाणी के प्रधानाध्यापक पुष्पकान्त व्यास एवं राउमावि लोयरा के प्राध्यापक इन्द्रजीत सिंह राणा को सम्मानित किया गया। वहीं राउमावि ईसवाल एवं राउमावि कडि़या के प्रधानाचार्य को पाँच सितारा विद्यालय में चयनित होने पर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर अतिथियों ने सम्मानित संस्था प्रधान, सरपंच एवं शिक्षकों को हार्दिक शुभकामनाएं दी एवं सम्पूर्ण ब्लॉक बड़गाँव को उजियारी घोषित करने हेतु संकल्प दिलाया। कार्यक्रम में बड़गाँव ब्लॉक की दस ग्राम पंचायतों अम्बेरी, थूर, कविता, भूताला, ईसवाल, कैलाशपुरी, वरड़ा, कठार, चीरवा, लोयरा के पीईईओ एवं सरपंच का भी सम्मान किया गया।
साउण्ड सिस्टम देने की घोषणा
कार्यक्रम में भामाशाह भूवनेश जी व्यास द्वारा दो कमरों की छत मरम्मत एवं साउण्ड सिस्टम देने की घोषणा की तथा समाजसेवी टीटू सुथान ने विद्यालय विकास में हरसंभव सहयोग का आश्वासन दिया। प्रारंभ में संस्था प्रधान डॉ सीमा आमेटा द्वारा सभी अतिथियों का स्वागत किया गया। संचालन स्थानीय विद्यालय के प्राध्यापक कन्हैयालाल सुथार ने किया जबकि आभार प्रथम सहायक डॉ. अनिल पाण्डेय ने जताया।

स्कूली विद्यार्थियों ने किया सज्जनगढ़ जैविक उद्यान का भ्रमण

News

उदयपुर, 2 अक्टूबर/65वें वन्यजीव सप्ताह के तहत के दूसरे दिन बुधवार को विभिन्न विद्यालय के विद्यार्थियों एवं अघ्यापकों ने सज्जनगढ़ जैविक उद्यान का भ्रमण किया। इस अवसर पर विभिन्न विषय विशेषज्ञों ने विद्यार्थियों को वन्यजीव सरंक्षण के साथ पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रेरित किया एवं वन्यजीवों के बारे में जानकारी दी।
उप वन संरक्षक अजीत ऊचोई ने बताया कि इस अवसर पर पक्षीविद विनय दवे, विश्व प्रकृति निधि भारत के प्रभारी अधिकारी अरूण सोनी व स्वयंसेवियों ने शहर के विभिन्न विद्यालयों से आए 800 विद्यार्थियों एवं अध्यापकों को यहां की जैव विविधता के बारे में जानकारी दी। विद्यार्थी जंगली जानवरों की अठखेलियां देखकर रोमांचित हुए। इस अवसर पर पर उप वन संरक्षक शैतान सिंह देवड़ा, सहायक वन सरंक्षकगण चन्द्रपाल सिंह चौहान एवं आशीष व्यास, क्षेत्रीय वन अधिकारी गणेश गोठवाल, वन विभाग के कार्मिक, वन्यजीव प्रेमी आदि मौजूद रहे।
उन्होंने बताया कि वन्यजीव सप्ताह के तीसरे दिन गुरूवार को सुबह 10 से 11 बजे शहर के राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय रेजीडेंसी में रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा जिसमें विभिन्न विद्यालयों के विद्यार्थी भाग लेंगे।

शिल्पग्राम में अब से सिंगल यूज़ प्लास्टिक वर्जित,
स्वच्छता अभियान में एकत्र की प्लास्टिक थैलियां और पाउच

उदयपुर, 02 अक्टूबर/राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के जन्म दिवस एवं महात्मा गांधी की 150वीं जयन्ती समारोह के अवसर पर पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र द्वारा ग्रामीण शिल्प और कला परिसर शिल्पग्राम को सिंगल यूज़ प्लास्टिक से मुक्त करने की पहल की गई है। इस अवसर पर पर्यावरण विशेषज्ञ डॉ. महेश शर्मा ने सिंगल प्लास्टिक के दुष्प्रभाव पर व्याख्यान दिया।
भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयन्ती पर भारत सरकार द्वारा प्रारम्भ किये गये ‘‘प्लास्टिक मुक्त भारत’’ के अनुक्रम में शिल्पग्राम के बंजारा रंगमंच पर बुधवार सुबह विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें पर्यावरण विशेषज्ञ डॉ. महेश शर्मा ने कहा कि प्लास्टिक पर पूर्णतया रोक संभव नहीं है किन्तु सिंगल यूज़ प्लास्टिक के उपयोग को रोका जाना आज की सबसे बड़ी आवश्यकता है। इंग्लैण्ड और आयरलैण्ड के उद्धरण से उन्होंने कहा कि हमारी जल शुद्धि की प्रणाली को इतना सक्षम बनाया जाये कि हमें प्लास्टिक बोतल की आवश्यकता नहीं पड़े और हम सीधे नलों से पानी पी सकें।
उन्होंने कहा कि भारत के माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा गांधी जयन्ती से प्रारम्भ किये गये इस अभियान की आज सर्वाधिक आवश्यकता है, उन्होंने विशेषकर सिंगल यूज प्लास्टिक के उपयोग में जन सहयोग की अपील की। इस अवसर पर केन्द्र के प्रभारी निदेशक सुधांशु सिंह ने कहा कि शिल्पग्राम परिसर उदयपुर ही नहीं अपितु देश का महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल है। लोक कला के इस प्रमुख केन्द्र को सिंगल यूज़ प्लास्टिक से मुक्त करने के लिये लिये विशेष प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने आगंतुकों से अपील की कि वे इस परिसर को प्लास्टिक मुक्त बनाने में सहयोग करें।
इस मौके पर केन्द्र के अधिकारियों और कर्मचारियों ने ‘‘स्वच्छता अभियान’’ के अंतर्गत शिल्पग्राम परिसर में यत्र-तत्र बिखरे गुटखे के पाउच, प्लास्टिक आदि कचरा एकत्र कर कूड़ेदान में डाला। इस अवसर पर मांगणियार कलाकारों ने दो लोक गीत प्रस्तुत किये। कार्यक्रम का संयोजन दुर्गेश चांदवानी द्वारा किया गया।

गांधी जयंती पर “प्लास्टिक ना बाबा ना“ अभियान का शुभारंभ
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की ओर से विविध आयोजन

उदयपुर, 02 अक्टूबर/राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जयपुर के तत्वावधान में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अध्यक्ष के निर्देशों के क्रम में बुधवार को गांधी जयंती के अवसर पर न्यायालय के अधिकारीगण, कर्मचारीगण, अधिवक्तागण, विधि विद्यार्थियों की उपस्थिति में जिला एवं सेशन न्यायालय परिसर में कार्यक्रम आयोजित हुआ।
अपर जिला एवं सैशन न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव श्रीमती रिद्धिमा शर्मा ने बताया कि इस अवसर पर प्रत्येक जिला मुख्यालय एवं तालुका पर प्लास्टिक के उपयोग को बंद करने बाबत् “प्लास्टिक ना बाबा ना“ अभियान का शुभारंभ करने के निर्देश प्रदान किये थे। इसके तहत सभी ने प्लास्टिक का उपयोग न्यायालय परिसर में नहीं करने की शपथ ली तथा सभी ने मिलकर श्रमदान किया। सचिव श्रीमती शर्मा ने बताया कि इस अवसर पर आरएनटी मेडिकल कॉलेज, महाराणा भूपाल चिकित्सालय एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सयुक्त तत्वावधान के आरएनटी  मेडिकल कॉलेज सभागार में आयोजित कार्यक्रम में 250 लोगों ने मेडिकल कॉलेज परिसर एवं महाराणा भूपाल चिकित्सालय को प्लास्टिक फ्री घोषित करने के लिए अथक प्रयास करने की शपथ ली। इस अवसर पर आरएनटी कॉलेज के पिं्रसीपल एवं कंट्रोलर डॉ. डी.पी.सिंह व एमबी चिकित्सालय अधीक्षक लाखन पोसवाल व श्रीमती रिद्धिमा शर्मा ने जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इसके साथ ही भूपाल नोबल्स युनिवर्सिटी के लॉ कॉलेज, डॉ.अनुष्का विधि महावि़द्यालय, गुरू नानक स्कूल सेक्टर न. 4, मोहनलाल सुखाडिया विश्वविद्यालय के अधीन संचालित लॉ कालेज के विद्यार्थियों ने भी इस कार्यक्रम में भागीदारी निभाते हुए अपने आस-पास के क्षेत्र को प्लास्टिक मुक्त बनाने हेतु लोगों को जागरूक किया। उदयपुर मुख्यालय के अतिरिक्त तालुका मावली, वल्लभनगर, भीण्डर, कानोड, सराडा, सलूम्बर, खैरवाडा, झाडोल, गोगुन्दा, कोटडा इत्यादि 10 जगहों पर प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने के शपथ के साथ ही श्रमदान किया गया। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण उदयपुर द्वारा 157 निजी विद्यालयों में खोले गए लीगल लीट्रेसी क्लबों में प्लास्टिक के दुष्परिणाम विषय पर निबंध लेखन प्रतियोगिताएं आयोजित की गई।

कों के ग्राहकों तक पहुँचने का राष्ट्रव्यापी अभियान शुरू उपभोक्ताओं के हित में पहली बार सभी बैंक एक साथ जुटे गिर्वा शिविर में एक साथ 35 बैंक व वित्तीय संस्थाओं ने दी सेवाएं केन्द्रीय वित्त सचिव भी पहुंचे और जायजा लिया

News

उदयपुर, 03 अक्टूबर/त्यौहार की खुशियाँ बांटने के लिए सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों के ग्राहकों तक पहुँचने के राष्ट्रव्यापी अभियान के तहत उदयपुर जिले में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया को आयोजन की जिम्मेदारी मिलने के बाद गुरुवार से बैंक की ओर से जिले के ग्राहकों के लिए दो दिवसीय आयोजन पंचायत समिति गिर्वा परिसर में प्रारंभ हुआ। केन्द्रीय वित्त मंत्रालय में आयोजित बैठक में हुई सर्वसम्मति के बाद यह पहला मौका है जब इतने सारे बैंक एक ही स्थान पर जुटे हैं और उपभोक्ताओं के हित में कार्य कर रहे हैं।    
स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के उप महाप्रबंधक एस विजय कुमार ने बताया कि प्रथम चरण के तहत देशभर के 250 जिलों में हो रहे आयोजन की श्रृंखला में उदयपुर शहर में यह किया जा रहा है जिसमें लगभग 35 सरकारी-गैर-सरकारी बैंक एवं गैर बैंकिंग वित्तीय संस्थायें भाग ले रही हैं वहीं कल से कार डिलर्स व बिल्डर्स भी भाग लेंगे। उपभोक्ताओं को बैंक की विविध योजनाओं व कार्यक्रमों की जानकारी देते हुए ऋण योजनाओं से लाभांवित कर रही है।  
पहले ही दिन उपभोक्ताओं में खासा उत्साह देखा गया और बड़ी संख्या में शहरी व ग्रामीण बैंक उपभोक्ता यहां पहुंचे तथा बैंकिंग योजनाओं की जानकारी ली। उपभोक्ताओं ने भीम, योनो एप डाउनलोड करने की प्रक्रिया को जानने के साथ ही आधार कार्ड में प्रविष्टियों का सुधार करवाया तथा विभिन्न कृषि ऋण योजनाओं की जानकारी ली। कार्यक्रम दौरान बैंक ग्राहकों को वित्तीय समावेशन और डिजिटल भुगतान व लेन-देन के बारे में भी जानकारी दी गई।  
केन्द्रीय वित्त सचिव राजीव कुमार ने लिया जायजा:
उपभोक्ताओं के हित में आयोजित हो रहे गिर्वा के इस शिविर का जायजा लेने के लिए केन्द्रीय वित्त सचिव राजीव कुमार भी पहुंचे और गतिविधियों को देखकर प्रसन्नता जताई। उन्होंने कहा कि पिछले दो-तीन वर्षों में बैंकिंग सेक्टर में हो रहे सुझावों का ही नतीज़ा है कि अब सार्वजनिक क्षेत्र के बैक मजबूत हुए हैं और बैंक खुद पहल कर उपभोक्ताओं के पास पहुंच रहे हैं। उन्होंने बताया कि यह सुखद है कि बैंकिंग सेक्टर में हो रहे सुधारों के बाद 14 सरकारी सेक्टर के बैंक प्रोफिट में भी आए है और इससे उपभोक्ताओं को बेहतर सेवाएं प्राप्त हो रही है।  
उत्साह को देखते हुए शिविर एक दिन बढ़ाया:
बैंक योजनाओं के लिए लाभांवित हो रहे उपभोक्ताओं के उत्साह को देखते हुए गिर्वा में आयोजित इस दो दिवसीय शिविर को एक दिन और बढ़ा दिया गया है। अब यह शिविर 5 अक्टूबर तब आयोजित किया जाएगा।
हाथों-हाथ ऋण पाकर खुश हुए उपभोक्ता:
मेले के तहत एक भव्य पंडाल में सभी बैको के द्वारा अपने-अपने स्टाल को अतिआकर्शक ढंग से सजाया गया था। एक बड़ी एलसीडी स्कीन पर विभिन्न बैको के उत्पादो का प्रचार प्रसार एवं लाभार्थियो के साथ साक्षात्कार भी प्रसारित हो रहे थे। बैंकांे ने इस अवसर पर लोगो को ऑनलाइन सेवा के माध्यम से कई ऋणों का वितरण किया । भारतीय स्टेट बैंक के द्वारा 22 मकान ऋण, 32 वाहन ऋण, तथा 25 ई मुद्रा ऋण की स्वीकृति जारी की गई। इसी प्रकार अन्य बैंकों के द्वारा भी 24 मकान ऋण, 15 वाहन ऋण, 2 षिक्षा ऋण तथा 56 मुद्रा ऋण की स्वीकृति जारी कर स्टेज पर लाभार्थी के साक्षात्कार के साथ स्वीकृति पत्र सौपें।

यातायात नियमों का उल्लंघन करने पर फूल देकर की समझाईश

News

उदयपुर, 03 अक्टूबर/परिवहन विभाग की ओर से आमजन को सड़क सुरक्षा के प्रति जागरूक करने एवं यातायात नियमों की जानकारी देने को लेकर नित्य नवाचार किए जा रहे हैं। इसी क्रम में गुरुवार को जिला परिवहन अधिकारी डॉ. कल्पना शर्मा के नेतृत्व में उदयपुर के मुख्य सर्कल उदियापोल पर तेज गति से वाहन चलाने, हेलमेट प्रयोग न करने, लाल बत्ती का उल्लंघन करने व नशे में वाहन चलाने वालों को फूल देकर यातायात नियमों की पालना करने के लिए समझाइश की गई । तथा सड़क सुरक्षा, यातायात नियमों की जानकारी दी गई।
इस अवसर पर परिवहन निरीक्षकों ने वाहन चालकों को बताया कि जीवन कितना अमूल्य है, बिना हेलमेट वाले वाहन चालकों को यह बताया गया कि अधिकतर दुर्घटना बिना हेलमेट के होती है, हेलमेट पहनने से दुर्घटना से बचा जा सकता है। साथ ही पीयूसी, बीमा, व्यवसायी वाहनों को रिफलेक्टीव के बारे में जानकारी दी गई। कार्यक्रम के तहत सभी ब्लॉक स्तर पर परिवहन निरीक्षकों ने फिटनेस हेतु जनजागृति अभियान चलाया।

राष्ट्रीय जनजाति स्काउट गाइड मिनी जम्बूरी का तीसरा दिन साहसिक गतिविधियों ने किया रोमांचित, कला-संस्कृति की दिखी झलक

News

उदयपुर, 4 अक्टूबर/महात्मा गांधी की 150वीं जयन्ति वर्ष के उपलक्ष्य में राजस्थान राज्य भारत स्काउट व गाइड, राज्य मुख्यालय, जयपुर के तत्वावधान में शहर के उदयनिवास में चल रही पांच दिवसीय राष्ट्रीय जनजाति स्काउट गाइड मिनी जम्बूरी का तीसरा दिन रोमांचक गतिविधियों के नाम रहा। इस दौरान अलग-अलग राज्यों की जनजाति संस्कृति की कला और संस्कृति की झलक ने भी अतिथियों व संभागियों को आकर्षित किया।
महापौर कोठारी ने किया ध्वजारोहण, एडीजे शर्मा ने किया प्रदर्शनी का उद्घाटन:  
मिनी जंबूरी के तहत गुरुवार को ध्वजारोहण कार्यक्रम नगरनिगम महापौर चन्द्रसिंह कोठारी ने किया जबकि प्रदर्शनी का उद्घाटन जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव अतिरिक्त जिला न्यायाधीश रिद्धिमा शर्मा ने किया। इस मौके पर कोठारी ने कहा कि देष में विविधता में  एकता हैं और यह एकता इसी प्रकार के शिविरों में दिखाई देती है। एडीजे शर्मा ने कहा कि इस प्रकार के आयोजनों के माध्यम से जनजाति कलाओं का संरक्षण व संवर्धन होता है। ऐसे आयोजनों से सांस्कृतिक कौशल का हस्तांतरण भी देखना सुखद है। उन्होंने प्रदर्शनी के उद्घाटन के बाद उड़ीसा, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश, हरियाणा और राजस्थान के अलग-अलग क्षेत्रों से आएं जनजाति स्काउट-गाईड द्वारा तैयार की गई कलाकृतियों का अवलोकन किया और इनके बारे में जानकर रोमांच व खुशी जताई। इस मौके पर जनसंपर्क उपनिदेशक कमलेश शर्मा, मंडल कोषाध्यक्ष पंकज जानी, पक्षी विशेषज्ञ विनय दवे ने भी प्रदर्शनी का अवलोकन करते हुए जानकारी ली।
इस मौके पर जंबूरी निदेशक गोपाराम माली ने अतिथियों को शिविर में हो रही साहसिक गतिविधि यथा कमाण्डो ब्रिज, मंकी ब्रिज, कमाण्डो क्रोसिंग, बेलेन्सिंग, मंकी क्रोलिंग, टायर वाल, टायर चिमनी, टायर टनल,  पतंग उड़ाना, टचिंग पाइन्ट, गन शूटिंग, तीरंदाजी, ब्लाइण्ड ट्रेल, जीप लाइन आदि के बारे में जानकारी दी। इस अवसर पर दिलीपकुमार माथुर, सहायक राज्य संगठन आयुक्त, एल आर शर्मा, सुरेन्द्रकुमार पाण्डे, छैलबिहारी शर्मा, दीपेश शर्मा, महेश कालावत, गोविन्द मीणा, सवाईसिंह, प्रिती आदि सीओ स्काउट गाइड उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन विनोददत्त जोशी, सहायक राज्य संगठन आयुक्त स्काउट कोटा ने किया।
समापन शुक्रवार को:  
माली ने बताया कि मिनी जम्बूरी का समापन शुक्रवार को  जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग के राज्यमंत्री अर्जुनसिंह बामनिया के मुख्य आतिथ्य एवं विकास सीताराम भाले, संभागीय आयुक्त की अध्यक्षता में होगा।

गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और व्यक्तित्व विकास विषयक प्रशिक्षण शुरू

News

उदयपुर, 03 अक्टूबर/नई शिक्षा नीति को ध्यान में रखकर बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने और व्यक्तित्व विकास विषय पर सरकारी स्कूल के शिक्षकों का पांच दिवसीय प्रशिक्षण शिविर गुरुवार को आरएससीईआरटी सभागार में शुरू हुआ। उद्घाटन समारोह में मुख्य अतिथि एनसीईआरटी दिल्ली के प्रोफेसर व प्रकाशन विभाग के विभागाध्यक्ष अनूप कुमार राजपूत थे जबकि अध्यक्षता शिक्षा विभाग के सयुंक्त निदेशक शिवजी गौड़ ने की।
कार्यक्रम समन्वयक श्रीमती सरस्वती माहेश्वरी ने बताया कि इसमें स्टेट लेवल एसआरजी ट्रेनिंग को एनआरजी टीम द्वारा जालोर, पाली, सिरोही राजसमन्द और बांसवाडा जिलों के 250 केआरपी को प्रशिक्षण दिया जा रहा है, जो आगे जाकर अपने जिलों में ब्लॅाक स्तर विद्यालयों के लेवल 1 एवं 2 के शिक्षकों को प्रशिक्षित करेंगे। उन्होंने बताया कि अक्टूबर और दिसम्बर माह के अलग-अलग जिलों के मास्टर्स को ट्रेनिंग देकर प्रदेश के सभी 2 लाख 42 हजार शिक्षकों को यह विशेष प्रशिक्षण दिया जायेगा। इस अवसर पर शिक्षाविद् प्रो. रंजना अरोडा, प्रो. उषा शर्मा, आरएससीईआरटी उपनिदेशक तेजपाल उपाध्याय, जिला शिक्षा अधिकारी भरत जोशी आदि उपस्थित रहे।
सह समन्वयक डॉ.महावीर प्रसाद जैन ने बताया कि वन नेशन-वन एजुकेशन पॉलिसी के तहत देशभर के 42 लाख शिक्षकों को समान स्तर पर प्रशिक्षण देकर शिक्षा के स्तर को सुधारने की कोशिश की जा रही है। कार्यक्रम का संचालन एसोसिएट प्रोफेसर डॉ.महावीर प्रसाद जैन ने किया।

केआरपी का द्वितीय प्रशिक्षण शुरू

News

उदयपुर, 09 अक्टूबर/नई शिक्षा नीति को ध्यान में रखकर बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने और बेहतर व्यक्तित्व विकास के प्रयासों को लेकर केआरपी का द्वितीय प्रशिक्षण शिविर बुधवार को आरएससीईआरटी सभागार में शुरू हुआ। यह शिविर 13 अक्टूबर तक चलेगा।
उद्घाटन समारोह के अध्यक्ष एनसीईआरटी दिल्ली के प्रो. शशी प्रभा थे व मुख्य अतिथि आरएससीईआरटी के उपनिदेशक तेजपाल उपाध्याय थे। विशिष्ट अतिथि उपनिदेशक नरेश चन्द डांगी ललित शंकर आमेटा, एनसीईआरटी नई दिल्ली के प्रो. इन्दु कुमार, डॉ. नीलकण्ठ थे। इस प्रशिक्षण शिविर में कोटा, भीलवाडा, बारा, झालावाड, प्रतापगढ और बूंदी जिलों के 250 केआरपी.को प्रशिक्षण दिया जा रहा है, जो आगे अपने-अपने जिलों में ब्लॅाक स्तर पर जाकर विद्यालयों के लेवल 1 एवं 2 के शिक्षकों को प्रशिक्षित करेंगे। अक्टूबर और दिसम्बर माह के अलग-अलग जिलों के मास्टर्स को ट्रेनिंग देकर प्रदेश के सभी 2 लाख 42 हजार शिक्षकों को यह विशेष प्रशिक्षण दिया जायेगा। सह समन्वयक डॉ.महावीर प्रसाद जैन ने बताया कि इस शिविर के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। अंत में आभार समन्वयक श्रीमती सरस्वती माहेश्वरी ने जताया।

सड़क सुरक्षा सप्ताह का हुआ समापन प्रतियोगिताओं के विजेताओं को किया पुरस्कार वितरण

News

उदयपुर, 09 अक्टूबर/महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर परिवहन विभाग की ओर से आयोजित सड़क सुरक्षा सप्ताह का समापन एवं पुरस्कार वितरण समारोह प्रादेशिक परिवहन अधिकारी कार्यालय में बुधवार को आयोजित हुआ। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि प्रादेशिक परिवहन अधिकारी प्रकाश सिंह राठौड़ सहित जिला परिवहन अधिकारी डॉ. कल्पना शर्मा, उदयपुर ऑटोमोबाईल व्हीकल डिलर्स के रोशनलाल जैन और सुभाष सिंघवी बतौर अतिथि उपस्थित रहे।
आरटीओ राठौड़ ने ’सड़क सुरक्षा, जीवन रक्षा’ के संदेश को प्रसारित करने में युवाओं की भूमिका को अहम बताया। उन्होंने मौजूद जन को सदैव जागरूक होकर सड़क सुरक्षा व यातायात नियमों का पालन करने का आह्वान भी किया। डीटीओ डॉ. शर्मा ने सप्ताह की सात दिवसीय गतिविधियों पर प्रकाश डाला। इस मौके पर आधार फउण्डेशन के नारायण चौधरी ने भी विचार रखे। समारोह में युवा वर्ग एवं उपस्थित जनसमुदाय को यातायात नियमों के पालन सड़क सुरक्षा की शपथ दिलाई। सप्ताहान्तर्गत शहर के विभिन्न विद्यालयों में आयोजित पोस्टर, स्लोगन व निबन्ध प्रतियोगिता के विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया गया।

त्यौहारों पर नकली मावे की रोकथाम के लिए विभाग हुआ सक्रिय मावा विक्रेताओं से लिए नमूने, जांच तक बिक्री नहीं करने किया पाबंद

News

उदयपुर, 09 अक्टूबर/त्यौहारों पर नकली मावे की बिक्री की रोकथाम की दृष्टि से चिकित्सा विभाग ने बुधवार को कार्यवाही की। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. दिनेश खराड़ी ने बताया कि मुखबिर से मिली सूचना के अनुसार धोलपुर से भारी मात्रा में मावे के उदयपुर पहुंच रहा है। इस पर डॉ. खराडी ने खाद्य सुरक्षा अधिकारी आनन्द चौधरी के साथ शहर मे छापामार कार्यवाही की। इस दौरान शहर के लक्ष्मी मावा भोपालवाडी पर धोलपुर से आये 280 किलो मावे के नमूने लिए तथा कृष्णा कम्पनी के हलवे के नमूने लिए। उन्होंने बताया कि लक्ष्मी मावा को पाबन्द किया कि जांच रिपोर्ट आने तक मावे की बिक्री नहीं करे व सुरक्षित रखे। इसके बाद टीम ने नारायण मावे के वहां कार्यवाही की जहां बीकानेर से आये मावे के नमूने लिए।
सूचना देने की अपील:
डॉ. दिनेश खराडी ने आमजन से अपील की है कि जहां नकली मावे, नकली घी, नकली दूध, नकली तेल इत्यादि की श्ंाका होने पर कोई भी उनके मोबाईल नम्बर 9116003775 पर मेसेज, वाट्सअप पर मेसेज करके सूचना दे सकते है तथा सूचना देने वाले की पहचान गोपनीय रखी जायेगी।
गुटखों पर की कार्यवाही:
गुटखों पर प्रतिबंध के क्रम में कार्यवाही करते हुए टीम ने रतनलाल-भंवरलाल लखारा चौक से गुलकन्द, जितेन्द्र एण्टरप्राईजेज, शिवाजी नगर  से पान मसाला (विमल), गणपति एजेन्सी, सुन्दरवास से पान मसाला (रजनीगंघा), कृष्णा टेªडर्स नाडाखाडा से पान मसाला (जाफरी), करमचन्द एण्ड संस तेलीवाडा से पान मसाला (दिलबाग) के नमूने लिए। डॉ. खराडी ने बताया की इस तरह की कार्यवाही प्रतिदिन जारी रहेगी।

चीरवा गांव में विधिक जागरूकता सर्वे

उदयपुर, 09 अक्टूबर/जिला विधिक सेवा प्राधिकरण एवं मोहनलाल सुखाडिया विश्वविद्यालय, उदयपुर के संगठक विधि महाविद्यालय के सयुक्त तत्वावधान में लीगल एड क्लिनिक के 120 विधि विद्यार्थियों नेा चीरवा गांव में विधिक सहायता कार्यक्रम के तहत सर्वे किया गया। सर्वे फार्म मे बच्चो की शिक्षा, घरो में बिजली- पानी की सुविधा, चिकित्सा, शौचालय, सडक, रोजगार, सरकारी योजनाओं का लाभ अन्य समस्याएं आदि विषयो को सम्मिलित किया गया।
अपर जिला एवं सैशन न्यायाधीशश्रीमती रिद्धिमा शर्मा  ने बताया कि विधि महाविद्यालय एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण उदयपुर के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित सर्वे में ग्रामीणों को बाल विवाह अपराध, बाल श्रम, शिक्षा का अधिकार, मद्यपान निषेध कानून, घरेलू हिंसा, मध्यस्था, पारिवारिक विवाद, मूलभूत अधिकारो की जानकारी, वोट का महत्व, पीडित प्रतिकर स्कीम, नाल्सा योजनाओं के साथ निःशुल्क विधिक सहायता आदि विषयों की जानकारी भी दी गई।

जनसुनवाई एवं सतर्कता समिति बैठक आज

उदयपुर, 09 अक्टूबर/आमजन के अभाव अभियोग प्राप्त कर उन पर त्वरित कार्यवाही करने को लेकर जिला जन अभियोग निराकरण एवं सतर्कता समिति की बैठक व जनसुनवाई गुरुवार, 10 अक्टूबर को सुबह 11 बजे से जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी की अध्यक्षता में आयोजित होगी।
एडीएम सिटी एवं प्रभारी (सतर्कता) संजय कुमार ने बताया कि जनसुनवाई राजस्थान सम्पर्क आईटी केन्द्र (कलेक्ट्रेट परिसर) में आयोजित होगी। बैठक में सभी विभागों के अधिकारीगण मौजूद रहेंगे। साथ ही सभी उपखण्ड स्तरीय अधिकारीगण भी वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक व्यवस्था से जुड़े रहेंगे।

साधारण सभा की विशेष बैठक स्थगित

उदयपुर, 09 अक्टूबर/जिला परिषद की साधारण सभा की गुरुवार, 10 अक्टूबर को प्रस्तावित विशेष बैठक अपरिहार्य कारणों से स्थगित कर दी गई है। यह जानकारी जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कमर चौधरी ने दी।

अनुजा निगम 322 व्यक्तियों को देगा ऋण
31 अक्टूबर तक मांगे आवेदन

उदयपुर, 09 अक्टूबर/अनुसूचित जनजाति वित्त विकास निगम योजना में आदिवासी महिला सशक्तिकरण, लघु व्यवसाय ग्रामीण, लघु व्यवसाय शहरी, डेयरी, शिक्षा ऋण, ई रिक्शा, ऑटो रिक्शा, ट्रेक्टर मय ट्रोली, जीप टेक्सी एवं कृषि आधारित लघु व्यवसाय हेतु रियायती ब्याज दर पर इच्छुक प्रार्थियो से ऋण आवेदन ऑनलाईन आंमत्रित किये गये है। आवेदन की तिथि 31 अक्टूबर तक निर्धारित की गई है। इसमें 322 व्यक्तियों को ऋण आवंटित किया जाएगा।
अनुजा निगम के परियोजना प्रबंधक प्रफुल्ल चन्द्र चौबीसा ने बताया कि आवेदक उदयपुर जिले का मूल निवासी हो जिसकी उम्र 18 से 60 वर्ष तक के मध्य हो। आवेदक को जाति व आय प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा। आवेदक किसी ऋणदात्री संस्था का ऋणी नही होना चाहियें।(स्वघोषणा लगानी होगी)
आवेदक द्वारा ऋण आवेदन पत्र के साथ दस्तावेज स्केन कर लगाने होगें। जाति प्रमाण पत्र, आवेदक के आधार कार्ड की प्रति (भामाशाह फार्म से सत्यापन), स्वघोषित/सत्यापित वार्षिक आय प्रमाण पत्र, अनुसूचित जनजाति हेतु शहरी क्षेत्र मे 1.20 लाख व ग्रामीण क्षेत्र के लिये 0.98 लाख वार्षिक आय तय है। ऋण योजनाओ में आवेदन हेतु इच्छुक अभ्यर्थी एसएसओ आईडी या अपने नजदीकी ई-मित्र सुविधा केन्द्र से दर्शायी गई प्रक्रिया सर्वप्रथम ई-मित्र या एसएसओ आईडी द्वारा सीटीजन एप मे जाकर दर्शाये गये अनुजा निगम पोर्टल के अन्दर भामाशाह आईडी या एक्नोलेजमेंट नंबर द्वारा ऑनलाईन आवेदन कर सकते है।

राज्य स्तरीय सांस्कृतिक प्रतियोगिता आज से

उदयपुर, 09 अक्टूबर/जनजाति कार्य मंत्रालय, भारत सरकार के दिशा-निर्देशानुसार जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग, उदयपुर द्वारा संचालित एकलव्य मॉडल रेजिडेन्शियल स्कूल की राज्य स्तरीय सांस्कृतिक प्रतियोगिता का आयोजन 10 व 11 अक्टूबर को शिल्पग्राम के दर्पण सभागार में किया जाएगा।
टीएडी परियोजना अधिकारी गीतेशश्री मालवीय ने बताया कि इस प्रतियोगिता में राज्य के समस्त 17 ईएमआरएस के लगभग 300 विद्यार्थी भाग लेंगे। निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार प्रथम दिन 10 अक्टूबर को 11 बजे उद्घाटन पश्चात 11.30 बजे एकल गान, दोपहर 2.30 बजे समूह गान व सायं 5.30 बजे एकल नृत्य का आयोजन होगा। वहीं दूसरे दिन  प्रातः 10.30 बजे एकल नृत्य, दोपहर 2 बजे समूह नृत्य व सायं 5 बजे समापन समारोह होगा। इस अवसर पर पारितोषिक वितरण जनजाति राज्यमंत्री द्वारा किया जायेगा। प्रतियोगिता के निर्णायक के रूप में राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर के विशेज्ञकों को आमंत्रित किया गया है। प्रतियोगिता के अंतिम दिन राष्ट्रीय स्तर पर भाग लेने वाले विद्यार्थियों का चयन किया जायेगा। चयनित छात्र/छात्राओं हेतु 20-25 दिवसीय गहन तैयारी शिविर माह अक्टूम्बर के अंतिम सप्ताह में किया जायेगा।
 राज्य स्तरीय सांस्कृतिक प्रतियोगिता हेतु विजेता प्रतिभागियों के लिए ईनामी राशि का प्रावधान “मोटा“ भारत सरकार द्वारा निर्धारित है। इसके अनुसार एकल गान में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले को 12 हजार, द्वितीय को 10 हजार व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले को 8 हजार रुपये की राशि ईनाम स्वरूप प्रदान की जाएगा। वहीं समूह गान में प्रथम स्थान प्राप्तकर्ता को 40 हजार, द्वितीय को 30 हजार व तृतीय को 20 हजार रुपये की ईनामी राशि दी जाएगी। एकल नृत्य में प्रथम रहे प्रतिभागी को 15 हजार, द्वितीय को 13 हजार व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले को 10 हजार रुपये की ईनामी राशि दी जाएगी। वहीं समूह नृत्य में प्रथम स्थान वाले को 50 हजार, द्वितीय को 35 हजार व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले को 25 हजार की ईनामी राशि प्रदान की जाएगी।

खाद्य पदार्थों की जांच, लापरवाही करने वालों पर कार्यवाही

News

उदयपुर, 14 अक्टूबर/दीपावली के पर्व के मद्देनजर शहरवासियों के स्वास्थ्य को दृष्टिगत रखते हुए चिकित्सा विभाग की ओर से सघन अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत शहर के प्रमुख खाद्य प्रतिष्ठानों, मिष्ठान भण्डारों एवं अन्य दुकानों पर मानव उपयोगार्थ खाद्य पदार्थों की गुणवत्ता की जांच की जा रही है।
इसी कड़ी में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ दिनेश खराड़ी के नेतृत्व में खाद्य सुरक्षा अधिकारी आनंद चौधरी मय टीम शहर के देहलीगेड व मण्डी क्षेत्र की विभिन्न प्रतिष्ठानों पर छापा मारा और खाद्य पदार्थों का सेम्पल लिया। इसमें नाकोड़ा एजेंसी पर फुड लाइसेंस नहीं था जिसके खिलाफ कार्यवाही करके लाइसेंस बनाने की चेतावनी दी गई। इस मौके पर गुलकंद की सेम्पलिंग की गई। इसी प्रकार कई प्रतिष्ठानों पर पनीर के सेम्पल लेकर नियमानुसार कार्यवाही की गई।

उदयपुर पुस्तक मेले का तीसरा दिन मुशायरे व कवि सम्मेलन ने जमाया रंग

News

उदयपुर, 14 अक्टूबर/ जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग और नेशनल बुक ट्रस्ट की ओर से महात्मा गांधी की 150 वी जयंती के उपलक्ष में शहर के बीएन कॉलेज मैदान में आयोजित उदयपुर पुस्तक मेले का तीसरे दिन मुशायरा व कवि सम्मेलन का आयोजन हुआ।
जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग की अतिरिक्त आयुक्त अंजली राजोरिया ने बताया कि इस मौके पर ख्यातनाम कवि, शायर एवं साहित्यकार अर्जुन देव चारण, जयप्रकाश पण्ड्या ज्योति पुंज, आबिद अदीब, इकबाल सागर, डा प्रेम भंडारी, कविता किरण, मुश्ताक चंचल, किशन दाधीच, प्रमोद रामावत, रंजन महापात्रा, डॉ सरवत खान कुसुम अग्रवाल, स्वाति सुकून, आशा पांडेय ने अपनी रचनाओं से सभी का ध्यान आकर्षित किया।
कवि सम्मेलन में अर्जुनदेव चारण ने गांधीजी के नमक आंदोलन सत्याग्रह पर राजस्थानी भाषा में रचित “लूण“ कविता प्रस्तुत की, वहीं ज्योति पुंज ने “गांधी के उपवास की वर्तमान स्थिति“ पर प्रकाश डाला। कविता किरण ने पुरूष के समक्ष स्त्री की अस्मिता एवं वर्तमान समय की स्त्री विषय पर काव्य पाठ किया। श्री महापात्रा ने बदनाम बस्ती विषय पर कविता पाठ किया। साथ ही अन्य कवियों ने भी काव्य पाठ एवं मुशायरे के माध्यम से वर्तमान परिपेक्ष्य के विभिन्न पहलुओं बताएं।
वहीं संध्याकाल में शहर के विभिन्न राजकीय एवं निजी वि़द्यालय के विद्यार्थियों की ओर से सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी हुआ।
इस अवसर पर विभाग के निदेशक (सांख्यिकी) बाबूलाल कटारा, शिक्षा अधिकारी प्रदीप पानेरी व तकनीकी अधिकारी के.डी.शर्मा सहित अन्य अधिकारी व एनबीटी के प्रतिनिधि मौजूद थे।
आज बाल साहित्य पर होगी चर्चा
उदयपुर पुस्तक मेले के चौथे दिन मंगलवार को बाल साहित्यकारों द्वारा बाल साहित्य पर एवं विभिन्न विषय विशेषज्ञों द्वारा साहित्य में मीडिया विषय में चर्चा की जाएगी।
--000--

कलक्टर ने ली विभागीय समीक्षा बैठक निर्दिष्ट कार्यों को पूर्ण करावें, लापरवाही पर कार्यवाही हो

News

उदयपुर, 14 अक्टूबर/जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी ने समस्त विभागीय अधिकारियों को कहा है कि विभागीय समीक्षा बैठक में लंबित प्रकरणों, शिकायतों व समस्याओं पर दिए गए निर्देशों की अक्षरशः अनुपालना करें और इसमें लापरवाही बरतने वाले कार्मिकों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जावें।  
कलक्टर श्रीमती आनंदी सोमवार को विभागीय साप्ताहिक समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए विभागीय अधिकारियों को संबोधित कर रही थीं। बैठक में एडीएम (सिटी) संजय कुमार, जिला परिषद एसीईओ मेघराज मीणा सहित समस्त संबंधित विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।
दिपावली पूर्व सड़कों की मरम्मत हो:
बैठक में कलक्टर ने यूआईटी, नगरनिगम और पीडब्ल्यूडी को सड़कों की मरम्मत के कार्य को गंभीरता से लेने के निर्देश दिए और कहा कि हर हाल में दिपावली से पूर्व सड़कों की मरम्मत पूर्ण कर ली जावें। उन्होंने मरम्मत कार्य पूर्ण गुणवत्ता से करने के लिए निर्देश दिए और  कहा कि प्रशासन द्वारा सड़कों की सर्वे के लिए लगाए गए मॉनिटर ही कार्य पूर्ण होने के बाद इनकी जांच कर गुणवत्ता व कार्य पूर्णता की पुष्टि करेंगे।  
संयुक्त जांच दल गठन कर जांच करने के निर्देश
बैठक में कलक्टर ने टीएडी के अधीन कोटड़ा में शिक्षक आवास के निर्माण के बारे में जानकारी ली। टीएडी परियोजना अधिकारी गीतेश श्रीमालवीय ने इसकी दिवारो ंमें सीपेज व गुणवत्ताहीन निर्माण की जानकारी दी। कलक्टर ने इसे गंभीरता से लिया एवं सार्वजनिक निर्माण विभाग के एसई को टीएडी व पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों का संयुक्त जांच दल बनाकर जांच करवाने व कार्यवाही के निर्देश दिए।
रोड कटिंग की सूचना देने को कहा
बैठक में कलक्टर ने पीएचीईडी के एसई से शहर में पेयजल लाईनों की शिफ्टिंग के लिए रोड कटिंग की अनुमति लेने के बारे में जानकारी ली पूर्ण जानकारी न होने पर नाराजगी जताई। उन्होंने एसई को निर्देश दिए कि शहर के समस्त मार्गोंे पर रोड कटिंग की आवश्यकता वाले स्थानों की सूची यूआईटी व नगर निगम को पहले से उपलब्ध करायें ताकि सड़कों की मरम्मत व निर्माण के बाद रोड कटिंग की आवश्यकता न पड़े।
जलापूर्ति के मामलों को गंभीरता से ले
कलक्टर ने पीएचईडी के अधिकारियों को शहर की विभिन्न कॉलोनियों में जलापूर्ति के संबंध में आई शिकायतों की एक-एक कर समीक्षा की और कहा कि विभागीय अधिकारी इन शिकायतों को गंभीरता से ले तथा मॉनिटरिंग करते हुए इनका त्वरित निस्तारण करें। उन्होंने इस दौरान शहर में 16 नलकूप निर्माण, 13 नवीन पेयजल लाइन कार्य तथा टीएडी के माध्यम से जनता जल योजनाओं की स्वीकृति के कार्यों की भी समीक्षा की और इनकी प्रगति के बारे में पूछा।
पेचवर्क संबंधी समस्या न आवे:
कलक्टर ने पीडब्ल्यूडी के अधीक्षण अभियंता से क्षतिग्रस्त सड़कों पर पेचवर्क के कार्यों की प्रगति के बारे में जानकारी ली और इनकों गुणवत्तायुक्त करने के लिए पाबंद करते हुए कहा कि भविष्य में इस संबंध में काई शिकायत न आए, यह सुनिश्चित करें।
चिकित्सा विभागीय प्रकरणों की समीक्षा
बैठक के दौरान कलक्टर ने चिकित्सा विभाग द्वारा माइन्सों में चिकित्सा शिविरों के आयोजन, सायरा में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र की मरम्मत, विभिन्न चिकित्सा स्वास्थ्य केन्द्रों में चिकित्सा सुविधाओं की उपलब्धता, क्षय रोगियों की पहचान व उपचार, पीएचसी भीण्डर में निःशुल्क दवाएं नहीं मिलने, विभिन्न पीएचसी में चिकित्सक लगाने सहित कई महत्वपूर्ण प्रकरणों में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी से जानकारी ली और कार्यवाही को कहा।
वार्डनों के कार्यभार ग्रहण नहीं करने पर जताई नाराजगी
बैठक में कलक्टर ने शिक्षा विभाग द्वारा विभिन्न निर्माण कार्यों में भूमि संबंधित विवादों को हल करके निर्माण करवाने के निर्देश दिए। कलक्टर ने स्वीकृत छात्रवृत्ति के प्रकरणों में लाभान्वितों को तत्काल छात्रवृत्ति देने के निर्देश दिए। इसी प्रकार उन्होंने छात्रावासों में नवचयनित वार्डन तथा अतिरिक्त कार्यभार देने वाले शिक्षकों के कार्यभार ग्रहण नहीं करने पर भी नाराजगी जताई और शिक्षा विभाग के संयुक्त निदेशक को निर्देश दिए कि मंगलवार को 12 बजे तक हर हाल में वार्डन व शिक्षक कार्यमुक्त होकर छात्रावास में कार्यग्रहण कर लें यह सुनिश्चित किया जावे। यदि वे ऐसा नहीं करते है तो उनके विरूद्ध कार्यवाही करें। इस दौरान उन्होंने निरीक्षण दौरान बार-बार अनुपस्थित पाए जाने वाले वार्डन के विरूद्ध चार्जशीट व निलंबन के प्रस्ताव भेजने के लिए टीएडी व सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए।  
इन विषयों पर भी दिए निर्देश
बैठक दौरान कलक्टर ने सेमारी में जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग के नवनिर्मित हॉस्टल भवन को जल्द से जल्द शुरू करने, पशुपालन विभाग के वर्ष 18-19 में स्वीकृत पशु चिकित्सालयों के निर्माण करवाने, विद्युत विभाग में बिजली लाइनों के रखरखाव व नवीन स्थापना के कार्यों को पूर्ण करवाने, मॉडल स्कूल खेरवाड़ा में बीच में गुजर रही बिजली लाइन हटाने, बिजली दुर्घटना में पीडि़तांे का लाभ दिलाने के लिए संबंधित विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए।

अनुजा निगम की ओर से ओबीसी वर्ग के लिए ऋण आवेदन 31 तक

उदयपुर, 14 अक्टूबर/अनुजा निगम की ओर से जिले के अन्य पिछड़ा वर्ग के व्यक्तियों के लिए सावधि ऋण, लघु व्यवसाय ग्रामीण, लघु व्यवसाय शहरी, डेयरी, शिक्षा ऋण, न्यू स्वर्णिमा योजना महिलाओं के लिए, माइक्रों फाइनेन्स, महिला समृद्धि योजनान्तर्गत एवं कृषि आधारित लघु व्यवसाय हेतु रियायती ब्याज दर पर इच्छुक प्रार्थियो से ऋण आवेदन ऑनलाईन आंमत्रित किये गये हैं। आवेदन आवेदन की तिथि 31 अक्टूबर तक निर्धारित की गई है।
अनुजा निगम के परियोजना प्रबंधक प्रफुल्ल चन्द्र चौबीसा ने बताया कि आवेदक उदयपुर जिले का मूल निवासी हो जिसकी उम्र 18 से 60 वर्ष तक के मध्य हो। आवेदक किसी ऋणदात्री संस्था का ऋणी नही होना चाहियें।(स्वघोषणा लगानी होगी)
आवेदक द्वारा ऋण आवेदन पत्र के साथ दस्तावेज स्केन कर लगाने होगें। जाति प्रमाण पत्र, आवेदक के आधार कार्ड की प्रति (भामाशाह फार्म से सत्यापन), स्वघोषित/सत्यापित वार्षिक आय प्रमाण पत्र हेतु 3 लाख रुपये वार्षिक आय तय है।

राज्यपाल उदयपुर आकर जयपुर गए

News

उदयपुर, 15 अक्टूबर/राजस्थान के राज्यपाल श्री कलराज मिश्र मंगलवार सुबह विशेष विमान से उदयपुर के डबोक स्थित एयरपोर्ट पहुंचे।
संभागीय आयुक्त विकास सीतारामजी भाले, पुलिस महानिरीक्षक श्रीमती बिनिता ठाकुर, जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी, जिला पुलिस अधीक्षक कैलाश चन्द्र विश्नोई के साथ ही महापौर चन्द्रसिंह कोठारी, मोहनलाल सुखाडिया विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.जे.पी.शर्मा आदि ने भी स्वागत किया। यहां से राज्यपाल श्री मिश्र बीएन कॉलेज पहुंचे, जहां उन्होंने महात्मा गांधी के 150वें जयंती वर्ष पर राष्ट्रीय स्तर की मल्टीमीडिया डिजिटल प्रदर्शनी का शुभारंभ किया। कार्यक्रम के पश्चात वे पुनः एयरपोर्ट पहुंचकर विशेष विमान से जयपुर प्रस्थान कर गए।

महात्मा गांधी का 150वां जयंती वर्ष राज्यपाल ने उदयपुर में किया मल्टीमीडिया डिजिटल प्रदर्शनी का शुभारंभ गांधीजी के विचार आज भी प्रासंगिक: राज्यपाल

News

उदयपुर, 15 अक्टूबर/प्रदेश के राज्यपाल माननीय श्री कलराज मिश्र ने कहा है कि गांधीजी संपूर्ण विश्व के लिए प्रेरणा के स्त्रोत हैं, उनके विचार आज भी प्रासंगिक है और यदि हम इनको आत्मसात करें तो देश को आगे ले जाकर पुनः विश्वगुरु बना सकते हैं।  
राज्यपाल श्री मिश्र मंगलवार को उदयपुर में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय भारत सरकार के प्रादेशिक लोक संपर्क ब्यूरो, जयपुर द्वारा महात्मा गांधी के 150वें जयंती वर्ष के उपलक्ष में भूपाल नोबल्स विश्वविद्यालय पीजी कॉलेज परिसर में आयोजित राष्ट्रीय स्तर की मल्टीमीडिया डिजिटल प्रदर्शनी के शुभारंभ उपरांत आयोजित समारोह में बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे।
इस मौके पर उन्होंने मल्टीमीडिया प्रदर्शनी को आधुनिक तकनीक के सहारे गांधीजी के वैश्विक विचारों को आमजन तक पहुुंचाने का सशक्त माध्यम बताया और कहा कि गांधीजी ऐसे व्यक्ति थे जिनके रोम-रोम में भारतीयता थी, देशभक्ति आत्मसात थी। सत्य, अहिंसा जैसे नैतिक मूल्यों और सत्याग्रह के सहारे बिना किसी उपद्रव के सहारे अनशन से ऐसा माहौल पैदा किया कि अंग्रेज भी किंकर्त्तव्यविमूढ़ हो गए। उन्होंने स्वदेशी को अपनाया और कुटीर उद्योग के प्रतीक चरखा, तकली, सूत के सहारे जनमानस को तैयार किया। गांधीजी के अनुसार वास्तविक लोकतंत्र गांवों में विकसित होता है और इसी पर उन्होंने ग्राम स्वराज्य पर जोर दिया जिसकी आज भी आवश्यकता है।
राज्यपाल ने गांधीजी के आत्मानुशासन के मंत्र को उद्घाटित किया और कहा कि यदि समाज से उद्दण्डता मिटानी है, समाज को नियंत्रित करना है तो आत्मानुशासन को अपनाना होगा। उन्होंने ‘अष्टादश पुराणेषु व्यासस्य वचनद्वय, परोपकाराय पुण्याय, पापाय परपीड़नम्’ श्लोक सुनाते हुए परोपकार को अपनाने की सीख दी। इसे व्यक्तिगत जीवन में अपनाकर सामूहिक जीवन में ले जाने को भी कहा।  
राज्यपाल ने कहा कि गांधीजी ने कहा था स्वावलंबी बनो। खुद का काम खुद करो। गांवों में कच्चे माल से आम जरूरत की छोटी-छोटी चीजों का निर्माण कर सकते हैं तो बेरोजगारों को रोजगार मिलेगा। खादी ग्रामोद्योग उसी का जीवंत प्रतीक है। इन उद्योगों के सहारे हम रोजगार देने वाले बने, हाथ फैलाने वाले नहीं। उन्होंने कहा कि आज सरकार स्टार्टअप के सहारे नौजवानों के लिए रोजगार की राह दिखा रही हैै। छोटे-छोटे नवाचारों को बल दिया जा रहा है। यह आज की आवश्यकता है और यहीं गांधीजी की भी कल्पना है।
राज्यपाल ने कहा कि गांधीजी स्वच्छता के पक्षधर थे। वे मानते थे कि स्वच्छता ही स्वस्थ जीवन का आधार है और इसे जीवन में अपनाकर आगे बढ़ा जा सकता है। इन दिनों गांधीजी का यहीं स्वच्छता अभियान देश-दुनिया की रग-रग में चढ़ चुका है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने इसे अपनाकर आदर्श प्रस्तुत किया है। गांधी के इसी आदर्श के सहारे स्वच्छ व स्वस्थ भारत दुनिया के सामने उभर कर आ रहा है।
इस मौके पर उन्होंने गांधीजी के सांप्रदायिक सद्भाव, सामाजिक समरसता, नैतिकता युक्त जीवन, स्वभाषा का सम्मान छुआछूत उन्मूलन सहित कई आदर्शों का स्मरण करते हुए इनसे समाज को सीख लेने की अपील की।
समारोह में उदयपुर सांसद अर्जुनलाल मीणा, बांसवाड़ा सांसद कनकमल कटारा और उदयपुर नगरनिगम महापौर चंद्रसिंह कोठारी बतौर विशिष्ट अतिथि मंचासीन थे। समारोह में स्वागत उद्बोधन  बीएन कॉलेज के गुणवंतसिंह झाला ने दिया। पत्र सूचना कार्यालय, मध्यक्षेत्र, मुंबई के महानिदेशक आर.एन.मिश्रा ने प्रदर्शनी की विषयवस्तु तथा प्रादेशिक लोक संपर्क ब्यूरो जयपुर की निदेशक श्रीमती ऋतु शुक्ला ने जलयोद्धा कार्यक्रम के बारे में जानकारी प्रदान की। समारोह को सांसद अर्जुनलाल मीणा ने भी संबोधित किया और महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती पर हो रहे कार्यक्रमों के बारे में बताया। समारोह के अंत में पत्र सूचना कार्यालय जयपुर की अपर महानिदेशक डॉ प्रज्ञा पालीवाल गौड़ ने आभार व्यक्त किया।
जलयोद्धाओं का सम्मान, डाक कवर का विमोचन  
समारोह में जलयोद्धा कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए राज्यपाल श्री मिश्र ने पांच जलयोद्धाओं को भी सम्मानित किया। इसी प्रकार राज्यपाल श्री मिश्र ने भारतीय डाक विभाग की ओर से सांप्रदायिक सद्भाव थीम पर तैयार किए गए विशेष डाक कवर का भी विमोचन किया।
मल्टीमीडिया डिजिटल प्रदर्शन का किया उद्घाटन:
इससे पूर्व राज्यपाल श्री मिश्र ने कॉलेज परिसर में गांधी के विचारों व आदर्शों पर आधारित प्रदर्शनी पांच दिवसीय मल्टीमीडिया डिजिटल प्रदर्शनी का फीता काटकर शुभारंभ किया। इस दौरान उन्होंने गांधीजी की प्रतिमा के समक्ष दीप प्रज्वलन किया। यहां उन्होंने डिजीटल रजिस्ट्रेशन के उपरांत विश्व के प्रमुख लोगों द्वारा गाँधीजी के बारे में व्यक्त विचार वक्तव्यों को भी सुना और गांधीजी के विचार व सम्पूर्ण जीवन की उपलब्धियों पर विभिन्न एलईडी पर प्रदर्शित की जा रही फिल्मों को भी देखा। प्रदर्शनी में उन्होंने स्वच्छता पर आधारित “सारे गाँव स्वच्छ रहे“ फिल्म के प्रदर्शन तथा गांधीजी की विभिन्न स्थानों में स्थापित मूर्तियांे की डिजिटल झलक पाकर प्रसन्नता व्यक्त की। महानिदेशक आर.एन.मिश्रा, अपर महानिदेशक डॉ. प्रज्ञा पालीवाल गौड़ व निदेशक श्रीमती ऋतु शुक्ला ने प्रदर्शनी का अवलोकन कराया। इस अवसर पर संभागीय आयुक्त विकास सीतारामजी भाले, पुलिस महानिरीक्षक श्रीमती बिनिता ठाकुर, जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी, जिला पुलिस अधीक्षक कैलाश चन्द्र विश्नोई, मोहनलाल सुखाडिया विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.जे.पी.शर्मा आदि मौजूद रहे।

बीसूका बैठक 21 को

उदयपुर, 15 अक्टूबर/बीस सूत्री कार्यक्रम आयोजन, क्रियान्वयन एवं समन्वय की जिला स्तरीय (द्वितीय स्तर) समिति की बैठक सोमवार 21 अक्टूबर को सायं 5 बजे जिला कलक्टर श्रीमती आनन्दी की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित होगी। यह जानकारी मुख्य आयोजना अधिकारी पुनीत शर्मा ने दी।

उदयपुर में राज्य स्तरीय आरोग्य मेला 19 अक्टूबर से
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा करेंगे उद्घाटन  

उदयपुर, 15 अक्टूबर/राज्य सरकार के आयुर्वेद एवं भारतीय चिकित्सा विभाग की ओर से राज्य स्तरीय आरोग्य मेले का आयोजन 19 से 22 अक्टूबर तक उदयपुर के राजकीय फतह उच्च माध्यमिक विद्यालय में होगा। मेले का शुभारंभ 19 अक्टूबर को अपराह्न 3 बजे प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य व आयुर्वेद मंत्री डॉ. रघु शर्मा करेंगे। इस मेले में आयुर्वेद, योग व प्राकृतिक, यूनानी व होम्योपैथी चिकित्सा पद्धति से आमजन को स्वास्थ्य लाभ प्रदान किया जाएगा।
नोडल अधिकारी एवं अतिरिक्त निदेशक डॉ. आनन्द कुमार शर्मा ने बताया कि देश में आयुर्वेदिक दवाइयां बनाने वाली 50 बड़ी कम्पनियां मेले में स्टॉल लगाकर आमजन को इनकी जानकारी प्रदान कर कम दर पर दवाइयां उपलब्ध कराएंगी। मेले में केन्द्रीय योग संस्थान राजस्थान एवं प्लान्टेशन बोर्ड का भी प्रतिनिधित्व रहेगा। मेले में आयुर्वेदिक, होम्योपैथिक, यूनानी, पंचकर्म, योग प्राकृतिक विधाओं से उपचार किया जाएगा। इस अवसर पर औषधीय पादपों की प्रदर्शनी के साथ ही आयुर्वेद आधारित पुस्तकों की प्रदर्शनी भी आयोजित की जाएगी।
मेले का आकर्षण
विभाग के अतिरिक्त निदेशक एवं सहायक नोडल अधिकारी बाबूलाल जैन ने बताया कि मेले में विशेषज्ञों द्वारा योग क्रियाओं का प्रदर्शन एवं विभिन्न रोगों के लिए व्यक्तिगत योग निर्देशन, आयुष औषधियों, जड़ी-बूटी उत्पादों व औषधीय पादपों का प्रदर्शन एवं बिक्री, विशेषज्ञों द्वारा स्वास्थ्य संबंधी विषयों पर व्याख्यान, न्यूरोथैरेपी द्वारा जोडों का दर्द, साइटिका आदि का उपचार, स्वास्थ्य संरक्षण एवं संवर्द्धन उपायों का प्रदर्शन, पंचकर्म व क्षारसूत्र चिकित्सा की जानकारी, हर्बल औषधियों द्वारा सौंदर्य प्रसाधन, आयुष पुस्तकों की प्रदर्शनी व बिक्री, मर्म चिकित्सा द्वारा वेदना का उपचार, विशेषज्ञों द्वारा चिकित्सा परामर्श, निःशुल्क औषध वितरण, स्वास्थ्य परीक्षण व नाड़ी परीक्षण आदि मेले के प्रमुख आकर्षण होंगे।

17 बालिकाओं को साइकिल वितरित

News

उदयपुर, 17 अक्टूबर/राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय मानपुर-ए (झल्लारा) में साइकिल वितरण कार्यक्रम आयोजित हुआ। कार्यक्रम में 17 बालिकाओं को साइकिल वितरित की गई। इस अवसर पर सरपंच  रामलाल मीणा, समाजसेवी भेरा भाई मीणा, प्रधानाचार्य मोहनलाल जैन, भैरुसिंह चौहान, मानसिंह, गणपत कटारा, बापूलाल मीणा, सुनील लडोती उपस्थित रहे। संचालन केशवलाल मीणा ने किया।

उदयपुर में राज्य स्तरीय आरोग्य मेला 19 अक्टूबर से चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा करेंगे उद्घाटन आयुर्वेद, योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा, यूनानी, सिद्धा एवं होम्यापैथी चिकित्सा से होगा उपचार, प्रदर्शनी, व्याख्यान मालाओं के साथ होंगे विविध आयोजन

News

उदयपुर, 17 अक्टूबर/राज्य सरकार के आयुर्वेद एवं भारतीय चिकित्सा विभाग की ओर से राज्य स्तरीय आरोग्य मेले का आयोजन 19 से 22 अक्टूबर तक उदयपुर के राजकीय फतह उच्च माध्यमिक विद्यालय में होगा। मेले का शुभारंभ 19 अक्टूबर को अपराह्न 3 बजे प्रदेश के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य व आयुर्वेद मंत्री डॉ. रघु शर्मा करेंगे।
राज्य स्तरीय मेले के वृहद स्तरीय आयोजन, विभिन्न गतिविधियों एवं उपचार पद्धतियों की जानकारी देने के लिए गुरुवार को मेले के नोडल अधिकारी एवं अतिरिक्त निदेशक डॉ. आनन्द कुमार शर्मा ने प्रेस वार्ता को संबोधित किया। इस अवसर पर विभाग के अतिरिक्त निदेशक एवं सहायक नोडल अधिकारी बाबूलाल जैन, जनसम्पर्क उपनिदेशक कमलेश शर्मा, मेला समन्वयक डॉ. शोभालाल औदिच्य, मुकेश कटारा, अशोक मित्तल व डॉ. राजकुमार पारीख, डॉ. विनोद कुमार शर्मा मौजूद थे।
डॉ. शर्मा ने बताया कि आयुष (आयुर्वेद, योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा, यूनानी, सिद्धा एवं होम्यापैथी चिकित्सा) में सूचना, शिक्षा एवं संप्रेषण के अन्तर्गत विगत वर्षों से आयुर्वेद एवं भारतीय चिकित्सा विभाग, राजस्थान-सरकार द्वारा राज्य के बड़े शहरों में राष्ट्रीय एवं राज्य स्तरीय आरोग्य मेलों का आयोजन किया जाता रहा है। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय स्तर का आरोग्य मेला, जयपुर में तथा राज्य स्तरीय आरोग्य मेला उदयपुर, जोधपुर, बीकानेर, भरतपुर एवं अजमेर में आयोजित हो चुके हैं। इसी क्रम में राज्य स्तरीय आरोग्य मेला पुनः झीलों की नगरी, उदयपुर में राजकीय फतह सीनियर सैकण्डरी स्कूल के मैदान में आयोजित किया जा रहा है। मेला प्रतिदिन प्रातः 11 बजे से रात्रि 8 बजे तक आयोजित किया जाएगा।
आरोग्य मेले के आयोजन का उद्देश्य
उन्होंने बताया कि इस वृहद स्तरीय मेले का उद्देश्य “स्वास्थ्य सबके लिए’’ लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सस्ती, सरल एवं सुलभ आयुष चिकित्सा पद्धति की प्रभावशीलता के बारे में नागरिकों में जागरूकता उत्पन्न करना, आयुष पद्धति से जुडे़ हुए लोगों के ज्ञान एवं अनुभव को साझा करने के लिए उचित मंच उपलब्ध कराना, आयुष पद्धतियों में हुए अनुसंधानों से प्राप्त सफल परिणामों को प्रदर्शित करना एवं विभिन्न दृश्य-श्रव्य माध्यमों से सामान्य रोगों से बचाव व उपचार में प्रयुक्त औषधियों व समुचित आहार-विहार की जानकारी प्रदान करना है।
आयुष पद्धतियों के विशेषज्ञों द्वारा निःशुल्क चिकित्सा परामर्श एवं उपचार
डॉ. शर्मा ने बताया कि मेले में प्रतिदिन आयुर्वेद, होम्योपैथी, यूनानी पद्धतियों द्वारा निःशुल्क चिकित्सा परामर्श, उपचार एवं औषध वितरण किया जाएगा। चिकित्सा विशेषज्ञों द्वारा आयुर्वेद की विशिष्ट चिकित्सा पंचकर्म के द्वारा जोड़ व कमर दर्द तथा वात आदि रोगों के लिए परामर्श व उपचार, शरीर में होने वाले विभिन्न दर्दों के निवारण हेतु विशेष क्लिनिक (न्यूरो थेरेपी) के द्वारा रोगियों का विशेषज्ञों द्वारा उपचार, कपिंग थेरेपी के तहत यूनानी पद्धति की विशेष विधा द्वारा त्वचा व रक्त संबंधी विकारों का उपचार, विशेषज्ञों द्वारा होम्योपैथी चिकित्सा विधा द्वारा रोगियों का उपचार, योग विशेषज्ञों द्वारा विभिन्न रोगों में लाभकारी योगासनों के बारे में परामर्श प्रदान किया जाएगा एवं योगिक क्रियाओं का अभ्यास, सौंदर्य विशेषज्ञांे द्वारा आयुर्वेद की विशिष्ट परम्परागत विधियों से सौंदर्य क्लिनिक के माध्यम से सौंदर्य समस्याओ का घरेलु एवं प्राकृतिक साधनों द्वारा सौंदर्य बनाये रखने के जानकारी प्रदान की जाएगी एवं उपचार किया जाएगा।
स्वर्णप्राशन संस्कार रहेगा मुख्य आकर्षण
उन्होंने बताया कि मेले के दौरान स्वर्णप्राशन संस्कार मुख्य आकर्षण का केन्द्र रहेगा। इसके तहत मेले में आने वाले 0 से 16 वर्ष तक के बच्चों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए निःशुल्क स्वर्ण प्राशन कराया जाएगा।
भारत सरकार द्वारा संचालित आयुष संस्थानों की गतिविधियों का प्रदर्शन
डॉ. शर्मा ने बताया कि मेला स्थल पर केन्द्र सरकार के केन्द्रीय आयुर्वेदीय विज्ञान अनुसंधान परिषद् द्वारा आयुर्वेद क्षेत्र में हो रहे नवीनतम अनुसंधानों एवं विकास की गतिविधियों के प्रदर्शन के साथ परामर्श दिया जाएगा। केन्द्रीय होम्योपैथी अनुसंधान परिषद् द्वारा होम्योपैथी क्षेत्र में हो रहे नवीनतम अनुसंधानों एवं विकास की गतिविधियों का प्रदर्शन किया जाएगा एवं परामर्श दिया जाएगा। केन्द्रीय यूनानी चिकित्सा अनुसंधान परिषद् द्वारा यूनानी क्षेत्र में हो रहे नवीनतम अनुसंधानों एवं विकास की गतिविधियों का प्रदर्शन किया जाएगा एवं परामर्श दिया जाएगा। केन्द्रीय योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा अनुसंधान परिषद द्वारा योग क्षेत्र में हो रहे नवीनतम अनुसंधानों एवं विकास की गतिविधियों का प्रदर्शन किया जाएगा एवं परामर्श दिया जाएगा। राष्ट्रीय औषध पादप मंडल द्वारा आयुष क्षेत्र में हो रहे नवीनतम अनुसंधानों एवं विकास की गतिविधियों का प्रदर्शन किया जाएगा एवं परामर्श दिया जाएगा। राष्ट्रीय आयुर्वेद संस्थान, जयपुर के विशेषज्ञों द्वारा आमजनों को परामर्श एवं उपचार दिया जाएगा।
राज्य सरकार द्वारा संचालित आयुष संस्थानों की गतिविधियों का प्रदर्शन
मेला स्थल पर राजस्थान आयुर्वेद विश्वविद्यालय, जोधपुर द्वारा आयुष शिक्षा के क्षेत्र में उपलब्ध अवसरों का प्रदर्शन किया जाएगा। जिसके अन्तर्गत आयुर्वेद, होम्योपैथी, यूनानी, योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा के डिग्री एवं डिप्लोमा हेतु पाठ्यक्रमों में प्रवेश प्रक्रिया की जानकारी प्रदान की जाएगी। आयुर्वेद निदेशालय के द्वारा राज्य में संचालित जिला चिकित्सालयों, चिकत्सालयों एवं औषधालयों में प्रदŸा सेवाओं की जानकारी का प्रदर्शन किया जाएगा। होम्योपैथी निदेशालय के द्वारा राज्य में संचालित जिला चिकित्सालयों, चिकत्सालयों एवं औषधालयों में प्रदŸा सेवाओं की जानकारी का प्रदर्शन किया जाएगा।
यूनानी निदेशालय के द्वारा राज्य में संचालित जिला चिकित्सालयों, चिकित्सालयों एवं औषधालयों में प्रदŸा सेवाओं की जानकारी का प्रदर्शन किया जाएगा। राज्य औषध पादप मंडल द्वारा राजस्थान में उगने वाले औषधीय पादपों (हर्बल प्लांट्स) का प्रदर्शन, उनकी पहचान एवं औषधीय महŸव की जड़ी-बूटियों द्वारा घरेलु उपचार की जानकारी व विक्रय किया जाएगा। साथ ही जड़ी-बूटियों की कृषि, हर्बल गार्डन विकसितीकरण व उनसे सम्बन्धित सरकारी सुविधाओं एवं सब्सिडी आदि की जानकारी प्रदान की जाएगी तथा औषधीय पादप न्यूनतम दर बिक्री के लिए उपलब्ध रहेंगे।
आयुष उत्पादो व सेवाओं का प्रदर्शन
मेले के दौरान 60 स्टॉल्स के माध्यम से  आयुर्वेद ,होम्योपैथी व यूनानी चिकित्सा क्षेत्र के विभिन्न निर्माताओं व संस्थाओं के द्वारा अपने नवीनतम आयुष उत्पादों व सेवाओं का प्रदर्शन किया जाएगा। जिसमें प्रसिद्ध निर्माता कम्पनियों द्वारा आयुष व आरोग्य से सम्बन्धित पुस्तक विक्रेताओं, साहित्य प्रकाशकों, आयुष औषध निर्माताओं, प्रेक्टिशनर्स, अनुसंधान संस्थानों, हॉस्पीटल व सर्जिकल उपकरण निर्माताओं, योग व प्राकृतिक चिकित्सा उपकरण निर्माताओं, पंचकर्म उपकरण निर्माताओं, आयुष ट्युरिज्म , औषधीय कृषकों, फार्मास्युटिकल मेकेनिज्म व तकनीकी प्रदाताओं, फूड सप्लीमेंट निर्माताओं के लिये भी अपनी सेवाओं  व उत्पादों का प्रदर्शन एवं विक्रय किया जाएगा।
व्याख्यान मालाएं
विशेषज्ञों द्वारा आयुर्वेद, होम्यापैथी व यूनानी चिकित्सा पद्धतियों के बारे में महŸवपूर्ण विषयों पर व्याख्यानों का आयोजन करके आयुष चिकित्सकों, नर्सिंग कर्मियों, विद्यार्थियों एवं स्वास्थ्य क्षेत्र से जुड़े स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं व आमजनों को लाभान्वित किया जाएगा। इसके अंतर्गत 19 को वर्तमान समय मे आयुष चिकित्सा पद्धतियो की उपयोगिता विषय पर , 20 को राजस्थान में पाये जाने वाले औषधीय पादपो का चिकित्सकीय महत्व, स्वास्थ्य संरक्षण में हितकर आहार की उपयोगिता व विभिन्न रोगो में होम्योपेथी चिकित्सा की उपयोगिता विषय पर, 21 को रसोईघर में उपलब्ध औषधियो का चिकित्सकीय महत्व, जोड़ो के दर्द में पंचकर्म चिकित्सा की उपयोगिता व पथरी रोग में यूनानी चिकित्सा विषय पर एवं 22 को जीवन शैली जनित रोग कारण एवं निवारण व वृद्धावस्था जनित रोगो में आयुर्वेद चिकित्सा की उपयोगिता विषय पर विभिन्न आयुर्वेद विशेषज्ञ व्याख्यान देंगे। इसके अतिरिक्त मेला स्थल पर प्रतिदिन प्रातः 7 से 8 बजे तक योग विशेषज्ञों द्वारा योगाभ्यास व सायं 7. बजे से 8 बजे तक विभिन्न प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन होगा।

राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस एवं जिला स्तरीय धन्वंतरी जयंती समारोह आज

उदयपुर 24 अक्टूबर/धन्वंतरी सप्ताह के अंतर्गत राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस एवं धन्वंतरी जयंती के अवसर पर जिला स्तरीय सम्मान समारोह का आयोजन तेरापंथी भवन नाईयो की तलाई में शुक्रवार 25 अक्टूबर को दोपहर 2 बजे होगा।
आयुर्वेद विभाग के उपनिदेशक पुष्कर लाल चौबीसा ने बताया कि आयुर्वेद के क्षेत्र में उल्लेखनीय सेवा देने वाले अधिकारी एवं कर्मचारियों का सम्मान किया जाएगा। साथ ही इस अवसर पर अमृता विषय पर संगोष्ठी का आयोजन किया जाएगा।
धन्वंतरी महोत्सव मनाया जाएगा
आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति के प्रणेता भगवान धन्वंतरी जयंती पर राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस के उपलक्ष्य में शुक्रवार 25 अक्टूबर सुबह 9 बजे सिंधी बाजार स्थित राजकीय आदर्श आयुर्वेद औषधालय में भगवान धन्वंतरी का आविर्भाव दिवस धूमधाम से मनाया जाएगा। औषधालय प्रभारी डॉ शोभालाल औदीच्य ने बताया कि अरावली क्षेत्र में पाई जाने वाली वनौषधियो एवं स्वस्थ जीवनशैली पर आधारित खान-पान के बारे में प्रदर्शनी का आगाज किया जाएगा।

रियायती ब्याज दर पर ऋण के लिए ऑनलाईन आवेदन 31 तक

उदयपुर, 24 अक्टूबर/राजस्थान अनुसूचित जाति, जनजाति वित्त विकास निगम जयपुर के निर्देशानुसार राष्ट्रीय निगम योजनाओं अन्तर्गत अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, सफाई कर्मचारी, दिव्यांगजन एवं अन्य पिछडा वर्ग के व्यक्तियों को रियायती ब्याज दर पर ऋण उपलब्ध कराये जाने हेतु 31 अक्टूबर तक ऑनलाईन आवेदन पत्र आमंत्रित किये गये है। आवेदक द्वारा आवेदन ऑनलाईन ई-मित्र या एसएसओ आईडी द्वारा स्वयं के स्तर पर आवेदन किया जा सकेगा।
अनुजा निगम के परियोजना प्रबंधक प्रफुल्ल चन्द्र चौबीसा ने बताया कि जिले के राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति योजनान्तर्गत 322, अनुसूचित जाति योजना के 118, सफाई कर्मचारी के 79, अन्य पिछडा वर्ग के 60 व 33 दिव्यांगजनों के ऋण हेतु आवेदन पत्र ऑनलाईन आंमत्रित किये गये है।
इसके लिए आवेदक उदयपुर जिले का मूल निवासी हो, जाति प्रमाण पत्र हो, उम्र 18 से 60 वर्ष तक के मध्य हो, आय प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा। आवेदक किसी ऋणदात्री संस्था का ऋणी नही होना चाहियें। इसकी स्वघोषणा लगानी होगी।
आवश्यक दस्तावेज
उन्होंने बताया कि आवेदक द्वारा ऋण आवेदन पत्र के साथ जाति प्रमाण पत्र, आवेदक के आधार कार्ड की प्रति (भामाशाह फार्म से सत्यापन), स्वघोषित/सत्यापित वार्षिक आय प्रमाण पत्र दस्तावेज स्केन करके लगाने होगें। सफाई कर्मचारी, दिव्यांगजन हेतु कोई आय सीमा नही अनुसूचित जाति व अन्य पिछडा वर्ग हेतु 3 लाख वार्षिक आय, अनुसूचित जनजाति हेतु शहरी क्षेत्र मे 1.20 लाख व ग्रामीण क्षेत्र के लिये 0.98 लाख वार्षिक आय तय की गई है।

उपार्जित अवकाश के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश जारी

उदयपुर, 24 उदयपुर/वित्त विभाग द्वारा जारी परिपत्र व पेंशन निदेशालय जयपुर के निर्देशानुसार उपार्जित अवकाश के नकदीकरण हेतु बजट आवंटित करने का कार्य पेंशन कार्यालय द्वारा किया जाएगा।
इसके लिए पेंशन एवं पेंशनर्स कल्याण विभाग के अतिरिक्त निदेशक ने समस्त आहरण वितरण अधिकारियों कांे इन निर्देशों की पालना में संबंधित विभागों द्वारा पेंशन विभाग को प्रेषित किए जाने वाले पेंशन प्रकरणों के साथ उपार्जित अवकाश के नकदीकरण हेतु बजट मॉग पत्र, पेंशनर्स एवं कार्यालय की आईडी अंकित करने को कहा है।
--000--
श्रमिकों के लिए शिक्षा व प्रशिक्षण विषय पर संगोष्ठी
उदयपुर, 24 उदयपुर/श्रम एवं रोजगार मंत्रालय (भारत सरकार) के अधीन दत्तोपंत ठेंगड़ी राष्ट्रीय श्रमिक शिक्षा एवं विकास बोर्ड, क्षेत्रीय निदेशालय, उदयपुर द्वारा रिलांयस कैमोटेक्स लिमिटेड उदयपुर में गुरुवार को क्षेत्रीय निदेशालय द्वारा श्रमिकों के लिए शिक्षा व प्रशिक्षण विषय पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया।
कार्यक्रम के अध्यक्ष मानव संसाधन विकास के प्रतिनिधि श्याम सुंदर सक्सेना ने श्रमिकों से आह्वान किया कि शिक्षित श्रमिक ही उद्योग एवं देश के विकास में सहयोगी हो सकते है। क्षेत्रीय निदेशक के.एस.यादव ने कम्पनी के प्रबंधक वर्ग के मानव संसाधन विकास के लिए की गई पहल का स्वागत किया तथा प्रतिमाह श्रमिकों के प्रशिक्षण द्वारा उद्योग में एक नई कार्य संस्कृति, संर्घश से सहयोग भावना विकसित करने के लिए प्रोत्साहित किया। इस अवसर पर संस्थान के उपाध्यक्ष एस.एस.सक्सेना को स्मृति चिंह प्रदान कर सम्मानित किया गया। आभार शिक्षा अधिकारी जे.जे.पटेल ने जताया।

जल वितरण कमेटी की बैठक 31 को

उदयपुर, 24 अक्टूबर/जिले के उदयसागर तथा वल्लभनगर बांध से वर्ष 2017-18 में रबी फसल की सिंचाई हेतु जल वितरण कमेटी की बैठक 31 अक्टूबर को आयोजित होगी।
जल संसाधन खण्ड उदयपुर के अधिशाषी अभियंता विनित शर्मा ने बताया कि उदयसागर बांध से होने वाली सिंचाई के संबंध में बैठक 31 अक्टूबर को सुबह 11 बजे उदयसागर बांध की पाल पर उपखण्ड अधिकारी गिर्वा की अध्यक्षता तथा वल्लभनगर बांध से संबंधी बैठक 31 अक्टूबर को अपराह्न 3 बजे रणछोडपुरा रेस्ट हाउस में उपखण्ड अधिकारी वल्लभनगर की अध्यक्षता में आयोजित होगी।

औद्योगिक प्रोत्साहन शिविर 31 को

उदयपुर, 24 अक्टूबर/राजस्थान वित्त निगम उदयपुर द्वारा औद्योगिक प्रोत्साहन शिविर 31 अक्टूबर को निगम शाखा के सभागार में प्रातः 11 बजे से 5 बजे तक आयोजित होगा जिसमे जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबन्धक, रीको के वरिष्ठ क्षेत्रीय प्रबन्धक, वित्त निगम के शाखा प्रबन्धक जी.सी. जैन का मार्गदर्शन प्राप्त होगा।
शिविर मे सभी एसोसियेसन के पदाधिकारियो एवं सदस्यो, निगम के गुड बोरोवर्स व ऋण प्राप्त करने वालो को आमंत्रित किया गया है।  शिविर मे निगम की विभिन्न ऋण योजनाओ की एवं विशेष रूप से नये उद्योग लगाने हेतु “युवा उध्यमिता प्रोत्साहन योजना” की जानकारी भी उपलब्ध करायी जायेगी जिसमे 7.50 प्रतिशत की प्रभावी ब्याज दर पर 1.50 करोड़ रुपये तक एवं इससे अधिक पर प्रचलित ब्याज दर पर अधिकतम 5 करोड़ रुपये तक का ऋण दिया जाता है। शिविर मे ऋण पत्रावलियां भी तैयार की जाकर स्वीकार की जाएगी।

 
 
 
 

खान विभाग की ऐतिहासिक सफलता
सम्पूर्ण राज्य में 200 खनिज भण्डारण पर एक साथ छापेमारी कार्यवाही
35 करोड रूपये का फर्जी स्टॉक की प्रविष्टियां उजागर,
176 करोड का अघोषित स्टॉक पकडा, कार्यवाही जारी

उदयपुर, 25 अक्टूबर/प्रदेश में धनतेरस पर खान विभाग द्वारा ऐतिहासिक कार्यवाही करते हुए 200 खनिज भण्डारण पर एक साथ कार्यवाही करते हुए 201 करोड रुपये की अनियमितताए पकड़ते हुए कार्यवाही की गई।
राज्य में ऑन लाईन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया 01 फरवरी से प्रारम्भ की गयी। वक्त रजिस्ट्रेशन भण्डारणकर्ताओ द्वारा स्वप्रमाणित खनिज की जो मात्रा का इन्द्राज किया गया उसे विभाग द्वारा बिना भौतिक सत्यापन के ही सही मान लिया गया। अभिवहन पास के माध्यम से राजस्व अपवंचना होने की प्राप्त शिकायतो को मद्देनजर रखते हुए शासन सचिव दिनेश कुमार के मार्गदर्शन में निदेशक, खान एवं भूविज्ञान विभाग गौरव गोयल द्वारा एडीशनल डारेक्टर अतिरिक्त निदेशक-खान (सतर्कता), उदयपुर श्री दीपक तंवर के साथ व्युरचना कर उनके नेतृत्व में सम्पूर्ण राजस्थान में अप्रधान खनिजो के प्रथम 200 खनिज भण्डारणो जिनकी भण्डारण क्षमता सबसे अधिक थी को प्रथम चरण में लिया जाकर भण्डारणकर्ता द्वारा ऑनलाईन पर दर्शाये गये स्वप्रमाणित आंकडो का सत्यापन मौके पर एक साथ सम्पूर्ण राज्य में आकस्मिक कार्यवाही के तौर पर बेहद सुनियोजित एवं गोपनीय तरीके से कार्यवाही को अंजाम दिया गया।
56 दलों का गठन, 25 जिलों में कार्यवाही
निदेशक गौरव गोयल ने बताया कि इस कार्यवाही में 56 दलो का रातो रात गठन किया गया जिनके द्वारा 25 जिलो के 34 कार्यालयो में स्थित 200 भण्डारणो में उपलब्ध खनिज की मात्रा का भौतिक सत्यापन करवाये जाने पर चौकाने वाले तथ्य प्राप्त हुए। अब तक प्राप्त 106 भण्डारणो की जांच रिपोर्ट के विश्लेषण में 10 भण्डारण स्थल जाली पाये गये, इन स्थलो पर ऑन लाईन आंकडो के अनुसार 9.80 लाख टन खनिज का भण्डारण किया जाना दर्शाया गया जबकि मौके पर किसी भी प्रकार का खनिज का भण्डारण नहीं मिला। ऑन लाईन आंकडो के अनुसार गणना करने पर 34.67 करोड रूपये की राजस्व की अपवंचना को चिन्हित कर लिया गया जिसकी विस्तृत जांच के निर्देश दे दिये गये है एवं इन सभी के ऑन लाईन अभिवहन पास जारी करने पर पूर्णतया पाबंदी लगा दी गयी है।
शेष खनिज भण्डारणो में ऑन लाईन पर दर्शाये गये स्टॉक से मौके पर 57.27 लाख टन खनिज की मात्रा अधिक पाई गई है जिसकी कीमत लगभग 176 करोड रूपये बनती है। इस प्रकार मात्र 106 भण्डारणो के विश्लेषण से ही विभाग द्वारा लगभग 201 करोड रूपये की राजस्व अपवंचना को उजागर किया है जिनके विरूद्व कठोर कार्यवाही करने का निर्णय लिया गया एवं इन सभी के अभिवहन पास जारी करने की प्रक्रिया को ऑनलाईन पर ब्लॉक कर दिया गया है। कार्यवाही में बीकानेर जिले में खनिज बजरी के चार स्टॉक धारको द्वारा 6.56 लाख टन खनिज बजरी का भण्डारण दर्शाया जबकि मौके पर एक टन बजरी भी नहीं पाई गयी है, यहां तक की इनमे से एक स्टॉक की लोकेशन बीकानेर शहर के मध्य, दूसरे की बूंदी जिले में एवं तीसरे की गुजरात राज्य में पाई गई, ये अभिवहन पास किस प्रकार जारी हो गये जिसकी विस्तृत जांच करवाई जायेगी तथा इस प्रकार की भविष्य में पुनरावृति न हो इस हेतु साफ्टवेयर में भी पर्याप्त सुधार करने का निर्णय लिया गया है। भविष्य में भी समय-समय पर इस प्रकार की कार्यवाहीं की जायेगी।

आदर्श आचार संहिता लागू

उदयपुर, 25 अक्टूबर/आसन्न निकाय चुनाव की घोषणा होते आदर्श आचार संहिता की घोषणा भी शुक्रवार शाम को हो गई। जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती आनंदी के निर्देश पर निगम क्षेत्र के सभी सरकारी कार्यालयों से राजनैतिक व्यक्तियों के तस्वीरें हटाने, सार्वजनिक सम्पत्तियों व निजी सम्पत्तियों से होर्डिंग्स, बैनर व पोस्टर्स हटाने का कार्य प्रारम्भ कर दिया गया है।

सुप्रीम कोर्ट के जज दिनेश माहेश्वरी 1 को उदयपुर आएंगे

उदयपुर, 25 अक्टूबर/सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस दिनेश माहेश्वरी 1 नवंबर की सायं 6.45 बजे वायुयान से उदयपुर आएंगे। वे 2 को सड़क मार्ग से चित्तौड़गढ़ जाएंगे। श्री माहेश्वरी 3 को सड़क मार्ग से पुनः उदयपुर आकर सायं 7.20 बजे वायुयान से दिल्ली प्रस्थान कर जाएंगे।

  सुप्रीम कोर्ट के जज दिनेश माहेश्वरी 1 को उदयपुर आएंगे

उदयपुर, 25 अक्टूबर/सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस दिनेश माहेश्वरी 1 नवंबर की सायं 6.45 बजे वायुयान से उदयपुर आएंगे। वे 2 को सड़क मार्ग से चित्तौड़गढ़ जाएंगे। श्री माहेश्वरी 3 को सड़क मार्ग से पुनः उदयपुर आकर सायं 7.20 बजे वायुयान से दिल्ली प्रस्थान कर जाएंगे।

नगर निकाय चुनाव 2019 कलक्टर ने ली आरओ, एआरओ व विभिन्न प्रकोष्ठ के प्रभारियों की बैठक

News

उदयपुर, 30 अक्टूबर/उदयपुर नगर निगम एवं कानोड़ नगरपालिका मंे आगामी आमचुनाव के लिए नियुक्त नियुक्त आरओ, एआरओ एवं समस्त प्रकोष्ठ के प्रभारी अधिकारियों की संयुक्त बैठक बुधवार को जिला निर्वाचन अधिकारी (कलक्टर) श्रीमती आनन्दी की अध्यक्षता में कलेक्टेªट के सभागार में आयोजित हुई। बैठक में जिला निर्वाचन अधिकारी ने प्रकोष्ठवार तैयारियों का जायजा लेते हुए आवश्यक दिशा-निर्देश प्रदान किए। बैठक में नियुक्त रिटर्निंग अधिकारी व गिर्वा एसडीएम सौम्या झा, अतिरिक्त जिला कलक्टर नरेश बुनकर व संजय कुमार सहित विभिन्न प्रकोष्ठों के प्रभारी व सहप्रभारी उपस्थित रहे।
जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती आनन्दी ने बताया कि चुनाव लडने वाले अभ्यर्थी संबंधित आरओ कार्यालय से वाहन की स्वीकृति नियमानुसार आवेदन के उपरान्त प्राप्त कर सकेंगे। वहीं लाउडस्पीकर की स्वीकृति संबंधित मजिस्ट्रेट से प्राप्त की जा सकेगी। साथ ही अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्र में प्रचार-प्रसार के लिए आयोग के निर्देशानुुसार व्यय सीमा की पालना करते हुए हॉर्डिंग, बैनर, टेम्पलेट्स आदि के लिए प्रभारी अधिकारी चुनाव व्यय प्रकोष्ठ के प्रभारी सुरेश जैन से जानकारी प्राप्त कर सकते है।
आदर्श आचार संहिता का सख्ती से पालना हो
जिला निर्वाचन अधिकारी ने आदर्श आचार संहिता का सख्ती से पालना करने के निर्देश जारी करते हुए नगर निगम के उपायुक्त अनिल शर्मा को आवश्यकतानुसार वार्डवार दल नियुक्त करने तथा प्रभारी अधिकारी हिम्मत सिंह बारहठ को किसी प्रकार को शिथिलता न बरतने के तथा प्राप्त शिकायत का तत्काल निस्तारण करने के निर्देश दिए।
एक नवंबर को जारी होगी अधिसूचना
बैठक में एडीएम श्री बुनकर ने बताया कि नगर निगम उदयपुर एवं नगरपालिका कानोड के लिए सदस्यों के चुनाव की अधिसूचना शुक्रवार 01 नवंबर को जारी की जाएगी। संबंधित अभ्यर्थी 1 नवंबर से 5 नवंबर के मध्य (रविवार के अतिरिक्त) अपने नाम निर्देशन पत्र वार्ड संख्या अनुसार तय स्थानों पर निर्धारित समय मे प्रस्तुत कर सकेंगे। नाम निर्देशन पत्र आवश्यक दस्तावेजो व घोषणाओं के साथ निर्धारित प्रारूप में संबंधित अभ्यर्थी द्वारा अधिकतम 5 व्यक्तियांे के साथ आरओ/एआरओ के समक्ष प्रस्तुत करना होगा। नाम निर्देशन पत्र के साथ प्रतिभूति राशि नगर निगम सदस्य के लिए 6 हजार रुपये एवं नगरपालिका कानोड सदस्य के लिए 2 हजार रुपये जमा करा रसीद नाम निर्देशन के साथ प्रस्तुत करनी होगी। वहीं एससी, एसटी, ओबीसी अथवा महिला वर्ग के अभ्यर्थी को प्रतिभूति राशि की आधी राशि ही जमा करानी होगी। बैठक में प्रशिक्षण प्रकोष्ठ प्रभारी अधिकारी रामजीवन मीणा ने प्रशिक्षण संबंधी व्यवस्थाओं की जानकारी दी।
चुनाव नियंत्रण कक्ष स्थापित
जिला स्तर पर आमजन व मतदाता की सुविधार्थ जिला कलक्ट्रेट के कमरा क़क्ष 114 में चुनाव नियंत्रण कक्ष स्थापित किया गया है, जिसके प्रभारी अधिकारी डॉ. महामाया प्रसाद चौबीसा रहेंगे। इस नियंत्रण कक्ष के दुरभाष नंबर 0294-2414620 है।

राष्ट्रीय एकता दिवस पर हुए विविध आयोजन रन फॉर यूनिटी में दिया एकता का संदेश

News

उदयपुर, 31 अक्टूबर/जिलेभर में गुरुवार को सरदार वल्लभभाई पटेल की जयन्ती राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में धूमधाम से मनाई गई। इस अवसर पर विविध आयोजन हुए।
कार्यक्रम की शुरूआत सुबह फतहसागर के समीप पीपी सिंघल मार्ग से देवाली छोर तक रन फॉर यूनिटी के आयोजन से हुई। एकता का संदेश देती इस दौड़ को अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) संजय कुमार ने हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। दौड़ से पूर्व एडीएम सिटी ने मौजूद प्रतिभागियों को राष्ट्र की एकता, अखण्डता व सुरक्षा को बनाए रखने के लिए समर्पण भाव से कार्य करने और इस संदेश को देशवासियों तक पहुंचाने की शपथ दिलाई। शपथ में उन्हांेने देश की आंतरिक सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए अपना योगदान करने की सत्य निष्ठा का संकल्प भी दिलाया।
इस दौड़ में जिला प्रशासन, पुलिस, नगर निगम, शिक्षा, यूआईटी, खेल, पुलिस विभाग, एनसीसी, स्काउट, नेहरू युवा केंद्र के सहित विभिन्न विभागीय अधिकारियों एवं आमजनों ने उत्साह पूर्वक भाग लिया। इस अवसर पर सभी प्रतिभागियों को यूआईटी की ओर से कैप प्रदान की गई और नगर निगम की ओर से जलपान की व्यवस्था की गई।
अधिकारियों-कर्मचारियों को कलक्टर ने दिलाई शपथ:
कार्यक्रमों की श्रृंखला में जिला मुख्यालय सहित विभिन्न सरकारी कार्यालयों एवं संस्थानों में राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलाई गई। जिला मुख्यालय पर जिला कलक्टर श्रीमती आनन्दी ने कलेक्ट्रेट परिसर के विभिन्न कार्यालयों में कार्यरत अधिकारियों एवं कार्मिकों को देश की एकता, अखण्डता व सुरक्षा के लिए तत्पर होकर कार्य करने, एकता की भावना बनाए रखने एवं पूर्ण ईमानदारी व सत्यनिष्ठा के साथ कार्य करने की शपथ दिलाई।
संगोष्ठी में सरदार पटेल व इन्दिरा गांधी को किया याद
राष्ट्रीय एकता दिवस पर आयोजित कार्यक्रमों में जिला प्रशासन एवं कॉलेज शिक्षा विभाग के तत्वावधान में शहर के मीरा कन्या महाविद्यालय में सरदार पटेल की जयंती व इन्दिरा गांधी पुण्यतिथि के अवसर पर संगोष्ठी कार्यक्रम का आयोजन हुआ। संगोष्ठी के मुख्य अतिथि एडीएम सिटी संजय कुमार ने इन महापुरूषों के आदर्शों को जीवन में उतारने एवं इनके बताए हुए मार्ग पर चलने का आह्वान किया।
उन्होंने कहा कि राष्ट्र के हित में शिक्षक का महत्वपूर्ण योगदान होता है और हम सभी का दायित्व है कि हम इस प्रकार के कार्यक्रमों में माध्यम से बालकों को ईमानदारी व कर्तव्यनिष्ठा से कार्य करने के लिए प्रेरित करे। इस अवसर पर मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी शिवजी गौड़, जिला शिक्षा अधिकारी भरत जोशी, सेवानिवृत प्रो. गिरीशनाथ माथुर, एमजी प्राचार्य डॉ. निधि श्रीवास्तव, छात्रसंघ अधिष्ठाता डॉ. मीना बया सहित विभिन्न शिक्षाविद् मौजूद रहे।
इन वक्ताओं ने रखे विचार
संगोष्ठी में शिक्षा विभाग के अधिकारियों से सहित महाविद्यालय के सहआचार्य, विभिन्न विद्यालयों के प्राचार्य एवं व्याख्याताओं ने सरदार पटेल एवं श्रीमती इन्दिरा गंाधी के व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला। इनमें अतिरिक्त जिला शिक्षा अधिकारी सुरेंद्र सिंह राव, चंद्रशेखर जोशी, कपिला कंठालिया, सेवानिवृत्त प्रो. गिरीशनाथ माथुर, एमजी कॉलेज की प्राचार्य डॉ मंजू फडिया, डॉ. ज्योति गौतम, डॉ. वैशाली देवपुरा, डॉ. सुदर्शन सिंह राठौड़, डॉ अनिता कांवडिया व डॉ शशि देपाल, जगदीश चौक विद्यालय की व्याख्याता डॉ माधुरी त्रिपाठी, राउमावि चूर के प्राचार्य दीपक गौड़, मोहनलाल सुखाडि़या विश्वविद्यालय के सहायक आचार्य डॉ.मनीष श्रीमाली, राउमावि चीरवा के प्राचार्य जयेश ओझा, शैक्षिक प्रकोष्ठ अधिकारी विजय सारस्वत, राउमावि ईसवाल के प्राचार्य विजय राजपूत, राउमावि फतह स्कूल के प्राचार्य चेतन पानेरी, राउमावि कैलाशपुरी के प्राचार्य अनिल दशोरा, राउमावि करमा तालाब सराड़ा के प्राचार्य जगदीश चंद्र चौबीसा एवं राउमावि तिरोल के प्राचार्य योगेंद्र कुमार श्रीमाली ने विचार रखे।

नगर निकाय चुनाव 2019
आज जारी होगी अधिसूचना, नाम निर्देशन पत्र प्रस्तुत करने का समय निर्धारित

उदयपुर, 31 अक्टूबर/नगर निकाय चुनाव की अधिसूचना शुक्रवार 01 नवंबर को जारी होगी, इसके साथ ही नाम निर्देशन पत्र प्राप्ति का कार्य भी प्रारंभ होगा।
जिला निर्वाचन अधिकारी (कलक्टर) श्रीमती आनन्दी ने बताया कि निर्वाचन लड़ने वाले अभ्यर्थी अपने नाम निर्देशन पत्र 1 नवंबर से 5 नवंबर तक वार्ड संख्या अनुसार तय स्थानों पर सुबह 10.30 बजे से अपराह्न 3 बजे तक प्रस्तुत कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि 3 नवंबर को रविवार का अवकाश होने की वजह से नाम निर्देशन पत्र प्राप्त नहीं किए जाएंगे।
नाम निर्देशन पत्र जमा कराने का स्थान
जिला निर्वाचन अधिकारी के आदेशानुसार तहत उदयपुर नगर निगम के वार्ड 1 से 14 तक के नाम निर्देशन पत्र उपखण्ड अधिकारी गिर्वा के न्यायालय कक्ष, वार्ड 15 से 28 तक के लिए एडीएम सिटी के न्यायालय कक्ष, वार्ड 29 से 42 तक के लिए जिला परिषद के भूतल स्थित राजीव गांधी सेवा केन्द्र, वार्ड 43 से 56 तक के लिए सहायक कलक्टर एसीईएम मुख्यालय के न्यायालय कक्ष तथा वार्ड 57 से 70 तक के लिए जिला परिषद सभागार (भूतल) में नाम निर्देशन पत्र प्राप्त किए जाएंगे।
ये रहेंगे मापदण्ड
नाम निर्देशन पत्र आवश्यक दस्तावेजों व घोषणाओं के साथ निर्धारित प्रारूप में संबंधित अभ्यर्थी द्वारा अधिकतम 5 व्यक्तियांे के साथ आरओ/एआरओ के समक्ष प्रस्तुत करना होगा। नाम निर्देशन पत्र के साथ प्रतिभूति राशि नगर निगम सदस्य के लिए 6 हजार रुपये एवं नगरपालिका कानोड सदस्य के लिए 2 हजार रुपये जमा करा रसीद नाम निर्देशन के साथ प्रस्तुत करनी होगी। वहीं एससी, एसटी, ओबीसी अथवा महिला वर्ग के अभ्यर्थी को प्रतिभूति राशि की आधी राशि ही जमा करानी होगी।

नगरपालिका कानोड़ के लिए आरओ-एआरओ नियुक्त

उदयपुर, 31 अक्टूबर/जिला निर्वाचन अधिकारी (कलक्टर) श्रीमती आनंदी के आदेशानुसार नगर पालिका कानोड़ में निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण निर्वाचन कार्यों के सम्पादन के लिए रिटर्निंग एवं सहायक रिटर्निंग अधिकारी नियुक्त किये है।

आदेशानुसार वल्लभनगर उपखण्ड अधिकारी शैलेष सुराणा को रिटर्निंग अधिकारी नियुक्त किया गया है। श्री सुराणा को नगर पालिका मण्डल कानोड़ के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष एवं पार्षदों के नाम निर्देशन प्राप्त करने, सम्पूर्ण नगर निगम के नाम निर्देशनपत्रों की जांच, नाम वापस लेने, चुनाव चिन्ह आवंटन, मतगणना, मतगणना परिणाम की घोषणा व रिटर्निंग अधिकारी से संबंधित अन्य समस्त कार्यों का दायित्व सौंपा गया है। साथ ही इनकी सहायतार्थ भीण्डर तहसीलदार रामसिंह राव को सहायक रिटर्निंग अधिकारी नियुक्त किया गया है।

नगर निकाय आमचुनाव 2019
दूसरे दिन भी कोई नामांकन नहीं

उदयपुर, 02 नवंबर/नगर निकाय आमचुनाव 2019 के तहत जारी नामांकन प्रक्रिया के दूसरे दिन शनिवार को नगर निगम उदयपुर व नगरपालिका कानोड़ के निर्वाचन क्षेत्र के लिए एक भी नाम निर्देशन पत्र प्राप्त नहीं हुआ। यह जानकारी जिला निर्वाचन अधिकारी (कलक्टर) श्रीमती आनन्दी ने दी।
-

डॉ. पल्लव को शब्द साधक आलोचना सम्मान


उदयपुर, 02 नवंबर/हिन्दी साहित्य की प्रसिद्ध मासिक पत्रिका “पाखी“ द्वारा दिए जाने वाले प्रतिष्ठित सम्मानों में डॉ. पल्लव को 2018 का “शब्द साधक आलोचना सम्मान“ दिए जाने की घोषणा की गई है।
पाखी के सम्पादक और प्रसिद्ध पत्रकार अपूर्व जोशी ने बताया कि कथा आलोचना में अपने विशिष्ट योगदान के लिए युवा आलोचक पल्लव को यह सम्मान नोएडा के इंदिरा गांधी कला केंद्र में 14 व 15 नवम्बर को आयोज्य पाखी महोत्सव में दिया जाएगा। साथ ही 2018 का शब्द साधक शिखर सम्मान भी राजस्थान के प्रसिद्ध कथाकार स्वयं प्रकाश को दिया जाएगा।
ज्ञातव्य है कि सुखाडि़या विश्वविद्यालय और राजस्थान विद्यापीठ में कार्यरत रहे पल्लव की आलोचना कृति “कहानी का लोकतंत्र“ 2012 में प्रकाशित हुई थी जिसे हिन्दी अकादमिक जगत में बहुत सराहना मिली। इन दिनों प्रसिद्ध पत्रिका “हंस“ में कथेतर हिंदी साहित्य पर उनका कालम चर्चा में है। विश्वविद्यालय के प्रसिद्ध हिन्दू कालेज में अध्यापन कर रहे डॉ पल्लव 2008 से हिंदी साहित्य की एक विशिष्ट पत्रिका ‘बनास जन’ का सम्पादन -प्रकाशन भी कर रहे हैं।

शिल्पग्राम में मासिक नाट्य संध्या ‘‘रंगशाला’’ आज
नाटक ‘‘गोरखधंधा’’ का मंचन

उदयपुर, 02 नवम्बर/ पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र की ओर से रविवार 3 नवम्बर को शिल्पग्राम में ‘‘रंगशाला’’ के अंतर्गत नाट्य संध्या का आयोजन किया जायेगा जिसमें नई दिल्ली के रंगकर्मियों द्वारा नाटक ‘‘गोरखधंधा’’ का मंचन किया जायेगा।
केन्द्र के प्रभारी निदेशक सुधांशु सिंह ने बताया कि रंगमंचीय गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिये केन्द्र द्वारा विगत एक दशक से जयादा समय से उदयपुर में मासिक नाट्य संध्या ‘‘रंगशाला’’ का आयोजन किया जा रहा है। इसके अंतर्गत उदयपुर के नाट्य प्रेमियों को देश के नवोदित तथा प्रतिष्ठित नाटककारों की नाट्य कृतियों को देखने का अवसर मिल सका है।
उन्होंने बताया कि शिल्पग्राम के दर्पण सभागार में नवीनीकरण कार्य के चलते विगत महिनों से इस आयोजन में व्यवधान आया। नवीनीकरण प्रक्रिया पूर्ण होने पर माह नवम्बर से रंगशाला के आयोजन को निरन्तर किया जा रहा है। उदयपुर के नाट्य दर्शकों को हर माह के प्रथम रविवार को दर्पण सभागार में नाटक देखने को मिलेगा। इस नाट्य प्रस्तुति में दर्शकों के लिये प्रवेश निःशुल्क होगा।

केआरपी चतुर्थ चरण का प्रशिक्षण शुरू

उदयपुर, 02 नवंबर/नई शिक्षा नीति को ध्यान में रखकर बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने के लिए हो रहे प्रशिक्षणों की श्रृंखला में उदयपुर के आरएससीईआरटी सभागार में पांच दिवसीय प्रशिक्षण शिविर के चतुर्थ चरण का शुभारंभ शनिवार को हुआ। इसमें स्टेट लेवल एसआरजीट्रेनिंग को एनआरजी टीम द्वारा विशेष प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

मुख्य अतिथि आरटीई अजमेर के प्राचार्य प्रो.एस.वी.शर्मा ने कहा कि निष्ठा एक प्रोगाम नहीं अपितु एक मिशन है जिसके माध्यम से बालको का क्षमता संवर्धन करना उनके जीवन में परिवर्तन लाना और मुरझाये चेहरों पर मुस्कुराहट लाना है।  कार्यक्रम की अध्यक्ष करते हुए आरएससीईआरटी के उपनिदेशक ललित शंकर आमेटा ने कहा कि हमें अधिगम में बदलाव लाना है। हमारे केन्द्र बिन्दु बालक होना चाहिए।  विशिष्ट अतिथि निष्ठा की समन्वयक प्रो. शशिप्रभा ने कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। इस मौके पर एनसीईआरटी नई दिल्ली से प्रो.सर्वी बनर्जी व डॉ. रमेश कुमार भी मंचासीन थे। संचालन सह समन्वयक डॉ.महावीर प्रसाद जैन ने किया जबकि आभार श्रीमती सरस्वती माहेश्वरी ने जताया।
274 केआरपी प्राप्त कर रहे है प्रशिक्षण
इस प्रशिक्षण शिविर में बाड़मेर, जैसलमेर, जोधपुर, हनुमानगढ़ जिलों के 274 केआरपी को प्रशिक्षण दिया जा रहा है, जो आगे अपने-अपने जिलों में ब्लॅाक स्तर पर जाकर विद्यालयों के लेवल 1 एवं 2 के शिक्षकों को प्रशिक्षित करेंगे। नवम्बर और दिसम्बर माह के अलग-अलग जिलों के मास्टर्स को ट्रेनिंग देकर प्रदेश के सभी 2 लाख 42 हजार 106 शिक्षकों को यह विशेष प्रशिक्षण दिया जायेगा।

स्वतंत्रता सेनानी श्री नन्दावत का निधन

राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार

उदयपुर, 9 नवंबर/स्वतंत्रता आंदोलन में अपनी भूमिका निभाने वाले स्वतंत्रता सेनानी श्री अम्बालाल नन्दावत का शुक्रवार को निधन हो गया। शनिवार सुबह उनका अंतिम संस्कार किया गया।

उदयपुर के हिरणमगरी सेक्टर 3 स्थित शास्त्रीनगर निवासी श्री नन्दावत का आज सुबह अशोकनगर स्थित मोक्षधाम पर पूर्ण राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। इस मौके पर जिला कलक्टर श्रीमती आनन्दी व जिला पुलिस अधीक्षक कैलाश चन्द्र विश्नोई ने उनके पार्थिव देह पर पुष्पचक्र अर्पित किया। मोक्षधाम पर अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) संजय कुमार, गिर्वा की उपखण्ड अधिकारी सौम्या झा सहित स्थानीय जनप्रतिनिधियों ने स्वर्गीय नंदावत की पार्थिव देह पर पुष्पांजलि देते हुए श्रद्धा सुमन व्यक्त किए। 

इससे पूर्व जिला कलक्टर आनंदी ने नंदावत के परिजनों से मुलाकात की और उनको ढांढस बंधाया। इस मौके पर बड़ी संख्या में शहरवासी, प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे।

बाल दिवस पर होंगे विविध आयोजन

एडीएम ने बैठक लेकर दिए निर्देश

उदयपुर, 9 नवंबर/भारत के प्रथम प्रधानमंत्री स्वर्गीय पंडित जवाहरलाल नेहरू की जन्मतिथि 14 नवंबर को जिलेभर में ‘बाल दिवस’ के रूप में मनाएं जाने के लिए शनिवार को एडीएम (सिटी) संजय कुमार की अध्यक्षता में विभागीय अधिकारियों की एक बैठक आयोजित की गई। बैठक में आयोजन की रूपरेखा तय करते हुए संबंधित विभागों को समन्वय स्थापित करते हुए तैयारियां करने के निर्देश दिए गए।

बाल मेलों, प्रदर्शनी व रैली का होगा आयोजन:

बैठक में एडीएम कुमार ने शिक्षा विभाग के उपनिदेशक शिवजी गौड़ को जिले के समस्त विद्यालयों में बाल मेलों के आयोजन के साथ जिला स्तर पर आयोजित होने वाले बाल मेले व पौधरोपण कार्यक्रम के आयोजन के लिए कार्ययोजना तैयार कर प्रस्तुत करने को कहा। बैठक में राजकीय बालिका उमावि आयड़ में जिला स्तरीय बाल मेले के आयोजन के साथ यहां पर पौधरोपण व फिल्म प्रदर्शन की व्यवस्था को कहा। इसी प्रकार जिले के समस्त विद्यालयों में पौधरोपण करवाने, जिला स्तर पर फतह स्कूल से नगर निगम तक रैली के आयोजन के निर्देश दिए गए। एडीएम कुमार ने शिक्षकों एवं विद्यार्थियों के लिए विविध प्रकार की प्रतियोगिताओं, विद्यार्थियों द्वारा मॉडल प्रदर्शनी, देशभक्तिपूर्ण लघु फिल्म प्रदर्शन तथा बालक-बालिकाओं द्वारा शांति का संदेश देने के लिए बाल दिवस के उपलक्ष में गैस से भरे गुब्बारे आसमान में छोड़ने के लिए संबंधित विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए किया।

बैठक में उपनिदेशक शिवजी गौड़, परिवहन अधिकारी डॉ. कल्पना शर्मा, एनसीसी के लेफ्टिनेंट प्रेमशंकर श्रीमाली, एडीईओ कपिला कंठालिया, सामान्य शाखा के शंभुसिंह राणावत, नेहरू युवा केन्द्र व स्काउट-गाईड से प्रतिनिधि मौजूद थे।

नगर निकाय चुनाव 2019
मतदान कार्मिकों का प्रथम प्रशिक्षण प्रारंभ,
आयोग के प्रावधानों की अनुपालना के निर्देश

 

उदयपुर, 10 नवंबर/नगर निकाय चुनाव 2019 के तहत 16 नवंबर को होने वाले मतदान को लेकर मतदान से जुड़े कार्मिकों का प्रथम प्रशिक्षण रविवार को राजकीय फतह उच्च माध्यमिक विद्यालय में आयोजित हुआ। प्रशिक्षण कार्यक्रम में 439 पीठासीन अधिकारी व 237 द्वितीय मतदान अधिकारी मौजूद रहे।
प्रशिक्षण के दौरान अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) व उप जिला निर्वाचन अधिकारी ओ.पी.बुनकर ने निर्वाचन से जुड़े अधिकारियों एवं कार्मिकों को राज्य निर्वाचन विभाग के दिशा-निर्देशानुसार स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्वक मतदान प्रक्रिया के प्रावधानों की जानकारी देते हुए आयोग के निर्देशों की अक्षरशः अनुपालना के निर्देश दिए। उन्होंने निर्वाचन प्रक्रिया के सुचारू संपादन के लिए बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में भी जानकारी दी।
प्रशिक्षण प्रभारी एवं अतिरिक्त जनजाति आयुक्त रामजीवन मीणा एवं सहायक प्रभारी डॉ. महामाया प्रसाद चौबीसा ने मतदान प्रक्रिया, ईवीएम आदि का सैद्धान्तिक एवं व्यवहारिक प्रशिक्षण किया। इस दौरान सभी अधिकारियों-कार्मिकों को ईवीएम का प्रायोगिक प्रशिक्षण प्रदान किया गया तथा पावर प्वाइंट प्रजेन्टेशन के माध्यम से मतदान प्रक्रिया से जुड़े व्यावहारिक बिन्दुओं की जानकारी प्रदान की गई।
मॉकपोल के प्रावधानों को समझाया:
सहायक प्रशिक्षण प्रभारी डॉ. चौबीसा ने बताया कि मॉकपोल की प्रक्रिया विधानसभा एवं लोकसभा चुनाव से भिन्न है और संबंधित पीठासीन अधिकारी मॉकपोल का डाटा क्लीयर करने के पश्वात की वास्तविक मतदान कराना सुनिश्चित करें। प्रशिक्षण सत्र के दौरान सभी प्रशिक्षणार्थियों के लिए अल्पाहार व भोजन की व्यवस्था भी की गई।
अनुपस्थित रहने वालों के विरूद्ध होगी कार्यवाही
उप जिला निर्वाचन अधिकारी व एडीएम (प्रशासन) ओ.पी.बुनकर ने बताया कि चुनाव प्रशिक्षण में अनुपस्थिति को प्रशासन द्वारा गंभीरता से लिया जा रहा है और प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान अनुपस्थित रहे 7 पीठासीन अधिकारी एवं 6 मतदान अधिकारियों के विरुद्ध नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी।

नगर निकाय चुनाव-2019
मतदान केन्द्रों की सूची का अंतिम प्रकाशन

उदयपुर, 10 नवंबर/नगर निकाय चुनाव 2019 के तहत उदयपुर जिले में नगर निगम उदयपुर व नगरपालिका कानोड़ के मतदान केन्द्रों की सूची का अंतिम प्रकाशन कर दिया गया है।
जिला निर्वाचन अधिकारी (कलक्टर) श्रीमती आनन्दी ने बताया कि राजस्थान नगरपालिका (निर्वाचन) नियम 1994 के नियम 27 के तहत इन दोनों निर्वाचन क्षेत्रों के लिए मतदान केन्द्रों की सूची का अंतिम प्रकाशन किया गया है।
जारी सूची के अनुसार उदयपुर नगर निगम क्षेत्र के 70 वार्डों के लिए 323 मतदान केन्द्र निर्धारित किये गये हैं जिसमें 3 लाख 46 हजार 501 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे। इसी प्रकार कानोड़ नगरपालिका के लिए जारी सूची के अनुसार 20 वार्डों के लिए निर्धारित 20 मतदान केन्द्रों पर 9 हजार 872 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे।

विरासत संबंधित प्रदर्शनी का आज अंतिम दिन
कला और संस्कृति प्रेमियों को रास आई प्रदर्शनी

 

उदयपुर, 10 नवंबर/सूचना केन्द्र कला दीर्घा में भारतीय सांस्कृतिक निधि (इन्टैक) तथा सूचना केन्द्र के संयुक्त तत्वावधान में चल रही विरासत संबंधित चित्र प्रदर्शनी का सोमवार को समापन होगा। रविवार को भी इस प्रदर्शनी का बड़ी संख्या में लोगों ने अवलोकन कर सराहना की।
भारतीय सांस्कृतिक निधि (इन्टैक) के उदयपुर चेप्टर के संयोजक डॉ. बी.पी. भटनागर ने बताया कि सात दिवसीय इस चित्र प्रदर्शनी में इंटेक की 35 वर्षों की जीवन यात्रा (1984-2019) के साथ-साथ वागड़ अंचल में दसवीं शताब्दी के पुरातात्विक महत्ता के स्थान अरथूना की सांस्कृतिक विरासत पर प्रो. महेश शर्मा द्वारा सहेजे चित्रों को प्रदर्शित किया गया है। रविवार को अवकाश का दिन होने के कारण बड़ी संख्या में कला एवं संस्कृतिप्रेमियों ने इस प्रदर्शनी का अवलोकन किया और इसकी सराहना की।
इस दौरान मीडिया एक्सपर्ट सुनील व्यास ने आगंतुकों को प्रदर्शनी का अवलोकन कराते हुए प्रदर्शित विषयवस्तु की जानकारी प्रदान की। वागड़-मेवाड़ की चित्रकला पर शोध कर रहे शोधार्थी कुशाग्र जैन ने एक हजार साल पुराने अरथूना के प्रस्तरशिल्प के चित्रों में दर्शायी गई शास्त्रीय नृत्य आधारित कलाकृतियों को अंचल की अनूठी धरोहर बताया और इसके संरक्षण के प्रयास की आवश्यकता जताई। इस दौरान रावगोपाल सिंह आसोलिया, जितेन्द्र त्रिवेदी, नीरज आमेटा, संस्कार शर्मा व बड़ी संख्या में विद्यार्थियों व सूचना केन्द्र पाठकों ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया।  

जिले भर में मनाया जाएगा पंडित नेहरू का जन्मदिवस
बाल मेले के साथ प्रदर्शनी का रहेगा आकर्षण  

उदयपुर, 13 नवंबर/भारत के प्रथम प्रधानमंत्री स्वर्गीय पंडित जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिवस के उपलक्ष में जिले भर में विविध आयोजन होंगे। बाल दिवस के रूप में जिले भर में इस दिवस पर जहां बाल मेलों का आयोजन होगा वहीं जिला मुख्यालय पर पंडित नेहरू पर जिला स्तरीय प्रदर्शनी का आकर्षण रहेगा।  
अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) संजय कुमार ने बताया कि राज्य सरकार के दिशा-निर्देशानुसार आयोजित होने वाले जिला स्तरीय कार्यक्रम को लेकर समस्त तैयारियां पूर्ण कर ली गई। उन्होंने बताया कि जिला स्तरीय कार्यक्रम का शुभारंभ सुबह 8 बजे शहर के राजकीय फतह उच्च माध्यमिक विद्यालय में स्व. श्री नेहरू की मूर्ति/छायाचित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर किया जाएगा। इसके बाद 8.15 बजे बालक-बालिकाओं द्वारा शांति का संदेश देने हेतु गैस के गुब्बारे आसमान में छोड़े जाएंगे और 8.30 बजे विद्यालय प्रांगण से नगर निगम तक रैली का आयोजन होगा।
बाल मेले का आयोजन, होंगी प्रतियोगिताएं
निर्धारित कार्यक्रम अनुसार सुबह 11 बजे से शहर के आयड़ स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में बाल मेले का आयोजन होगा तथा वृक्षारोपण के साथ विभिन्न प्रतियोगिताएं भी आयोजित की जाएगी। दूसरी ओर सुबह 11 बजे से ही शहर के गुरुगोविन्द सिंह उच्च माध्यमिक वि़द्यालय में खेलकूद प्रतियोगिताएं होगी।
आयड़ स्कूल में जिला स्तरीय बाल मेला व फिल्म प्रदर्शन:
कार्यक्रमों की श्रृंखला में आयड़ स्थित राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक वि़द्यालय में सुबह 11 बजे से जिला स्तरीय बाल मेले व मॉडल प्रदर्शनी का आयोजन होगा वहीं बच्चों को पंडित नेहरू के जीवन पर आधारित लघु फिल्म दिखाई जाएगी।
नेहरू के जीवन पर आधारित फोटो प्रदर्शनी
सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग के तत्वावधान में चेतक सर्कल स्थित सूचना केन्द्र की कलादीर्घा में नेहरू जी के जीवन पर आधारित फोटो प्रदर्शनी लगाई जाएगी। प्रदर्शनी में चाचा नेहरू के जीवनयात्रा व उदयपुर सहित प्रदेश के विभिन्न जिलों मंे उनकी यात्रा पर आधारित दुर्लभ श्वेतश्याम छायाचित्रों का प्रदर्शन किया जाएगा। 

प्रधानमंत्री स्व. श्री जवाहरलाल नेहरू की जन्मतिथि
प्रत्येक ग्राम पंचायत मुख्यालय पर “मेरा गांव, मेरा गौरव दिवस“ मनाया जाएगा

उदयपुर, 13 नवंबर/भारत के स्वर्गीय प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के जन्मदिवस के अवसर पर राज्य सरकार के निर्देशानुसार प्रत्येक ग्राम पंचायत मुख्यालय पर “मेरा गांव मेरा गौरव दिवस“ का आयोजन किया जाएगा।
जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कमर चौधरी ने बताया कि जिले के समस्त ग्राम पंचायत मुख्यालय पर सुबह 7 से 9 बजे स्वच्छता श्रमदान उत्सव, पूर्वाह्न स्थानीय विद्यालय के सहयोग से मेरा गांव मेरा गौरव विषय पर आशुभाषण, चित्रकला, निबंध व कविता पाठ का आयोजन, अपराह्न विभिन्न खेलकूद कार्यक्रमों का आयोजन तथा रात्रि में स्थानीय विद्यालय एवं लोक कलाकारों द्वारा राज्य, संबंधित सांस्कृतिक क्षेत्र व संदर्भित ग्रांम की परम्परा और विरासत पर केन्द्रित सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।
गिर्वा-बड़गांव में होंगे आयोजन
मेरा गांव मेरा गौरव दिवस कार्यक्रम के तहत बड़गांव पंचायत समिति का ब्लॉक स्तरीय समारोह ग्राम पंचायत बड़गांव मुख्यालय पर आयोजित होगा। इसके तहत स्थानीय विद्यालय के विद्यार्थियों द्वारा विविध रंगारंग प्रस्तुतियां दी जाएगी।
 इधर गिर्वा का ब्लॉक स्तरीय समारोह तितरड़ी स्थित विद्यालय प्रांगण में मनाया जाएगा। इस अवसर पर कठपुतली शो एवं स्थानीय प्रतिभाओं व विद्यार्थियों द्वारा सांस्कृतिक प्रस्तुतियां दी जाएगी। इससे पूर्व सुबह तितरड़ी चौराहे पर श्रमदान किया जाएगा।
संयुक्त शासन सचिव चतुर्वेदी करेंगे शिरकत
पंचायती राज विभाग के संयुक्त शासन सचिव गौरव चतुर्वेदी अपने उदयपुर प्रवास के दौरान मेरा गांव मेरा गौरव दिवस पर आयोजित कार्यक्रमों में शिरकत करेंगे। जिला परिषद के एसीईओ ने बताया कि  चतुर्वेदी 14 नवंबर को बड़गांव, गोगुन्दा, कोटड़ा व अन्य ब्लॉक में आयोजित कार्यक्रम में भाग लेंगे।

नगर निकाय चुनाव
दिव्यांगों को मतदान संबंधित सुविधाएं देने के निर्देश

उदयपुर, 13 नवंबर/नगर निकाय चुनाव के तहत नगर निगम उदयपुर में मतदान दिवस 16 नवंबर को दिव्यांग मतदाताओं को आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराते हुए सुगम मतदान के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए गए है।
जिला निर्वाचन अधिेकारी (कलक्टर) श्रीमती आनन्दी ने निर्देश दिए हैं कि निगम क्षेत्र में ऐसे मतदान केंद्र जहां 10 या 10 से अधिक दिव्यांग मतदाता है, उनकी मतदान केंद्रवार संख्या व सूची सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा रिटर्निंग अधिकारी एसडीएम गिर्वा एवं निर्वाचन रजिस्टर अधिकारी एडीएम सिटी उदयपुर को उपलब्ध कराई जाए।
कलक्टर के निर्देशानुसार सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग तथा नारायण सेवा संस्थान की ओर से इन मतदान केंद्रों पर व्हील संबंधित बीएलओ व दिव्यांग प्रभारी को उपलब्ध कराई जाए तथा ऐसे मतदान केंद्रों पर दिव्यांग प्रभारी नियुक्त कर इनके नाम व मोबाइल नंबर आदि सहित सूची संबंधित मतदान केंद्र के बीएलओ व वाहन प्रभारी को भी उपलब्ध कराई जाए, जो उपलब्ध वाहनों के माध्यम से दिव्यांग मतदाताओं को उनके निवास से मतदान बूथ तक लाने ले जाने की व्यवस्था सुनिश्चित करें।
उन्होंने निर्देश दिए कि दिव्यांगजनों की सुविधार्थ स्काउट एंड गाइड की निःशुल्क सेवाएं ली जाए तथा मतदाता केंद्रों पर मतदान हेतु दिव्यांग मतदाताओं को प्राथमिकता प्रदान किया जाना सुनिश्चित करें।

नेहरू युवा केन्द्र के स्वयंसेवक पहुंचे हल्दीघाटी
महाराणा प्रताप की गौरव गाथा जान अभिभूत हुए युवा


उदयपुर, 13 नवंबर/नेहरू युवा केन्द्र, उदयपुर के 15 दिवसीय प्रशिक्षण में विभिन्न स्थानों से आए युवा स्वयंसेवक बुधवार को हल्दीघाटी पहुँचे जहां संस्थापक मोहन श्रीमाली ने वहां स्थापित म्यूजियम का अवलोकन कराया और मेवाड़ के इतिहास में महारणा प्रताप के योगदान के बारे में जानकारी दी। महाराणा प्रताप के शौय एवं बलिदान की गाथा को जानकारी सभी अभिभूत हो उठे।
इस अवसर पर जिला युवा समन्यवयक महेन्द्र सिंह सिसोदिया की मौजूदगी में सभी स्वयंसेवकों की ओर से श्रीमाली को स्मृति चिह्न भेंट किया गया। स्वयंसेवकों ने गोगुन्दा स्थित जतन सेवा संस्थान पहुँचकर बालिका कल्याण एवं महिला किशोरियों विकास के लिए किए जा रहे प्रयासों की जानकारी प्राप्त की। तत्पश्चात सभी ने खमनोर स्थित रक्ततलाई का भी अवलोकन किया। भ्रमण के दौरान लेखाकार अमृतलाल सालवी, टीओटी नरेश निगम, एमटीएस जगदीश पुरी गोस्वामी सहित डूंगरपुर, बांसवाड़ा, धौलपुर, करौली, राजसमन्द, झालावाड़़, सिरोही, पाली, चिŸाौड़गढ़ आए स्वयंसेवक मौजूद रहे।

मधुमेह की निःशुल्क जांच व जागरूकता शिविर आज

उदयपुर, 13 नवंबर/विश्व मधुमेह दिवस के अवसर पर शहर के डायबिटिज, थायरॉइड हार्मोन्स केयर रिसर्च संस्थान की ओर से मधुमेह निःशुल्क जांच व जागरुकता शिविर 14 नवंबर को सायं 4 से 6 बजे तक भुवाणा स्थित स्वामीनगर आयोजित होगा। संस्थान के संस्थापक डॉ. जय चोर्डिया ने बताया कि शिविर में मधुमेह की निःशुल्क जांच के साथ दवाई वितरित की जाएगी।

राष्ट्रीय पुतुल यात्रा का आगाज आज से

उदयपुर, 13 नवम्बर/संगीत नाटक अकादमी, नई दिल्ली द्वारा राष्ट्रीय पुतुल नाट्य समारोह का आयोजन 14 से 18 नवम्बर के तक भारतीय लोक कला मण्डल के मुक्ताकाशी रंगमंच पर होगा ।
संगीत नाटक अकादमी की पुतुल समन्वयक श्रीमती शुभा सक्सेना ने बताया कि इस समारोह में देश के अन्तरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त पुतुल कलाकार जैसे पùश्री सुरेश दत्ता, पùश्री दादी पदमजी आदि के  दल अपने पुतुल नाटकों की प्रस्तुतियां देंगे। समारोह का उद्घाटन 14 नवंबर को सायं 6 बजे अर्न्तराष्ट्रीय ख्याती प्राप्त 90 वर्ष के वयोवृद्ध पुतुल कलाकार पदमश्री सुरेश दत्ता करेंगे, जबकि अध्यक्षता पद्मश्री दादी पदमजी द्वारा की जाएगी।
प्रथम दिन 14 नवंबर को प्रसिद्ध पुतुल कलाकार वयोवृद्ध पùश्री सुरेश दत्ता के पुतुल नाटक इच्छापूरन एवं समकालीन छाया पुतुल थियेटर, ओडिशा के श्रीराम इंस्टीट्यूट ऑफ शैडो थिएटर द्वारा गौरांग चरणदास द्वारा निर्देशित नाटक क्रांति पथ पर शांति दूत का मंचन होगा।
दूसरे दिन 15 नवंबर को डॉ लईक हुसैन द्वारा निर्देशित राजस्थान की पारंपरिक धागा पुतली शैली में भारतीय लोक कला मण्डल का प्रसिद्ध कठपुतली नाटक स्वामी विवेकानन्द एवं पारंपरिक दस्ताना पुतुल थिएटर उत्तर प्रदेश के मयूर पपेट थिएटर का प्रदीपनाथ त्रिपाठी द्वारा निर्देशित नाटक गुलाबो सिताबो तथा पारंपरिक छाया पुतुल थिएटर, तमिलनाडु के द इंडियन पपेटीयर्स दल द्वारा नाटक ‘‘सीता की खोज’’  सीतालक्ष्मी शाहूकारू के निर्देशन में होगा।
समारोह के तीसरे दिन 16 नवम्बर को समकालीन छड़ पुतुल थिएटर, त्रिपुरा के त्रिपुरा पपेट थिएटर द्धारा प्रभितांशु दास द्वारा निर्देशित नाटक चंडालिका, गुजरात के मेहर-द ट्रुप का नाटक दलों तलवाड़ी, मानसिंह झाला के निर्देशन में पारंपरिक छाया पुतुल थिएटर, केरल, के स्कूल ऑफ तोलपावाकूथु द्धारा सदानन्द पुलावर निर्देशित नाटक रामायण का मंचन होगा। 17 नवम्बर को समकालीन पुतुल थिएटर के अन्तर्गत पं.बंगाल डॉल्स थिएटर दल द्वारा टेमिंग आफ द वाइल्ड,  निर्देशन- सुदीप गुप्ता, कटकथा पपेट आर्टस ट्रस्ट दिल्ली द्वारा अबाउट राम, निर्देशक-अनुरूपा रॉय, पारंपरिक छड़ पुतुल थिएटर, पं.बंगाल के शैली में टाकी पुतुल नाच पार्टी द्वारा सोनाड़ डिघी, निर्देशक- मदन मोहन हालदार होगा ।
समारोह के अंतिम दिन 18 नवम्बर को समकालीन पुतुल थिएटर, दिल्ली के इशारा पपेट थिएटर ट्रस्ट का अनोखे वस्त्र, निर्देशक-दादी पदमजी एवं समकालीन पुतुल थिएटर, महाराष्ट्र के सत्यजित रामदास पाध्ये का फंटास्टिक शो, निर्देशक- सत्यजीत पाध्ये तथा पारंपरिक धागा पुतुल शैली में कर्नाटक का धातु, मूषिका कथा, निर्देशक-अनुपमा होस्केरे के प्रदर्शन होगे ।

नगर निकाय चुनाव
निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान दिवस पर रहेगा अवकाश

उदयपुर, 13 नवंबर/जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती आनन्दी के आदेशानुसार नगर निकाय चुनाव के तहत नगर निगम उदयपुर एवं नगर पालिका कानोड़ निर्वाचन क्षेत्र में मतदान दिवस 16 नवंबर, शनिवार को सार्वजनिक अवकाश रहेगा।
इसी आदेश के तहत राज्य सरकार के श्रम विभाग के दिशा-निर्देशानुसार दोनो निकाय क्षेत्रों में स्थित निजी या सार्वजनिक प्रतिष्ठानों, दुकान, औद्योगिक उपक्रम या कारोबार अथवा व्यवसाय के नियोजको को उनके संस्थान में नियोजित व कार्यरत प्रत्येक कामगार (जिनमें आकस्मिक कामगार भी सम्मिलित है) राज्य विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के लिए निर्वाचन में मतदान के हकदार है, का मतदान दिवस 16 नवंबर को सवैतनिक अवकाश रहेगा।

बाल दिवस के अवसर पर स्वस्थ शिशु प्रतियोगिता आज

उदयपुर, 13 नवंबर/आरएनटी मेडिकल कॉलेज के बाल चिकित्सालय विभाग व भारतीय शिशु अकादमी शाखा, उदयपुर के सयुक्त तत्वावधान में बाल दिवस के अवसर पर 14 नवम्बर को सुबह 10 से 12 बजे तक स्वस्थ शिशु प्रतियोगिता का आयोजन होगा।
भारतीय शिशु अकादमी शाखा के सचिव डॉ निशान्त डांगी ने बताया कि कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रधानाचार्य डॉ डी.पी. सिंह होंगे। इस प्रतियोगिता में पांच साल तक के बच्चो का स्वास्थ्य, टीकाकरण, शारीरिक व् मानसिक विकास और पर्सनल हाइजीन इत्यादि के आधार पर मूल्यांकन किया जायेगा तथा माता-पिता को शिशु की उचित देखभाल के संबंध में जानकारी प्राप्त की जाएगी।

उदयपुर समाचार : तृतीय       14 नवंबर, 2019 गुरुवार
बड़गांव में हुई रंगारंग सांस्कृतिक संध्या

उदयपुर, 14 नवंबर/राज्य सरकार के निर्देशानुसार बाल दिवस के अवसर पर प्रत्येक ग्राम पंचायत मुख्यालय पर आयोजित मेरा गांव मेरा गौरव कार्यक्रम के तहत गुरुवार रात्रि में बड़गांव के चारभुजा मंदिर प्रांगण में रंगारंग सांस्कृतिक संध्या का आयोजन हुआ।

पंचायती राज विभाग के संयुक्त निदेशक गौरव चतुर्वेदी, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कमर चौधरी तथा पंचायत समिति के विकास अधिकारी केदार वैष्णव की मौजूदगी में आयोजित इस सांस्कृतिक संध्या में मुक्ता काशी रंगमंच पर आकर्षक गीत-नृत्य आदि की प्रस्तुतियां दी गई। इस रंगारंग कार्यक्रम में लोक कला मंडल उदयपुर के सिद्धहस्त कलाकारों के साथ स्कूली विद्यार्थियों ने अपनी प्रस्तुतियां दी। इन प्रस्तुतियों को देखने के लिए देर रात तक ग्रामीण जमे रहे। कार्यक्रम में अतिथियो ने विद्यालय के प्रतिभावान छात्राओं व बाल दिवस के अवसर पर आयोजित  विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेता प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। साथ ही लोक कलाकारों का भी सम्मान किया गया। इस अवसर पर स्थानीय सरपंच कैलाश शर्मा, समाजसेवी पन्नालाल षर्मा राउमावि विद्यालय की प्रधानाचार्य सीमा आमेटा, पंचायत प्रसार अधिकारी राजेन्द्र शर्मा आदि मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन ख्यालीलाल जोशी ने किया।

आज आधे दिन बंद रहेगा परिवहन कार्यालय

उदयपुर, 14 नवंबर/नगर निकाय चुनाव के तहत शुक्रवार को मतदान दलों की रवानगी की गतिविधियों में विभागीय अधिकारियों और कर्मचारियों के प्रशिक्षण स्थल पर व्यस्त रहने के कारण शुक्रवार को प्रादेशिक परिवहन कार्यालय दोपहर 2 बजे तक बंद रहेगा। यह जानकारी प्रादेशिक परिवहन अधिकारी प्रकाश सिंह राठौड़ ने दी।

नगर निकाय चुनाव 2019: मतगणना 19 को सुबह 8 बजे से
कलक्टर ने लिया मतगणना तैयारियांे का जायजा, दिए आवश्यक दिशा-निर्देश

उदयपुर, 17 नवंबर/नगर निकाय चुनाव 2019 के तहत उदयपुर नगर निगम की मतगणना मंगलवार, 19 नवंबर को राजस्थान कृषि महाविद्यालय में सुबह 8 बजे से प्रारंभ होगी। वहीं कानोड नगर पालिका की मतगणना कानोड स्थित पंडित उदय जैन कॉलेज में होगी।
जिला निर्वाचन अधिकारी (कलक्टर) श्रीमती आनंदी ने रविवार को मतगणना स्थल पर पहुंचकर तैयारियों को जायजा लिया एवं मौजूद अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। इस मौके पर रिटर्निंग अधिकारी श्रीमती सौम्या झा, एआरओं अतिरिक्त जिला कलक्टर संजय कुमार, खान एवं भू विज्ञान विभाग के अतिरिक्त निदेशक हर्षसावन सुखा, जिला आबकारी अधिकारी हेमेन्द्र नागर, जनजाति परियोजना अधिकारी गीतेशश्री मालवीय सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।
इस दौरान कलक्टर ने विभिन्न व्यवस्था यथा उपस्थिति, प्रवेश, सामान्य व्यवस्थाएं, स्टोर संबंधी, भुगतान, मतगणना कार्य, आरओ-ईआरओ कक्ष, मीडिया सेंटर, एनआईसी एवं साख्यिंकी कक्ष, पुलिस एवं कानून व्यवस्था आदि का जायजा लेते हुए इनके प्रभावी संचालन एवं शांतिपूर्वक मतगणना कार्य सम्पादित करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने पुलिस अधिकारियों को कानून एवं सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त करने के भी निर्देश दिए।
मोबाइल पर प्रतिबंध
जिला निर्वाचन अधिकारी नं स्पष्ट निर्देश दिये है कि राज्य निर्वाचन विभाग कंे दिशा-निर्देशानुसार मतगणना कार्य में लगे अधिकारी, कर्मचारी, उम्मीद्वार, उनके चुनाव अभिकर्ता, गणन अभिकर्ता सहित वे सभी कार्मिक जो मतगणना भवन में प्रवेश करेंगे, अपने साथ मोबाइल नहीं ले जा सकेंगे। सिर्फ मीडिया कर्मियों को भी मीडिया सेंटर के भीतर ही मोबाइल के इस्तेमाल की छूट रहेगी। मतगणना परिसर के किसी अन्य स्थल पर मोबाइल का प्रयोग सर्वथा वर्जित रहेगा। वैध पासधारी व्यक्ति ही अपने निर्धारित प्रकोष्ठ तक प्रवेश कर सकेंगे। वहीं प्रवेश के दौरान सुरक्षा जांच की व्यवस्था रहेगी।
वार्डवार होगी मतगणना
उदयपुर नगर  निगम की मतगणना के लिए वार्ड वार कक्ष निर्धारित किये गये है। इनमें 01 से 14 तक की मतगणना महाविद्यालय के कमरा नंबर 3 (भूतल), वार्ड संख्या 15 से 28 तक की मतगणना कमरा नंबर 2 (भूतल), वार्ड 29 से 42 तक की मतगणना कमरा नंबर 4 (भूतल), वार्ड 43 से 56 तक की मतगणना कमरा नंबर 5 (भूतल) तथा वार्ड 57 से 70 तक की मतगणना कमरा नंबर 6 (भूतल) में होगी। मतगणना के लिए वार्ड 15 से 28 तक के लिए 8 टेबल लगेंगे जबकि शेष वार्ड 1 से 14, 29 से 42, 43 से 56 व वार्ड 57 से 70 की मतगणना के लिए 6-6 टेबल लगेंगे।

पक्षी पहचान प्रशिक्षण

उदयपुर, 17 नवंबर/आगामी जनवरी माह में वन विभाग की ओर से प्रस्तावित बर्ड फेस्टिवल की तैयारियों को लेकर प्रशिक्षण कार्यक्रम के तहत तीसरे रविवार को पक्षियों के आवासीय संरक्षण एवं पक्षी उद्भव एवं बर्ड इको ट्यूरिज्म पर प्रशिक्षण दिया। इस अवसर पर विभिन्न जिलों से आए 30 प्रशिक्षणार्थियों को पक्षी विशेषज्ञों ने संबंधित विषय पर जानकारी प्रदान की। कार्यक्रम में एसीएफ चन्द्रपाल सिंह, सेवानिवृत डीएफओ पी.एस.चुण्डावत, डॉ. पंकज सेन, डॉ. विजय कोहली, पक्षिविद् विनय दवे आदि ने प्रशिक्षण दिया। इसी क्रम में आगामी रविवार 24 नवंबर को प्रशिक्षणार्थियों को जंगल सफारी पार्क में फिल्ड विजट करवाकर प्रायोगिक रूप से पक्षी पहचान करवाई जाएगी। वन विभाग के इस प्रयास से पक्षी एवं पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा मिलेगा।

रूपसागर पर कराया पक्षी दर्शन
बर्ड फेस्टिवल की तैयारियों के क्रम में रविवार को शहर के रूपसागर तालाब पर विश्व प्रकृति निधि के तत्वावधान में पक्षीविद् विनय दवे द्वारा आमजन को पक्षी दर्शन कराया गया। इस तालाब पर विभिन्न प्रजातियों के प्रवासी पक्षी जैसे यूरेशियन विजियोन, कॉमन टील, गेडवाल, कॉमन पोचार्ड, नार्दन शौवलर, ब्लेकटेल गोडविड आदि का दर्शन करवाया गया। साथ ही आवासीय पक्षी जैसे वूलीनेक स्टॉक, ब्लेक आईबिस, काम्बडक, स्पोड बील डक, विसलिंग टील, रिवर टर्न, लिटिल ग्रीब, ब्लेक विंग स्टील, कोरमोरेन्ट आदि विभिन्न पक्षी बहुतायाता में पाए गए। इन पक्षियों की अटखेलियों को देखकर मौजूद लोग अभिभूत हो उठे।

बीएन गर्ल्स कॉलेज की कैडेट्स ने राजस्थान डायरेक्ट्रेट का फहराया परचम

 

उदयपुर, 17 नवम्बर/भूपाल नोबल्स विश्वविद्यालय के स्नातकोत्तर कन्या महाविद्यालय की 5 राज गर्ल्स एनसीसी कैडेट्स ने जैसलमेर में आयोजित स्पेशियल नेशलन इंटीग्रेशन शिविर में भाग लिया एवं विभिन्न प्रतियोगिताओं में श्रेष्ठ प्रदर्शन कर आठ स्वर्ण व सात रजत पदक प्राप्त कर किये। महाविद्यालय अधिष्ठाता डॉ. प्रेम सिंह रावलोत ने इस उपलब्धि के लिए सभी कैडेट्स को बधाई दी।
एनसीसी अधिकारी डॉ. अनिता राठौड़ ने बताया कि सार्जेन्ट राजेश्वरी कुंवर देवड़ा ने डीडीजी को दिखाने वाली गार्ड में चयनित होकर स्वर्ण पदक, खो-खो मंे स्वर्ण, सामूहिक नृत्य में स्वर्ण पदक व एन आइएपी में रजत पदक प्राप्त किया। सार्जेन्ट प्राची खिरिया ने एकरिंग व वाद-विवाद में रजत और सामूहिक नृत्य प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक प्राप्त किया। सार्जेन्ट भागेश्वरी सिंह राठौैड़ ने सामूहिक नृत्य प्रतियोगिता में स्वर्ण व एनआइएपी में रजत पदक प्राप्त किया। कैडेट जोधा मूमल ने खो-खो में व सामूहिक नृत्य प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक प्राप्त किया।

स्वच्छ भारत मिशन
प्रत्येक ग्राम पंचायत मुख्यालय पर विशेष शिविर 26 से 29 तक

उदयपुर, 17 नवम्बर/स्वच्छ भारत मिशन के लक्ष्य को बरकरार रखने और स्वच्छता की निरंतरता को बनाए रखने के लिए जिले की प्रत्येक ग्राम पंचायत मुख्यालय पर विशेष शिविर का आयोजन 26 से 29 नवंबर तक किया जाएगा।
जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी कमर चौधरी ने बताया कि इन शिविरों के दौरान जिले में ऐसे नवसृजित परिवार जो पूर्व में बेसलाइन सूची में नही है, उन्हें अभियान से जोड़ने का कार्य किया जाएगा तथा शौचालय निर्माण एवं स्वीकृति से शेष पात्र लाभार्थियों के आवेदन पत्र प्राप्त करते हुए यह सुनिश्चित किया जाएगा कि अब ग्राम, ग्राम पंचायत, पंचायत समिति, जिले में कोई पात्र परिवार शौचालय निर्माण आवेदन से वंचित नही है ।
सीईओ ने बताया कि स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के अन्तर्गत सम्पूर्ण स्वच्छता के लक्ष्य को वास्तविक रूप में प्राप्त कर स्वच्छता की निरन्तरता बनाये रखने हेतु जिले में शत-प्रतिशत शौचालय निर्माण का कवरेज प्राप्त किया जाना है। भारत एवं राज्य सरकार द्वारा “कोई शौचालय निर्माण से शेष नही“ के साथ प्रत्येक ग्राम के शत प्रतिशत शौचालय निर्माण सुनिश्चित किये जाने के निर्देश प्रदान किये गये है।