News

जिला स्तरीय जनसुनवाई और सतर्कता समिति की बैठक संपन्न उपखण्ड स्तरीय बैठकों में लंबित प्रकरणों की समीक्षा के दिए निर्देश

News

उदयपुर, 12 दिसंबर/जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी ने समस्त उपखण्ड अधिकारियों को कहा है कि प्रति सप्ताह उपखण्ड स्तरीय बैठकों में विभिन्न विभागीय प्रकरणों के साथ नामांतरण, आवंटन, अतिक्रमण हटाने और अन्य संबंधित प्रकरणों की समीक्षा करते हुए उनको निस्तारित करें ताकि ग्रामीणों को इन लंबित मामलों के निस्तारण के लिए जिला मुख्यालय आने की जरूरत नहीं पड़े।
जिला कलक्टर ने यह निर्देश गुरुवार को जिला स्तरीय जनसुनवाई व जिला स्तरीय सतर्कता समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुए दिए। इस मौके पर कलक्टर ने सभी जिला स्तरीय अधिकारियों एवं वीडियो कॉन्फ्रेंस से जुड़े उपखण्ड स्तरीय अधिकारियों को कहा कि वे अपने कार्यक्षेत्र में लंबित प्रकरणों की सतत मॉनिटरिंग करें और उनके निस्तारण की कार्यवाही करावें।
स्टार मार्क प्रकरणों को सर्वोच्च प्राथमिकता दें:
बैठक दौरान कलक्टर ने स्टार मार्क प्रकरणों की विभागवार समीक्षा की और इनके निस्तारण में लापरवाही पर नाराजगी जताई। उन्होंने समस्त विभागीय अधिकारियों को स्टार मार्क प्रकरणों की गंभीरता से लेने और इनके निस्तारण को सर्वोच्च प्राथमिकता पर रखकर करवाने के लिए पाबंद किया।
1 वर्ष से उपर लंबित होंगे मामले तो नोटिस:
बैठक में कलक्टर ने संपर्क समाधान पोर्टल पर लंबित मामलों की समीक्षा करते हुए एक वर्ष और इससे अधिक समय तक लंबित प्रकरणों पर नाराजगी जताई और कहा कि भविष्य में एक वर्ष से अधिक समय से लंबित मामलों पर संबंधित अधिकारी के विरूद्ध नोटिस जारी किया जाएगा।
38 परिवेदनाएं मिली, 3 का हाथों-हाथ निस्तारण:
बैठक से पूर्व आमजन की समस्याओं के त्वरित एवं समयबद्ध निस्तारण करने के साथ ही उन्हें शीघ्र राहत प्रदान करने के उद्देश्य से जिला स्तरीय जनसुनवाई का आयोजन भी हुआ। जनसुनवाई के दौरान 38 अलग-अलग परिवेदनाएं प्राप्त हुई जिनमें से 3 का मौके पर ही निस्तारण किया गया। वहीं अन्य परिवेदनाओं को दर्ज करते हुए संबंधित विभागीय अधिकारियों को प्रेषित कर उनके शीघ्र निस्तारण के निर्देश कलक्टर ने दिए। इस दौरान गोगुंदा के राणा गांव के खेल मैदान में अतिक्रमण को हटवाने, शहर की एक रिहायशी कॉलोनी में लांड्री संचालन व गैस गौदाम के होने पर हो रही परेशानियों पर कार्यवाही करने, सीवरेज से बदबू आने, नीमचखेड़ा में डामरीकरण करवाने, यूआईटी की स्वीकृति अनुरूप निर्माण नहीं करवाने पर कार्यवाही करने, अवैध खनन पर कार्यवाही करने के मामलों में सबंधित विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए गए। जनसुनवाई के दौरान बिजली, पानी, अतिक्रमण, नामांतरण, अवैध पार्किंग, पेंशन, सड़क निर्माण, भू-रुपान्तरण सहित कई प्रकार के प्रकरण प्राप्त हुए। मौके पर ही कलक्टर ने संबंधित विभागीय अधिकारियों से इन प्रकरणों के निस्तारण के संबंध में जानकारी ली और परिवादियों को राहत देने के निर्देश दिए।
बैठक दौरान कलक्टर ने राजस्थान सम्पर्क पोर्टल, सीएम हेल्पलाइन 181, सतर्कता एवं अन्य शिकायत संबंधी पोर्टल पर दर्ज प्रकरणों के संबंध में विभाग व उपखण्डवार समीक्षा की एवं इन्हे प्राथमिकता के साथ निस्तारित करने के निर्देश दिये। इस अवसर पर अतिरिक्त जिला कलक्टर ओपी बुनकर व संजय कुमार, जिला परिषद सीईओ कमर चौधरी, यूआईटी सचिव अरूण कुमार हासिजा, गिर्वा एसडीएम सौम्या झा सहित विभिन्न विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

ऑस्ट्रेलियन नेचुरोपैथी चिकित्सकों ने किया आदर्श आयुर्वेद औषधालय का अवलोकन

News

उदयपुर 12 दिसंबर/ऑस्ट्रेलिया से आई हुई नेचुरोपैथी चिकित्सकों ने उदयपुर के रोल मॉडल राजकीय आदर्श आयुर्वेद औषधालय सिंधी बाजार का अवलोकन किया। औषधालय प्रभारी वैद्य शोभालाल औदीच्य ने लिसा के नेतृत्व में आए चिकित्सकों के दल को औषधालय की गतिविधियों व औषध वितरण व्यवस्था, रिकॉर्ड कीपिंग, औषध भंडारण आदि के बारे में विस्तृत जानकारी दी। साथ ही औषधालय में चल रही पंचकर्म यूनिट में उपयोग होने वाले सभी अत्याधुनिक चिकित्सा उपकरणों तथा उनकी कार्य विधि के बारे में भी अवगत कराया। वैद्य संजय माहेश्वरी ने भी विचार रखें। चिकित्सकों ने औषधालय की व्यवस्थाओं, स्वच्छता एवं चल रही गतिविधियों का अवलोकन करते हुए उन्हें सराहा। चिकित्सकों का यह दल 16 दिसंबर को योग एवं पंचकर्म की कार्यशाला में भाग लेगा।

केन्द्रीय सचिव 16 को उदयपुर में

उदयपुर, 14 दिसंबर/भारत सरकार के भूमि संसाधन विभाग के सचिव रौल्खुम्लीन बुहरिल 16 दिसंबर की सायं 5.30 बजे वायुयान से उदयपुर आएंगे। अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) ने बताया कि केन्द्रीय सचिव 18 दिसंबर को विभाग से जुड़ी योजनाओं की समीक्षा बैठक में भाग लेगे तथा अपराह्न 3 बजे वायुयान से दिल्ली प्रस्थान कर जाएंगे।
अतिरिक्त सचिव भी आएंगे
भारत सरकार के भूमि संसाधन विभाग के अतिरिक्त सचिव सत्या ब्राटा साहू भी 16 दिसंबर की सायं 6.45 बजे वायुयान से उदयपुर आएंगे। अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) ने बताया कि वे 17 दिसंबर को वाटरशेड प्रोजेक्ट से जुड़े क्षेत्रों का भ्रमण करेंगे तथा 18 को विभाग से जुड़ी योजनाओं की समीक्षा बैठक में भाग लेगे। वे अपराह्न 3 बजे वायुयान से दिल्ली प्रस्थान कर जाएंगे।

पंचायती राज चुनाव संबंधी लॉटरी 17 को

उदयपुर, 14 दिसंबर/पंचायती राज विभाग के निर्देशानुसार माह जनवरी-फरवरी 2020 में होने वाले पंचायती राज संस्थाओं के आमचुनाव हेतु उदयपुर जिले में प्रधान, जिला परिषद सदस्य एवं पंचायत समिति सदस्यों के वार्डों का आरक्षण लॉटरी के माध्यम से 17 दिसंबर को सुबह 10 बजे जिला कलक्टर सभागार में होगा। यह जानकारी जिला निर्वाचन अधिकारी (कलक्टर) आनन्दी ने दी।

धानमंडी विद्यालय में स्पर्श जागरूकता कार्यक्रम

उदयपुर, 14 दिसंबर/सुरक्षित बचपन अभियान के अंतर्गत स्पर्श कार्यक्रम के तहत शनिवार को उदयपुर के राजकीय उच्च माध्यमिक विध्यालय धानमंडी में अध्ययनरत कक्षा 1 से 6 तक के विद्यार्थियो को सुरक्षित व असुरक्षित स्पर्श के बारे में जानकारी दी गई। कार्यक्रम में उदयपुर की स्पर्श टीम के वोलेंटीयर इरम खान, डॉ सोफिया नलवाया व यशी मेनारिया ने बच्चों को प्रोजेक्टर, स्लाइड्स व फ्लेक्स के माध्यम से सुरक्षित व असुरक्षित स्पर्श, गुड़ टच व बेड़ टच व कार्यक्रम संबंधी जानकारी दी गई। इस अवसर पर “कोमल” फिल्म भी दिखाई गई। बच्चों को 1098 चाइल्ड हेल्प लाइन के बारे में भी बताया।

राजस्थानी व्यंजन कार्यशाला फरवरी में
इन्टेक की बैठक हुए महत्वपूर्ण निर्णय

उदयपुर, 14 दिसंबर/ भारतीय सांस्कृतिक निधि (इंटेक) उदयपुर चेप्टर एवं मोहनलाल सुखाडि़या विश्वविद्यालय, इतिहास विभाग के संयुक्त तत्वावधान में आगामी फरवरी माह में सुखाडि़या विश्वविद्यालय सभागार में श्राजस्थानी व्यंजन कार्यशालाश् का आयोजन किया जाएगा।
भारतीय सांस्कृतिक निधि उदयपुर चेप्टर के संयोजक डॉ. बी.पी.भटनागर ने शुक्रवार को विद्यानगर, सेक्टर 4 में  आयोजित उदयपुर चेप्टर की कार्यकारिणी की बैठक में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इंटेक उदयपुर चैप्टर ‘विरासत‘ पत्रिका का प्रकाशन करेगा। इस पत्रिका में उदयपुर संभाग के पुरा महत्व के कम ज्ञात  स्थलों की विरासत संबंधित जानकारी प्रकाशित होगी। पत्रिका में उदयपुर चेप्टर के सदस्यों के आलेख प्रकाशित किए जाएंगे।
डॉ. भटनागर ने बताया कि इंटेक उदयपुर चेप्टर अपनी वेबसाइट भी प्रारंभ करेगा। उन्होंने बताया कि चेप्टर द्वारा दिसंबर माह के अंतिम सप्ताह में चेप्टर सदस्यों एवं उनके परिवारजनों का सम्मेलन आयोजित करेगा। इस सम्मेलन में कला, संस्कृति एवं विरासत के संरक्षण एवं संवर्धन संबंधित कार्यों पर विस्तृत विचार विमर्श किया जाएगा।
इन्टेक की उपलब्धियां
डॉ. भटनागर ने बताया कि पिछले 3 माह में 9 नए सदस्य बनाए गए। 22 अप्रैल को श्पृथ्वी दिवसश् मनाया गया। इस अवसर पर भारतीय वन सेवा के अधिकारी एवं वन्य जीव प्राणी विशेषज्ञ डॉ. जी.डी. सक्सेना ने वन्य जीवों की सुरक्षा से संबंधित प्रभावी प्रस्तुतीकरण दिया। उन्होंने बताया कि 18 मई को अंतर्राष्ट्रीय संग्रहालय दिवस मनाया गया। चेप्टर एवं मानव विज्ञान सर्वेक्षण संस्थान के संयुक्त तत्वावधान में इस दिवस पर जनजाति क्षेत्र के 80 जनजाति विद्यार्थियों को संग्रहालय की विशेषताओं से अवगत कराया गया।  इंटेक के मुख्य परामर्शदाता  विरासत विभाग, एस.के. वर्मा ने बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि 5 जून को उदयपुर चेप्टर एवं विज्ञान समिति के सहयोग से आयोजित विश्व पर्यावरण दिवस कार्यशाला सर्वश्रेष्ठ कार्यक्रम रहा। इस कार्यशाला में डॉ. देव कोठारी ने मेवाड़ क्षेत्र के पर्यावरण विषय पर अपनी वार्ता दी। वार्ता में महाराणा प्रताप के समय भी पर्यावरण को बचाए जाने संबंधित कार्य होता था। उन्होंने डॉ मिश्रा द्वारा लिखित विश्व वल्लभ पुस्तक में महाराणा प्रताप द्वारा पर्यावरण को बचाए जाने जैसी मुहिम सदस्यों से चलाने की अपील की। एस. के. वर्मा ने बताया कि 10 अगस्त को विरासत पर उदयपुर चेप्टर एवं मेवाड़ पब्लिक स्कूल के संयुक्त तत्वाधान में आयोजित प्रश्नोत्तरी कार्यक्रम में 16 विद्यालयों के 152 विद्यार्थियों ने पूरी तैयारी के साथ हिस्सा लिया। उन्होंने इसे उत्कृष्ट कार्यक्रम बताया। उन्होंने 12 अक्टूबर को चेप्टर एवं एंथोनी उच्च माध्यमिक विद्यालय द्वारा श्फड एवं लघु चित्रकारी कार्यशाला को अच्छा बताते हुए चेप्टर के सभी सदस्यों को बधाई दी।
उन्होंने बताया कि इंटेक एवं सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के संयुक्त तत्वावधान में सूचना केंद्र की कला दीर्घा में 5 से 11 नवंबर तक इंटेक की 35 वर्षों की विकास यात्रा नामक चित्र प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। प्रदर्शनी का उद्घाटन सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के उपनिदेशक कमलेश शर्मा ने किया। प्रदर्शनी आयोजन में महाराणा मेवाड़ पब्लिक स्कूल के प्राचार्य संजय दत्ता एवं सेंट एंथोनी उच्च माध्यमिक विद्यालय के प्राचार्य विलियम डिसूजा ने प्रदर्शनी आयोजन में सहयोग दिया। इस प्रदर्शनी में इंटेक के 1984 से 2019 तक के श्रेष्ठ कार्यों के छायाचित्र प्रदर्शित किए गए थे। प्रदर्शनी में अरथूना की पुरा संपदा के छायाचित्र विशेष आकर्षण का केंद्र बने। एक सप्ताह चली इस चित्र प्रदर्शनी को शहर के अधिकांश विद्यालयों एवं महाविद्यालयों के विद्यार्थियों, पुरा संपदा प्रेमियों, बुद्धिजीवियों, साहित्यकारों, पत्रकारों एवं अनेक गणमान्य नागरिकों ने देखा और सराहा। सह संयोजक गौरव सिंघवी ने कार्यकारिणी सदस्यों का आभार व्यक्त किया। कार्यकारिणी बैठक में एम. एल. नागदा, सुशील दशोरा, वी. सी. व्यास, महीप भटनागर, मुनीष गोयल एवं पन्नालाल मेघवाल ने भाग लिया।

नैत्रदान के प्रति बढ़ती जागरूकता, शनिवार को हुआ नैत्रदान

उदयपुर, 14 दिसंबर/ महाराणा भूपाल राजकीय चिकित्सालय उदयपुर में श्रीचन्द चन्दानी पिता वर्धामल निवासी सविना की मृत्यु होने पर नैत्र कांउसलर रेखा जीनगर की समझाइश पर दिवंगत चन्दानी के परिजनों द्वारा नैत्रदान की प्रक्रिया की गई। नैत्र कांउसलर रेखा जीनगर ने बताया कि ऑख का मोतियाबिन्द आपरेशन, डायबिटिज, उच्च रक्तचाप व चश्मे पहने हुए व्यक्ति भी नैत्रदान कर सकता हैै। पुतलिया निकालने का काम 15 से 20 मिनिट में मृत्यु के 6 से 8 घण्टे के भीतर कीसी भी समय हास्पिटल या घर पर भी लिया जा सकता है। नैत्रदान के लिए कभी भी मोबाइल नंबर 9784660399, 8764270752 पर सम्पर्क किया जा सकता है। आई बैंक सोसायटी आफ राजस्थान के उदयपुर चेप्टर के अध्यक्ष बी.एस.भण्डारी नें बताया इस वर्ष का 200वां नैत्रदान प्राप्त कर राजस्थान में जयपुर के बाद उदयपुर दूसरे स्थान पर है।

पंचायती राज चुनाव संबंधी लॉटरी स्थगित

उदयपुर, 16 दिसंबर/पंचायती राज संस्थाओं के आमचुनाव के तहत मंगलवार 17 दिसंबर को प्रस्तावित उदयपुर जिले में प्रधान, जिला परिषद सदस्य एवं पंचायत समिति सदस्यों की लॉटरी प्रक्रिया अपिरहार्य कारणों से स्थगित कर दी गई है। यह जानकारी उप जिला निर्वाचन अधिकारी ने दी।

विभागीय समीक्षा बैठक संपन्न
लंबित प्रकरणों को निबटावें - एडीएमफोटो संलग्न

उदयपुर, 16 दिसंबर/विभिन्न विभागों द्वारा जिले में संचालित कार्यों एवं योजनाओं की प्रगति की समीक्षा को लेकर अतिरिक्त कलक्टर (शहर) संजय कुमार ने सोमवार को बैठक ली और अधिकारियों को लंबित प्रकरणों को त्वरित गति से निबटाने के निर्देश दिए।  
उन्होंने मुख्यमंत्री कार्यालय पर होने वाली जनसुनवाई में प्राप्त होने वाले प्रकरणों पर कार्यवाही कर नियत समय में जवाब प्रेषित करने के निर्देश दिए और कहा कि यदि किसी प्रकरण के निस्तारण में समय लगने की संभावना है तो अंतरिम जवाब भी नियत समय में भेजने को पाबंद किया।
इस दौरान उन्होंने राजस्थान संपर्क पोर्टल पर दर्ज प्रकरणों के निस्तारण की समीक्षा की तथा सभी विभागों को 6 माह से ज्यादा लंबित प्रकरणों में त्वरित कार्यवाही कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। उन्होंने स्टार मार्क प्रकरणों, एक्शन उदयपुर एप पर प्राप्त प्रकरणों को निबटाने के संबंध में भी निर्देश दिए।

बीस सूत्री कार्यक्रम की भी हुई समीक्षा

इससे पूर्व बीस सूत्री कार्यक्रम क्रियान्वयन की भी समीक्षा हुई। बैठक में संबंधित विभागीय अधिकारियों से योजनाओं की प्रगति के बारे में जानकारी लेते हुए अतिरिक्त कलक्टर ने कार्यक्रम के प्रभावी क्रियान्वयन के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।बैठक में गत बैठक की अनुपालना एवं संशोधित लक्ष्य के साथ ही लक्ष्यार्जन की प्रगति पर चर्चा हुई। उन्होंने महात्मा गांधी नरेगा, श्रम विभाग, रसद विभाग, आईसीडीएस, ग्रामीण व शहरी आवास योजनाओं, टीकाकरण एवं परिवार कल्याण, वन विभाग की योजनाओं, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना, सौभाग्य योजना आदि की प्रगति की संबंधी में समीक्षा की और इन्हें और अधिक प्रभावी बनाने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए।  

वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना 2019
दुर्गापुरा से रामेश्वरम् की रेल आज होगी रवाना

उदयपुर, 16 दिसंबर/राज्य सरकार की वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना 2019 के अन्तर्गत तीर्थ यात्रा दुर्गापुरा (जयपुर) से रामेश्वरम् रेल गाड़ी 17 दिसंबर को दोपहर 1.50 बजे दुर्गापुरा (जयपुर) रेलवे स्टेशन से रवाना होगी। देवस्थान विभाग के अतिरिक्त आयुक्त ओ.पी.जैन ने बताया कि इस स्टेशन से जयपुर जिले के 206, दौसा के 39 अलवर के 53, सीकर के 47, झुंझुनू के 19, कुल 364 यात्री एवं अजमेर संभाग के टोंक जिले के 50 यात्री रेल में सवार होंगे। इन यात्रियों को प्रातः 9 बजे दुर्गापुरा (जयपुर) रेलवे स्टेशन पर पहुँचना होगा।
यह गाड़ी दुर्गापुरा (जयपुर) से रवाना होकर इसी दिन सायं 4.40 बजे सवाई माधोपुर रेलवे स्टेशन पर पहुॅचेगी। सवाई माधोपुर रेलवे स्टेशन से भरतपुर जिले के 60, धौलपुर के 19, करोली के 20, सवाई माधोपुर जिले के 76 कुल 175 वरिष्ठजन रेल में सवार होकर प्रस्थान करेंगे। सवाई माधोपुर रेलवे स्टेशन से चढ़ने वाले यात्रियों को प्रातः 11 बजे रिपोर्ट करना अनिवार्य होगा। इसके पश्चात् यह गाड़ी सायं 6.30 बजे कोटा रेलवे स्टेशन पर पहुँचेगी, जहाँ से कोटा जिले के 142, बून्दी के 51, बारां के 97, झालावाड़ के 86 कुल 376 वरिष्ठजन सहित कुल 965 वरिष्ठजन रामेश्वरम् यात्रा के लिये प्रस्थान कर जायेंगे। कोटा रेल्वे स्टेशन से चढ़ने वाले यात्रियों को दोपहर 2 बजे तक रिपोर्ट करनी होगी।
उन्होेने बताया कि इस रेलगाड़ी में सभी चयनित तीर्थ यात्रियों को व्यक्तिशः दूरभाष एवं पत्र के माध्यम से सूचित किया जा चुका है। यात्री अपने साथ ई-मित्र द्वारा भरे गये आवेदन-पत्र की हार्ड कॉपी(मय प्रमाणित चिकित्सीय प्रमाण-पत्र), मूल आधार कार्ड, भामाशाह कार्ड, दो पासपोर्ट साईज फोटो साथ लेकर आना अनिवार्य होगा, साथ ही दैनिक उपयोग की सामग्री आवश्यक औषधियाँ, व्यक्तिगत आवश्यकता हेतु नकदी, कपड़े, कम्बल,चद्दर, टॉवेल आदि साथ लाना होगा।

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष का यात्रा कार्यक्रम

उदयपुर, 16 दिसंबर/ राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष प्रियांक कानूनगो 18 दिसंबर को सुबह 7.20 बजे रेल से उदयपुर आएंगे। वे यहां से पाली और पाली से नाथद्वारा होकर सायं 6 बजे डबोक एयरपोर्ट पहुंचेंगे तथा इसी दिन सायं 7.20 बजे वायुयान से दिल्ली प्रस्थान कर जाएंगे।

ग्लोबल स्टोन टेक्नोलॉजी फोरम 19-20 को उदयपुर में
इटली के विषेषज्ञ मासिमों बताएंगे विशेष तकनीक

उदयपुर, 16 दिसंबर/ सेन्टर फॉर डवलपमेन्ट ऑफ स्टोन्स द्वारा 19 व 20 दिसम्बर को उदयपुर में आयोजित ”ग्लोबल स्टोन टेक्नोलॉजी फोरम-2019“ अन्तर्राष्ट्रीय पत्थर प्रौद्योगिकी सम्मेलन में इटली के विषेषज्ञ मासिमों द्वारा विकसित क्रेक एवं टूटे हुए स्टोन ब्लॉकस को वेक्युम बैग तथा रेजिन के द्वारा प्रोसेस कर ब्लॉक्स को पूरी तरह ठीक करने की तकनीक के बारे में जानकारी व प्रस्तुतिकरण दिया जाएगा।
सीडॉस के सीईओ मुकुल रस्तोगी ने बताया कि दो दिवसीय सम्मेलन में सीएनसी मशीन, मल्टीवायर, रोबॉटिक माईनिंग मशीनरी, एनर्जी सेविंग, वेल्यू एडि़सन, गुणवत्ता सुधार, स्टोन वेस्ट का उपयोग, रेजिन प्लान्ट, विभिन्न प्रसंस्करण मशीनें, सरफेस फिनीश, पत्थरों के रख-रखाव के केमिकल, ड्राई क्लेडिंग, खनन्  प्रसंस्करण से संबंधित नवीनतम तकनीक इत्यादि के बारे में विस्तार से चर्चा की जाएगी। सम्मेलन के एक सत्र में देश के विभिन्न क्षेत्रों से आमंत्रित ख्यातिनाम आर्किटेक्टस् के साथ संवाद का अवसर भी प्राप्त होगा।

सेवानिवृत्त उपनिदेशक व्यास के निधन पर शोकसभा

उदयपुर, 16 दिसंबर/सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के सेवानिवृत्त उपनिदेशक हरिश व्यास के निधन पर सोमवार को सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालय में एक शोक सभा का आयोजन किया गया। शोकसभा में वक्ताओं ने स्वर्गीय व्यास के उदयपुर, बांसवाड़ा, चुरू, सिरोही, जयपुर आदि जिलों में दी गई सेवाओं की सराहना करते हुए उनके व्यक्तित्व और कृतित्व पर प्रकाश डाला तथा कहा कि उनकी खेलों में खासी रूचि थी। इस मौके पर जनसंपर्क उपनिदेशक डॉ. कमलेश शर्मा, सहायक लेखाधिकारी दिनकर खमेसरा, शांतिलाल सिरोया, डॉ. कुंजन आचार्य, वीरालाल बुनकर, विनय दवे, सुनील व्यास, हीरालाल शर्मा आदि मौजूद थे।

भारी मंत्री 19 से उदयपुर प्रवास पर

उदयपुर, 17 दिसंबर/जिले के प्रभारी मंत्री एवं सामाजिक न्याय व अधिकारिता तथा आपदा प्रबंधन व सहायता विभाग के मंत्री मास्टर भंवरलाल मेघवाल 19 दिसंबर की सुबह 11.10 बजे वायुयान से उदयपुर पहुंचेंगे। वे यहां से सर्किट हाउस आएंगे तथा दोपहर 2 बजे सलुम्बर के ओडवाडि़या गांव में जनसुनवाई करेंगे। प्रभारी मंत्री 20 को राज्य सरकार का एक वर्ष का कार्यकाल पूर्ण होने के उपलक्ष्य में जिला स्तर पर आयोजित कार्यक्रम में भाग लेंगे। प्रभारी मंत्री का 19 व 20 को रात्रि विश्राम सर्किट हाउस में रहेगा। वे 21 की दोपहर 1 बजे वायुयान से जयपुर प्रस्थान कर जाएंगे।

विधानसभा अध्यक्ष का यात्रा कार्यक्रम

उदयपुर, 17 दिसंबर/राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सी.पी.जोशी 21 दिसंबर की सायं 5.30 बजे वायुयान से उदयपुर पहुंचेंगे तथा यहां से 5.40 बजे राजकीय वाहन से नाथद्वारा प्रस्थान कर जाएंगे। वे 25 दिसंबर तक नाथद्वारा प्रवास के दौरान विभिन्न स्थानीय कार्यक्रमों में शिरकत करेंगे तथा 26 दिसंबर की दोपहर 12 बजे डबोक एयरपोर्ट पहुंचकर 1 बजे वायुयान से जयपुर के लिए प्रस्थान कर जाएंगे।

दो दिवसीय स्टोन स्टोन टेक्नोलॉजी क्रान्फ्रेस 19 से

उदयपुर, 17 दिसंबर/सेन्टर फॉर डवलपमेन्ट ऑफ स्टोन्स द्वारा आयोजित की जा रही दो दिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय स्टोन टेक्नोलोजी क्रान्फेस उदयपुर चेम्बर ऑफ कामर्स एण्ड़ इण्डस्ट्रीज, उदयपुर के पी.पी. सिंघल आडिटोरियम में 19 दिसंबर से प्रारम्भ होगी।
सीडॉस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी मुकुल रस्तोगी ने बताया कि सम्मेलन में इटली के विषेषज्ञ मासिमों द्वारा विकसित क्रेक एवं टूटे हुए स्टोन ब्लॉकस को वेक्युम बैग तथा रेजिन के द्वारा प्रोसेस कर ब्लॉक्स को पूरी तरह ठीक करने की तकनीक के बारे में जानकारी व प्रस्तुतिकरण दिया जाएगा।
दो दिवसीय कार्यक्रम में स्टोन खनन-प्रसंस्करण, मशीनरी-टूल्स से सम्बधित उदयपुर-राजसमंद, चित्तोड़गढ, आबू-रोड़, जालोर एवं आसपास के स्टोन के क्षेत्रों के उद्यमियों को आमंत्रित किया गया है। कार्यक्रम में भाग लेने के लिये स्पॉट रजिस्ट्रेशन की सुविधा उपलब्ध रहेगी।

कड़ाके के सर्दी के मद्देनजर के जिले के विद्यालयों का समय बदला

उदयपुर, 17 दिसंबर/जिले में कड़ाके की सर्दी के मद्देनजर जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी ने एक आदेश जारी कर 24 दिसंबर तक जिले के राजकीय, निजी एवं सीबीएसई से मान्यता प्राप्त विद्यालयों में कक्षा नर्सरी से 12 तक के विद्यार्थियों का समय परिवर्तित कर 9 से 2 बजे तक किया है। यह आदेश इन विद्यालयों पर तत्काल प्रभाव से लागू होगा। विद्यालय स्टाफ का समय शिविर पंचाग के अनुसार रहेगा।

राज्य सरकार के एक वर्ष पर विविध कार्यक्रमों के लिए तैयारी बैठक संपन्न

उदयपुर, 17 दिसंबर/वर्तमान राज्य सरकार के एक वर्ष पूर्ण होने के उपलक्ष में जिले में 20 दिसंबर से प्रारंभ होने वाले तीन दिवसीय कार्यक्रमों के सफल आयोजन के लिए तैयारी बैठक अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) संजय कुमार की अध्यक्षता में मंगलवार को आयोजित की गई।
बैठक में एडीएम ने 20 दिसंबर को जिला स्तरीय कार्यक्रम के शुभारंभ में रूप में आयोजित होने वाली रन फॉर निरोगी राजस्थान के आयोजन में 500 से 1000 विद्यार्थियों व आमनागरिकों की दौड़ के लिए समस्त संबंधित विभागीय अधिकारियों को तैयारियां करने के निर्देश दिए। उन्होंने पीपी सिंघल मार्ग से फतहसागर देवाली छोर तक आयोजित होने वाली इस दौड़ में विद्यार्थियों और आमजनों की उपस्थिति के लिए विभागीय अधिकारियों को व्यवस्थाएं करने के निर्देश दिए। इसी प्रकार 20 को ही निरोगी राजस्थान जागरूकता कार्यशाला के आयोजन के लिए चिकित्सा व स्वास्थ्य तथा आयुर्वेद विभागीय अधिकारियों को तैयारियां करने को निर्देशित किया गया। इसी प्रकार सूचना केन्द्र में ‘वर्ष एक, फैसले अनेक’ विषयक  तीन दिवसीय जिला स्तरीय प्रदर्शनी के साथ विभागीय स्टॉल्स को लगाने के लिए संबंधित विभागों को दायित्व सौंपे गए। इसी प्रकार जिला दर्शन पुस्तिका के प्रकाशन, 21 व 22 दिसंबर को ब्लॉक स्तरीय कार्यक्रमांे के आयोजन  के लिए भी अधिकारियों को निर्देश दिए गए।
बैठक में नगर निगम उपायुक्त अनिल शर्मा, मुख्य आयोजना अधिकारी पुनीत शर्मा सहित समस्त संबंधित विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

पीडि़त प्रतिकर स्कीम की बैठक आयोजित

उदयपुर, 17 दिसंबर/राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, जयपुर के निर्देशन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अध्यक्ष रविन्द्र कुमार माहेश्वरी की अध्यक्षता में मंगलवार को पीडित प्रतिकर स्कीम की बैठक आयोजित की गई ।
बैठक न्यायाधीश अरूण कुमार दूबे, रमाशंकर वर्मा, भंवरलाल बुगालिया, बृजेन्द्र रावत, जिला मजिस्ट्रेट श्रीमती आंनदी, जिला पुलिस अधीक्षक कैलाश चन्द्र विश्नोई, प्राधिकरण सचिव श्रीमती रिद्धिमा शर्मा, बार एसोसिएशन अध्यक्ष भरत वैष्णव, राजकीय अभिभाषक कपिल टोडावत मौजूद रहे।
प्राधिकरण सचिव ने बताया कि पोक्सों के 11 प्रकरणों में 29,75,000 रुपये व हत्या के 10 प्रकरणों में 30,00,000 रुपये अंतिम प्रतिकर के रूप में स्वीकृत किये गए। साथ ही हत्या के एक प्रकरण में 1,00,000 रुपये का अंतरिम प्रतिकर स्वीकृत किया गया। दहेज मृत्यु के 3 प्रकरणों में 7,00,000 रुपयें व बलात्कार के 3 प्रकरणों में 6,25,000 रुपयें अंतिम प्रतिकर के रूप में स्वीकृत किये गए। श्रीमती शर्मा ने बताया कि ऐसिड अटैक, बलात्संग, हत्या, पोक्सों एवं आत्महत्या के प्रकरणों में पीडित प्रतिकर के तहत मुआवजा राशि पीडित एवं पीडित पक्षकार के आश्रितों को दी जाती है।

शिक्षकों की वरिष्ठता निर्माण संबंधी सूचना 19 तक मांगी

उदयपुर, 17 दिसंबर/जिले में कार्यरत समस्त वरिष्ठ अध्यापक एवं वरिष्ठ शारीरिक शिक्षक जिनकी नियुक्ति एवं पदोन्नति सत्र 2014-15 से 2015-16 तक की है, वे वरिष्ठता संबंधी सूचना निर्धारित प्रारूप 23 कॉलम में भरकर 19 दिसंबर तक जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक उदयपुर कार्यालय में भिजवाना सुनिश्चित करें। डीईओ भरत कुमार जोशी ने बताया कि विभागीय निर्देशानुसार इस अवधि के वरिष्ठ अध्यापक एवं वरिष्ठ शारिरीक शिक्षक की वरिष्ठता निर्माण किया जाना है।

पंचायती राज चुनाव संबंधी लॉटरी आज

उदयपुर, 17 दिसंबर/पंचायती राज विभाग के निर्देशानुसार माह जनवरी-फरवरी 2020 में होने वाले पंचायती राज संस्थाओं के आमचुनाव हेतु उदयपुर जिले में प्रधान, जिला परिषद सदस्य एवं पंचायत समिति सदस्यों के वार्डों का आरक्षण लॉटरी के माध्यम से 18 दिसंबर को अपराह्न 3 बजे जिला कलक्टर सभागार में होगा।

पशुपालन विभाग की संभाग स्तरीय कार्यशाला

उदयपुर, 17 दिसंबर/पशुपालन विभाग उदयपुर द्वारा पीपीआर रोग नियंत्रण संबंधी संभाग स्तरीय कार्यशाला 20 दिसंबर को चेतक सर्कल स्थित पशुपालन में आयोजित होगी।
अतिरिक्त निदेशक पशुपालन डॉ ललित जोशी ने बताया कि कार्यशाला में पशुपालन विभाग के निदेशक डॉ. शैलेश शर्मा मार्गदर्शन करेंगे। उदयपुर संभाग से डॉ शरद अरोड़ा, डॉ शक्ति सिंह, डॉ. दत्तात्रेय चौधरी, डॉ. चंद्रशेखर भटनागर, डॉ. भूपेंद्र भारद्वाज, डॉ सुरेंद्र छंगानी, डॉ अविनाश, डॉ. मथुरा लाल धाकड़, डॉ. दीनदयाल मीणा, डॉ सविता मीणा, डॉ विजय माने आदि भाग लेंगे।

शिल्पग्राम उत्सव 21 से: 21 राज्यों के कलाकार भाग लेंगे,
राज्यपाल करेंगे उद्घाटन

उदयपुर, 17 दिसंबर/ग्राम्य जनजीवन और लोक कलाओं को जनता के मध्य लाने, पारंपरिक शिल्प कला एवं लोक कलाओं के प्रोत्साहन के उद्देश्य से पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र 21 से 30 दिसम्बर तक उदयपुर के शिल्पग्राम में राष्ट्रीय हस्त शिल्प एवं लोक कला उत्सव ‘‘शिल्पग्राम उत्सव’’ का आयोजन करेगा जिसमें 21 राज्यों के 700 लोक कलाकार व 21 राज्यों के 800 शिल्पकार भाग लेंगे। उत्सव का उद्घाटन 21 दिसम्बर को राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र करेंगे। राज्य के कला एवं संस्कृति मंत्री डॉ. बी.डी. कल्ला कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे तथा सांसद अर्जुनलाल मीणा तथा उदयपुर शहर विधायक गुलाबचंद कटारिया विशिष्ट अतिथि होंगे।
केन्द्र के प्रभारी निदेशक सुधांशु सिंह ने मंगलवार को शिल्पग्राम में आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेन्स में उत्सव की जानकारी देते हुए बताया कि देश के विभिन्न अंचलों में शिल्प सृजन करने वाले शिल्पकारों को शिल्प कला का प्रदर्शन करने तथा कलात्मक उत्पादों के लिये बिना मध्यस्थ के बाजार उपलब्ध करवाने के ध्येय एवं लोक कलाकारों को कला प्रदर्शन का अवसर उपलब्ध करवाने के लिये केन्द्र द्वारा हर वर्ष इस उत्सव का आयोजन किया जाता है। उन्होंने बताया कि भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय, विकास आयुक्त हथकरघा, नई दिल्ली, विकास आयुक्त हस्तशिल्प राष्ट्रीय पटसन बोर्ड, ट्राइफेड तथा क्षेत्रीय सांस्कृतिक केन्द्रों के सहयोग से आयोजित इस उत्सव में देश के विभिन्न राज्यों के एक हजार से ज्यादा लोक कलाकार व शिल्पकार तथा व्यंजन के शिल्पी भाग लेंगे।
उन्होंने बताया कि उत्सव के दौरान रोजाना सुबह 12. बजे हाट बाजार प्रारम्भ होगा जहा शिल्पकार कलात्मक वस्तुओं के प्रदर्शन के साथ-साथ उसका बेचान भी करेंगे। हाट बाजार में ही लोक कलाकारों द्वारा विभिन्न थड़ों पर कला प्रस्तुतियाँ दी जावेंगी। उन्होंने बताया कि उत्सव में 23 व 24 दिसम्बर को बंजारा रंगमंच पर भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय की युवा प्रतिभा लोक कला पुरस्कार योजना की राजस्थान राज्य की प्रतियोगिताएँ होंगी। इसी मंच पर 25 से 29 दिसम्बर तक ‘‘हिवड़ा री हूक-यानि दिल चाहता है..’’ में आगंतुकों को कला प्रदर्शन के लिये मंच उपलब्ध करवाया जायेगा। इसी मंच पर सांस्कृतिक प्रश्नोत्तरी का आयोजन भी होगा। उत्सव में रोजाना शाम 6 बजे से मुक्ताकाशी रंगमंच ‘‘कलांगन’’ पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन होगा।
उत्सव के पहले दिन 21 दिसम्बर को विशेष कोरियोग्राफ कार्यक्रम होगा। इस कार्यक्रम की कोरियोग्रीफी प्रसिद्ध रंगकर्मी पद्मश्री बंसी कौल द्वारा की जावेगी।
श्री सिंह ने बताया कि उत्सव में 21 से 23 दिसम्बर तक बाई मेजेयी (नागालैण्ड), शास्त्रीय नृत्य ऑडीसी, गोटीपुवा, संबलपुरी (ऑडीशा), चेराव (मिजोरम), लाय हरोबा, थांग-ता, पुंग चोलम (मणिपुर), छाऊ (झारखण्ड), खोलवादन (पश्चिम बंगाल), लेबांग बुमिनी (त्रिपुरा), ढाल थुंगरी, बारदोई सिकला व लोक वाद्य (असम), पारंपरिक परिधान प्रदर्शन.
24 व 26 दिसम्बर बस्तर फोक बैण्ड (छत्तीसगढ़), वाद्य वंृद (आंध्र प्रदेश), दक्षिण भारत के शास्त्रीय नृत्य भरतनाट्यम, कथकली, मोहिनी अट्टम, कुचीपुड़ी, माधुरी, लम्बाड़ी (तेलंगाना), लावणी (महाराष्ट्र), गणगौर (मध्य प्रदेश), वीर वीरई नटनम् (पुद्दुचेरी), पूजा कुनीथा (कर्नाटक), मलखम्भ (महाराष्ट्र)
27 व 28 दिसम्बर कथक, रौफ़ (जम्मू कश्मीर), छपेली (उत्तराखण्ड), जब्रो व फ्लॉवर(लदाख), भांगड़ा व गिद्दा (पंजाब), मयूर (राजस्थान), घूमर (हरियाणा)
29 से 30 दिसम्बर भपंग, कालबेलिया, चरी (राजस्थान), बिहू (असम), पुंग चोलम, स्टिक (मणिपुर), सिंगारी (ऑडीशा), भांगड़ा, गिद्दा (पंजाब), मेवासी (गुजरात), नटुवा (पश्चिम बंगाल), झंकार तथा वाद्य फ्युजन (महाराष्ट्र) कला शैलियाँ आमंत्रित की गई हैं।
पहले दिन 21 दिसम्बर को 3 बजे बाद प्रवेश निःशुल्क
उन्होंने बताया कि उत्सव के पहले दिन 21 दिसम्बर को दोपहर 3.00 बजे बाद लोगों के लिये प्रवेश निःशुल्क होगा। परिवहन विभाग द्वारा शहर से शिल्पग्राम हेतु आवागमन के लिये विभिन्न रूटों पर परमिट जारी किया जा रहा हैं। शिल्पग्राम उत्सव के दौरान लोगों के शिल्पग्राम आने जाने के लिये एक तरफा यातायात व्यवस्था रहेगी। चार पहिया वाहन बड़ी छोर से तथा दा पहिया वाहन रानी रोड छोर से प्रवेश कर सकेंगे।
इस वर्ष इस उत्सव का आयोजन एक नये कलेवर के साथ हो रहा है। उत्सव, त्यौहार और पर्व भारत की संस्कृति का अभिन्न अंग है। ये ही ऐसे अवसर हैं जब लोग एक साथ एक जगह एकत्र हो कर आपसी प्रेम, सद्भाव और भातृत्व भाव से नृत्य, संगीत, गायन, वादन से अपनी भावनाओं को अभिव्यक्त करते हैं। ‘‘शिल्पग्राम उत्सव-2019’’ की मुख्य विषयवस्तु (थीम) ऐसी अवधारणा को दृष्टिगत रखते हुए निर्धारित की गई है ताकि समृद्ध कला विरासत और संस्कृति के माध्यम से भारत की एकता और श्रेष्ठता को विश्व पटल पर रख कर ‘‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’’ का वास्तविक स्वरूप विश्व के सम्मुख प्रस्तुत कर सकें।
हमारी लोक कलाएँ, शिल्प परंपराएँ, हमारा खान-पान, हमारा पहनावा, आभूषण यहां तक कि हमारे आचार और विचार हमें एक सूत्र में बांधे रखने में सक्षम हैं। यही तत्व ‘‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’’ के मूल मंत्र भी हैं। ऐसे ही विचार को कलाओं और शिल्प कलाओं के रूप में ‘‘शिल्पग्राम उत्सव’’ का आयोजन 21 दिसम्बर से 30 दिसम्बर 2019 तक किया जा रहा है।
भारत सरकार का संस्कृति मंत्रालय निरन्तर इस प्रयास में हैं कि सांस्कृतिक और रचनात्मक आयोजनों के माध्यम से एक प्रांत की कलाओं और कलाकारों को अन्य प्रांतों में कला प्रदर्शन का अवसर उपलब्ध करवा कर देश वासियों अपने देश की वैविध्यपूर्ण संस्कृति से रूबरू करवा सके। इसके लिये भारत के सभी राज्यों का अन्य राज्यों के साथ सांस्कृतिक बंधन अथवा जोड़ा बनाया गया है। पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र के सदस्य राज्य राजस्थान का सांस्कृतिक बंधन पश्चिम बंगाल व असम से है, गुजरात का छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र का ऑडीशा, गोवा का झारखंड, केन्द्र शासित प्रदेश दमण व दीव का पुद्दूचेरी से बंधन (पेयरिंग) किया गया है। शिल्पग्राम उत्सव में इन प्रांतों के कलाकारों व शिल्पकारों के साथ-साथ भारत के अन्य राज्यों के कुल 800 कलाकार और शिल्पकार भाग लेंगे।
प्रमुख आकर्षण
उत्सव के लिये शिल्पग्राम परिसर को नया स्वरूप दिया गया है। पूरे परिसर को पारंपरिक परिवेश में सजाया गया है। शिल्पग्राम परिसर की सज्जा को एक नये कॉन्सैप्ट के साथ सजाया गया है। वहीं मुक्ताकाशी रंगमंच की सज्जा को पुरा महत्व के प्रासाद के आहते का स्वरूप प्रदान किया गया है।
पार्किंग क्षेत्र का विस्तार
केन्द्र द्वारा इस वर्ष पार्कंग क्षेत्र का विस्तार किया गया है जिसमें 150 वाहन अधिक पार्क किये जा सकेंगे। पार्किंग का सुव्यवस्थित किया गया है जिससे कि लोगों को असुविधा न हो।
शिल्पग्राम उत्सव के कार्यक्रमों की परिकल्पना भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय के विज़न 2020-2024 के अनुसार की गई है। ‘‘एक भारत श्रेष्ठ भारत’’ में पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र के सदस्य राज्यों की पेयरिंग (जोड़े) अन्य राज्यों से की गई है। उत्सव के पहले तीन दिन अर्थात 21-23 दिसम्बर की अवधि में पूर्वी भारत तथा पूर्वोत्तर भारत के राज्यों की कलाओं को शामिल किया गया है। 24-26 दिसम्बर की अवधि में दक्षिण भारत, 27-28 दिसम्बर को उत्तर भारत तथा 29-30 दिसम्बर को पश्चिम भारत की लोक संस्कृति की झलक देखने को मिलेगी।
शिल्प कलाओं में इस बार आदिवासी क्षेत्रों की शिल्प कलाओं पर केन्द्रित हाट बाजार होगा। इसमें विशेषकर पूर्वोत्तर भारत के राज्यों की शिल्प कलाएँ प्रमुख हैं।
हाट बाजार को 9 शिल्प क्षेत्रों में सजाया गया है। हाट बाजार के स्टॉल्स को ग्रामीण परिवेश अनुसार रखा गया है तथा इसमें शिल्पकार अपने उत्पादों को भलिभाँति सजा कर प्रदर्शित कर सकेगा।
हाट बजार में शिल्पकार शिल्प कला का सृजन करते हुए नज़र आयेंगे।
शिलपग्राम उत्सव में पहली बार बैलगाड़ी को शामिल किया गया है। उत्सव के दौरान एक गाडुलिया लोहार परिवार को आमंत्रित किया गया है जो यहां रहने के साथ-साथ अपने उत्पाद परंपरानुसार बनाते नज़र आयेंगे। बैंकों के माध्यम से सुव्यवस्थित टिकिट विक्रय सुविधा की गई है जिससे कि आगंतुकों को शिल्पग्राम में प्रवेश में असुविधा ना हो। शिल्पग्राम परिसर को ‘‘नो प्लास्टिक क्षेत्र’’ घोषित किया गया है। उत्सव के दौरान प्लास्टक/पॉलीथीन की थैलियाँ वर्जित रहेंगी। इसके अलावा शिल्पग्राम को ‘‘धूम्रपान मुक्त क्षेत्र’’ बनाया गया है। शिल्पग्राम परिसर में धूम्रपान वर्जित होगा।
स्वच्छता पर रहेगा विशेष फोकस
उत्सव के दौरान स्वच्छता पर विशेष फोकस रहेगा। आगंतुकों से भी ये अपेक्षा रहेगी वे इसमें सहयोग करें। उत्सव में लोगों को विभिन्न प्रकार के खान पान जिसमें पारंपरिक व अन्य प्रकार के व्यंजन उपलब्ध हो सकेंगे। यातायात व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिये सुव्यवस्थित ढंग से संचालित किया जावेगा। लोगों से अपेक्षा है कि वे सार्वजनिक यातायात का प्रयोग करें। उत्सव के सभी डिजाइन कार्यों के लिये उदयपुर के चित्रकार अनुराग मेहता द्वारा विभिन्न स्क्ैच केन्द्र को उपलब्ध करवाये गये है। इनके इस सहयोग के लिये केन्द्र उनके प्रति आभार व्यक्त करता है।

सहकारिता मंत्री की उदयपुर यात्रा सुपरमार्केट चित्रकूट नगर का किया शुभारम्भ

News

उदयपुर 22, दिसंबर/उदयपुर सहकारी उपभोक्ता थोक भण्डार लि. के चित्रकूट नगर स्थित सहकारी सुपरमार्केट का शुभारंभ रविवार को प्रदेश के सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने किया। इस अवसर पर मंत्री आंजना ने दीवाली कॉप फेस्ट बम्पर ड्रा के विजेताओं को पुरूस्कार वितरण भी किया।
आंजना ने भण्डार की इस लाभकारी योजना की प्रशंसा करते हुए इसे सहकारिता क्षेत्र मे महत्वपूर्ण उपलब्धि बताया। उन्होंने बताया कि सहकारिता के क्षेत्र मे कार्य करते हुए उदयपुर की जनता को कम कीमत पर गुणवत्तायुक्त सामग्री सहकारी सुपरमार्केट पर ही उपलब्ध हो सकती है। मंत्री ने बताया कि उदयपुर भण्डार की सभी योजनाएं आम उपभोक्ताओं को केन्द्रीत करके ही बनाई गई है, जिससे आज आम उपभोक्ताओं की भण्डार के प्रति विश्वास एवं निष्ठा निरन्तर बढ रही है।
कार्यक्रम के विशिष्ठ अतिथि लालसिंह झाला उदयपुर ने बताया कि उदयपुर भण्डार ने उपभोक्ताओं को उचित मूल्य पर गुणवत्तायुक्त खाद्य सामग्री उपलब्ध कराते हुए अपनी विशिष्ट पहचान आम जन मे स्थापित की है।  
भण्डार के प्रशासक एवं अतिरिक्त रजिस्ट्रार प्रेम प्रकाश माण्डोत ने भण्डार मे उपभोक्ताओं के लिये चल रही विभिन्न सुविधाओं एवं योजनाओं की जानकारी दी। महाप्रबन्धक राजकुमार खंाडिया ने भण्डार की प्रगति के बारे में बताया।  
कार्यक्रम मे मथुरेश नागदा, डेयरी चेयमेन श्रीमती गीता पटेल, उप रजिस्ट्रार जयदेव देवल, क्षे़त्रीय अंकेक्षण अधिकारी आशुतोष भट्ट, बैक एमडी आलोक चौधरी एवं सहकारिता विभाग समस्त अधिकारी व क्षेत्रवासी उपस्थित रहे।

 

 

आओ चले विद्यालय की ओर’ अभियान
उदयपुर संभाग के संस्थाप्रधानों से संवाद करेंगे शिक्षा मंत्री

उदयपुर 22 दिसंबर/राज्य के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ‘आओ चले विद्यालय की ओर’ अभियान के तहत सोमवार 23 दिसंबर को उदयपुर संभाग के समस्त माध्यमिक व उच्च माध्यमिक विद्यालयों के संस्था प्रधानों से शैक्षिक संवाद करेंगे।
संयुक्त निदेशक शिवजी गौड ने बताया कि  शहर के राजकीय फतह उच्च माध्यमिक विद्यालय प्रांगण में अपराह्न 3 बजे आयोजित होने वाले इस कार्यक्रम में उदयपुर के साथ डूंगरपुर, बांसवाड़ा, प्रतापगढ़, चित्तौड़.गढ़ एवं राजसमन्द जिलों के सीडीईओ, ब्लॉक के सीबीईओ एवं 2500 से अधिक संस्था प्रधान भाग लेंगे। सभी जिलों के संस्थाप्रधान दोपहर 12 बजे कार्यक्रम स्थल पंहुच कर अपना पंजीयन करवाएंगे जहां उन्हें परिचय पत्र भी जारी किए जाएंगे।
इस अभियान के तहत शिक्षा मंत्री का यह तीसरा शैक्षिक संवाद कार्यक्रम है इससे पूर्व 8 नवम्बर को कोटा में तथा 16 दिसम्बर को बीकानेर में यह कार्यक्रम आयोजित हो चुका है किंतु अधिकारियों की संख्या के लिहाज से यह अबतक का सबसे बड़ा कार्यक्रम होगा।
यह रहेगा यात्रा कार्यक्रम
निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार मंत्री श्री डोटासरा सोमवार को सुबह 11 बजे डबोक एयरपोर्ट पंहुचेंगे जहाँ से सीधे राउमावि बारा (गिर्वा) तथा राउमावि पीपली ब (ऋषभदेव) के नवीन विद्यालय भवन का उदघाटन कर अपराह्न 3 बजे शैक्षिक संवाद कार्यक्रम के लिए फतह स्कूल पंहुचेंगे। वे विश्राम उदयपुर में करेंगे तथा मंगलवार को आरएससीईआरटी के छात्रावास का उदघाटन करेंगे बाद में दोपहर 12 बजे पुनः हवाई मार्ग से जयपुर के लिये प्रस्थान कर जाएंगे।
यह रहेगी यातायात एवं पार्किंग व्यवस्था:
कार्यक्रम में फतह स्कूल के बालाजी मंदिर के सामने वाले गेट से दुपहिया वाहन ही प्रवेश कर सकेंगे। गेट नम्बर 3 से केवल अतिथियों के वाहन ही प्रवेश करेंगे। राजसमंद,चित्तोड़गढ़ व प्रतापगढ से आने वाले शिक्षाधिकारियों के चार पहिया वाहन कुम्हारों का भट्टा से प्रवेश कर उदियापोल-भट्टा लिंक रोड पर वाहन पार्क करेंगे तथा वही रोडवेज बस स्टैंड के पीछे बने फतह स्कूल के गेट नम्बर 4 से प्रवेश करेंगे। डूंगरपुर- बांसवाड़ा से आने वाले शिक्षाधिकारी अपने वाहन उदियापोल से कुम्हारो का भट्टा लिंक रोड पर पार्क कर  फतह स्कूल के पीछे वाले गेट नम्बर 4 से ही प्रवेश करेंगे।

  • Bhamashah
  • Rajasthan Tourism
  • Emitra
  • India Gov
  • Transaction
  • Aadhaar
  • Etaal
  • Rajasthan Portal
  • Childlineindia
  • Udaipur Police
  • Rajasthan DigiFest 2017