News

जिला प्रशासन की अपील कांटेक्ट ट्रेसिंग से करें प्रशासन की मदद

News

जिलेवासियों को कोरोना महामारी के संक्रमण से बचाव के लिए जिला प्रशासन द्वारा हर व्यक्ति को अपने संपर्कों की सूची बनाते हुए कांटेक्ट ट्रेसिंग में प्रशासन की मदद का आह्वान किया है।
जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी ने बताया कि प्रत्येक व्यक्ति एक छोटी नोटबुक या डायरी हमेशा अपने साथ रखे और हर दिन जिन-जिन व्यक्तियों के संपर्क में आए, दिनांकवार एक पन्ने पर उसका नाम लिखते जाए। इस प्रकार यदि हम कोरोना से संक्रमित होते हैं तो प्रशासन को हमारे संपर्क में आए सभी लोगों का पता लगाने में मदद मिलेगी। इसे कांटेक्ट ट्रेसिंग कहते हैं।
उन्होंने कहा है कि इसके साथ ही अपने घर एवं संस्थान के सीसीटीवी हमेशा ऑन रखें। इस संदेश को अपने आस पास अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचावें। उन्होंने स्पष्ट किया कि आमजन की हर छोटी से छोटी मदद प्रशासन के काम आएगी। इससे कई जिंदगियां बचाई जा सकती हैं और कोरोना जंग में उनका यह योगदान अहम् साबित होगा।

घर बैठे दवाईयां व परामर्श के लिए मदद करेगा ‘आयु एप’ डॉक्टर्स, मरीज व मेडिकल तीनों हुए ऑनलाइन

News

लॉकडाउन की अवधि में आमजन के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए जिला प्रशासन के निर्देशों पर आईटी विभाग की ओर से आयु एप बनाया गया है जिससे जरूरतमंद व्यक्ति घर बैठे अपनी आवश्यकतानुसार दवाईयां मंगा सकेंगे और चिकित्सक परामर्श ले सकेंगे।
आईटी उपनिदेशक शीतल अग्रवाल ने बताया कि यदि किसी को स्वास्थ्य संबंधी कोई परेशानी है तो संबंधित व्यक्ति घर बैठे ही इस मोबाइल एप के माध्यम से विशेषज्ञ डॉक्टर्सं से परामर्श पा सकते हैं। इसके अलावा दवाइयां भी घर पर ही मुहैया हो जाएंगी।
ऐसे काम करता है आयु एप
मोबाइल में आयु एप डॉउनलोड करने के लिए गूगल प्लेस्टोर पर जाएं, यहां आयु एप टाइप कर ब्लु कलर में प्लस के निशान वाले बटन पर क्लिक करें। इसके बाद इस एप में रजिस्टर करें। आयु एप से ई-परामर्श लेने के लिए ई-कंसल्ट बटन पर क्लिक करके अपनी बीमारी के लक्षण सलेक्ट करें। इसमें खांसी, जुकाम, बुखार आदि सवाल पूछे जाएंगे। जिनका जवाब देकर परामर्श लिया जा सकता है। इस एप पर व्यक्ति अपना मेडिकल रिकॉर्ड भी अपलोड कर सकते हैं। यह पूरी तरह सेफ और सुरक्षित है।
ई-परामर्श सब्मिट करने के बाद डॉक्टर असाइन होगा और सबसे पहले आयु से फोन आएगा यह सूचना देने के लिए कि कौन डॉक्टर आपका केस देख रहे है। उसके बाद डॉक्टर कॉल करके परेशानी पूछेंगे और आपके बताए लक्षणों के आधार पर ही दवाइयां लिखेंगे। डॉक्टर द्वारा लिखी दवाइयों का पर्चा भी फोन पर ही उपलब्ध हो जाएगा। जिसे आप अपने सेहत साथी (नजदीकी मेडिकल स्टोर) पर भेजकर दवाइयां मंगवा सकते हैं।
जिला प्रशासन की मेडिकल स्टोर्स से अपील:
जिला प्रशासन ने उदयपुर जिले के सभी मेडिकल स्टोर से भी अपील की है कि वह अपने फोन में सेहत साथी एप डाउनलोड करें, और इस संकटकाल में देशवासियों की मदद करें।
ऐसे डाउनलोड होगा सेहत साथी एप:
इसके लिए गूगल प्ले स्टोर पर सेहत साथी टाइप करना होगा। यहां सेहत साथी मेडकॉर्ड्स फॉर फॉर्मेसी लिखा हुआ दिखाई देगा, इस पर क्लिक करना है। डाउनलोड पश्चात आवश्यक सूचना दर्ज करने केे बाद डायरेक्ट लोगों से बात कर चेट के माध्यम से दवाइयों के ऑर्डर ले सकते हैं। इसके अतिरिक्त उदयपुर के समस्त डॉक्टरों से भी डॉक्टर्स डॉट मेडकॉर्ड्स डॉट कॉम पर रजिस्ट्रेशन करके जिले के समस्त लोगों को घर से ही परामर्श देंने की अपील की है ।

अब लोग अब घर बैठे मंगवा सकेंगे राशन आईटी विभाग ने तैयार किया ‘ई-बाजार कोविड-19’ मोबाइल एप

News


लोकडाउन की इस स्थिति में अब लोगों को घरों से निकल कर बाजार में राशन खरीदने के लिए नहीं जाना पड़ेगा। शहर में कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग ने नागरिकों के लिए घर बैठे राशन सामग्री की होम डिलीवरी हेतु ‘ई-बाजार कोविड-19’ मोबाइल एप विकसित की है।
सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग, उदयपुर की उपनिदेशक शीतल अग्रवाल ने बताया कि इस एप को  ‘कोविड डॉट ईबाजार डॉट राजस्थान डॉट जीओवी डॉट इन’ वेबसाईट से डाउनलोड किया जा सकता है तथा उपयोग करने के लिए दुकानदार तथा उपभोक्ता दोनों को स्वयं की एसएसओ आईडी से एप पर रजिस्टर करना होगा। इस एप के माध्यम से ग्राहक अपने घर के आसपास स्थित किराणा स्टोर्स की जानकारी प्राप्त कर सकेंगे तथा अपनी आवश्यकतानुसार राशन सामग्री घर बैठे ऑर्डर कर सकेंगे। होम डिलीवरी की सुविधा प्रदान करने वाले किराणा स्टोर, ऑर्डर की गई सामग्री की डिलीवरी ग्राहक के घर तक करेंगे।

जलापूर्ति प्रभावित रहेगी

उदयपुर, 6 अक्टूबर/शहर के दूध तलाई हेडवर्क्स पर संधारण कार्य के चलते बुधवार 7 अक्टूबर को संबंधित क्षेत्रों में जलापूर्ति देरी से, कम दबाव में व कम मात्रा में होगी।

जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के सहायक अभियंता ललित कुमार नागौरी ने बताया कि संबंधित क्षेत्र छबीला भैरू, भोईवाड़ा, आदर्श चौक, छोटी शीतला माता, धीम्बर भोईवाड़ा, भड़भुजा घाटी, गुन्दिया भेरू, सुथारवाड़ा, क्षोत्रियों की गली, खांजीपीर मेन रोड़, सैफी कॉलोनी, खांजीपीर, बीड़ा, रेलवे स्टेशन, कच्ची बस्ती, गोसिया कॉलोनी, महावतवाड़ी, चितौड़ो का टिम्बा, कारवाड़ी, पाट वाली गली, भूत महल, भट्टियानी चौहट्टा, सुथारों की घाटी, चिंतामणि घाटी, मीरा पार्क, जगदीश चौक, गणगौर घाट, गडि़या देवरा, गोगावतवाड़ी, वारियों की घाटी, पांडेजी की पोल आदि स्थानों पर जलापूर्ति प्रभावित रहेगी।

समाज कल्याण सप्ताह का समापन

News

उदयपुर, 7 अक्टूबर/समाज कल्याण सप्ताह में बुधवार को विशेष योग्यजन कल्याण दिवस एवं समाज कल्याण सप्ताह का समापन कार्यक्रम आशाधाम आश्रम में आयाजित हुआ।
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता उपनिदेशक मान्धाता सिंह ने साप्ताहिक प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम में आवासियों की स्वास्थ जांच की गई एवं सामाजिक कार्यकर्ता श्रीमती संगीता देथा एवं डॉ. अल्का अग्रवाल ने मास्क व सेनेटाइजर वितरित किये। आश्रम मंे फल व बिस्किट आदि वितरण किये गये। आवासी पिंकी सोनी ने सांस्कृतिक प्रस्तुति दी। कार्यक्रम में सिस्टर डेनियम, सिस्टर सिना विभागीय अधिकारी भारत भूषण नागदा उपस्थित रहे।

66वें वन्यजीव सप्ताह का समापन

News

उदयपुर, 7 अक्टूबर/वन विभाग की ओर से 66वें वन्यजीव सप्ताह का समापन एवं पारितोषिक वितरण समारोह बुधवार को मुख्य वन संरक्षक आर.के.सिंह की अध्यक्षता में आयोजित हुआ। इस अवसर पर सिंह ने वन्यजीव बचाने, आग बुझाने व लेंटाना उन्मूलन में सहयोग करने वाले कार्मिकों व स्वयंसेवकों को पुरस्कृत किया। कार्यक्रम में मुख्य वन सरंक्षक आर.के.खैरवा ने विभाग से वन्यजीव संरक्षण के कार्यक्रमों को और अधिक गति देने का आह्वान किया।
इस अवसर पर सहायक वन संरक्षक चन्द्रपाल सिंह चौहान द्वारा सप्ताह भर चलने वाली गतिविधियों की जानकारी साझा की और बताया कि सभी प्रतियोगिताएं ऑनलाइन आयोजित की गई। कार्यक्रम के दौरान कोविड-19 की गाइडलाइन की पालना के साथ ही अतिथियों द्वारा प्रतिभागियों को मास्क वितरित किए गए।
कार्यक्रम में सेवानिवृत सीसीएफ राहुल भटनागर, वन संरक्षक आर.के.जैन, प्रकृति प्रेमी उज्जवल दाधीच, क्षेत्रीय वन अधिकारी गणेशीलाल गोठवाल आदि मौजूद रहे। अंत में आभार उपवन संरक्षक अजीत ऊंचोई ने जताया। उन्होंने बताया कि वन्यजीव सप्ताहान्तर्गत ऑनलाइन प्रतियोगिता में श्रेष्ठ रहे प्रतिभागियों के प्रमाण पत्र व पुरस्कार संबंधित स्कूल में भिजवा दिए जाएंगे।

कोरोना के विरूद्ध जन आन्दोलन कोरोना पर नियंत्रण के लिए जनजागरूकता जरूरी: डॉ.परमार

News

उदयपुर, 7 अक्टूबर/खेरवाड़ा विधायक व पूर्व उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. दयाराम परमार ने कहा कि कोरोना महामारी को रोकने लिए आमजन को जागरुक करना आवश्यक है।यह बात डॉ. परमार बुधवार को कोरोना के विरुद्ध जनआंदोलन के तहत उपखण्ड खेरवाड़ा बस स्टेण्ड पर राजकीय कन्या महाविद्यालय खेरवाड़ा की छात्राओं द्वारा आयोजित कोरोना जनजागरण पखवाड़ा रैली के शुभारंभ अवसर पर कही। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी को रोकने के लिए राज्य सरकार ने जागरुकता अभियान शुरु किया है। सरकार हमें बचाने के लिए प्रभावी प्रयास कर रही है तो हमें भी सरकार की गाइडलाइन की पालना करना आवश्यक है। महाविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना के तहत आयोजित इस रैली में ‘मास्क नहीं तो प्रवेश नहीं‘, ‘बिना मास्क बाहर न जाये‘ के साथ ही कोरोना से बचाव के लिए विभिन्न जागरूकता संदेश दिए गए। यह अभियान 17 अक्टूबर तक चलेगा।

ग्राम्यांचलों तक पहुंचा ‘कोरोना के विरूद्ध जन आन्दोलन’ अधिकारियों ने अपने हाथों से पहनाएं ग्रामीणों को मास्क

News

उदयपुर, 7 अक्टूबर/मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा प्रदेश को कोरोना से बचाने के लिए प्रारंभ किया गया ‘कोरोना के विरुद्ध जन आंदोलन’ उदयपुर जिले के ग्रामीण अंचल तक पहुंच चुका है। अभियान के तहत गांव-गांव, ढाणी-ढाणी लोगों को मास्क वितरित करते हुए इसका नियमित उपयोग करने एवं सतर्कता बरतने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।
जिला कलक्टर चेतन देवड़ा के निर्देशानुसार इस आंदोलन में ब्लॉक स्तरीय अधिकारी एवं कार्मिक सक्रियता के साथ जनचेतना जगाने का कार्य कर रहे है। बुधवार को जिले के आदिवासी बहुत कोटड़ा ब्लॉक में विकास अधिकारी धनपत सिंह एवं उनकी टीम ने अपने क्षेत्र के प्रमुख स्थानों, चौराहों एवं मार्गों पर बिना मास्क के घूमने वाले राहगीरों, वाहन चालकों, फुटकर व्यापारियों को मास्क बांटे और हाथ जोड़कर उनसे आग्रह किया कि वे नियमित मास्क पहनकर ही घर से बाहर निकले।
विकास अधिकारी ने इस आंदोलन को घर-घर तक पहुंचाने के लिए संबंधित ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों-कार्मिकों एवं अन्य संस्थाओं के प्रतिनिधियों के साथ बैठक आयोजित कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।
वहीं दूसरी ओर मावली तहसील के चन्देसरा गांव में भी कोरोना के विरुद्ध जन आंदोलन के तहत मास्क वितरित कर आमजन को जागरूकता संदेश दिए गए।

जिला स्तरीय जनसुनवाई सम्पन्न सर्वोच्च प्राथमिकता पर हो ‘कोरोना के विरुद्ध जनआन्दोलन’ -कलक्टर

News

उदयपुर, 8 अक्टूबर/वर्तमान समय चुनौती से भरा है, ऐसे में खुद की सुरक्षा के साथ अन्य लोगों को भी जागरूक करना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता में हो। राज्य सरकार ने कोरोना पर नियंत्रण व बचाव के लिए कोरोना के विरुद्ध जन आंदोलन की शुरूआत की है। इस आंदोलन सम्पूर्ण जिले में प्रभावी बनाते हुए कोरोना से लड़ने व बचनें में अपनी महती भूमिका निभाने का आवश्यकता है।
यह बात जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने गुरुवार को राजस्थान सम्पर्क आईटी केन्द्र में जिला स्तरीय जनसुनवाई के दौरान मौजूद सभी जिला स्तरीय अधिकारियों एवं वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से जुड़े उपखण्ड स्तरीय अधिकारियों को कहीं। उन्होंने कहा कि गांवों की तुलना में शहरी क्षेत्र में लापरवाही के कारण संक्रमण बढ़ रहा है, ऐसे में शहरवासियों को हाथ जोड़कर मास्क पहनने, सामाजिक दूरी बनाए रखने, सेनेटाइजर का उपयोग करने एवं कोविड गाइडलाइन व प्रोटोकॉल की पालना करने का आग्रह करें। वहंी उन्होंने इस जन आंदोलन के तहत आयोजित गतिविधियों का व्यापक प्रचार-प्रसार करने की बात कही।
तसल्ली से की जनसुनवाई:
जनसुनवाई के दौरान कलक्टर ने परिवादियों की परिवेदनाओं को सुना और संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये कि प्रत्येक व्यक्ति की समस्या का समय पर निस्तारण हो। जनसुनवाई के दौरान अलग-अलग मुद्दों को लेकर विभिन्न प्रकरण प्राप्त हुए, जिनमें से कुछ का मौके पर निस्तारण करते हुए राहत प्रदान की गई। जनसुनवाई के दौरान शिकारवाड़ी क्षेत्र में जलापूर्ति सुचारू रूप से नहीं होने की समस्या पर उन्होंने संबंधित विभाग को प्रस्ताव भेजने के निर्देश दिए। इस क्षेत्र में सीवरेज व नाली की समस्या के निस्तारण हेतु नगर निगम को निर्देश दिए कि क्षेत्र में नालियांे का निर्माण करवाकर राहत प्रदान की जाए। वहीं वन विभाग की जमीन पर अतिक्रमण कर टावर लगाने की शिकायत पर कलक्टर ने संबंधित विभाग को त्वरित कार्यवाही करने को कहा।
परिवेदनाओं का ऑनलाईन त्वरित समाधान के निर्देश:
कलक्टर ने अधिकारियों को जिले में कोरोना महामारी की स्थिति को देखते हुए पूर्ण एहतियात बरतने के साथ ही पीडि़त व समस्याग्रस्त लोगों के प्रकरणों को पूरी संवेदनशीलता के साथ सुनकर निस्तारित करने के निर्देश दिये। कलक्टर ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि वर्तामन समय को देखते हुए परिवादी कार्यालयों तक नहीं आए, उनकी समस्या का समाधान ऑनलाइन ही हो जाए या ऐसी व्यवस्था की जाए जिससे भीड़ ज्यादा एकत्रित न हो, निर्धारित सख्या में ही परिवादी आपके पास आए और समय पर उनकी समस्याओं का समाधान हो जाए तो अनुकूलता रहेगी।
जनसुनवाई के दौरान सड़क, पानी, बिजली, अतिक्रमण, साफ-सफाई, स्वास्थ्य सुविधाएं आदि के संबंध में परिवादियों ने अपनी बात रखी। जिस पर जिला कलक्टर ने प्राप्त शिकायत अथवा समस्या के संबंध में संबंधित विभागीय अधिकारी से चर्चा करते हुए इनके शीघ्र निस्तारण पर जोर दिया।
कलक्टर ने जनसुनवाई के दौरान राजस्थान सम्पर्क पोर्टल व सीएम हेल्पलाइन 181 पर विभिन्न विभागों से संबंधित परिवादों की प्रगति के संबंध में भी समीक्षा की और लम्बित प्रकरणों के समय पर निस्तारण के लिए निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इन पोर्टल पर शिकायत अधिक समय तक न रहे इस बात का सभी विशेष ध्यान रखे और प्रकरण की स्थिति एवं निस्तारण के संबंध में समय समय पर अपडेट करते रहे।
 बैठक में जिला परिषद सीईओ डॉ. मंजू, अतिरिक्त जिला कलक्टर ओपी बुनकर व संजय कुमार, यूआईटी सचिव अरूण कुमार हसीजा, गिर्वा एसडीओ डॉ. सौम्या झा सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

बड़गांव पंचायत समिति मेें कोरोना के विरूद्ध जन-आन्दोलन जारी गांधीवादी तरीके से समझाकर दे रहे है जागरूकता संदेश

News

उदयपुर, 8 अक्टूबर/राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन के निर्देशानुसार कोरोना महामारी से बचाव व रोकथाम के लिये पंचायत समिति बड़गॉव की समस्त ग्राम पंचायतों में कोरोना के विरूद्ध जन-आन्दोलन जारी है।
विकास अधिकारी जितेन्द्र सिंह सान्दू ने बताया कि पंचायत समिति कार्यालय के साथ ही सभी ग्राम पंचायतों के समस्त राजकीय कार्यालयों के बाहर ‘नो मास्क नो एन्ट्री’ के बोर्ड व चित्रों के माध्यम से आमजन को प्रेरित किया जा रहा है। साथ ही समस्त ग्राम पंचायतों में कोरोना जागरूकता रथ द्वारा प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। समस्त ग्राम पंचायतों में इस जन आन्दोलन का संचालन ग्राम पंचायत स्तरीय समिति द्वारा गांधीवादी तरीके से समझाइश कर किया जा रहा है। सार्वजनिक स्थानों पर जागरूकता अभियान के दौरान हेल्थ प्रोटोकॉल यथा मास्क पहनने की जानकारी देना, उचित दूरी बनाये रखने व भीड भाड से दूर रहने के नियम की अनिवार्यता में व्यवसायिक प्रतिष्ठानो एवं उचित मूल्य की दुकानो के बाहर सोशल डिस्टेसिंग हेतु दो गज की दूरी पर गोले बनाने तथा रस्सी बांधने, बार-बार हाथ धोने की पालना के संदेश दिये जा रहे है। साथ ही ग्राम पंचायत स्तरीय समिति के द्वारा लोगो से घर-घर जाकर भी जागरूक किया जा रहा है। इस आन्दोलन में राजीविका के महिला स्वयं सहायता समूह भी पूर्ण सहयोग दे रहे है। कविता गांव के स्वयं सहायता समूह द्वारा कपडे के मास्क बनाने का कार्य जारी है।

स्वतछता के प्रति जागरूक करती स्वच्छता प्रदर्शनी

News

उदयपुर, 10 अक्टूबर/जिले के सेमारी पंचायत समिति में शनिवार को स्वच्छता पखवाड़े के तहत स्वच्छता प्रदर्शनी का आयोजन किया गया।

पंचायत समिति विकास अधिकारी रमेश मीणा ने बताया कि स्वच्छता पखवाड़ा के तहत आयोजित इस प्रदर्शनी का मुख्य उद्देश्य आमजन को स्वच्छता के प्रति प्रेरित करना है। इस प्रदर्शनी में विभिन्न पोस्टर्स, बेनर आदि में स्वच्छता के लिए जागरूकता संदेश दिया गया। वहीं स्थानीय प्रतिभाओं ने महात्मा गांधी का अभिनय कर जीवन में स्वच्छता का महत्व भी बताया।

कलक्टर ने किया “देख इधर भी जरा जिन्दगी” गजल-संग्रह का लोकार्पण

News

उदयपुर, 10 अक्टूबर/शहर के बाल-रचनाकार और पेशे से चिकित्सक डॉ. गोपाल राजगोपाल के नवीन गजल-संग्रह ‘देख इधर भी जरा जिन्दगी’ का लोकार्पण जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने किया। इस गजल-संग्रह में 81 गजलें शामिल की गयी हैं जिसकी भूमिका मकबूल शायर खुर्शीद नवाब ने लिखी है.। इस अवसर पर एडीएम प्रशासन ओ.पी.बुनकर, आरएनटी प्राचार्य एवं नियंत्रक डॉ. लाखन पोसवाल सहित, अतिरिक्त प्रधानाचार्य डॉ.ए.के.वर्मा, डॉ. ललित रैगर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.दिनेश खराड़ी, चांदपोल सेटेलाइट अधीक्षक डॉ. राहुल जैन व श्रीमती राजकुमारी भी उपस्थित थे।

पंचायत चुनाव 2020 चतुर्थ चरण का मतदान शांतिपूर्ण सम्पन्न कोविड-19 की गाइडलाइन की पालना के साथ किया मताधिकार का प्रयोग

News

उदयपुर, 10 अक्टूबर/पंचायत चुनाव 2020 के तहत शनिवार को जिले में चतुर्थ चरण में पंचायत समिति सेमारी, जयसमंदए वं सराड़ा की ग्राम पंचायतों में पंच-सरपंच का मतदान शांतिपूर्ण सम्पन्न हुआ।

जिला निर्वाचन अधिकारी चेतन देवड़ा ने बताया कि कोरोना महामारी के दृष्टिगत मतदाताओं ने कोविड 19 की गाइडलाइन व प्रोटोकॉल की पालना करते हुए मताधिकार का प्रयोग किया। राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन के निर्देशानुसार सभी मतदान केन्द्रों पर कोविड-19 की गाइडलाइन व प्रोटोकॉल की पूर्ण पालना सुनिश्चित की गई। सभी मतदान केन्द्रों पर सोशल डिस्टेंशिंग की पालना सुनिश्चित करने हेतु निर्धारित दूरी पर गोले बनाए गए थे वहीं मतदान दल के कार्मिक बूथ पर आने वाले मतदाताओं के हाथ सेनेटाइजर से धुलाते दिखाई दिये। अधिकारियों-कार्मिकों सहित मतदाता भी मास्क का प्रयोग कर अपने कर्तव्य को निभाने आए थे। कलक्टर ने मतदान दलों द्वारा की गई व्यवस्थाओं को सराहा। हर वर्ग मतदान को लेकर उत्साहित दिखा।
78.13 प्रतिशत मतदान दर्ज
पंचायत चुनाव के चतुर्थ चरण के तहत जिले की तीन पंचायत समितियों में 78.13 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया। जिला निर्वाचन कार्यालय से प्राप्त सूचनानुसार सेमारी में 77.78 प्रतिशत, सराड़ा में 79.12 प्रतिशत एवं जयसमन्द में 77.47 प्रतिशत मतदान दर्ज हुआ।

खेरवाड़ा प्रकरण की जांच गृह सचिव करेंगे


उदयपुर 10 अक्टूबरध्जिले के खेरवाड़ा कस्बे में गत दिनों राजमार्ग जाम करने और हिंसा के प्रकरण की जांच राज्य सरकार के निर्णय अनुसार प्रदेश के गृह सचिव द्वारा की जा रही है।
जिला मजिस्ट्रेट (कलक्टर) चेतन देवड़ा ने बताया कि गत 24 से 26 सितंबर 2020 को डूंगरपुर व उदयपुर जिले के खेरवाड़ा में प्रदर्शनकारियों के उग्र होने से राश्ट्रीय राजमार्ग को अवरूद्ध करने, पत्थरबाजी व हिंसा के दौरान पुलिस फायरिंग की घटना की जांच गृह संचिव करेंगे। उन्होंने सर्वसाधारण को सूचित किया है कि इस संबंध में कोई भी प्रत्यक्षदर्शी या आमजन जो इस घटना के संबंध में जानकारी, बयान या साक्ष्य रखता हो वो 12 अक्टूबर को सुबह 10 से 6 बजे तक पंचायत समिति खेरवाड़ा में उपस्थित होकर गृह सचिव को प्रस्तुत कर सकता है।

आश्रम छात्रावासों, आवासीय विद्यालयों एवं माँ-बाड़ी केन्द्रों में स्थापित होंगे
सुपोषण वाटिका व पंचफल उद्यान
जनजाति मंत्री ने स्वीकृत की 1.82 करोड़ रूपयें की कार्ययोजना- एसीएस टीएडी


उदयपुर, 12 अक्टूबर/जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग द्वारा संचालित आवासीय विद्यालयों, आश्रम छात्रावासों, खेल छात्रावासों तथा माँ-बाड़ी केन्द्रों में निवासरत विद्यार्थियों की पौष्टिक आहार संबंधी जरूरतों को पूरा करने के लिए सुपोषण वाटिकाएँ एवं पंचफल उद्यान स्थापित किये जायेंगे। जनजाति मंत्री अर्जुन सिंह बामनिया ने इस हेतु रू. 1.82 करोड़ की परियोजना मंजूर की है।
जनजाति क्षेत्रीय विकास विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजेश्वर सिंह ने बताया कि इससे विद्यालयों एवं छात्रावासों मंे वर्ष पर्यन्त फल और सब्जियों की उपलब्धता बनी रहेगी व किचन/भोजन के वेस्ट का उपयोग कम्पोस्ट पिट में किया जाकर जैविक खाद का निर्माण होगा, जिससे उत्पादित सब्जियाँ व फल रसायन रहित व पौष्टिक होंगे।
उन्होंने बताया कि पंचफल उद्यान के अंतर्गत पपीता, सीताफल, अमरूद, सहजन, चीकू, आम, नींबू तथा सुपोषण वाटिका में बैंगन, टमाटर, मिर्च, भिन्डी, फूलगोभी, पत्तागोभी, गाजर, मूली, लौकी, तरोई, मटर, सेमफली, कद्दू, पालक, धनिया तथा मैथी आदि के पौधे लगाए जाएँगे।
श्री सिंह ने बताया कि 36 विद्यालयों में से प्रत्येक में सुपोषण वाटिका एवं पंचफल उद्यान 5,000 वर्गमीटर भूमि में विकसित की जाएगी जिस पर लगभग 37 लाख रुपये तथा 398 छात्रावासों में प्रत्येक में 500 वर्गमीटर भूमि विकसित की जाएगी जिस पर लगभग 131 लाख रुपये व्यय होंगे। इसी प्रकार चारदीवारी युक्त 350 माँ-बाड़ी केन्द्रों में प्रत्येक में 50 वर्गमीटर भूमि में यह वाटिका व उद्यान लगाए जाएँगे, जिस पर कुल 14 लाख रुपये का व्यय होगा।

कोरोना के विरूद्ध जनआंदोलन
भीण्डर तहसीलदार ने मजदूर परिवारों को बांटे मास्क

 

उदयपुर, 12 अक्टूबर/मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा प्रदेश को कोरोना से बचाने के लिए प्रारंभ किये गये ‘कोरोना के विरुद्ध जन आंदोलन’ को सफल बनाने के लिए जिला प्रशासन पूर्ण मुस्तैदी से कार्य कर रहा है। जिला कलक्टर चेतन देवड़ा के निर्देशानुसार इस आंदोलन में ब्लॉक स्तरीय अधिकारी एवं कार्मिक सक्रियता के साथ जनचेतना जगाने का कार्य कर रहे है।
इसी कड़ी में सोमवार को भीण्डर तहसीलदार रामसिंह राव ने मजदूर परिवारों एवं उनके बच्चों को मास्क वितरित किए। तहसीलदार ने बताया कि वे कस्बे के निरीक्षण पर जा रहे थे, तभी मार्ग में मजदूर परिवारों से भरा एक वाहन उन्हें मिला, जिसमे सवार किसी भी व्यक्ति ने मास्क नहीं पहन रखा था। इसमें मजदूरों के बच्चें भी शामिल थे। इस पर तहसीलदार ने समीप की दुकान से मास्क खरीदकर सभी को मास्क प्रदान किए और आगे से नियमित मास्क पहनने एवं विशेषकर बच्चों को बिना मास्क के बाहर नहीं ले जाने का आह्वान किया।

दो दिवसीय स्वीप वर्कशाप 14-15 को


उदयपुर, 12 अक्टूबर/मुख्य निर्वाचन अधिकारी नई दिल्ली द्वारा दो दिवसीय स्वीप वर्कशॉप का आयोजन 14 व 15 अक्टूबर को वेबीनार के माध्यम से किया जाएगा। उप जिला निर्वाचन अधिकारी (एडीएम प्रशासन) ओ.पी.बुनकर ने संबंधित अधिकारियों-प्रतिनिधियों को निर्धारित कार्यक्रम अनुसार इस बेवीनार में भाग लेने एवं स्वीप गतिविधियों को प्रभावी बनाने के निर्देश दिए है।

राबाउमावि की 7 छात्राओं को सुपर स्टूडेंट अवार्ड

 

उदयपुर, 12 अक्टूबर/शहर के सुंदरवास स्थित राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय की 7 छात्राआंे को पेसिफिक कॉलेज की ओर से सुपर स्टूडेंट अवार्ड 2020 से नवाजा गया।
प्रधानाचार्य श्रीमती सरस्वती माहेश्वरी ने बताया कि खेल में राज्य स्तर पर कक्षा 12 की दीपिका पंवार एवं गाइड प्रवृत्ति में राज्य पुरस्कार विजेता सुश्री सुरभि वसीटा, सना फातमा, वर्षा लौहार व अंजलि साहू तथा कक्षा 10 की हर्षिता सालवी व काजल मण्डल को सुपर स्टूडेट अवार्ड 2020 से नवाजा गया। इस अवसर पर गाइडर श्रीमती किरण पोखरना व शारिरीक शिक्षिका श्रीमती मीना चौधरी भी मौजूद रहे।

आरएससीईआरटी की पहल
प्राथमिक कक्षाओं के लिए ऑनलाइन प्रशिक्षण कोर्स का लॉन्च


उदयपुर, 12 अक्टूबर/आरएससीईआरटी के दीक्षा पोर्टल पर कक्षा 1 से 5 के लिए प्राथमिक कक्षाओं के स्तर पर भाषा शिक्षण के तरीकों को समझने के ऑनलाइन प्रशिक्षण कोर्स का लॉन्च सोमवार को वीसी के माध्यम से किया। यह कोर्स कक्षा 1 से 5 तक को पढ़ाने वाले सभी शिक्षकों को करना अनिवार्य है।
आरएससीईआरटी निदेशक प्रियंका जोधावत ने बताया कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 में बुनियादी भाषा एवं गणितिय कौशल पर विशेष जोर दिया गया है। इस क्रम में आरएससीईआरटी ने पहल करते हुए यूनिसेफ एवं एलएलएफ के तकनीकी सहयोग से प्राथमिक कक्षाओं में हिन्दी भाषा शिक्षण पर 5 मॉड्यूल्स के एक कोर्स का निर्माण किया है। इस कोर्स में भाषा शिक्षण से जुड़ी  विभिन्न अवधारणाओं, जैसे - बच्चों के घर की भाषा, मौखिक भाषा विकास, डिकोडिंग के व्यवस्थित शिक्षण, पठन और लेखन को समझने में षिक्षकों की मदद करेंगे। यह प्रशिक्षण कोर्स भाषा शिक्षण की अवधारणाओं से जुड़ी विभिन्न रणनीतियों, गतिविधियों और टी.एल. एम. निर्माण के बारे में भी शिक्षकों को जानकारी देगा जिससे उन्हें कक्षाओं के अनुरूप बेहतर योजना बनाकर विद्यार्थियों का शैक्षिक उन्नयन करने में उपयोगी रहेगा। उन्होंने कहा कि हमने कोविड-19 की महामारी के इस चुनौतीपूर्ण समय को शिक्षकों के क्षमता संर्वधन के लिए अवसर के रूप में बदलने के लिए किए जा रहे नचाचारी प्रयासों में से एक है।
इस अवसर पर राजस्थान प्राथमिक शिक्षा परिषद् के वरिष्ठ अधिकारी, यूनिसेफ के प्रतिनिधि एवं समस्त जिलों के एडीपीसी एवं प्रषिक्षण प्रभारी उपस्थित रहे।

नगरपालिका चुनाव - वार्डों के आरक्षण के लिए लॉटरी प्रक्रिया सम्पन्न
जिला निर्वाचन अधिकारी ने निकाली लॉटरी

 

उदयपुर, 13 अक्टूबर/स्वायत्त शासन विभाग के निर्देशानुसार जिले में नगरपालिका भीण्डर, सलूंबर एवं फतहनगर-सनवाड़ के आगामी आमचुनावों हेतु वार्डों के वर्गवार आरक्षण एवं महिला आरक्षण की लॉटरी प्रक्रिया मंगलवार को जिला निर्वाचन अधिकारी (कलक्टर) चेतन देवड़ा की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई।
लॉटरी के दौरान सलूम्बर में वार्ड संख्या 1, 2, 3, 4, 7, 11, 19, 20, 21, 22 व 25 सामान्य, 5, 8, 12, 16 व 24 सामान्य महिला, वार्ड संख्या 6, 10 व 18 ओबीसी व वार्ड संख्या 9 व 17 ओबीसी महिला, वार्ड संख्या 14 व 15 एससी व वार्ड संख्या 23 एससी महिला तथा वार्ड संख्या 13 एसटी वर्ग के लिए आरक्षित रखा गया है।
इसी प्रकार फतहनगर नगरपालिका में वार्ड संख्या 1, 8, 10, 14, 18, 19, 21, 24 व 25 सामान्य, वार्ड संख्या 9, 15, 16 व 17 सामान्य महिला, वार्ड संख्या 2, 4 व 7 ओबीसी व वार्ड संख्या 20 व 22 ओबीसी महिला, वार्ड संख्या 3, 6 व 12 एससी व वार्ड संख्या 23 एससी महिला, वार्ड संख्या 11 व 13 एसटी व वार्ड संख्या 5 एसटी महिला के लिए आरक्षित किया गया है।
वहीं भीण्डर में वार्ड संख्या 2, 3, 4, 5, 6, 13, 14, 22, 23 व 24 सामान्य, वार्ड संख्या 12, 15, 18, 19 व 21 सामान्य महिला, वार्ड संख्या 1, 9 व 20 ओबीसी, वार्ड संख्या 10 व 11 ओबीसी महिला, वार्ड संख्या 16 व 25 एससी व वार्ड संख्या 17 एससी महिला एवं वार्ड संख्या 7 एसटी व वार्ड संख्या 8 एसटी महिला के लिए आरक्षित किया गया है।
इस लॉटरी प्रक्रिया के दौरान सलूंबर विधायक अमृतलाल मीणा, मावली के पूर्व विधायक पुष्करलाल डांगी, उप जिला निर्वाचन अधिकारी ओ.पी.बुनकर, संबंधित ईआरओ मयंक मनीष, मणीलाल तिरगर, रमेश सिरवी, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से टीटू सुथार व पूरण व्यास, भारतीय जनता पार्टी से नाथूलाल जैन, बसपा से जगदीश बाबरिया, निर्वाचन अनुभाग के मोहनलाल सोनी, डॉ. महामाया प्रसाद चौबीसा आदि मौजूद रहे।

मतदाता सूचियों का विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम को लेकर बैठक
जिले में 3 विधानसभाओं के 7 मतदान केन्द्रों के भवन परिवर्तन के प्रस्ताव पर चर्चा


उदयपुर, 13 अक्टूबर/निर्वाचन विभाग के निर्देशानुसार अर्हता दिनांक एक जनवरी 2021 के संदर्भ में मतदाता सूचियों के पुनरीक्षण कार्यक्रम एवं मतदान केन्द्रों के भवन परिवर्तन के संबंध में एक बैठक  मंगलवार को जिला कलक्टर चेतन देवड़ा की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई।
बैठक में जिले में तीन विधानसभा के कुल 7 मतदान केन्द्र, जिसमें गोगुन्दा के 2, मावली के 4 एवं सलुम्बर के 1 मतदान केन्द्र के भवन परिवर्तन हेतु संबंधित ईआरओ द्वारा प्रस्तावों के बारे में मौजूद राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों से चर्चा की गई।
कलक्टर ने बताया कि मतदाता सूचियों के पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत मतदाता सूचियों का प्रारूप प्रकाशन 20 नवंबर को किया जाएगा। इस संबंध में दावे एवं आपत्तियां प्राप्त करने की अवधि 20 नवंबर से 21 दिसंबर तक रहेगी। दावे एवं आपत्तियांे का निस्तारण 11 जनवरी तक किया जा सकेगा। पूरक की तैयारी व मुद्रण 15 जनवरी तक होगा तथा मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन 18 जनवरी को किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि निवार्चन विभाग के निर्देशानुसार मतदाता सूचियों के प्रारूप प्रकाशन से पूर्व मतदान केन्द्रों का सुव्यवस्थिकरण एवं पुनर्गठन किया जाना है। इस संबंध में बीएलओ द्वारा मतदान केन्द्रों का भौतिक सत्यापन (आधारभूत सुविधाओं की जानकारी) किया जाकर सूचना संबंधित निर्वाचन रजिस्ट्रीकरण पदाधिकारी को उपलब्ध करानी होगी।
निर्वाचन विभाग के निर्देशानुसार 1500 से अधिक मतदाता वाले मतदान केन्द्रों का पुनर्गठन करने के निर्देश प्रदान किये गये है। जिले में किसी भी मतदान केन्द्र में 1500 से अधिक मतदाता नहीं होने के कारण किसी भी मतदान केन्द्र का पुनर्गठन नहीं किया गया।
एनवीएसपी पोर्टल
कलक्टर ने बताया कि एनवीएसपी पोर्टल के माध्यम से मतदाता सूची में नाम जोड़ने, हटाने एवं संशोधन के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। मतदाता सूची में मतदाता की प्रविष्टि की जानकारी भी प्राप्त की जा सकती है। उन्होंने राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों से मतदाता सूचियां अपडेट करवाने संबंधी कार्य में सहयोग देने का आह्वान किया है।
बीएलए की नियुक्ति शीघ्र हो
बैठक के दौरान सभी राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों से इस विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के प्रारूप प्रकाशन से पूर्व समस्त मतदान केन्द्रों पर बूथ लेवल अभिकर्ताओं की की नियुक्ति के संबंध में आग्रह किया गया, जिससे दल एवं निर्वाचन विभाग को प्रत्येक कार्य के निष्पादन में आसानी हो।
बैठक में उप जिला निर्वाचन अधिकारी ओ.पी.बुनकर, सहित विभिन्न राजनैतिक दलों के प्रतिनिधि व निर्वाचन अनुभाग के मोहनलाल सोनी, डॉ. महामाया प्रसाद चौबीसा आदि मौजूद रहे।

राष्ट्रीय डाक सप्ताह के अन्तर्गत उदयपुर डाक मण्डल द्वारा विभिन्न आयोजन

 

उदयपुर, 13 अक्टूबर/राष्ट्रीय डाक सप्ताह के अन्तर्गत उदयपुर डाक मण्डल द्वारा मंगलवार को विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए।
डाकघर के प्रवर अधीक्षक जे.एस.गुर्जर ने बताया कि इस अवसर पर डाकघर के सबसे पुराने खाताधारकों जिनके द्वारा वर्ष 1967 व 1980 में खाता खुलवाकर आज दिनांक तक नियमित लेनदेन करने वाले ग्राहकों को सम्मानित किया गया। उदयपुर डाक मण्डल के सबसे पुराने पोस्ट बॉक्स धारक “होटल लेक पैलेस” जिनके द्वारा वर्ष 1979 से पोस्ट बॉक्स की सुविधा का उपयोग किया जा रहा है, इसके लिए होटल लेक पैलेस के प्रतिनिधि जोरावर सिंह को यह सम्मान दिया गया।
वर्ल्ड फिलाटेली दिवस के अवसर पर फिलाटेली जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसमें शहर के कई फिलाटेलिस्ट ने भाग लिया। इस दौरान फिलाटेली डाक टिकटों की बिक्री करते हुए चार नए फिलाटेली डिपॉजिट अकाउंट खोले गए। साथ ही विभाग की एक महत्वाकांशी योजना “माय स्टेम्प” का भी प्रचार-प्रसार करते हुए व्यवसाय अर्जित किया गया।

युवाओं ने ली ’नो मास्क नो एंट्री की शपथ


उदयपुर, 13 अक्टूबर/ प्रदेश के युवा कौशल एवं खेल राज्य मंत्री अशोक चांदना के जन्मदिन के उपलक्ष में दीन दयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजनान्तर्गत व्यावसायिक प्रशिक्षण केंद्र के युवाओं द्वारा ‘नो मास्क-नो एंट्री‘ की शपथ ली गई।
राजस्थान कौशल विकास निगम की जिला प्रबंधक इरम खान ने बताया कि जिले के संचालित समस्त प्रशिक्षण केंद्रों पर कोरोना वायरस के खिलाफ शुरू हुए जन आंदोलन कार्यक्रम को लेकर केंद्रों के प्रशिक्षणार्थियों द्वारा शपथ ग्रहण, नारे लेखन प्रतियोगिता आदि का आयोजन किया गया। इस अवसर पर, मंजिल कार्यक्रम के संभागीय प्रबंधक अनुभव गर्ग, वीमार्ट के गुणवत्ता प्रबंधक अनुराग शुक्ला, संस्था प्रबंधक सौरभ सेन एवं समस्त प्रशिक्षकों ने प्रतिभागियों को जागरूक व सतर्क रहते हुए कोरोना से बचाव के इस आंदोलन को लोगों तक पहुंचाने को कहा।

बड़गाँव ने कोरोना जागरूकता रैली व मास्क वितरण

News

उदयपुर, 14 अक्टूबर/मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा प्रदेश को कोरोना से बचाने के लिए प्रारंभ किये गये ‘कोरोना के विरुद्ध जन आंदोलन के तहत बुधवार को ग्राम पंचायत बड़गांव की ओर से सरपंच संजय शर्मा की अगुवाई में जनजागरूकता रैली निकाली गई।
रैली को बडगांव उपखण्ड अधिकारी अपर्णा गुप्ता ने हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। विकास अधिकारी जितेन्द्र सिंह सान्दु ने कोरोना व मास्क की उपयोगिता पर विचार रखे। इस दौरान बिना मास्क के घूम रहे व्यक्तियों को मास्क वितरण कर नियमित इसका उपयोग करने के लिए प्रेरित किया गया। रैली के दौरान सरपंच शर्मा ने अपने क्षेत्र के दुकानदारों, सब्जी विक्रेताओं, फुटकर व्यापारियों, राहगीरों व आमजनों से नियमित मास्क पहनने का आह्वान किया।
उपसरपंच मीनाक्षी सुथार ने कोरोना से बचाव के लिए सरकार द्वारा दिए गये संदेश का पालन करने पर जोर दिया। ग्राम विकास अधिकारी राकेश सिरवी ने सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग की ओर से प्रकाशित प्रचार-प्रसारी सामग्री से सुन्दर रथ बनाया। रथ पर माइक स्पीकर द्वारा कोरोना जन जागरूकता के ऑडियों संदेश व गानों के माध्यम से ग्रामवासियों के प्रेरित किया गया। इस अवसर पर वार्डपंच निशा शर्मा, खूबीलाल गमेती, चंचल सुथार, अरविन्द टांक, चिकित्सा अधिकारी डॉ.अशोक शर्मा, बालिका स्कूल प्रधानाध्यापिका स्नेहलता सहलोत ग्राम पंचायत बडगांव के कनिष्ट सहायक रसीला गमार व श्रीमती इन्द्रा शर्मा ग्राम पंचायत के सुरक्षा गार्ड यशवन्त गमेती आंगनवाड़ी, विद्यालय, पुलिस विभाग के कार्मिक आदि उपस्थित थे।

दशरथ के परिजनों को मदद की आस
4 साल का दशरथ जूझ रहा है ब्लड कैंसर से

 

उदयपुर, 14 अक्टूबर/भामाशाहों की इस धरा पर एक पीडि़त परिवार अपने पुत्र की गंभीर बीमारी के इलाज के लिए मदद की आस में व्याकुल है।  
उदयपुर जिले के वल्लभनगर तहसील के गुपड़ी ग्राम पंचायत के जसपुरा में रहने वाले तेज सिंह का 4 वर्षीय पुत्र दशरथ सिंह ब्लड कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से जुझ रहा है। तेज सिंह की पारिवारिक स्थिति भी अनुकूल नहीं है। उन्होंने बताया कि उनके पास जमा पैसे वो पुत्र के इलाज में व्यय कर चुके है। दशरथ का इलाज अनन्ता अस्पताल में जारी है लेकिन आगे के इलाज दशरथ के परिजनों के पास पर्याप्त राशि नहीं है। तेज सिंह ने बताया कि चिकित्सकों के अनुसार उसके इलाज के लिए लगभग 3 लाख रुपयों की आवश्यकता है। इस स्थिति में वह अपने बेटे के इलाज के लिए किसी भामाशाह की आस लगाए बैठा है। इस पीडित परिवार की मदद के लिए अपना सहयोग प्रदान करने के लिए इच्छुक व्यक्ति तेज सिंह के मोबाइल नंबर 9950682059 पर सम्पर्क कर सकते हैं।

बाबूलाल कटारा आरपीएससी में सदस्य नियुक्त

 

उदयपुर, 14 अक्टूबर/माननीय राज्यपाल श्री कलराज मिश्र के आदेशानुसार उदयपुर के माणिक्यलाल वर्मा आदिम जाति शोध एवं प्रशिक्षण संस्थान (टीआरआई) के निदेशक (सांख्यिकी) बाबूलाल कटारा को राजस्थान लोक सेवा आयोग में सदस्य नियुक्त किया गया है।
मूलरूप से डूंगरपुर जिले के मालपुर गांव निवासी प्रतिभावान अधिकारी कटारा ने श्री भोगीलाल पंड्या राजकीय महाविद्यालय डूंगरपुर से ही अपनी कॉलेज शिक्षा पूर्ण की। कटारा ने अर्थशास्त्र के व्याख्याता के रुप में अपनी राजकीय सेवा की शुरूआत की थी और सांख्यिकी विभागीय सेवा में आने के बाद वे खेरवाड़ा व सागवाड़ा में विकास अधिकारी पद पर भी सेवाएं दी हैं। कटारा पिछले 5 वर्षों से  टीआरआई में निदेशक के पद पर कार्यरत है। उनका एक पुत्र चिकित्सक है।
वागड़ अंचल के प्रतिभावान अधिकारी को राजस्थान लोक सेवा आयोग में सदस्य नियुक्त किए जाने पर खुशी की लहर है और कई सामाजिक, सरकारी व गैर सरकारी संस्थाओं के पदाधिकारियों ने राज्य सरकार का आभार जताया है। बुधवार को कटारा की स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति पर टीआरआई में अभिनंदन समारोह का आयोजन किया गया।

“छूने दो आसमान“ पर बेवीनार कार्यक्रम कलक्टर ने बालिकाओं को आत्मनिर्भर बनने के लिए किया प्रेरित

News

उदयपुर, 15 अक्टूबर/महिला अधिकारिता विभाग की ओर से गुरुवार को “छूने दो आसमान“ बालिका सशक्तिकरण पर वेबीनार कार्यक्रम आयोलित हुआ। कार्यक्रम में किशोरियों को सम्बल एवं आत्मविश्वास प्रदान करते हुए जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने बालिकाओं को आत्मनिर्भर बनने के लिए प्रेरित किया। उन्होें कहा कि अपने सपनों को पूरा करने के लिए किशोरियों को व्यक्तिगत संघर्षो से उभर कर मेहनत करने की आवश्यकता है। अपना लक्ष्य को निर्धारित करते हुए निरन्तर उसकी ओर प्रयास करते रहे, तभी सफलता आपके कदमों को सलाम करेगी।
बाल विवाह जैसी कुरीति की रोकथाम पर जोर देते हुए किशोरियों को कहा की अपना बाल विवाह ना होने दे, अगर किसी परिस्थिति में ऐसा होता है तो जिला प्रषासन से मदद प्राप्त करें।
वेबीनार कार्यक्रम में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ योजना की जिला ब्राण्ड एम्बेसडर अन्तर्राष्ट्रीय मुक्केबाज, सुश्री झलक तोमर और अन्तर्राष्ट्रीय तैराक, सुश्री गौरवी सिंघवी ने अपने जीवन के अनुभवों एवं इस मुकाम पर पहुंचने में आने वाली कठिनाओं को सभी के साझा किया। परिवार कल्याण एवं स्वास्थ्य मंत्रालय, नई दिल्ली से वरिष्ठ सलाहकार श्रीमती भूमिका तलवार ने बालिकाओं के मानसिक स्वास्थ्य, किशोरी स्वास्थ्य पर विचार रखे।, महिला अधिकारिता उपनिदेशक संजय जोशी ने किशोरियों से संबधित योजनाओं-बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ, निःशुल्क- शिक्षा सेतु योजना इत्यादि के बारे में अवगत कराया। क्राई-युनिसेफ परियोजना के राज्य प्रबन्धक धर्मवीर यादव ने कार्यक्रम के उद्देश्यों पर प्रकाश डाला।
कार्यक्रम का संचालन क्राई-युनिसेफ के जिला समन्वयक देवकिशन ने किया व आभारं श्रीमती चौताली जैन ने जताया।

पहले राजस्व दिवस पर जिलेभर में आयोजन राजस्व कार्मिक है सरकार के महत्त्वपूर्ण अंग - कलक्टर

News

उदयपुर, 15 अक्टूबर/जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने कहा है कि राजस्व कार्मिक व अधिकारी सरकार के महत्त्वपूर्ण अंग है और इन पर कई सारे विभागीय दायित्वों का भार रहता है, ऐसे में उनसे अपेक्षाएं भी अधिक होती है। ऐसे में जरूरी है कि वे और भी अधिक सतर्क और संवेदनशील होकर कार्य करें।
कलक्टर देवड़ा राज्य सरकार के निर्देशानुसार गुरुवार को उदयपुर जिला मुख्यालय पर प्रथम राजस्व दिवस के आयोजन में बतौर मुख्य अतिथि संबोधित कर रहे थे।
उन्होंने राजस्व कार्मिकों के दायित्वों पर प्रकाश डालते हुए कोरोना महामारी के काल में जनजागरूकता के क्षेत्र में उनकी सतर्कता और संवेदनशीलता की अधिक अपेक्षाओं को भी उजागर किया और इस अनुरूप कार्य करने का आह्वान किया।  इस मौके पर गिर्वा उपखण्ड अधिकारी डॉ. सौम्या व झाड़ौल एसडीओ अक्षय गोदारा ने भी सम्मानित होने वाले कार्मिकों को बधाई दी और सतर्कता से कार्य करने का आह्वान किया।
जिले व उपखण्ड स्तर पर श्रेष्ठ राजस्व कार्मिकों का हुआ सम्मान:
इस अवसर पर  पर जिला मुख्यालय पर जिले के विभिन्न उपखण्ड क्षेत्रों में श्रेष्ठ कार्य करने वाले भू-अभिलेख निरीक्षक व पटवारियों को जिला कलक्टर चेतन देवड़ा एवं गिर्वा की उपखण्ड अधिकारी डॉ. सौम्या झा ने सम्मानित किया।
गिर्वा उपखण्ड के भू-अभिलेख निरीक्षक (शहर) सुरेश नाहर, बछार पटवारी सौरभ गर्ग व शिशवी पटवारी ज्योति नागर, बड़गांव उपखण्ड के बड़गांव के भू-अभिलेख निरीक्षक रूपेश मेघवाल, ईसवाल भू-अभिलेख निरीक्षक मौहन सिंह चौहान, ईसवाल के पटवारी हल्का अभिमन्यु राणावत व लोयरा के पटवारी हल्का राजेश महियारिया, कोटड़ा उपखण्ड के भू-अभिलेख निरीक्षक गिरीराज सिंह झाला और रमेश लौहार, पटवारी महेन्द्र सिंह व किशन सिंह राठौड़, झाड़ोल उपखण्ड के भू-अभिलेख निरीक्षक फुलाराम मीणा और रोशन लाल जैन, पटवारी कुन्दन जोशी और गुमान सिंह गरासिया, वल्लभनगर उपखण्ड के मेनार के भू-अभिलेख निरीक्षक रमेशचन्द्र जैन, धामनिया पटवारी महेन्द्र, तारावट पटवारी सुरेश सिंह और महाराज की खेड़ी के पटवारी जयनारायण, उपखण्ड मावली के भू-अभिलेख निरीक्षक नाहरसिंह व मदनसिंह, पटवारी कमलेश मीणा व जयसिंह को सम्मानित किया गया।
वहीं गोगुन्दा उपखण्ड के भू-अभिलेख निरीक्षक प्रकाशचन्द्र जैन व अमरसिंह शक्तावत, पटवारी चन्दा कुंवर व दिलीप नारंग, लसाडि़या उपखण्ड के धोलिया के भू-अभिलेख निरीक्षक उदयलाल प्रजापत व कालीभीत के भू-अभिलेख निरीक्षक चन्द्रप्रकाश व्यास, लसाडि़या पटवारी मदनलाल जाट व धोलिया पटवारी दीपक मीणा, खेरवाड़ा उपखण्ड के भू-अभिलेख निरीक्षक चेतन लौहार, पटवारी नवगढ़ गायत्री, सलुम्बर उपखण्ड के खेराड़ के भू-अभिलेख निरीक्षक डूंगरलाल प्रजापत, भबराणां के भू-अभिलेख निरीक्षक नारायणलाल सुथार, ओरवाडि़या पटवारी हेमराज मेघवाल, अदकालिया पटवारी चन्द्रप्रकाश नरबोदत, सराड़ा उपखण्ड के जयसंमद के भू-अभिलेख निरीक्षक लक्ष्मणलाल मीणा, सिंघटवाड़ा के भू-अभिलेख निरीक्षक शान्तिलाल दर्जी जावद पटवारी चम्पालाल मीणा, पटवारी एलआरसी ललित तथा ऋषभदेव उपखण्ड के कागदर के भू-अभिलेख निरीक्षक राजकुमार जैन, ऋषभदेव के भू-अभिलेख निरीक्षक सत्यनारायण मीणा, ऋषभदेव पटवारी दिनेश मीणा व करनाला पटवारी उषा कुंवर करे सम्मानित किया गया।
यहां भी हुए आयोजन
राजस्व दिवस के मौके पर बड़गांव उपखंड क्षेत्र की घोड़ान कला ग्राम पंचायत वाद मुक्त होने से सरपंच, पटवारी ग्राम सचिव एवं भूअभिलेख निरीक्षक को सम्मानित किए गए।
वहीं कानोड़ तहसील के प्रांगण में पौधा लगाकर राजस्व दिवस मनाया गया। इस मौके पर भू-अभिलेख निरीक्षक प्रमोद कुमार पुरबिया और मोबिन मोहम्मद तथा पटवारी जितेंद्र शर्मा और कैलाश मेहरा को तहसीलदार  कानोड़ द्वारा सम्मानित किया गया

विश्व हाथ दिवस पर हाथ धोने का अभ्यास कार्यक्रम

News

उदयपुर, 15 अक्टूबर/बड़गांव पंचायत समिति कार्यालय में विश्व हाथ दिवस पर हाथ धोने का अभ्यास कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस अवसर पर पंचायत समिति बड़गांव की सभी पंचायतों में ग्लोबल हैंड वॉश डे साबुन से हाथ धो कर कार्यक्रम का महत्व बताया गया।
विकास अधिकारी जितेन्द्र सिंह सान्दु के निर्देशन में पंचायत समिति कार्यालय में कर्मचारी, बाल विकास परियाजना अधिकारी, जिला शिक्षा अधिकारी, ब्लॉक शिक्षा अधिकारी, सहायक लेखाधिकारी, सहायक विकास अधिकारी की सहभागिता में हाथ धोने का अभ्यास कराया गया एवं बीमारियों से बचाव के लिए नियमित हाथ धोने के लिए प्रेरित किया।

अनुप्रति योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित

उदयपुर, 15 अक्टूबर/राज्य सरकार द्वारा अल्पसंख्यक समुदाय हेतु विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में सफल आवेदकों को प्रोत्साहन राशि उपलब्घ कराये जाने का प्रावधान हैं। इस संबंध में जिला अल्पसंख्यक कार्यालय की ओर से अल्पसंख्यक समुदाय (मुस्लिम, जैन, सिक्ख, ईसाई, बौद्ध, पारसी) के लिए वर्ष 2020-21 में संचालित अनुप्रति योजना के संबंध में ऑनलाईन आवेदन आमंत्रित किए गये है।
जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी ने बताया कि 2 लाख रुपये तक की पारिवारिक वार्षिक आय का विद्यार्थी इस योजना में ऑनलाईन आवेदन कर सकता हैं। इसके लिए विद्यार्थी अपनी  एसएसओ आईडी से लॉगिन कर भामाशाह कार्ड के द्वारा पंजीयन किया जाना अनिवार्य हैं। एसएसओ आईडी  प्रार्थी द्वारा केवल एक बार ही पंजीयन होगी।

डिप्लोमा अभ्यर्थियों के लिए एक और अवसर


उदयपुर, 15 अक्टूबर/राजकीय पॉलिटेक्निक महाविद्यालय में प्रथम वर्ष डिप्लोमा इंजीनियरिंग एवं द्वितीय वर्ष (पार्श्व प्रवेश) में प्रवेश सत्र 2020-21 के लिये पूर्व की प्रवेश प्रक्रिया के उपरांत रिक्त रहे स्थानों पर छात्रों की मांग एवं छात्रहित को देखते हुये तकनीकी शिक्षा मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग द्वारा संस्थान स्तर पर सीधे प्रवेश हेतु एक और अवसर प्रदान किया गया है।
दसवीं पास विद्यार्थी द्वारा डिप्लोमा प्रथम वर्ष इंजीनियरिंग प्रवेश हेतु आवेदन पत्र संस्थान में जमा कराने की अंतिम तिथि 22 अक्टूबर प्रातः 11 बजे तथा प्रवेश इसी दिन मध्याहन 1 बजे संस्थान में दिया जायेगा। इसी प्रकार बाहरवी (विज्ञान वर्ग) अथवा दो वर्षीय आईटीआई पास विद्यार्थी द्वारा डिप्लोमा द्वितीय वर्ष (पार्श्व प्रवेश) हेतु आवेदन पत्र संस्थान में जमा कराने की अंतिम तिथि 20 अक्टूबर प्रातः 11 बजे तथा प्रवेश इसी दिन मध्याहन 1 बजे संस्थान में दिया जायेगा। वर्तमान में संस्थान में सिविल इंजीनियरिंग ब्रांच, मैकेनिकल इंजीनियरिंग ब्रांच एवं इलेक्ट्रीकल इंजीनियरिंग ब्रांच में प्रवेश हेतु स्थान रिक्त है।

वीएमओयू की एमबीए प्रवेश परीक्षा 18 को


उदयपुर, 15 अक्टूबर/वर्धमान महावीर खुला विश्वविद्यालय की एमबीए प्रवेश परीक्षा रविवार 18 अक्टूबर सुबह 10 से 12 बजे तक सभी क्षेत्रीय केन्द्र मुख्यालयों पर आयोजित होगी। परीक्षार्थियों के अनुमति पत्र विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर जारी कर दिये गये है।
परीक्षा नियंत्रक डॉ.मो.अख्तर खान ने बताया कि परीक्षार्थी अनुमति पत्र में उल्लेखित दिशा-निर्देशों की पालना सुनिश्चित करें। प्रवेश परीक्षा का परिणाम परीक्षा समाप्ति के अगले दिवस को जारी कर दिया जाएगा। इस परीक्षा में उत्तीर्ण वि़द्यार्थी 26 अक्टूबर तक आवेदन पत्र मय उचित दस्तावेज एवं निर्धारित शुल्क के साथ संबंधित क्षेत्रीय केन्द्र पर जमा करा सकते है।

तीन मतदान केन्द्रों के नाम परिवर्तित


उदयपुर, 15 अक्टूबर/जिला निर्वाचन अधिकारी (कलक्टर) चेतन देवड़ा ने एक आदेश जारी कर मतदान केन्द्र का नाम परिवर्तन करने की स्वीकृति प्रदान की है। इसके तहत मतदान केन्द्र राजकीय बालिका उच्च प्राथमिक विद्यालय पानेरियों की मादड़ी के कमरा नंबर 7, 4 व 5 का नाम क्रमशः मेनारिया समाज नोहरा, भट्ट तलाई कमरा नंबर 7, 4 व 5 में परिवर्तित करने की स्वीकृति जारी की गई है।

कटारा ने आरपीएससी में सदस्य का पदभार ग्रहण किया

 

उदयपुर, 15 अक्टूबर/माननीय राज्यपाल श्री कलराज मिश्र के आदेशानुसार उदयपुर के माणिक्यलाल वर्मा आदिम जाति शोध एवं प्रशिक्षण संस्थान (टीआरआई) के पूर्व निदेशक (सांख्यिकी) बाबूलाल कटारा ने गुरुवार को राजस्थान लोक सेवा आयोग में सदस्य पद का पदभार ग्रहण किया।  
आज सुबह अजमेर पहुंचे कटारा ने राजस्थान लोक सेवा आयोग कार्यालय में सुबह 9.45 पर तमाम औपचारिकताएं पूर्ण करते हुए अपना पदभार ग्रहण किया। इस मौके पर आयोग सचिव शुभम चौधरी, नवनियुक्त सदस्य डॉ. मंजू शर्मा और आयोग के संयुक्त सचिव सहित कई अधिकारी मौजूद थे।
पदभार ग्रहण करने के बाद कटारा ने नवनियुक्त आयोग अध्यक्ष भूपेन्द्रसिंह यादव से भी शिष्टाचार भेंट की और अपने पदभार ग्रहण करने की की जानकारी दी।      
जनजाति अंचल के प्रतिभावान अधिकारी है कटारा:
मूलरूप से डूंगरपुर जिले के मालपुर गांव निवासी प्रतिभावान अधिकारी कटारा ने श्री भोगीलाल पंड्या राजकीय महाविद्यालय डूंगरपुर से ही अपनी कॉलेज शिक्षा पूर्ण की। कटारा ने अर्थशास्त्र के व्याख्याता के रुप में अपनी राजकीय सेवा की शुरूआत की थी और सांख्यिकी विभागीय सेवा में आने के बाद वे खेरवाड़ा व सागवाड़ा में विकास अधिकारी पद पर भी सेवाएं दी हैं। कटारा पिछले 5 वर्षों से  टीआरआई में निदेशक के पद पर कार्यरत है। उनका एक पुत्र चिकित्सक है।
वागड़ अंचल के प्रतिभावान अधिकारी को राजस्थान लोक सेवा आयोग में सदस्य नियुक्त किए जाने पर खुशी की लहर है और कई सामाजिक, सरकारी व गैर सरकारी संस्थाओं के पदाधिकारियों ने राज्य सरकार का आभार जताया है। बुधवार को कटारा की स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति पर टीआरआई में अभिनंदन समारोह का आयोजन किया गया।

जिले में शुद्ध के लिए युद्ध अभियान 26 से
खाद्य पदार्थों में मिलावट रोकने पूरी गंभीरता से करें कार्य - कलक्टर

उदयपुर, 23 अक्टूबर/त्यौहारों के दौरान खाद्य पदार्थों में मिलावट होने की संभावना से प्रदेशवासियों को बचाने के लिए मुख्यमंत्री के निर्देशानुसार जिले में 26 अक्टूबर से 14 नवंबर तक व्यापक स्तर पर ‘शुद्ध के लिए युद्ध अभियान’ चलाया जाएगा।
राज्य स्तर से आयोजित वीसी में दिए गए निर्देशों की अनुपालना के लिए जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने इस संबंध में शुक्रवार को संबंधित विभागीय अधिकारियों की सघन बैठक लेकर अभियान के प्रभावी क्रियान्वयन के निर्देश दिए हैं। कलक्टर ने बताया कि अभियान के तहत नियंत्रण कक्ष नम्बर 6367304312 पर आमजन द्वारा भी शिकायत दर्ज की जा सकेगी।
  वीसी एवं बैठक में जन स्वास्थ्य के प्रति हो रहे खिलवाड़ को रोकने के लिए अभियान के तहत प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए और समस्त जांच दलों को कहा गया कि वे अभियान में प्रतिदिन की कार्यवाही से जिला एवं राज्य स्तरीय अधिकारियों को अवगत करावें। वीसी में कलक्टर देवड़ा के साथ जिला पुलिस अधीक्षक कैलाश विश्नोई, एडीएम प्रशासन ओ.पी. बुनकर,  सीएमएचओ डॉ. दिनेश खराड़ीव अन्य अधिकारी मौजूद रहे।
मिलावट की सूचना पर 51 हजार की प्रोत्साहन राशि:
जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने बताया कि अभियान की अवधि में सेहत के लिए हानिकारक में संलिप्त निर्माताओं केे विरूद्ध प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित करने के लिए सूचना देने वालों को, सूचना सही पाए जाने पर राशि रुपये 51,000 दी जा सकेगी। इस राशि का वितरण जिला कलक्टर द्वारा फूड टेस्टिंग लेब की जाँच के उपरान्त निष्कर्ष प्रमाणित करते हुए, सूचना देने वाले की पहचान गोपनीय रखते हुए, कलक्टर द्वारा की जाएगी।

शुद्ध के लिए युद्ध अभियान’
जांच दल  व प्रबंधन समिति का गठन


उदयपुर, 23 अक्टूबर/जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने ‘शुद्ध के लिए युद्ध अभियान’ के तहत मिलावट करने वालों के विरूद्ध कार्यवाही के लिए दो जांच दलों का गठन किया है। दोनों जांच दलों में 13 अधिकारियों व कर्मचारियों को नियुक्त करते हुए प्रतिदिन सघन जांच करने और प्राप्त मिलावट पर नियमानुसार कार्यवाही के निर्देश दिए हैं। कलक्टर देवड़ा ने बताया कि अभियान के अन्तर्गत दूध, मावा, पनीर एवं अन्य दुग्ध उत्पादों की जाँच के साथ आटा, बेसन, खाद्य तेल एवं घी, सूखे मेवे/मसालों की जाँच की जाएगा। इसी प्रकार अभियान में बाट एवं माप की जाँच भी शामिल रहेगी। कलक्टर ने निर्देश दिए हैं कि दलों को संबंधित उपखण्ड अधिकारी, तहसीलदार, विकास अधिकारी एवं पुलिस उप अधीक्षक आवश्यक सहयोग प्रदान करेंगे एवं दल प्रतिदिन अपनी प्रगति रिपोर्ट मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, अधिकारी उदयपुर के ईमेल आईडी पर देंगे। प्राथमिक रूप से दल संख्या प्रथम उदयपुर शहर एवं नगर विकास प्रन्यास क्षेत्र में एवं दल संख्या द्वितीय उदयपुर शहर के अलावा समस्त जिले में कार्यवाही संपादित करेंगे तथा दोनों ही दल समस्त जिले में कार्यवाही मे एक दूसरे का सहयोग भी प्रदान करेंगे।
जिला स्तरीय प्रबंधन समिति गठित:
‘शुद्ध के लिए युद्ध अभियान’ के तहत मिलावट करने वालों के विरूद्ध कार्यवाही के लिए जिला स्तरीय प्रबंधन समिति का गठन किया गया है। जिला कलक्टर की अध्यक्षता में गठित इस समिति में जिला पुलिस अधीक्षक, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, जिला रसद अधिकारी, डेयरी के प्रबंध निदेशक, उप विधि परामर्शी व सहायक विधि परामर्शी को सदस्य नियुक्त किया गया है। समिति के संयोजक अतिरिक्त जिला कलक्टर, प्रशासन होंगे वहीं विशेष आमंत्रित सदस्य के रूप में जिला उद्योग केन्द्र के महाप्रबन्धक को नियुक्त किया गया है।
यह रहेगा प्रबंधन समिति का कार्य:
जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने बताया कि समित के द्वारा जिले के ऐसे खाद्य-पदार्थ उत्पादक, बड़े थोक विक्रेता एवं खुदरा विक्रेता चिन्हित किए जाएंगे जहाँ मिलावट की संभावना अधिक हो। इसी प्रकार समिति जिले में गठित जाँच दलों को अभियान की अवधि में प्रतिदिन प्रातःकाल उस दिन जाँच की जाने वाली संस्थाओं की सूची उपलब्ध कराई जाएगी। इसके साथ ही समिति द्वारा दैनिक आधार पर अभियान की समीक्षा कर की गई जाँच में लिए गए सेंपल, टेस्टिंग रिपोर्ट, मौके पर नष्ट की गई सामग्री, दर्ज की गई एफआईआर एवं अतिरिक्त जिला मजिस्टेªट अथवा क्रिमीनल कोर्ट में दर्ज किए गए प्रकरणों की समीक्षा की जाएगी।

मिलावट के विरूद्ध प्रशासन का शिकंजा
11 विक्रेताओं पर 4 लाख 91 हजार का लगाया जुर्माना
 

उदयपुर, 23 अक्टूबर/जिले में मिलावटी और सेहत से खिलवाड़ करने वाले उत्पादों की बिक्री पर सख्त कार्यवाही करते हुए पिछले एक माह में 11 विक्रेताओं पर 4 लाख 91 हजार का जुर्माना लगाया गया है।
जिला कलक्टर चेतन देवड़ा के निर्देशानुसार विभिन्न शिकायतों पर कार्यवाही करते हुए जिला न्याय निर्णयन अधिकारी व एडीएम (प्रशासन) ओपी बुनकर ने मिलावटी और सेहत से खिलवाड़ करने वाले उत्पादों की बिक्री वाले 11 विक्रेताओं पर कार्यवाही की है। बुनकर ने बताया कि कार्यवाही के तहत जी.के. टोबेका पर 1 लाख 10 हजार, श्री सांई कृपा स्टोर पर 30 हजार, मोहन मावा भंडार पर 45 हजार, गणपति मावा भंडार पर 50 हजार, जामेश्वर डेयरी पर 60 हजार, वासुदेव दूध भंडार पर 50 हजार, नाकोड़ा जनरल स्टोर पर 95 हजार, करमचंद एंड संस पर 50 हजार, गोकुल फूड प्रोडक्टर 51 हजार, कानोड़वाला गृह उद्यान पर 50 हजार, जयश्री जोधपुर मिष्ठान्न भंडार पर 40 हजार का जुर्माना लगाया गया है।

अब जिला मुख्यालय पर पोस्ट कोविड क्लिनिक व वार्ड/आईसीयू संचालित होंगे
कलक्टर ने बैठक लेकर प्रभावी कार्यवाही के दिए निर्देश

 

उदयपुर, 23 अक्टूबर/राज्य सरकार के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के निर्देशानुसार राज्य के प्रत्येक जिला मुख्यालय पर पोस्ट कोविड क्लिनिक एवं पोस्ट कोविड वार्ड/आईसीयू संचालित करने के संबंध में जिला कलक्टर चेतन देवड़ा की अध्यक्षता शुक्रवार को बैठक हुई। कलक्टर ने इसके संचालन के संबंध में संबंधित चिकित्साधिकारियों से चर्चा कर आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करते हुए 24 अक्टूबर से ही पोस्ट कोविड केयर के संचालन के निर्देश दिए।
कलक्टर ने बताया कि कोविड 19 के पॉजिटिव मरीज जो उपचार के बाद रिकवर हो चुके है लेकिन रिकवर होने के बाद उन्हें कोई समस्या अथवा सिम्पटम्स यथा सांस लेने में तकलीफ, मानसिक तनाव, शुगर बढ़ना, हृदय या बीपी की तकलीफ, गुर्दें संबंधी समस्या या पेंक्रियाज के लक्षण पाये जाये, उनके लिए राज्य सरकार के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख शासन सचिव के निर्देशानुसार जिले में पोस्ट कोविड केयर क्लिनिक का संचालन किया जा रहा है।
कलक्टर के निर्देशानुसार यह पोस्ट कोविड केयर क्लिनिक महाराणा भूपाल चिकित्सालय, उदयपुर के स्कीन एवं वी.डी. ब्लॉक के भूतल पर ओ.पी.डी. का संचालन प्रातः 9 बजे से सांय 7 बजे तक चलेगा। पोस्ट कोविड वार्ड महाराणा भूपाल चिकित्सालय, उदयपुर के स्कीन एवं वी.डी. ब्लॉक के द्वितीय फ्लोर पर 50 बेड का वार्ड संचालित किया जायेगा। पोस्ट कोविड आई.सी.यू.महाराणा भूपाल चिकित्सालय, उदयपुर के स्कीन एवं वी.डी. ब्लॉक के भूतल पर 20 बेड का आई.सी.यू. संचालित किया जायेगा।इस तरह 70 बेड पोस्ट कोविड केयर हेतु आरक्षित रहेगें, जिसके नोडल अधिकारी डॉ. एम.पी. जैन, (मो.नं. 9166763307) महाराणा भूपाल चिकित्सालय, उदयपुर होगें। कलक्टर ने  पोस्ट कोविड केयर के लिये फिजिसियन, आयुष चिकित्सक, काउंसलर एवं एनेस्थेटिक द्वारा चिकित्सकीय रिहेबिलिटेशन, काउंसलिंग की सुविधायें आज से ही संचालित करने के निर्देश दिए है।
कलक्टर ने यह भी बताया कि इन सभी लक्षणों के मिलने या समस्या होने पर संबधित व्यक्ति मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी के वॉर रूम में 6367304312 नंबर पर भी सम्पर्क कर सकता है।
बैठक में एडीएम प्रशासन चिकित्सा विभाग के संयुक्त निदेशक जेड ए काजी, आरएनटी प्राचार्य लाखन पोसवाल, सीएमचओ डॉ. दिनेश खराड़ी, डॉ. आरएल सुमन और कई अन्य अधिकारी मौजूद थे।

वन नेशन, वन राशन कार्ड योजना
खाद्य सुरक्षा योजना में सभी राशन दुकानों को ऑनलाईन किया जाएगा
आधार सीडिंग व सत्यापन कार्य होगा


उदयपुर, 26 अक्टूबर/जिले में वन नेशन, वन राशनकार्ड योजना को लागू करने की तैयारी शुरू हो गई है। इसके लागू होने के साथ ही चयनित उपभोक्ता कहीं से भी खाद्य सुरक्षा योजना का लाभ ले सकेगा।
जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने बताया कि योजना के तहत उचित मूल्य की दुकानों को पूरी तरह से ऑनलाइन किया जाएगा वहीं खाद्य सुरक्षा योजना में चयनित उपभोक्ताओं के आधार नंबर राशनकार्ड के साथ में सीडिंग कर सत्यापन कार्य बीएलओं के माध्यम से किया जाएगा। इस संबंध में जिले के समस्त उपखण्ड अधिकारियों को महत्त्वपूर्ण निर्देश दिए गए हैं कि जिले की सभी उचित मूल्य दुकानों पर पंजीकृत समस्त राशन कार्डों में दर्ज प्रत्येक लाभार्थियों के आधार कार्ड को राशन कार्ड के साथ सीड किया जाना है। आधार सीडिंग एवं सत्यापन कार्य के लिए प्रत्येक उचित मूल्य दुकानों के साथ बी.एल.ओ.की मैपिंग की जा चुकी है वहीं आधार सीडिंग के लिए मोबाईल एप भी विकसित की गई है। कलक्टर ने बताया कि सीडिंग एवं सत्यापन कार्य के क्रम में प्रत्येक ब्लॉक के लिए बी.एल.ओ. का प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित कर आधार  सीडिंग व सत्यापन कार्य समयबद्ध तरीके से संपादित करने के  लिए उपखण्ड अधिकारियों को पाबंद किया गया है।  
बीएलओ घर-घर जाकर सर्वे करेगा:
जिला रसद अधिकारी ज्योति ककवानी ने बताया कि योजना के तहत आधार सीडिंग व सत्यापन कार्य के लिए बीएलओ रोजाना 20 से 25 घरों का सर्वे करेगा ताकि उनको योजना का लाभ दिया जा सके। ककवानी ने उपभोक्ताओं से आह्वान किया है कि वे बीएलओ को जानकारी उपलब्ध कराते हुए सहयोग प्रदान करें।
प्रथम चरण में राशनकार्ड से आधार नंबर की सीडिंग की जाएगी। साथ ही राशनकार्ड का सत्यापन किया जाएगा। इसमें जिसके आधार कार्ड से सीडिंग नहीं व आधार कार्ड भी नहीं है, उनके आधार कार्ड बनाकर राशनकार्ड से सीडिंग पूरी की जाएगी। राशन दुकानों के साथ बीएलओ की मैपिंग करने के लिए मोबाइल एप दिया जाएगा।

पंचायत आम चुनाव: जिला परिषद व पंचायत समिति सदस्यों के चुनाव
कलक्टर ने ली प्रकोष्ठ प्रभारियों की बैठक, व्यवस्थाओं-तैयारियों के दिए निर्देश

 

उदयपुर, 26 अक्टूंबर/जिले में पंचायत आम चुनाव 2020 के तहत आगामी नवंबर-दिसंबर माह में होने वाले जिला परिषद सदस्य एवं पंचायत समिति सदस्यों के चुनाव की तैयारियां शुरू हो गई हैं। इस चुनाव के तहत जिले की 20 पंचायत समितियों की 652 ग्राम पंचायतों में 43 जिला परिषद सदस्य एवं 364 पंचायत समिति सदस्य के चुनाव होने हैं।
इन चुनावों के स्वतंत्र, निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से संपादन को लेकर सोमवार को जिला निर्वाचन अधिकारी (कलक्टर) चेतन देवड़ा ने जिला परिषद सभागार में चुनाव से संबंधित सभी प्रकोष्ठ के प्रभारियों के साथ बैठक ली एवं आवश्यक तैयारियों के साथ आपसी समन्वय स्थापित करते हुए विभिन्न व्यवस्थाओं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए।
बैठक में कलक्टर ने प्रकोष्ठवार चर्चा करते हुए सौंपे गये दायित्वों का भलीभांति निर्वहन करने और निर्वाचन आयोग के प्रावधानों के अनुरूप उचित व्यवस्थाएं करने को कहा। उन्होंने मतदान दलों के रेण्डमाईजेशन और रूट चार्ट की तैयारी के बारे में जानकारी लेने के साथ ही मतदान दलों को दिए गए प्रशिक्षण, मतपत्रों की प्रिंटिंग व पू्रफ रिडिंग, मतदान दलों को सामग्री वितरण, ईवीएम और मतपेटी की तैयारियांे के साथ चुनाव उपरांत ईवीएम के संग्रहण, सूचनाओं के त्वरित आदान-प्रदान के लिए नियंत्रण कक्ष के लिए की गई व्यवस्थाओं के बारे में संबंधित प्रकोष्ठ प्रभारियों से जानकारी ली तथा इनके सुचारू संपादन के निर्देश दिए।
कलक्टर ने चुनाव से जुडे समस्त अधिकारियों-कार्मिकों को समय पर दक्ष-प्रशिक्षकों द्वारा प्रशिक्षण उपलब्ध कराने एवं प्रशिक्षण केन्द्रों से मतदान दलों की रवानगी, आगमन आदि के संबंध की गई तैयारियों के बारे में पूछा और मतदान केन्द्रों तक मतदान अधिकारियों-कार्मिकों के आवागमन हेतु आवश्यकतानुसार वाहनों की उपलब्धता सुनिश्चित करने, मतदान दलों के ठहराव, मतदान केन्द्रों पर सुरक्षा एवं आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने को कहा।
कलक्टर ने मतदान केन्द्रों पर कानून-व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम के लिए व्यवस्थाओं के बारे में पूछा और मतदान केन्द्रों पर कोविड के प्रावधानों की अनुपालना करने एवं राज्य सरकार व जिला प्रशासन द्वारा कोरोना से बचाव के लिए दिए गये निर्देशों का पालन सुनिश्चित करने पर भी जोर दिया।
उन्होंने चुनाव के दौरान आदर्श आचार संहिता की अनुपालना के लिए गठित प्रकोष्ठ प्रभारी से प्राप्त होने वाली शिकायतों के निस्तारण के लिए की गई तैयारियों के बारे में पूछा और निर्देश दिए कि प्राप्त शिकायत पर वे उपखण्ड अधिकारी से रिपोर्ट लेने के साथ-साथ शिकायत के बारे में जानकारी लेकर त्वरित गति से शिकायत का निस्तारण करावें।  
बैठक में जिला परिषद सीईओ डॉ. मंजू, उप जिला निर्वाचन अधिकारी (एडीएम) ओ.पी.बुनकर, एडीएम सिटी संजय कुमार, एसडीओ गिर्वा सौम्या झा, जिला रसद अधिकारी ज्योति ककवानी, आरटीओ प्रकाश चंद्र राठौड़, निर्वाचन प्रकोष्ठ के मोहनलाल सोनी, महामायाप्रसाद चौबीसा सहित समस्त संबंधित प्रकोष्ठ प्रभारियों ने प्रकोष्ठ द्वारा की गई तैयारियों के बारे में जानकारी दी गई।  
रेंप व व्हील चेयर की व्यवस्था के निर्देश:
बैठक दौरान कलक्टर ने विशेष योग्यजनों के लिए मतदान केन्द्रों पर की जाने वाली व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली और निर्देश दिए कि समस्त मतदान केन्द्रों पर रेंप और व्हील चेयर की उपलब्धता के लिए संबंधित उपखण्ड अधिकारियों को कार्यवाही के लिए कहा जावें।

राउमावि लसाडि़या में सुरक्षा गार्ड एवं सुरक्षा सुपरवाईजर की भर्ती चयन परीक्षा

 

उदयपुर, 26 अक्टूंबर/भारतीय सुरक्षा दस्ता परिषद नई दिल्ली एवं एसआईएस के सयुंक्त तत्वावधान में भारत सरकार के पसारा एक्ट 2005 के तहत ग्रामीण व शहरी क्षेत्र के शिक्षित बेरोजगार नवयुवकों को सुरक्षा गार्ड एवं सुरक्षा सुपरवाईजर के पद पर भर्ती चयन परीक्षा सोमवार को राउमावि लसाडि़या में आयोजित हुई। वरिष्ठ भर्ती अधिकारी महिपाल सिंह ने बताया कि इस परीक्षा में बेरोजगार युवाओं का शारीरिक परीक्षण हुआ। इस दौरान 325 बेरोजगार युवाओं में से 79 बेरोजगार युवाओं का चयन हुआ। इसी क्रम में 27 अक्टूबर को वल्लभनगर, 28 अक्टूबर को सेमारी, 29 अक्टूबर को सराड़ा व 30 अक्टूबर को राउमावि सलुम्बर में यह परीक्षा आयोजित होगी।

अब घर बैठे मिलेगी यूआईटी की 5 सेवाएं
कलक्टर ने किया ऐतिहासिक पहल का शुभारंभ


उदयपुर, 27 अक्टूबर/नगर विकास प्रन्यास, उदयपुर द्वारा न्यास की सेवाओं को आमजन तक पहुंचाने की ऐतिहासिक पहल का शुभारंभ मंगलवार को जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने टाउन हॉल प्रांगण में किया और शहरवासियों को इसका लाभ उठाने का आह्वान किया।  
कलक्टर देवड़ा ने बताया कि प्रथम चरण में पाँच तरह की सेवाओं नामान्तरण, उप विभाजन, संयुक्तिकरण, भवन निर्माण अनुमति, लीज मुक्ति प्रमाण पत्र आदि सेवाओं हेतु डोर स्टेप डिलीवरी प्रारंभ की जा रही है। जल्द ही इसका विस्तार भी किया जाएगा। यूआईटी सचिव अरूण हसीजा ने बताया कि कॉल सेंटर की टीम को इन समस्त सेवाओं के लिए प्रशिक्षण भी दे दिया गया है। इन सेवाओं हेतु आवश्यक प्रोपर्टी आई.डी. क्रियेशन का कार्य भी इस योजना के अन्तर्गत किया जायेगा।
एक कॉल पर घर बैठे पहुंचेगा दस्तावेज:
उन्होंने बताया कि इस योजना के क्रियान्वयन के लिए न्यास द्वारा इस हेतु एक कंपनी के साथ अनुबंध किया गया है, जिसके तहत कम्पनी द्वारा एक कॉल सेंटर स्थापित किया जा रहा है, जिसका सम्पर्क नंबर 9587895454 है। न्यास की इन पांच सेवाओं की डोर स्टेप डिलीवरी हेतु उदयपुर शहरवासी कॉल सेंटर पर कॉल कर सकेेंगे। इसके बाद इस सर्विस के तहत कंपनी के प्रतिनिधि लेपटॉप और स्केनर लेकर संबंधित के घर पहुंचेंगे। वहीं से सारे दस्तावेज अपलोड करने के साथ ही आवेदन की प्रक्रिया पूरी की जायेगी। उक्त सेवाओं हेतु निर्धारित शुल्क भी ऑनलाईन न्यास खाते में जमा करवाया जायेगा। बाद में न्यास से कार्य होते ही उसका दस्तावेज भी कॉल सेन्टर के द्वारा संबंधित नागरिकों तक उनके घर पहुंचाया जाएगा।
ऑनलाईन जमा करानी होगी फिस:
डोर स्टेप डिलीवरी योजना में सेवा का लाभ प्राप्त करने हेतु आवेदक को मात्र 425 रुपये. प्रति सेवा न्यास कोष में ऑनलाईन जमा कराना होगा, कम्पनी के प्रतिनिधि को आवेदक द्वारा किसी प्रकार का भुगतान नहीं किया जायेगा। न्यास द्वारा आमजन से इस डोर स्टेप डिलीवरी योजना का अधिक से अधिक लाभ उठाने का आह्वान किया गया है।

पंचायत चुनाव के लिए आरओ-एआरओ नियुक्त


उदयपुर, 27 अक्टूबर/जिला निर्वाचन अधिकारी (कलक्टर) चेतन देवड़ा ने एक आदेश जारी कर जिले में आगामी दिनों में पंचायत चुनाव के तहत जिला परिषद एवं पंचायत समिति सदस्य के निर्वाचन के लिए विभिन्न पंचायत समितियों में रिटर्निंग व सहायक रिटर्निंग अधिकारी लगाए हैं।
कलक्टर के आदेशानुसार गिर्वा पंचायत समिति के लिए यूआईटी के विशेषाधिकारी पुष्पेन्द्र सिंह शेखावत को आरओ तथा गिर्वा तहसीलदार को एआरओ, कुराबड़ के लिए गिर्वा एसडीएम डॉ. सौम्या झा को आरओ व कुराबड़़ उप तहसीलदार को एआरओ, गोगुन्दा के लिए स्थानीय निकाय उपनिदेशक विनय पाठक को आरओ व गोगुन्दा तहसीलदार को एआरओ, सायरा के लिए गोगुन्दा एसडीएम सुश्री नीलम लखारा को आरओ व सायरा के उपतहसीलदार को एआरओ तथा बड़गांव के लिए बड़गांव एसडीएम श्रीमती अपर्णा गुप्ता को आरओ व तहसीलदार बड़गांव को एआरओ लगाया गया है।
इसी प्रकार झाडोल के लिए उपनिदेशक जितेन्द्र कुमार पाण्डे को आरओ व तहसीलदार झाड़ोल को एआरओ, फलासिया के लिए झाड़ोल एसडीएम अक्षय गोदारा आरओ व फलासिया के उप तहसीलदार को एआरओ, कोटड़ा के लिए कोटड़ा एसडीएम सुभाष यादव को आरओ व तहसीलदार कोटड़ा को एआरओ, खेरवाड़ा के लिए जनजाति परियोजना अधिकारी सुरेश कुमार खटीक को आरओ व खेरवाड़ा तहसीलदार को एआरओ, नयागांव के लिए खेरवाड़ा एसडीएम प्रमोद सिरवी को आरओ व उप तहसीलदार नयागांव को एआरओ, ऋषभदेव के लिए ऋषभदेव एसडीएम गोविन्द सिंह को आरओ व तहसीलदार ऋषभदेव को एआरओ, सराड़ा के लिए यूआईटी के तहसीलदार वीरभद्र सिंह को आरओ व उप तहसीलदार सराड़ा को एआरओ तथा सेमारी के लिए सराड़ा एसडीएम सुभाषचन्द्र हेमानी को आरओ व सेमारी तहसीलदार को एआरओ नियुक्त किया गया है।
इसके साथ ही जयसमंद के लिए उपपंजीयक सुरेन्द्र बी.पाटीदार को आरओ व उप तहसीलदार जयसमंद को एआरओ, वल्लभनगर के लिए जिला परिषद एसीईओ शैलेश सुराणा को आरओ व तहसीलदार वल्लभनगर को एआरओ, भीण्डर के लिए वल्लभनगर एसडीएम मयंक मनीष को आरओ व तहसीलदार भीण्डर को एआरओ, मावली के लिए मावली एसडीएम रमेश सिरवी को आरओ व तहसीलदार मावली को एआरओ, सलुम्बर के लिए उप पंजीयक प्रथम सुबोध चारण को आरओ व उप तहसीलदार सलुम्बर को एआरओ, झल्लारा के लिए सलूंबर एसडीएम मणीलाल तीरगर को आरओ व सलंूबर तहसीलदार को एआरओ तथा लसाडि़या पंचायत समिति के लिए लसाडि़या एसडीएम हनुमान राम चौधरी को आरओ तथा लसाडिया तहसीलदार को एआरओ लगाया गया है।

पंचायत आम चुनाव 2020
मतदान दलों के कार्मिकों के प्रशिक्षण के लिए 9 भवन अधिग्रहित


उदयपुर, 27 अक्टूबर/जिला निर्वाचन अधिकारी (कलक्टर) चेतन देवड़ा के आदेशानुसार जिले में जिला परिषद व पंचायत समिति सदस्यों के निर्वाचन के तहत मतदान अधिकारियों-कार्मिकों के प्रशिक्षण के लिए जिला मुख्यालय पर 9 विभागों एवं संस्थाओं के सभागारों को अधिग्रहित किया है। इन भवनों में 8 नवंबर से 19 नवंबर तक पीआरओ व मतदान अधिकारी प्रथम का प्रशिक्षण होगा।
अधिग्रहित किए गए भवनों में राजकीय आयुर्वेद कॉलेज सभागार, आरएससीईआरटी सभागार, नगर निगम में सुखाडि़या रंगमंच, पंडित दीनदयाल सभागार व पार्षद सभागार, एमएलएसयू में विवेकानन्द सभागार, टीआरआई सभागार, पंचायत समिति गिर्वा हॉल के भूतल व प्रथम तल सम्मिलित हैं।  

कोरोना वारियर्स सम्मानित

कोरोना वारियर्स सम्मानितउदयपुर, 27 अक्टूबर/उदयपुर वुमन चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज द्वारा जिला कार्यालय में कार्यरत कार्मिकों का कोरोना वारियर्स के रूप में सम्मानित किया गया। इंडस्ट्रीज की ओर से यह सम्मान अतिरिक्त जिला कलेक्टर ओपी बुनकर ने कार्मिकों को प्रमाण पत्र और शील्ड और ऊपरणा ओड़ा कर प्रदान किया। इस मौके पर एडीएम कार्यालय के सुनील, विजय और जिला निर्वाचन कार्यालय के राकेश कुमार को सम्मानित किया गया। इस मौके पर उदयपुर वूमन चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री की अध्यक्ष रीटा महाजन, वरिष्ठ उपाध्यक्ष टीना सोनी व सचिव डॉ. नीता मेहता उपस्थित थे।

फतहसागर व पिछोला झील पर कन्ट्रोल कन्सट्रक्शन जोन अनुपालना के लिए कार्यवाही
कलक्टर ने निर्माण गतिविधियों को रोकने गठित की कमेटी


उदयपुर, 28 अक्टूबर/राज्य सरकार द्वारा उदयपुर फतहसागर व पिछोला झील की सीमाओं पर अधिसूचित कन्ट्रोल कन्सट्रक्शन जोन क्षेत्र में निर्माण गतिविधियों को रोकने के लिए कलक्टर चेतन देवड़ा ने एक कमेटी का गठन किया है।  
जिला कलक्टर चेतन देवड़ा ने इस संबंध में जारी आदेश में बताया है कि उनके द्वारा नगर भ्रमण के दौरान पाया गया कि इन क्षेत्रों में निर्माण गतिविधियां दृष्टिगत हो रही है। उन्होंने इस स्थिति पर अधिसूचित क्षेत्र में निर्माण गतिविधियों को रोकने के लिए कमेटी का गठन किया है। इस कमेटी में यूआईटी के भूमि अवाप्ति अधिकारी व अधीक्षण अभियंता, नगर निगम के अधीक्षण अभियंता, गिर्वा तहसीलदार, यूआईटी तहसीलदार तथा निगम व यूआईटी संबंधित क्षेत्र के सहायक अभियंताओं को सम्मिलित किया गया है। कलक्टर ने कमेटी को निर्देश दिए है कि नियमित रूप से निरीक्षण करते हुए प्रति सप्ताह क्षेत्र मे निर्माण गतिविधियों एवं कार्यवाही से अवगत करावें।

कोविड फण्ड के लिए 1.51 लाख का चैक सौंपा

 

उदयपुर, 28 अक्टूबर/विश्वव्यापी कोरोना महामारी से बचाव के लिए किए जा रहे प्रयासों में सहयोग देने के लिए इंस्टीट्यूट ऑफ वेल्यूअर्स की उदयपुर शाखा द्वारा कोविड के लिए बुधवार को मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष में 1 लाख 51 हजार 110 रुपयों का चैक दिया गया है। संस्थान के नेशनल काउंसिल सदस्य और सचिव संजय डूंगरवाल तथा उदयपुर शाखा अध्यक्ष गुरुप्रसाद माथुर ने यह चैक जिला कलक्टर चेतन देवड़ा को भेंट किया। कलक्टर देवड़ा ने संस्थान की गतिविधियों के बारे में जानकारी ली और सदस्यों के इस सहयोग की सराहना की।

पंचायत आम चुनाव 2020
कलक्टर ने आर्ट्स कॉलेज व फतह स्कूल का किया दौरा
तैयारियों का लिया जायजा

उदयपुर, 28 अक्टूबर/जिला परिषद व पंचायत समिति सदस्यों के चुनाव के तहत की जा रही तैयारियों का जायजा लेने के लिए जिला निर्वाचन अधिकारी (कलक्टर) चेतन देवड़ा ने बुधवार को शहर के आर्ट्स कॉलेज व फतह स्कूल का दौरा किया। उन्होंने निर्वाचन से जुड़ी तैयारियों की जानकारी प्राप्त करते हुए दोनांे भवनों के सम्पूर्ण परिसर का देखा और उपयुक्तता का जायजा लेते हुए निर्वाचन से जुड़े अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। इस अवसर पर उप जिला निर्वाचन अधिकारी ओ.पी.बुनकर ने पूर्व में हुए चुनावों के दौरान इन दोनों स्थानों पर की गई व्यवस्थाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

यूआईटी की एक और सौगात
प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत ई-लॉटरी आज


उदयपुर, 28 अक्टूबर/नगर विकास प्रन्यास, उदयपुर द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) के तहत ई लॉटरी से फ्लेट्स का आवंटन गुरुवार 29 अक्टूबर को दोपहर 12 बजे चित्रकूट नगर स्थित न्यास सामुदायिक भवन मंे किया जायेगा।
न्यास सचिप अरूण हसीजा ने बताया कि इस योजना के तहत वर्ष 2016 मंे प्राप्त ऑनलाईन 4 हजार 929 आवेदनों में से शेष रहे 3818 ऑनलाईन आवेदनों हेतु पन्नाधाय नगर, दक्षिण विस्तार योजना, डांगियों की पंचोली एवं राजस्व ग्राम उमरड़ा में निर्माणाधीन 1011 ईडब्ल्यूएस (जी$3) फ्लेट्स का आवंटन ई-लॉटरी के माध्यम से किया जा रहा है। इस अवसर पर आर्थिक दृष्टि से कमजोर वर्ग के 1011 फ्लेट्स मंे विकलांग वर्ग हेतु 4, अनुसूचित जाति वर्ग हेतु 91, अनुसूचित जनजाति वर्ग हेतु 61 एवं सामान्य वर्ग हेतु 855 फ्लेट्स की ई-लॉटरी निकाली जायेगी।

जिले के निर्वाचन क्षेत्रों में धारा 144 लागू


उदयपुर, 28 अक्टूबर/जिला मजिस्ट्रेट (कलक्टर) चेतन देवड़ा ने एक आदेश जारी कर जिला परिषद व पंचायत समिति सदस्यों के चुनाव के तहत जिले के संबंधित निर्वाचन क्षेत्रों में शांतिपूर्वक, स्वतंत्र व निष्पक्ष एवं सुव्यवस्थित ढंग से चुनाव सम्पन्न कराने को लेकर धारा 144 लागू कर दी है।
कलक्टर ने बताया कि यह आदेश 12 दिसंबर 2020 की रात्रि 12 बजे तक प्रभावी रहेगा। इस निषेधाज्ञा की अवहेलना या उल्लंघन किये जाने पर संबंधित को भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 के तहत दण्डित किया जाएगा।