News

जिला प्रशासन की अपील कांटेक्ट ट्रेसिंग से करें प्रशासन की मदद

News

जिलेवासियों को कोरोना महामारी के संक्रमण से बचाव के लिए जिला प्रशासन द्वारा हर व्यक्ति को अपने संपर्कों की सूची बनाते हुए कांटेक्ट ट्रेसिंग में प्रशासन की मदद का आह्वान किया है।
जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी ने बताया कि प्रत्येक व्यक्ति एक छोटी नोटबुक या डायरी हमेशा अपने साथ रखे और हर दिन जिन-जिन व्यक्तियों के संपर्क में आए, दिनांकवार एक पन्ने पर उसका नाम लिखते जाए। इस प्रकार यदि हम कोरोना से संक्रमित होते हैं तो प्रशासन को हमारे संपर्क में आए सभी लोगों का पता लगाने में मदद मिलेगी। इसे कांटेक्ट ट्रेसिंग कहते हैं।
उन्होंने कहा है कि इसके साथ ही अपने घर एवं संस्थान के सीसीटीवी हमेशा ऑन रखें। इस संदेश को अपने आस पास अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचावें। उन्होंने स्पष्ट किया कि आमजन की हर छोटी से छोटी मदद प्रशासन के काम आएगी। इससे कई जिंदगियां बचाई जा सकती हैं और कोरोना जंग में उनका यह योगदान अहम् साबित होगा।

घर बैठे दवाईयां व परामर्श के लिए मदद करेगा ‘आयु एप’ डॉक्टर्स, मरीज व मेडिकल तीनों हुए ऑनलाइन

News

लॉकडाउन की अवधि में आमजन के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए जिला प्रशासन के निर्देशों पर आईटी विभाग की ओर से आयु एप बनाया गया है जिससे जरूरतमंद व्यक्ति घर बैठे अपनी आवश्यकतानुसार दवाईयां मंगा सकेंगे और चिकित्सक परामर्श ले सकेंगे।
आईटी उपनिदेशक शीतल अग्रवाल ने बताया कि यदि किसी को स्वास्थ्य संबंधी कोई परेशानी है तो संबंधित व्यक्ति घर बैठे ही इस मोबाइल एप के माध्यम से विशेषज्ञ डॉक्टर्सं से परामर्श पा सकते हैं। इसके अलावा दवाइयां भी घर पर ही मुहैया हो जाएंगी।
ऐसे काम करता है आयु एप
मोबाइल में आयु एप डॉउनलोड करने के लिए गूगल प्लेस्टोर पर जाएं, यहां आयु एप टाइप कर ब्लु कलर में प्लस के निशान वाले बटन पर क्लिक करें। इसके बाद इस एप में रजिस्टर करें। आयु एप से ई-परामर्श लेने के लिए ई-कंसल्ट बटन पर क्लिक करके अपनी बीमारी के लक्षण सलेक्ट करें। इसमें खांसी, जुकाम, बुखार आदि सवाल पूछे जाएंगे। जिनका जवाब देकर परामर्श लिया जा सकता है। इस एप पर व्यक्ति अपना मेडिकल रिकॉर्ड भी अपलोड कर सकते हैं। यह पूरी तरह सेफ और सुरक्षित है।
ई-परामर्श सब्मिट करने के बाद डॉक्टर असाइन होगा और सबसे पहले आयु से फोन आएगा यह सूचना देने के लिए कि कौन डॉक्टर आपका केस देख रहे है। उसके बाद डॉक्टर कॉल करके परेशानी पूछेंगे और आपके बताए लक्षणों के आधार पर ही दवाइयां लिखेंगे। डॉक्टर द्वारा लिखी दवाइयों का पर्चा भी फोन पर ही उपलब्ध हो जाएगा। जिसे आप अपने सेहत साथी (नजदीकी मेडिकल स्टोर) पर भेजकर दवाइयां मंगवा सकते हैं।
जिला प्रशासन की मेडिकल स्टोर्स से अपील:
जिला प्रशासन ने उदयपुर जिले के सभी मेडिकल स्टोर से भी अपील की है कि वह अपने फोन में सेहत साथी एप डाउनलोड करें, और इस संकटकाल में देशवासियों की मदद करें।
ऐसे डाउनलोड होगा सेहत साथी एप:
इसके लिए गूगल प्ले स्टोर पर सेहत साथी टाइप करना होगा। यहां सेहत साथी मेडकॉर्ड्स फॉर फॉर्मेसी लिखा हुआ दिखाई देगा, इस पर क्लिक करना है। डाउनलोड पश्चात आवश्यक सूचना दर्ज करने केे बाद डायरेक्ट लोगों से बात कर चेट के माध्यम से दवाइयों के ऑर्डर ले सकते हैं। इसके अतिरिक्त उदयपुर के समस्त डॉक्टरों से भी डॉक्टर्स डॉट मेडकॉर्ड्स डॉट कॉम पर रजिस्ट्रेशन करके जिले के समस्त लोगों को घर से ही परामर्श देंने की अपील की है ।

अब लोग अब घर बैठे मंगवा सकेंगे राशन आईटी विभाग ने तैयार किया ‘ई-बाजार कोविड-19’ मोबाइल एप

News


लोकडाउन की इस स्थिति में अब लोगों को घरों से निकल कर बाजार में राशन खरीदने के लिए नहीं जाना पड़ेगा। शहर में कोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग ने नागरिकों के लिए घर बैठे राशन सामग्री की होम डिलीवरी हेतु ‘ई-बाजार कोविड-19’ मोबाइल एप विकसित की है।
सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग, उदयपुर की उपनिदेशक शीतल अग्रवाल ने बताया कि इस एप को  ‘कोविड डॉट ईबाजार डॉट राजस्थान डॉट जीओवी डॉट इन’ वेबसाईट से डाउनलोड किया जा सकता है तथा उपयोग करने के लिए दुकानदार तथा उपभोक्ता दोनों को स्वयं की एसएसओ आईडी से एप पर रजिस्टर करना होगा। इस एप के माध्यम से ग्राहक अपने घर के आसपास स्थित किराणा स्टोर्स की जानकारी प्राप्त कर सकेंगे तथा अपनी आवश्यकतानुसार राशन सामग्री घर बैठे ऑर्डर कर सकेंगे। होम डिलीवरी की सुविधा प्रदान करने वाले किराणा स्टोर, ऑर्डर की गई सामग्री की डिलीवरी ग्राहक के घर तक करेंगे।

7 जुलाई तक चलेगा कोरोना जागरूकता अभियान

उदयपुर, 29 जून/कोरोना महामारी से बचाव के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की पहल पर प्रदेशभर में जारी कोविड-19 जागरूकता अभियान की तिथि 7 जुलाई तक बढ़ा दी गई है। पूर्व में यह अभियान 30 जून तक ही निर्धारित था।अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) ओ.पी.बुनकर ने बताया कि राजस्थान सरकार के सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग से प्राप्त दिशा-निर्देशानुसार कोरोना से बचाव में जागरूकता के महत्व व इस अभियान की अब तक की सफलता को देखते हुए राज्य सरकार ने इस विशेष जागरूकता अभियान को 7 जुलाई तक बढ़ाने का निर्णय लिया है। एडीएम ने 7 जुलाई तक अधिक से अधिक कार्यक्रम आयोजित करते हुए इस जागरूकता अभियान को जन-जन तक पहुंचाने के निर्देश दिए हैं।

एयरपोर्ट पर जिला प्रशासन ने बरती सतर्कता
हवाई यात्रा से आने वाले हर व्यक्ति को भरना होगा फॉर्म-4

उदयपुर, 29 जून/कोरोना संक्र्रमण के संबंध में राज्य सरकार के निर्देशानुसार देश के विभिन्न एयरपोर्टो से घरेलू उडानों के माध्यम से आने वाले यात्रियों के आगमन पर कोविड़-19 के संबंध में समय-समय पर जारी निर्देशों की पालना सुनिश्चित करने हेतु प्रभारी अधिकारी के साथ विशेष सतर्कता दल का गठन किया गया है।
इस संबंध में अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट संजय कुमार के आदेशानुसार उदयपुर एयरपोर्ट के लिये पर्यटन उपनिदेशक शिखा सक्सेना को प्रभारी अधिकारी नियुक्त कर उनके सहयोग एवं निर्देशन में अलग-अलग दलों का गठन किया गया है। जिसमें दो पारी में 17-17 अधिकारी-कार्मिक सेवाएं देंगे तथा 4 को आरक्षित दल में रखा गया है। एक पारी सुबह 5 बजे से दोपहर 1 बजे तक तथा दूसरी पारी दोपहर 1 बजे से रात्रि 9 बजे तक जारी रहेगी। निर्देश दिए गए हैं कि कार्यरत कार्मिक तब तक एयरपोर्ट नहीं छोड़ेंगें जब तक कि अगला दल उपस्थित नहीं हो।  
एडीएम ने यह भी स्पष्ट किया है कि ऐसा कोई अधिकारी अथवा कार्मिक उसके दिये गये दायित्व का निर्वहन करने से इंकार करता है तो इस आचरण के लिए 1 वर्ष का कारावास एवं जुर्माने से दडित किया जा सकता है। यदि इस इंकार के फलस्वरूप किसी की जान जाती है अथवा जान जोखिम में पड़ जाती है तो ऐसे अधिकारी अथवा कार्मिक को दो वर्ष के साधारण कारावास एवं जुर्माने से दण्डित किया जा सकता है। इसके अतिरिक्त उनके खिलाफ विभागीय अनुशासनात्मक कार्यवाही भी पृथक से ही की जायेगी।
यह कार्यवाही करेगा दल:
निर्देशानुसार नियुक्त कार्मिक स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ समन्वय कर प्रत्येक आने वाले हवाई यात्री से फार्म 4 भरवाएंगे तथा भरे हुए फार्म आईटी उपनिदेशक को मोबाइल नंबर 9414233217 तथा आईटी विभाग की ईमेल आईडी पर भेजेंगे। इस आदेश या इसकी पालना में जारी किसी आदेश की अवहेलना किए जाने पर आपदा प्रंबधन अधिनियम 2005 की धारा 51 व 57 तथा भारतीय दण्ड संहिता 1973 की धारा 188 के तहत् अनुशासनात्मक कार्यवाही की जा सकेगी। विदेश से अपने वाले यात्रियों को स्वस्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार के दिशा-निर्दशानुसार 7 दिवस तक संस्थागत क्वारेनटाइन एवं अगले 7 दिवस होम क्वारेनटाईन करवाया जाएगा।  
एडीएम ने यह भी निर्देश दिये है कि अधिग्रहित किये गये सभी कार्मिकों को एयरपोर्ट से निकास करने वाले सभी यात्रियों (प्रवासी) के संबंध में स्थानीय एयरपोर्ट के अधिकारियों से समन्वय स्थापित कर प्रवेश करने वाले प्रवासियों का निर्देशानुसार ब्यौरा संधारित करना है। यह भी सुनिश्चित किया जायें कि आगन्तुक कोई भी प्रवासी किसी भी स्थिति में सीधे शहर में प्रवेश नहीं करें, इनके प्रवास के संबंध में निर्धारित कार्यवाही सुनिश्चित की जायें। जिला प्रशासन द्वारा निर्धारित संस्थागत क्वारेनटाइन सेंटर, निर्धारित होटल, पेईंग गेस्ट हाउस (स्वयं के खर्चे पर)/जिला प्रशासन द्वारा निर्धारित प्रक्रिया के तहत एनओसी जारीे होने पर स्वयं के निवास पर रहने की अनुमति दी जा सकेगी।

कोविड-19 जागरूकता अभियान सेल्फी और सतर्कता-संदेश के नाम रहा सोमवार, सेल्फी पोस्ट कर लोगों ने कहा-‘मै सतर्क हूं’

News

उदयपुर, 29 जून/कोरोना महामारी से बचाव के लिए मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की पहल पर प्रदेशभर में चलाए जा रहे अनूठे कोविड-19 जागरूकता अभियान की श्रृंखला में आयोजित तीन दिवसीय विशिष्ट कार्यक्रमों के दूसरे दिन मास्क वाली सेल्फी विशेष आकर्षण का केन्द्र रहीं। इस दौरान हर जागरूक व्यक्ति ने मास्क लगाकर अपनी सेल्फी ली और संदेश दिया कि ‘मैं सतर्क हूं’।
अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) ओ.पी.बुनकर नेे बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार आयोजित इस सेल्फी विथ मास्क कार्यक्रम के तहत उदयपुर की जागरूक जनता ने सेल्फी ली और ‘मै सतर्क हूं’ के हेशटेग के साथ अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर अपलोड कर जागरूकता व सतर्कता का अनूठा उदाहरण प्रस्तुत किया। उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम का यही उद्देश्य था कि कोरोना से बचने के लिए आमजन नियमित मास्क का प्रयोग करे और अन्य को भी इसके प्रति प्रेरित करें।
योग के साथ सेल्फी का संयोग:
एडीएम बुनकर ने बताया कि सेल्फी विथ मास्क कार्यक्रम का आकर्षण सोमवार अल सुबह से देखा गया जहां योगाभ्यासी कोरोना वारियर्स ने क्वारेंटाईन सेंटर होटल कजरी प्रांगण में सुबह-सुबह ही योगाभ्यास के पश्चात एक साथ सेल्फी लेते हुए सतर्कता की नज़ीर पेश की। यहां पर वरिष्ठ आयुर्वेद चिकित्साधिकारी डॉ शोभालाल औदीच्य के नेतृत्व में कोरोना योद्धाओं जिग्नेश शर्मा, योगी अशोक जैन, प्रेम जैन, उमेश चंद्र श्रीमाली, शारदा जालोरा, राजेन्द्र जालोरा, पूरण सिंह राठौड़, प्रीति सुमेरिया, गोपाल डांगी, कंचन डामोर आदि ने मास्क लगा कर सेल्फी ली और सोशल मीडिया पर भी शेयर किया। इसी तरह सिंधी बाजार स्थित राजकीय आदर्श आयुर्वेद औषधालय में आने वाले रोगियों को, मोहल्लेवासियों को मास्क पहनने के लिए जागरूक किया गया। कलेक्ट्रेट परिसर के विभिन्न विभागीय अधिकारियों, सूचना केन्द्र के समस्त कार्मिकों के साथ कई मीडियाकर्मियों ने भी सेल्फी लेकर सोशल मीडिया पर पोस्ट की।
पंचायत से लेकर नरेगा कार्यों तक दिखा सेल्फी का क्रेज़:
इधर, जिला मुख्यालय पर स्थित सभी विभागों-कार्यालयों, स्वयंसेवी संस्थाओं, व्यापारिक प्रतिष्ठानों में सरकारी अधिकारियों-कार्मिकों के साथ प्रबुद्धजनों, शहरवासियों व स्वयंसेवी कार्मिकों ने मास्क के साथ सेल्फी ली। इसी तरह जिले के समस्त ब्लॉक स्तरीय कार्यालयों  के साथ दूरस्थ ग्राम पंचायतों में ग्रामीणों ने मास्क पहनकर सोशल मीडिया पर सेल्फी पोस्ट की। विकास अधिकारियों, ग्राम विकास अधिकारी, आंगनवाड़ी कार्यकर्त्ताओं, एएनएम और अन्य युवाकार्मिकों ने पूरे उत्साह से मास्क पहनकर सेल्फी पोस्ट की। यहां तक कि इस कार्यक्रम में नरेगा कार्यक्रम अंतर्गत कार्य कर रहे श्रमिक भी अपना योगदान देने में अग्रणी रहे और सभी ने मास्क के साथ सेल्फी लेकर सतर्कता का संदेश प्रतिध्वनित किया।
शपथ एवं जनसहयोग से मास्क वितरण आज
बुनकर ने बताया कि 30 जून को कोरोना बचाव के लिए कोरोना बचाव के लिए जागरूकता पैदा करने की शपथ का आयोजन किया जाएगा और कच्ची बस्तियों और अन्य जरूरतमंद लोगों को जनसहयोग से मास्क वितरण का कार्यक्रम रखा गया है।

उपभोक्ता भण्डार कार्मिकों को मेनेजमेंट का ऑनलाइन प्रशिक्षण

उदयपुर, 29 जून/कोविड-19 के दृष्टिगत उदयपुर सहकारी उपभोक्ता थोक भण्डार लि. उदयपुर के कर्मचारियों को रिटेल स्टोर मैनेजमेंट का ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया गया।
उपभोक्ता भंडार के महाप्रबन्धक राजकुमार खांडिया ने बताया कि कार्यक्रम मे वैकुंठ मेहता राष्ट्रीय सहकारी प्रबंध संस्थान पुणे से प्रोफेसर एस.के.देशपाण्डे एवं चेतन संगई ने सुपरमार्केट के संबंध में केटेगरी समीक्षा एवं केटेगरी स्टॉक नियंत्रण के संबंध में विस्तृत जानकारी प्रदान की। साथ ही उदयपुर भण्डार के कार्य की समीक्षा की जाकर कोविड-19 के दौरान इस संस्था द्वारा किये गये विभिन्न कार्य जिसमे बिना अवकाश के सुपरमार्केट निरन्तर संचालित करना, अन्नपूर्णा, संबल किट तैयार करना, कर्फ्यू क्षेत्रों मे डोर स्टेप डिलीवरी जनरल एवं मेडिकल दवाईया उपलब्ध कराना आदि की प्रशंसा की गई।
ऑनलाइन प्रशिक्षण में भण्डार के समस्त कर्मचारियों व अधिकारियों ने भाग लिया। आभार भण्डार प्रशासक प्रेमप्रकाश माण्डोत ने जताया।

कोविड-19 जागरूकता अभियान कोरोना को मात देने एकजुट हुए उदयपुरवासी संक्रमण से सुरक्षा और जागरूकता की ली शपथ जरूरतमंदों को बांटे मास्क

News

उदयपुर, 30 जून/कोरोना महामारी से बचाव के लिए मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की पहल पर प्रदेशभर में चलाए जा रहे अनूठे कोविड-19 जागरूकता अभियान की श्रृंखला में तीन दिवसीय विशिष्ट कार्यक्रम के तीसरे दिन मंगलवार को जिले भर में शपथ कार्यक्रम रखा गया। इस दौरान जागरूक जिलेवासियों ने स्वयं की सुरक्षा के साथ आमजन को जागरूक करने की शपथ ली। इसके साथ ही कच्ची बस्तियों और अन्य जरूरतमंद लोगों को जनसहयोग से मास्क वितरण भी किये गये।
अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) ओ.पी.बुनकर नेे बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार आयोजित इस कार्यक्रम में जिला मुख्यालय पर स्थित सभी विभागों-कार्यालयों, स्वयंसेवी संस्थाओं, व्यापारिक प्रतिष्ठानों में सरकारी अधिकारियों-कार्मिकों के साथ प्रबुद्धजनों एवं शहरवासियों ने कोरोना से बचने के लिए अपनी सुरक्षा तथा आमजन की जीवन रक्षा के लिए जागरूक रहने एवं बचाव के उपायों को दिनचर्या में अपनाने की शपथ ली। जिला मुख्यालय पर कलेक्ट्रेट व जिला परिषद, प्रादेशिक परिवहन अधिकारी कार्यालय, सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालय, शिक्षा विभाग, उद्यान विभाग, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग, आयुर्वेद विभाग, पुलिस थाना अंबामाता, समस्त उपखण्ड कार्यालयों, तहसील कार्यालयों, विकास अधिकारी कार्यालयों आदि में संबंधित विभागीय अधिकारी ने कार्मिकों व आमजन को शपथ दिलाई।
इधर, वरिष्ठ आयुर्वेद चिकित्साधिकारी डॉ. शोभालाल औदीच्य ने कोरोना योद्धाओं को जागरूकता की शपथ दिलाई गई। इस अवसर पर जिग्नेश शर्मा, योगी अशोक जैन, प्रेम जैन, उमेश चंद्र श्रीमाली, शारदा जालोरा, राजेन्द्र जालोरा, नरेंद्र सिंह झाला, पूरण सिंह राठौड़, प्रीति सुमेरिया, गोपाल डांगी, कंचन डामोर, सुरेश पालीवाल, सपना नागौरी, सावंत नागौरी, यशवंत विजयवर्गीय, शीतल गुप्ता, नवनीत गुप्ता, पल्लवी, भव्या आदि ने होटल कजरी में मास्क लगा कर शपथ ग्रहण की। सिंधी बाजार स्थित राजकीय आदर्श आयुर्वेद औषधालय में ऑनलाइन योग कक्षा में फेसबुक के माध्यम से भी योग एवं आयुर्वेद प्रेमियो को भी ऑनलाइन एवं हाथीपोल पुलिस थाना में शपथ दिलाई गयी।
ग्राम्यांचलों में भी दिखा अपूर्व उत्साह:
इधर, शपथ और मास्क वितरण कार्यक्रम के प्रति जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में अपूर्व उत्साह देखा गया। जिले के समस्त ब्लॉक स्तरीय कार्यालयों के साथ दूरस्थ ग्राम पंचायतों में ग्रामीणों ने शपथ लेकर इस जागरूकता अभियान में अपनी भागीदारी सुनिश्चित की। विकास अधिकारियों, ग्राम विकास अधिकारी, आंगनवाड़ी कार्यकर्त्ताओं, एएनएम और अन्य युवाकार्मिकों ने पूर्ण जागरूकता दिखाई। यहां तक कि इस कार्यक्रम में नरेगा कार्यक्रम अंतर्गत कार्य कर रहे श्रमिकों का योगदान भी सराहनीय रहा। इसके साथ ही जिले के विभिन्न स्थानों पर समाजसेवियों, संस्थाओं, भामाशाहों आदि के सहयोग से जरूरतमंदों को मास्क भी वितरित किये गये।
कोरोना वॉरियर्स ने यह शपथ ली:
कोविड 19 महामारी की इस विकट घड़ी में संक्रमण से बचने के लिए “खुद के स्वास्थ्य का खुद ख्याल रखना“ ही मुख्य उपाय है। इस आशय को ध्यान में रखकर जागरूक उदयपुरवासियों ने स्वयं की सुरक्षा और आमजन के जीवन की रक्षा के लिए मास्क पहनने, हाथ धोने, सामाजिक दूरी बनाये रखने व सार्वजनिक स्थानों पर नहीं थूकने की आदत को यथासंभव दिनचर्या में शामिल करने, अपने आसपास के लोगों को इन सावधानियों को अपनाने तथा कोरोना संक्रमण की रोकथाम के तहत मानवता की सेवा में अपनी जिम्मेदारी समझकर यथासंभव सहयोग प्रदान करने की शपथ ली।
झाड़ोल व फलासिया में निकली मोटर साइकिल रैली:
कोरोना जागरूकता अभियान के तहत जनजागरूकता कार्यक्रमों की श्रृंखला में जिले के आदिवासी अंचल झाड़ोल-फलासिया में मोटर साइकिल रैली निकाली गई। बाइक सवारों ने अपने हाथों में एवं वाहन पर राज्य सरकार के सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग से प्राप्त पोस्टर्स, सन बोर्ड, सन पैक आदि प्रचार सामग्री के साथ गांवों में जागरूकता रैली निकाली तथा मुख्यमंत्री के जागरूकता संदेश को जन-जन तक पहुंचाया। रैली के आगे चल रही जीप पर माइक के माध्यम से भी जागरूकता संदेश दिया गया। इस दौरान क्षेत्र में मास्क भी वितरित किये गये। इन समस्त कार्यक्रमों के आयोजन के दौरान सामाजिक दूरी की पालना के साथ कोरोना बचाव को लेकर जारी गाइडलाइन की पूर्ण पालना सुनिश्चित की गई।

मछलियों के विक्रय पर 15 अगस्त तक रोक

उदयपुर, 30 जून/पशुपालन विभाग से जारी अधिसूचना में राजस्थान मत्स्य क्षेत्र अधिनियम के तहत सम्पूर्ण राज्य में 1 जुलाई से 15 अगस्त तक स्वच्छ जलाशय की मछलियों का विक्रय या वस्तु विनिमय के लिए प्रस्थापना करना या उसे अभिदर्शित करना तुरंत प्रभाव से प्रतिबंधित कर दिया गया है। यह जानकारी मत्स्य विकास अधिकारी डॉ. दीपिका पालीवाल ने दी।

फसल बीमा कराने की अंतिम तिथि 15 जुलाई

उदयपुर, 30 जून/राजस्थान सरकार के आदेशानुसार वित्तीय संस्थान में कृषकांे के लिए फसल बीमा स्वैच्छिक किया गया है। वितीय संस्थान से फसली ऋण लेने वाले कृषकों को 8 जुलाई तक बैंक में जाकर फसली ऋण लेने के बावजूद बैंक द्वारा उपलब्ध कराये गये निर्धारित प्रपत्र में लिखित में यह आवेदन करना होगा कि उसे खरीफ 2020 के लिए फसल बीमा से पृथक रखा जाएं।
मार्गदर्शी बैंक के मुख्य प्रबन्धक बालेन्द्र ने बताया कि कृषकों द्वारा फसल बीमा कराने की अन्तिम तिथि भारत सरकार के द्वारा 15 जुलाई निर्धारित की गई है।

कोरोना जागरूकता अभियान
कोविड-19 जागरूकता प्रदर्शनी आज से सूचना केन्द्र में

उदयपुर, 30 जून/मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की अनूठी पहल पर जारी कोरोना जागरूकता अभियान के तहत उदयपुर जिला मुख्यालय पर एक माह तक चलने वाली कोरोना जागरूकता प्रदर्शनी का शुभारंभ चेतक सर्कल स्थित सूचना केन्द्र की कलादीर्घा में बुधवार को होगा।
सूचना एवं जनसम्पर्क उपनिदेशक डॉ. कमलेश शर्मा ने बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार जिला प्रशासन एवं सूचना एवं जनसम्पर्क कार्यालय उदयपुर की ओर से आयोजित इस प्रदर्शनी में विभिन्न प्रचार सामग्री के माध्यम से आमजन को जागरूक किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि इस प्रदर्शनी में फ्लेक्स, बैनर, सन बोर्ड, सन पैक के साथ कोरोना जागरूकता को लेकर आयोजित विविध कार्यक्रमों के छायाचित्र शामिल किए गये है। आगामी 31 जुलाई तक चलने वाली इस प्रदर्शनी के माध्यम से छोटे-छोटे समूह में अधिक से अधिक लोगों को सामग्री का अवलोकन कराते हुए जागरूक करने का प्रयास किया जाएगा।

गिर्वा के तितरड़ी में कोरोना प्रभावित क्षेत्र में लगाई निषेधाज्ञा
 

उदयपुर, 30 जून/उदयपुर के गिर्वा उपखण्ड क्षेत्र के तितरड़ी गांव में नोवेल कोरोना वायरस से संक्रमित मिलने के बाद गिर्वा उपखण्ड मजिस्टेªट डॉ. सौम्या झा ने संबंधित क्षेत्र में निवासरत नागरिकों के स्वास्थ्य की सुरक्षा एवं लोक प्रशान्ति बनाये रखने की दृष्टि से दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लगाई है।
एसडीएम ने जारी आदेश में बताया है कि यहां एक व्यक्ति नोवेल कोरोना वायरस से संक्रमित पाये जाने के कारण इस बीमारी से आस-पास के लोगों को इसके संक्रमण से बचाव की दृष्टि से गिर्वा उपखण्ड के सवीना थाना अंतर्गत तितरड़ी ग्राम पंचायत में तितरड़ी मेन रोड़, धर्मराज डेयरी के पास संबंधित क्षेत्र में निषेधाज्ञा लगाई गई है।
ये प्रतिबंध रहेंगे लागू:
एसडीएम ने बताया कि निषेधाज्ञा के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण की गंभीरता को देखते हुए इन सीमाओं में निवासरत व्यक्ति अपने आवास से बाहर आवागमन नहीं करेंगें। इन सीमाओं के अन्दर अवस्थित समस्त संस्थान, दुकान, प्रतिष्ठान, धार्मिक समारोह, रैली, जुलूस, सभा आदि प्रतिबंधित रहेगी। किसी भी प्रकार के सार्वजनिक एवं निजी परिवहन एवं आवागमन प्रतिबंधित रहेगा। यह प्रतिबंध बीमार व्यक्तियों, चिकित्सकीय आपात स्थिति से प्रभावित व्यक्तियों के साथ ही चिकित्साकर्मियों, सफाईकर्मियों तथा कानून एवं व्यवस्था के लिए नियुक्त कर्मचारियों पर लागू नहीं होगा।
यह निषेधाज्ञा 30 जून से 13 जुलाई की मध्यरात्रि तक जारी रहेगी। इस निषेधाज्ञा की अवहेलना या उल्लंघन करने वाले व्यक्ति या व्यक्तियों के विरूद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत अभियोग चलाये जा सकेंगे।

देवस्थान विभाग ने मंदिरों में पूजा-अर्चना के संबंध में दिए निर्देश

उदयपुर, 30 जून/कोरोना महामारी को देखते हुए देवस्थान विभाग के अतिरिक्त आयुक्त ओ.पी.जैन ने अपने अधीन समस्त मुख्य मंदिर मंडल अधिकारी तथा सहायक आयुक्तों को कोरोना-19 के संक्रमण को रोकने हेतु गृह विभाग द्वारा 30 जून को जारी निर्देशों की अनुपालना के लिए पाबंद किया है।
उन्होंने बताया कि धार्मिक स्थलों के लिए गठित जिला स्तरीय कमेटी की अनुशंषा पर जिला कलक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट द्वारा भिन्न भिन्न प्रकार के धार्मिक स्थलों के लिए जारी किये गये “करो या न करो“ संबंधी विशिष्ट निर्देशों की प्रत्येेेक पूजा स्थल के अंदर पालना सुनिश्चित करने को कहा है।

अगरबत्ती मेकिंग एवं पैकिंग कार्य का उद्घाटन आज

उदयपुर, 30 जून/केंद्रीय कारागृह उदयपुर की महिला जेल में अगरबत्ती मेकिंग एवं पैकिंग कार्य का उद्घाटन बुधवार 1 जुलाई को दोपहर 1.15 बजे जिला एवं सेशन न्यायाधीश उदयपुर व जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अध्यक्ष श्री आर.पी.सोनी की गरिमामय उपस्थिति में किया जाएगा।

31 दिवसीय कोरोना जागरूकता प्रदर्शनी का शुभारंभ उदयपुर में तस्वीरों और संदेशों से जनजागरूकता का प्रयास

News

उदयपुर, 1 जुलाई/मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की अनूठी पहल पर जारी कोरोना जागरूकता अभियान के तहत उदयपुर जिला मुख्यालय पर 31 दिन तक चलने वाली कोरोना जागरूकता प्रदर्शनी का शुभारंभ बुधवार को चेतक सर्कल स्थित सूचना केन्द्र की कलादीर्घा में हुआ।
शुभारंभ अवसर पर पूर्व विधायक त्रिलोक पूर्बिया, समाजसेवी गोपाल कृष्ण शर्मा, महात्मा गांधी जीवन दर्शन समिति के संयोजक पंकज कुमार शर्मा, सह संयोजक सुधीर जोशी, फिरोज अहमद शेख, भगवान सोनी, अशोक कुमार तम्बोली, श्रवण सिंह झाला, गोपाल सिंह जाट, अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) संजय कुमार सहित अन्य प्रबुद्धजन व अधिकारी मौजूद रहे।
प्रदर्शनी का विधिवत शुभारंभ अतिथियों ने कलादीर्घा द्वार पर मौलीबंधन खोलकर किया। शुभारंभ पश्चात सूचना एवं जनसम्पर्क उपनिदेशक डॉ. कमलेश शर्मा ने अतिथियों को प्रदर्शनी का अवलोकन कराया और इसमें प्रदर्शित विषयवस्तु की जानकारी दी। इस दौरान सभी अतिथियों को मुख्यमंत्री की कोरोना जागरूकता पर जारी अपील भी दी गई। 


जागरूकता संदेशों को अतिथियों ने सराहा:
अवलोकन दौरान पूर्व विधायक पूर्बिया व समाजसेवी शर्मा ने प्रदर्शनी में कोरोना जागरूकता संबंधित संदेशों और छायाचित्रों की सराहना की और कहा कि इसके माध्यम से अधिकाधिक लोग कोरोना से बचाव की गाईडलाईन को जान सकेंगे व इसके संक्रमण से बचाव के उपाय अपना सकेंगे।


जनता को कोरोना से बचाव की मुख्यमंत्री की मंशा:  

गांधी जीवनदर्शन समिति के संयोजक पंकज शर्मा ने इस मौके पर कहा कि संवेदनशील मुख्यमंत्री ने जनता जनार्दन को जागरूक करने के लिए जागरूकता कार्यक्रम के बाद इस प्रदर्शनी के आयोजन के माध्यम से जनता को कोरोना महामारी से बचाव की मंशा उजागर की है। उन्होंने उदयपुरवासियों से आह्वान किया कि वे कोरोना गाइडलाइन की पालना सुनिश्चित करते हुए सूचना केन्द्र में आयोजित इस प्रदर्शनी का अवलोकन करें तथा स्वयं जागरूक होकर आमजन तक यह संदेश पहुंचाने का कार्य करें। 


प्रशासन मुस्तैद, जनता भी हो सतर्क:

इस मौके पर एडीएम सिटी ने अतिथियों को बताया कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार जिला प्रशासन एवं सूचना एवं जनसम्पर्क कार्यालय उदयपुर की ओर से आयोजित इस प्रदर्शनी में विभिन्न प्रचार सामग्री के माध्यम से आमजन को जागरूक किया जाएगा। कोरोना से लड़ने एवं इसके बचाव के लिए प्रशासन पूर्ण मुस्तैदी से कार्य कर रहा है। ऐसे में यहां की जनता को भी अपनी सहभागिता निभानी होगी और अपनी सुरक्षा के प्रति सतर्क रहकर राज्य सरकार के इस संदेश को दैनिक दिनचर्या में शामिल करते हुए अन्य लोगों को भी इसके प्रति प्रेरित करना होगा।


उदयपुर ग्रामीण विधायक बोले-जनता को जागरूक करना जरूरी:
सूचना केन्द्र कलादीर्घा में आयोजित प्रदर्शनी का अवलोकन करने दोपहर में उदयपुर ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा भी पहुंचे। उन्होंने तसल्ली से पूरी प्रदर्शनी को देखा और कहा कि इसमें लोगों को कोरोना के प्रति जागरूक करने के लिए सभी प्रकार की सामग्री लगाई गई है। इस महामारी का बचाव ही उपचार है, ऐसे में लोगों को भी जागरूक करना जरूरी है। उन्होंने जनसंपर्क विभाग द्वारा जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में भी लगाई गई प्रचार सामग्री की सराहना की और कहा कि इस प्रदर्शनी के माध्यम से भी अधिकाधिक लोगों तक जागरूकता का संदेश प्रेषित करें।

 
एक माह तक चलेगी प्रदर्शनी:
जनसंपर्क उपनिदेशक डॉ. शर्मा ने बताया कि इस प्रदर्शनी में फ्लेक्स, बैनर, सन बोर्ड, सन पैक के साथ कोरोना जागरूकता को लेकर आयोजित विविध कार्यक्रमों के छायाचित्र शामिल किए गये है। उन्होंने बताया कि जिला कलक्टर श्रीमती आनंदी के निर्देशानुसार आगामी 31 जुलाई तक चलने वाली इस प्रदर्शनी के माध्यम से छोटे-छोटे समूह में अधिक से अधिक लोगों को सामग्री का अवलोकन कराते हुए जागरूक करने का प्रयास किया जाएगा।
पहले ही दिन बड़ी संख्या में लोगों ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया। इस दौरान बड़ी संख्या में मीडियाकर्मियों के साथ सहायक लेखाधिकारी दिनकर खमेसरा, सहायक प्रशासनिक अधिकारी लक्ष्मणसिंह, वीरालाल बुनकर, पक्षीविशेषज्ञ विनय दवे, राकेश गुर्जर, सुनील व्यास, हीरालाल शर्मा, राजसिंह सदाणा आदि मौजूद थे।  

कलक्टर ने शहर में विभिन्न क्षेत्रों में लगाई निषेधाज्ञा


उदयपुर, 2 जुलाई/उदयपुर शहर के विभिन्न क्षेत्रों में नोवेल कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्तियों के मिलने के बाद जिला कलक्टर एवं जिला मजिस्टेªट श्रीमती आनंदी ने संबंधित क्षेत्र में निवासरत नागरिकों के स्वास्थ्य की सुरक्षा एवं लोक प्रशान्ति बनाये रखने की दृष्टि से दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लगाई है।
जारी आदेश में बताया है कि संबंधित क्षेत्र में इस बीमारी से आस-पास के लोगों को इसके संक्रमण से बचाव की दृष्टि से थाना सवीना अंतर्गत सेक्टर 9 में राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय सवीना के पीछे वाली गली, सवीना थानांतर्गत ही आरके पुरम में देवीलाल सालवी के मकान के बाहर कोला मगरी वाली मुख्य सड़क पर, थाना घंटाघर अंतर्गत मेहतों का टिम्बा, हिरणमगरी थानांतर्गत सेक्टर चार में चाणक्यपुरी गली नंबर एक के सामने प्रभावित क्षेत्र में यह निषेधाज्ञा लगाई है।
कलक्टर ने बताया कि निषेधाज्ञा के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण की गंभीरता को देखते हुए इन सीमाओं में निवासरत व्यक्ति अपने आवास से बाहर आवागमन नहीं करेंगें। इन सीमाओं के अन्दर अवस्थित समस्त संस्थान, दुकान, प्रतिष्ठान, धार्मिक स्थान, परिसर एवं जिम आदि बन्द रहेंगें तथा किसी भी प्रकार की मानवीय गतिविधियां यथा शादी समारोह, रैली, जुलूस, सभा आदि प्रतिबंधित रहेगी। किसी भी प्रकार के सार्वजनिक एवं निजी परिवहन एवं आवागमन प्रतिबंधित रहेगा। यह प्रतिबंध बीमार व्यक्तियों, चिकित्सकीय आपात स्थिति से प्रभावित व्यक्तियों के साथ ही चिकित्साकर्मियों, सफाईकर्मियों तथा कानून एवं व्यवस्था के लिए नियुक्त कर्मचारियों पर लागू नहीं होगा। यह प्रतिबंध 2 जुलाई से लागू होकर 16 जुलाई की मध्यरात्रि तक प्रभावित रहेगा। इस निषेधाज्ञा की अवहेलना या उल्लंघन करने वाले व्यक्ति या व्यक्तियों के विरूद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत अभियोग चलाये जा सकेंगे।
इन निषेधाज्ञा वाले क्षेत्रों में कानून व शांति व्यवस्था बनाए रखने हेतु अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट (शहर) संजय कुमार को कार्यपालक मजिस्ट्रेट लगाया है।

प्रवासी भारतीयों के लिए कुवैत से अन्तर्राष्ट्रीय उड़ानें आज से
प्रशासन ने की पुख्ता व्यवस्थाएं, जिला मजिस्ट्रेट ने दिए विस्तृत निर्देश

उदयपुर, 2 जुलाई/लॉकडाउन के बाद कुवैत से प्रवासी भारतीयों को लेकर उदयपुर के डबोक एयरपोर्ट पर शुक्रवार, 3 जुलाई से इण्डिगो व जजीरा एयरलाईंस की अन्तर्राष्ट्रीय उड़ानें प्रारंभ होंगी। इस दौरान प्रवासी भारतीयों की जांच और उन्हें क्वारेंटाईन सेंटर्स तक पहुंचाने सहित तमाम अन्य व्यवस्थाओं के लिए जिला मजिस्ट्रेट (कलक्टर) श्रीमती आनंदी ने विभिन्न अधिकारियों को अलग-अलग दायित्व दिए हैं।
आदेशानुसार कलक्टर ने सुरक्षा व्यवस्था के साथ एयरपोर्ट पर बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश को प्रतिबंधित करने व क्वारेंटाईन सेंटर जाने वाली बसों में कांस्टेबल की नियुक्ति के लिए पुलिस विभागीय अधिकारियों को नियुक्त किया है वहीं इमीग्रेशन जांच के लिए सीआईडी जोन/इमीग्रेशन विभाग को निर्देश दिए हैं। एयरपोर्ट पर आंतरिक व्यवस्था के लिए मावली एसडीओ रमेश सिरवी पुनाडि़या तथा बाहरी व्यवस्था के लिए वल्लभनगर एसडीओ शैलेश सुराणा को नियुक्त किया है। इसी प्रकार पेयजल व्यवस्था के लिए एसडीओ ज्योति ककवानी, यात्रियों की सशुल्क क्वारेंटाईन व्यवस्था के लिए पर्यटन उपनिदेशक शिखा सक्सेना, यात्रियों की चिकित्सा जांच के लिए सीएमएचओ डॉ. दिनेश खराड़ी, जिलेवार बसों की व्यवस्था के लिए रोडवेज मुख्य प्रबंधक महेश उपाध्याय को दायित्व दिया है।
इसी प्रकार अतिरिक्त कलक्टर (प्रशासन) ओ.पी. बुनकर को नोडल अधिकारी व जिला क्वारेंटाईन अधिकारी, प्रोटोकॉल अधिकारी महावीर खराड़ी को उदयपुर एयरपोर्ट पर समस्त व्यवस्थाआंे के लिए समन्वय व प्रभारी अधिकारी तथा एयरपोर्ट निदेशक सुश्री नंदिता को अनुमति संबंधित समन्वय व एयरपोर्ट के भीतर संसाधनों की व्यवस्थाओं के लिए दायित्व दिया है।

वन्यजीव गणना के आंकड़े जारी
सबसे ज्यादा दिखे मोर, एकमात्र रस्टीस्पोटेड केट भी दर्ज
एक वर्ष में सियार की संख्या में सर्वाधिक बढ़ोत्तरी

उदयपुर, 2 जुलाई/वन विभाग द्वारा जैव विविधता से समृद्ध मेवाड़ अंचल के तीन वन्यजीव मण्डलों की गत 5 जून (पूर्णिमा) को वॉटरहॉल पद्धति से हुई ग्रीष्म वन्यजीव गणना के आंकड़ें जारी कर दिए हैं।  
मुख्य वन संरक्षक (वन्यजीव) आर.के.सिंह ने बताया कि विभागीय निर्देशों पर अधीनस्थ तीन वन्यजीव मण्डलों यथा चितौडगढ़ में सीतामाता, बस्सी वन्यजीव अभयारण्य तथा मृगवन चित्तौडकिला, राजसमन्द में कुम्भलगढ व रावली टॉडगढ़ अभयारण्य तथा जिले के प्रादेशिक वनक्षेत्रों में, उदयपुर वन्यजीव मण्डल में सज्जनगढ, जयसमंद, फुलवारी की नाल अभयारण्य, जवाई बांध लेपर्ड कन्जर्वेशन रिजर्व व बाघदरा नेचर पार्क में ग्रीष्म वन्यजीव गणना का कार्य किया गया। वन्यजीव गणना के लिए समस्त कार्मिकों व स्वयंसेवकों को 26 मई को गुणवत्तायुक्त प्रशिक्षण दिया गया था।  


384 वाटरहॉल्स पर 752 व्यक्तियों ने की गणना:
सिंह ने बताया कि तीनों वन्यजीव मण्डलों के कुल 384 वॉटरहाल्स पर वन्यजीव गणना का कार्य 5 जून प्रातः से 6 जून प्रातः तक (लगातार 24 घण्टे) प्रशिक्षित वनकार्मिको व स्वयंसेवकों द्वारा संपादित किया गया। इन 384 वॉटरहाल्स में से 32 वॉटरहाल्स पर कैमराट्रेप विधि से वन्यजीव संख्या गणना का कार्य किया गया। इस कार्य में 255 वनकार्मिको एवं 497 स्वयंसेवकों सहित कुल 752 व्यक्तियों ने निर्धारित वॉटरहाल्स पर 24 घण्टे तैनात रहकर गणना कार्य संपादित किया।


यह रहा वन्यजीवों का गणित:
सिंह ने बताया कि इस वर्ष 5 जून को संपन्न ग्रीष्म वन्यजीव गणना में अधीनस्थ संरक्षित व अन्य क्षेत्रों के वॉटरहाल्स पर बघेरे 315, सियार 1644, जरख 447, जंगली बिल्ली 451, रस्टीस्पोटेड केट 01, लोमडी 415, भेडिया 22, भालू 320, बिज्जू 347, कब्र बिज्जू 85, चीतल 149, सांभर 521, नीलगाय 4382, चिंकारा 210, चौसिंगा 445, जंगली सुअर 2404, सेही 395, उडन गिलहरी 140, सारस 94, गिद्ध 114, जंगली मुर्गे 3924, मोर 7193 तथा मगरमच्छ 258 की संख्या में देखे गये।
उन्होंने बताया कि वन्यजीव गणना 2019 की अपेक्षा इस वर्ष की गणना में महत्वपूर्ण वन्यजीव यथा बघेरो की संख्या में 23, सियार 561, भालू 36, सांभर 39, जंगली सुअर 119, सेही 21, गिद्ध 45, जंगली मुर्गे 529, मोर 288 की बढ़ोतरी दर्ज हुई है। 


बघेरे व भालू की संख्या वन्यजीवों के लिए अनुकूलता का प्रमाण:
उन्होंने बताया कि अधीनस्थ क्षेत्रों में कुछ भागों में गणना के दिन वर्षा होने व आकाश कुछ समय के लिए बादलों से ढक जाने से थोडी मात्रा मे गणनकार्य प्रभावित हुआ था फलस्वरूप कुछ वन्यजीव प्रजातियों की संख्या थोड़ी कम या लगभग बराबर बढ़ोत्तरी दर्ज हुई है। इस वर्ष महत्वपूर्ण वन्यजीव बघेरे व भालू की संख्या में वृद्धि यहाँ के संरक्षित क्षेत्रों में वन्यजीवों के आवास में सुधार व व्यापक सुरक्षा उपलब्धता की ओर ईशारा करता है। इसी के परिणामस्वरूप हर्बीवॉर प्रजातियाँ सांभर, जंगली सुअर की संख्या में भी बढ़ोतरी हुई है। साथ ही संकटापन्न वन्यजीव प्रजाति गिद्धों की संख्या में बढ़ोतरी भी वनक्षेत्रों की स्थिति में सुधार का स्पष्ट संकेत है। उन्होंने बताया कि महत्वपूर्ण हर्बीवोर व कार्निवोर प्रजातियों की संख्या मे वृद्धि होना, संभाग के संरक्षित क्षेत्रों के लिए निश्चित तौर पर सुखद व सुकूनदायी संकेत है।

कोरोना जागरूकता प्रदर्शनी जारी
 कोरोना बचाव के उपायों के साथ कानूनी प्रावधान जानने का आकर्षण

उदयपुर, 2 जुलाई/मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत की अनूठी पहल पर जारी कोरोना जागरूकता अभियान के तहत उदयपुर जिला मुख्यालय पर लगाई गई कोरोना जागरूकता प्रदर्शनी के दूसरे दिन गुरुवार को चेतक सर्कल स्थित सूचना केन्द्र में कई दर्शक पहुंचे।  
सूचना एवं जनसम्पर्क उपनिदेशक डॉ. कमलेश शर्मा ने बताया कि मीडियाकर्मियों के साथ आसपास के कार्यालयों के साथ कुछ शहरवासियों ने भी आज प्रदर्शनी को देखा तथा इसमें प्रदर्शित विषयवस्तु के प्रति रूचि दिखाई। दर्शकों ने यहां पर कोरोना से बचाव के लिए राज्य सरकार की ओर से जारी की गई गाईडलाईन के साथ ही लगाए गए अनिवार्य सावधानियों और उनके उल्लंघन पर कानूनी प्रावधानों के बारे में जानने में उत्साह दिखाया। इस दौरान यहां पर प्रदर्शित विशेषज्ञ डॉक्टर्स की कमेटी द्वारा कोरोना बचाव के लिए की गई सार्वजनिक अपील भी दर्शकों को बेहद पसंद आई।
प्रदर्शनी अवलोकन दौरान दर्शकों का कहना था कि सरकार और प्रशासन तो सतर्क है ही, अब आम जनता को भी अपनी सुरक्षा के प्रति सतर्क रहने के संदेश को दिनचर्या में शामिल करना होगा व अन्य लोगों को भी इसके प्रति प्रेरित करना होगा। इस दौरान सभी दर्शकों को मुख्यमंत्री की कोरोना जागरूकता पर जारी अपील भी दी गई।
सुबह 10 से शाम 5 बजे तक खुली रहेगी प्रदर्शनी:
जनसंपर्क उपनिदेशक डॉ. शर्मा ने बताया कि इस प्रदर्शनी में फ्लेक्स, बैनर, सन बोर्ड, सन पैक के साथ कोरोना जागरूकता को लेकर आयोजित विविध कार्यक्रमों के छायाचित्र शामिल किए गये है। प्रदर्शनी 31 जुलाई तक लगातार सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे आमजन के अवलोकनार्थ खुली रहेगी।

मास्क बांटकर मनाया प्रभारी मंत्री मेघवाल का जन्मदिन

 उदयपुर, 2 जुलाई/जिले के प्रभारी एवं सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के मंत्री मास्टर  भंवरलाल  मेघवाल के जन्मदिन के अवसर पर गुरुवार को उनके परिजनों और बाल कल्याण समिति सदस्यों द्वारा कोरोना के संकटकाल मे गरीब परिवारों कोे मास्क व फल बांटें गए। सदस्यों ने शहर के विभिन्न क्षेत्रों में जरूरतमंदों को मास्क बांटते हुए इस महामारीसे बचने के लिए इसके नियमित उपयोग का सुझाव दिया। इसके साथ ही उनके शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना की गई। इस अवसर पर बाल कल्याण समिति के सदस्य राजीव  मेघवाल, अभिषेक मेघवाल, रमेश  मेघवाल, भानु प्रताप सिंह, रोहित पालीवाल  आदि कई लोग उपस्थित रहे।

कलक्टर ने शहर में विभिन्न क्षेत्रों में लगाई निषेधाज्ञा

उदयपुर, 4 जुलाई/उदयपुर शहर के विभिन्न क्षेत्रों में नोवेल कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्तियों के मिलने के बाद जिला कलक्टर एवं जिला मजिस्टेªट श्रीमती आनंदी ने संबंधित क्षेत्र में निवासरत नागरिकों के स्वास्थ्य की सुरक्षा एवं लोक प्रशान्ति बनाये रखने की दृष्टि से दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लगाई है।
जारी आदेशों में बताया है कि संबंधित क्षेत्र में इस बीमारी से आस-पास के लोगों को इसके संक्रमण से बचाव की दृष्टि से थाना सवीना अंतर्गत न्यू कॉलोनी सविना व डबल स्टोरी वर्मा कॉलोनी तथा हिरणमगरी थाना अंतर्गत आदर्श नगर सेक्टर 4 व एडीएन पीजी हॉस्टल मयंक मेडिकल की बिल्डिंग सेक्टर 3 तथा प्रतापनगर थाना अंतर्गत वेस्टर्न ड्रग्स मादड़ी इंडस्ट्रीयल एरिया  सूरजपोल थानांतर्गत स्वराज नगर गली नंबर 5 एवं गली नंबर 3 तथा दीवानशाह कॉलोनी मेन रोड तथा घंटाघर थाना क्षेत्र के हेलावाड़ी गायत्री मार्ग में प्रभावित क्षेत्र में यह निषेधाज्ञा लगाई है।
कलक्टर ने बताया कि निषेधाज्ञा के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण की गंभीरता को देखते हुए इन सीमाओं में निवासरत व्यक्ति अपने आवास से बाहर आवागमन नहीं करेंगें। इन सीमाओं के अन्दर अवस्थित समस्त संस्थान, दुकान, प्रतिष्ठान, धार्मिक स्थान, परिसर एवं जिम आदि बन्द रहेंगें तथा किसी भी प्रकार की मानवीय गतिविधियां यथा शादी समारोह, रैली, जुलूस, सभा आदि प्रतिबंधित रहेगी। किसी भी प्रकार के सार्वजनिक एवं निजी परिवहन एवं आवागमन प्रतिबंधित रहेगा। यह प्रतिबंध बीमार व्यक्तियों, चिकित्सकीय आपात स्थिति से प्रभावित व्यक्तियों के साथ ही चिकित्साकर्मियों, सफाईकर्मियों तथा कानून एवं व्यवस्था के लिए नियुक्त कर्मचारियों पर लागू नहीं होगा।
जिला मजिस्ट्रेट के इन आदेशों के तहत घंटाघर थाना क्षेत्र के हेलावाड़ी गायत्री मार्ग में प्रभावित क्षेत्र में यह प्रतिबंध 3 जुलाई से लागू होकर 18 जुलाई की मध्यरात्रि तक तथा शेष अन्य प्रभावित क्षेत्रों में 4 जुलाई से लागू होकर 19 जुलाई की मध्यरात्रि तक प्रभावित रहेगा। इस निषेधाज्ञा की अवहेलना या उल्लंघन करने वाले व्यक्ति या व्यक्तियों के विरूद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत अभियोग चलाये जा सकेंगे।
इन निषेधाज्ञा वाले क्षेत्रों में कानून व शांति व्यवस्था बनाए रखने हेतु अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट (शहर) संजय कुमार को कार्यपालक मजिस्ट्रेट लगाया है।

गिर्वा एसडीएम ने दो स्थानों पर लगाई निषेधाज्ञा

उदयपुर, 4 जुलाई/उदयपुर के गिर्वा उपखण्ड के ग्राम बूझड़ा एवं बेड़वास में नोवेल कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति मिलने के बाद गिर्वा उपखण्ड मजिस्टेªट डॉ. सौम्या झा ने संबंधित क्षेत्र में निवासरत नागरिकों के स्वास्थ्य की सुरक्षा एवं लोक प्रशान्ति बनाये रखने की दृष्टि से दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लगाई है।
जारी आदेश में बताया है कि संबंधित क्षेत्र में इस बीमारी से आस-पास के लोगों को इसके संक्रमण से बचाव की दृष्टि से पुलिस थाना नाई अंतर्गत बूझड़ा गांव मे कन्हैयालाल नागदा के खेत से नाई रोड तक तथा प्रतापनगर थाना अंतर्गत बेड़वास गांव के मकान नंबर 9 माउण्ट व्यू ढकूल के पीछे से लेकर एनबी नगर के प्रभावित क्षेत्र में यह निषेधाज्ञा लगाई है।
एसडीएम झा ने बताया कि निषेधाज्ञा के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण की गंभीरता को देखते हुए इन सीमाओं में निवासरत व्यक्ति अपने आवास से बाहर आवागमन नहीं करेंगें। इन सीमाओं के अन्दर अवस्थित समस्त संस्थान, दुकान, प्रतिष्ठान, धार्मिक स्थान, परिसर एवं जिम आदि बन्द रहेंगें तथा किसी भी प्रकार की मानवीय गतिविधियां यथा शादी समारोह, रैली, जुलूस, सभा आदि प्रतिबंधित रहेगी। किसी भी प्रकार के सार्वजनिक एवं निजी परिवहन एवं आवागमन प्रतिबंधित रहेगा। यह प्रतिबंध बीमार व्यक्तियों, चिकित्सकीय आपात स्थिति से प्रभावित व्यक्तियों के साथ ही चिकित्साकर्मियों, सफाईकर्मियों तथा कानून एवं व्यवस्था के लिए नियुक्त कर्मचारियों पर लागू नहीं होगा। यह निषेधाज्ञा 4 जुलाई की मध्यरात्रि से लागू होकर 17 जुलाई की मध्यरात्रि तक प्रभावी रहेगी। इस निषेधाज्ञा की अवहेलना या उल्लंघन करने वाले व्यक्ति या व्यक्तियों के विरूद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत अभियोग चलाये जा सकेंगे।

वल्लभनगर एसडीओ ने कोरोना प्रभावित क्षेत्र में लगाई निषेधाज्ञा
 

उदयपुर, 4 जुलाई/उदयपुर जिले के वल्लभनगर उपखण्ड क्षेत्र के पुलिस थाना कानोड़ अंतर्गत राजस्व ग्राम अरनिया में नोवेल कोरोना वायरस से संक्रमित मिलने के बाद वल्लभनगर उपखण्ड मजिस्टेªट शैलेश सुराणा ने संबंधित क्षेत्र में निवासरत नागरिकों के स्वास्थ्य की सुरक्षा एवं लोक प्रशान्ति बनाये रखने की दृष्टि से दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लगाई है।
एसडीएम ने जारी आदेश में बताया है कि यहां एक व्यक्ति नोवेल कोरोना वायरस से संक्रमित पाये जाने के कारण इस बीमारी से आस-पास के लोगों को इसके संक्रमण से बचाव की दृष्टि से वल्लभनगर उपखण्ड के कानोड़ थाना अंतर्गत ग्राम अरनिया से भंवरसिंह जी के कुंआ पर आने-जाने वाले रास्तें पर यहं निषेधाज्ञा लगाई गई है।
ये प्रतिबंध रहेंगे लागू
एसडीएम ने बताया कि निषेधाज्ञा के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण की गंभीरता को देखते हुए इन सीमाओं में निवासरत व्यक्ति अपने आवास से बाहर आवागमन नहीं करेंगें। इन सीमाओं के अन्दर अवस्थित समस्त संस्थान, दुकान, प्रतिष्ठान, धार्मिक समारोह, रैली, जुलूस, सभा आदि प्रतिबंधित रहेगी। किसी भी प्रकार के सार्वजनिक एवं निजी परिवहन एवं आवागमन प्रतिबंधित रहेगा। यह प्रतिबंध बीमार व्यक्तियों, चिकित्सकीय आपात स्थिति से प्रभावित व्यक्तियों के साथ ही चिकित्साकर्मियों, सफाईकर्मियों तथा कानून एवं व्यवस्था के लिए नियुक्त कर्मचारियों पर लागू नहीं होगा।
यह निषेधाज्ञा 4 जुलाई से 17 जुलाई की मध्यरात्रि तक जारी रहेगी। इस निषेधाज्ञा की अवहेलना या उल्लंघन करने वाले व्यक्ति या व्यक्तियों के विरूद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत अभियोग चलाये जा सकेंगे।
इस निषेधाज्ञा वाले क्षेत्र में कानून व शांति व्यवस्था के लिए कानोड़ तहसीलदार रामनिवास मीणा को कार्यपालक मजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया है।

सरकार के कोरोना जागरूकता अभियान के सारथी बने आयुर्वेद कोरोना वॉरियर्स

उदयपुर, 4 जुलाई/राज्य सरकार के कोरोना जागरूकता अभियान में उदयपुर के आयुर्वेद कोरोना वॉरियर्स सारथी के रूप में अपनी भूमिका बखूबी निभा रहे है।
आयुर्वेद विभाग के वरिष्ठ आयुर्वेद चिकित्साधिकारी डॉ शोभालाल औदीच्य ने बताया कि कोरोना जागरूकता अभियान के तहत कोरोना वारियर्स योग प्रशिक्षक जिग्नेश शर्मा एवं परिवार के सदस्य पूरण कुमार शर्मा, भावना शर्मा, मनिता शर्मा, सूर्याक्ष शर्मा आदि द्वारा हिरण मगरी शीतला माता पार्क के पास सेक्टर 5, गुप्तेश्वर जी मुख्य मार्ग चौराहे पर, गुप्तेश्वर जी - तितरडी मार्ग आदि स्थानों पर आमजन, श्रमिको, मोहल्ले एवं क्षेत्रवासियों के साथ सनबोर्ड लगाया व कोरोना बचाव के लिए खुद को जागरूक होने एवं अन्य लोगों को भी जागरूक करने की प्रतिबद्धता की शपथ दिलाई।
शर्मा परिवार द्वारा राज्य सरकार के द्वारा जारी की गयी गाइडलाइन, बचाव के उपाय, बरती जाने वाली जरुरी सावधानियां आदि के बारे में बताया तथा मुख्यमंत्री की अपील, पम्पलेट्स एवं जरूरतमंद को मास्क भी वितरित किये।
इसके साथ अन्य कोरोना वारियर्स योगी अशोक जैन, प्रेम जैन, शारदा जालोरा, राजेन्द्र जालोरा, नरेंद्र सिंह झाला, उमेश चंद्र श्रीमाली, पूरण सिंह राठौड़, प्रीति सुमेरिया आदि ने भी उचित स्थानों पर सनबोर्ड लगा कर आमजन को जागरूक किया।

मुख्यमंत्री श्री गहलोत 8 जुलाई को वीसी के जरिए करेंगे 2 भवनों का लोकार्पण
उदयपुर में केन्द्रीय सहकारी बैंक के प्रधान कार्यालय एवं शाखा भवन का लोकार्पण
चित्तौड़गढ़ के चंदेरिया में सहकार भवन भी होगा लोकार्पित


उदयपुर, 6 जुलाई/दी उदयपुर सेन्ट्रल को-ऑपरेटिव बैक लि. उदयपुर के नवनिर्मित प्रधान कार्यालय एवं शाखा भवन तथा सहकार भवन, चंदेरिया (चित्तौड़गढ़) का लोकार्पण 8 जुलाई को सुबह 11.30 बजे मुख्यमंत्री निवास जयपुर से वीसी के माध्यम से होगा।
लोकार्पण समारोह के मुख्य अतिथि प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत होंगे। अध्यक्षता सहकारिता एवं इंगानप मंत्री उदयलाल आंजना करेंगे तथा विषिष्ट अतिथि सहकारिता राज्य मंत्री टीकाराम जूली होंगे।
केन्द्रीय सहकारी बैंक के प्रबंध निदेशक आलोक चौधरी ने बताया कि प्राप्त कार्यक्रम के अनुसार 11.20 बजे समारोह स्थल पर आगमन एवं बैठक पश्चात 11.30 बजे मुख्यमंत्री द्वारा औपचारिक लोकार्पण में शिलापट्ट से पर्दा हटाकर दी उदयपुर सेन्ट्रल को-ऑपरेटिव बैक लि. उदयपुर के 196 लाख की लागत के नवनिर्मित प्रधान कार्यालय एवं शाखा भवन का उद्घाटन किया जाएगा। इसके शीघ्र बाद ही 11.32 बजे मुख्यमंत्री श्री गहलोत शिलापट्ट पर से पर्दा हटाकर 122 लाख की लागत वाले सहकार भवन, चन्देरिया का उद्घाटन करेंगे। कार्यक्रम में 11.35 बजे चित्तौड़गढ़ के प्रभारी मंत्री का संबोधन, 11.40 बजे सहकारिता राज्य मंत्री श्री जूली का संबोधन, 11.45 बजे सहकारिता एवं इंगानप मंत्री श्री आंजना का संबोधन तथा 11.50 बजे मुख्यमंत्री श्री गहलोत का संबोधन होगा। दोपहर 12 बजे विभाग के प्रमुख शासन सचिव धन्यवाद ज्ञापित करेंगे।

मंत्री कल्ला 7 से उदयपुर प्रवास पर

उदयपुर, 6 जुलाई/ऊर्जा, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी, भूजल, कला, साहित्य, संस्कृति एवं पुरातत्व विभाग के मंत्री बी.डी.कल्ला 7 जुलाई की सायं 7 बजे राजकीय वाहन से उदयपुर आएंगे।
वे 8 जुलाई को पश्चिम क्षेत्र सांस्कृतिक केन्द्र की बैठक में भाग लेंगे। मंत्री श्री कल्ला 9 जुलाई को उदयपुर में स्थानीय कार्यक्रमों में शरीक होंगे। इनका रात्रि विश्राम उदयपुर में ही रहेगा। वे 10 जुलाई की सुबह 11.15 बजे राजकीय वाहन से जयपुर प्रस्थान कर जाएंगे।

कलक्टर ने शहर में दो क्षेत्रों में लगाई निषेधाज्ञा

उदयपुर, 6 जुलाई/उदयपुर शहर के विभिन्न क्षेत्रों में नोवेल कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्तियों के मिलने के बाद जिला कलक्टर एवं जिला मजिस्टेªट श्रीमती आनंदी ने संबंधित क्षेत्र में निवासरत नागरिकों के स्वास्थ्य की सुरक्षा एवं लोक प्रशान्ति बनाये रखने की दृष्टि से दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लगाई है।
जारी आदेशों में बताया है कि संबंधित क्षेत्र में इस बीमारी से आस-पास के लोगों को इसके संक्रमण से बचाव की दृष्टि से थाना सवीना अंतर्गत सेक्टर 9 सी ब्लॉक तथा अंबामाता थानान्तर्गत देवाली स्थित पुल वाले के मंदिर के सामने, नीमच माता स्कीम के प्रभावित क्षेत्र में यह निषेधाज्ञा लगाई है।
कलक्टर ने बताया कि निषेधाज्ञा के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण की गंभीरता को देखते हुए इन सीमाओं में निवासरत व्यक्ति अपने आवास से बाहर आवागमन नहीं करेंगें। इन सीमाओं के अन्दर अवस्थित समस्त संस्थान, दुकान, प्रतिष्ठान, धार्मिक स्थान, परिसर एवं जिम आदि बन्द रहेंगें तथा किसी भी प्रकार की मानवीय गतिविधियां यथा शादी समारोह, रैली, जुलूस, सभा आदि प्रतिबंधित रहेगी। किसी भी प्रकार के सार्वजनिक एवं निजी परिवहन एवं आवागमन प्रतिबंधित रहेगा। यह प्रतिबंध बीमार व्यक्तियों, चिकित्सकीय आपात स्थिति से प्रभावित व्यक्तियों के साथ ही चिकित्साकर्मियों, सफाईकर्मियों तथा कानून एवं व्यवस्था के लिए नियुक्त कर्मचारियों पर लागू नहीं होगा।
जिला मजिस्ट्रेट के यह प्रतिबंध 5 जुलाई से लागू होकर 20 जुलाई की मध्यरात्रि तक तक प्रभावित रहेगा। इस निषेधाज्ञा की अवहेलना या उल्लंघन करने वाले व्यक्ति या व्यक्तियों के विरूद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत अभियोग चलाये जा सकेंगे।
इन निषेधाज्ञा वाले क्षेत्रों में कानून व शांति व्यवस्था बनाए रखने हेतु अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट (शहर) संजय कुमार को कार्यपालक मजिस्ट्रेट लगाया है।

कलक्टर ने शहर में दो क्षेत्रों में लगाई निषेधाज्ञा

उदयपुर, 6 जुलाई/उदयपुर शहर के विभिन्न क्षेत्रों में नोवेल कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्तियों के मिलने के बाद जिला कलक्टर एवं जिला मजिस्टेªट श्रीमती आनंदी ने संबंधित क्षेत्र में निवासरत नागरिकों के स्वास्थ्य की सुरक्षा एवं लोक प्रशान्ति बनाये रखने की दृष्टि से दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लगाई है।
जारी आदेशों में बताया है कि संबंधित क्षेत्र में इस बीमारी से आस-पास के लोगों को इसके संक्रमण से बचाव की दृष्टि से थाना सवीना अंतर्गत सेक्टर 9 सी ब्लॉक तथा अंबामाता थानान्तर्गत देवाली स्थित पुल वाले के मंदिर के सामने, नीमच माता स्कीम के प्रभावित क्षेत्र में यह निषेधाज्ञा लगाई है।
कलक्टर ने बताया कि निषेधाज्ञा के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण की गंभीरता को देखते हुए इन सीमाओं में निवासरत व्यक्ति अपने आवास से बाहर आवागमन नहीं करेंगें। इन सीमाओं के अन्दर अवस्थित समस्त संस्थान, दुकान, प्रतिष्ठान, धार्मिक स्थान, परिसर एवं जिम आदि बन्द रहेंगें तथा किसी भी प्रकार की मानवीय गतिविधियां यथा शादी समारोह, रैली, जुलूस, सभा आदि प्रतिबंधित रहेगी। किसी भी प्रकार के सार्वजनिक एवं निजी परिवहन एवं आवागमन प्रतिबंधित रहेगा। यह प्रतिबंध बीमार व्यक्तियों, चिकित्सकीय आपात स्थिति से प्रभावित व्यक्तियों के साथ ही चिकित्साकर्मियों, सफाईकर्मियों तथा कानून एवं व्यवस्था के लिए नियुक्त कर्मचारियों पर लागू नहीं होगा।
जिला मजिस्ट्रेट के यह प्रतिबंध 5 जुलाई से लागू होकर 20 जुलाई की मध्यरात्रि तक तक प्रभावित रहेगा। इस निषेधाज्ञा की अवहेलना या उल्लंघन करने वाले व्यक्ति या व्यक्तियों के विरूद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत अभियोग चलाये जा सकेंगे।
इन निषेधाज्ञा वाले क्षेत्रों में कानून व शांति व्यवस्था बनाए रखने हेतु अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट (शहर) संजय कुमार को कार्यपालक मजिस्ट्रेट लगाया है।

वल्लभनगर एसडीओ ने कोरोना प्रभावित क्षेत्र में लगाई निषेधाज्ञा

उदयपुर, 6 जुलाई/उदयपुर जिले के वल्लभनगर उपखण्ड क्षेत्र के पुलिस थाना कानोड़ अंतर्गत राजस्व ग्राम सरवाणिया में नोवेल कोरोना वायरस से संक्रमित मिलने के बाद वल्लभनगर उपखण्ड मजिस्टेªट शैलेश सुराणा ने संबंधित क्षेत्र में निवासरत नागरिकों के स्वास्थ्य की सुरक्षा एवं लोक प्रशान्ति बनाये रखने की दृष्टि से दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा लगाई है।
एसडीएम ने जारी आदेश में बताया है कि यहां एक व्यक्ति नोवेल कोरोना वायरस से संक्रमित पाये जाने के कारण इस बीमारी से आस-पास के लोगों को इसके संक्रमण से बचाव की दृष्टि से वल्लभनगर उपखण्ड के कानोड़ थाना अंतर्गत ग्राम सरवाणिया में सुरेन्द्र सिंह पिता मनोहर के मकान से भूरसिंह पिता रुपसिंह के मकान तक आने-जाने वाले रास्ते पर यहं निषेधाज्ञा लगाई गई है।
ये प्रतिबंध रहेंगे लागू
एसडीएम ने बताया कि निषेधाज्ञा के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण की गंभीरता को देखते हुए इन सीमाओं में निवासरत व्यक्ति अपने आवास से बाहर आवागमन नहीं करेंगें। इन सीमाओं के अन्दर अवस्थित समस्त संस्थान, दुकान, प्रतिष्ठान, धार्मिक समारोह, रैली, जुलूस, सभा आदि प्रतिबंधित रहेगी। किसी भी प्रकार के सार्वजनिक एवं निजी परिवहन एवं आवागमन प्रतिबंधित रहेगा। यह प्रतिबंध बीमार व्यक्तियों, चिकित्सकीय आपात स्थिति से प्रभावित व्यक्तियों के साथ ही चिकित्साकर्मियों, सफाईकर्मियों तथा कानून एवं व्यवस्था के लिए नियुक्त कर्मचारियों पर लागू नहीं होगा।
यह निषेधाज्ञा 6 जुलाई से 19 जुलाई की मध्यरात्रि तक जारी रहेगी। इस निषेधाज्ञा की अवहेलना या उल्लंघन करने वाले व्यक्ति या व्यक्तियों के विरूद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 188 के अंतर्गत अभियोग चलाये जा सकेंगे।
इस निषेधाज्ञा वाले क्षेत्र में कानून व शांति व्यवस्था के लिए कानोड़ तहसीलदार रामनिवास मीणा को कार्यपालक मजिस्ट्रेट नियुक्त किया गया है।

डब्ल्यूडब्ल्यूएफ के वृक्षारोपण कार्यक्रम का भव्य शुभारंभ जुलाई में 10 हजार पौधे लगाने का लक्ष्य

News

उदयपुर, 6 जुलाई/मानसून सत्र में अधिकाधिक पौधरोपण के उद्देश्य से डब्ल्यूडब्ल्यूएफ-इंडिया, वन विभाग, ग्राम पंचायत और ग्रीन अर्थ नेचुरल सोसाइटी किशन करेरी द्वारा पक्षी विहार गाँव किशन करेरी में स्टेट ट्री प्लांटेशन के रूप वृक्षारोपण कार्यक्रम की शुरुआत सोमवार को विभिन्न प्रजातियों के पौधे लगाकर की गई।
डब्ल्यूडब्ल्यूएफ-इंडिया के संभागीय अधिकारी अरुण सोनी ने बताया कि मानसून को देखते हुए क्षेत्र में 10 हजार पौधे लगाए जाएंगे वहीं किशन करेरी में स्थानीय प्रजातियों के 4 हजार पौधे लगाए जायेंगे। यहाँ चरागाह व पक्षी विहार तालाब के आस-पास इन पौधों का रोपण किया जायेगा जो एक बहुत बड़ा वृक्षारोपण अभियान होगा।
कार्यक्रम की शुरूआत में आज किशन करेरी के कानोड़ रोड स्थित मंशापूर्ण महादेव के समीप चरागाह भूमि में व राजकीय विद्यालय परिसर में वृक्षारोपण किया गया। कार्यक्रम सेवानिवृत्त मुख्य वन संरक्षक तथा ग्रीन पीपल सोसायटी के अध्यक्ष के राहुल भटनागर के मुख्य आतिथ्य में आयोजित हुआ, कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रदेश के ख्यातनाम पर्यावरण वैज्ञानिक डॉ. सतीश शर्मा ने की। इस मौके पर पक्षी विशेषज्ञ विनय दवे एवं वन विभाग की ओर से भींडर रेंज अधिकारी सोमेश्वर त्रिवेदी के साथ ही डूंगला प्रधान मुकेश खटीक, स्थानीय सरपंच बसंती देवी खटीक, उपसरपंच लीला कुंवर, बड़वाई सरपंच शंकर लाल मेघवाल, प्रधानाचार्य हवासिंह, सहायक सचिव भगवती लाल गुर्जर, ग्रीन अर्थ नेचुरल सोसाइटी के सदस्य भैरुलाल पुरोहित, श्याम लाल गुर्जर, नीलेश शर्मा, प्रहलाद पुरोहित, पूर्व सरपंच खुमाणसिंह शक्तावत व अन्य स्थानीय युवा मौजूद रहे और पौधरोपण किया। इस वृक्षारोपण कार्यक्रम में समस्त अतिथियों और युवाओं ने एक-एक पौधा रोपते हुए इनके संरक्षण व संवर्धन का संकल्प लिया।
पौधरोपण के साथ संरक्षण जरूरी:
कार्यक्रम दौरान सेवानिवृत्त मुख्य वन संरक्षक राहुल भटनागर और डॉ. सतीश शर्मा ने पौधरोपण कार्यक्रम के आयोजन के पीछे छिपे मंतव्य को उजागर किया और कहा कि इस माध्यम से हम अन्य लोगों को इस प्रकार के आयोजन करने और पौधों के मात्र रोपण के स्थान पर उनके संरक्षण व संवर्धन का संकल्प लेने को प्रेरित कर सकते हैं।

लिपिक ग्रेड अभ्यर्थियों की नियुक्ति/पदस्थान के लिए
काउंसलिंग 8 व 9 को

 

उदयपुर, 6 जुलाई/माध्यमिक शिक्षा विभाग बीकानेर के निर्देशानुसार लिपिक ग्रेड ।। संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा 2018 के चयनित अभ्यर्थियों के नियुक्ति/पदस्थापन के लिए काउंसलिग 8 व 9 जुलाई को जिला शिक्षा प्रशिक्षण संस्थान (डाइट) में रखी गई है।
जिला शिक्षा अधिकारी भरत कुमार जोशी ने बताया कि 8 जुलाई को टीएसपी जिला वरियता क्रमांक 1 से 50 तथा 9 जुलाई को टीएसपी जिला वरियता क्रमांक 51 से 91 तक की काउंसलिंग होगी। चयनित अभ्यर्थी को निर्धारित तिथि को प्रातः 9.30 से 10.30 बजे तक पहुंचकर रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। अभ्यर्थी को अपने साथ मूल दस्तावेज एवं आवश्यक प्रमाण पत्र एवं शपथ पत्र साथ लेकर उपस्थित रहना होगा।

अनियमितताएं बरतने वाले वाहन डीलर्स के विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही

उदयपुर, 6 जुलाई/परिवहन विभाग द्वारा वाहन डीलर्सं के रजिस्ट्रेशन का कार्य जाचंने की कार्यवाही जारी है। इसी क्रम में एचएसआरपी नम्बर प्लेट लगे बिना वाहनों की डिलीवरी करने वाले वाहन डीलर्स के विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही की गई।
जिला परिवहन अधिकारी डॉ. कल्पना शर्मा एवं जिला परिवहन अधिकारी नानजी राम गुलसर मय टीम द्वारा समय समय पर निरीक्षण किया जा रहा है। निरीक्षण उपरान्त सम्बन्धित डीलर्स को अनियमिताएं पाए जाने पर मौखिक एवं लिखित हिदायत दी गई। इसके बावजूद भी वाहन डीलरों द्वारा एचएसआरपी नम्बर प्लेट लगे बिना वाहनों की डिलीवरी दे दी गई जो मोटर वाहन अधिनियम, 1989 की धारा 42 का उल्लंघन है। इसको गम्भीरता से लेते हुए सोमवार को 81 डीलरों के ट्रेड को  आगामी 7 दिवसों तक निलंबित किया गया है। डीलर्स जिनकी एक भी एचएसआरपी नम्बर प्लेट बाकी रही है, उनका भी ट्रेड निलंबन कर दिया गया है।